Padmavati Movie News | क्यों हो रहा है पद्मावती फिल्म का विरोध और जानिए रानी पद्मावती के बारे में

Padmavati Movie News: मेवाड़ की महारानी पद्मावती पर बन रही फिल्म का चौतरफा विरोध हो रहा है. विरोध की जड़े करणी सेना ने जमाई और अब 36 कौमें पद्मावती फिल्म का विरोध कर रही है. इनके अनुसार फिल्म पद्मावती में रानी पद्मावती को गलत तरह से दिखाया गया है जो राजपुती शासन के खिलाफ है.

आखिर ऐसा क्या दिखाया जा रहा है इस फिल्म में जो सभी जाती के लोग इसका विरोध कर रहे है. यहाँ तक की राजनीति में भी यह चर्चा का विषय बना हुआ है. काफी जगह फिल्म के रिलीज होने पर भी रोक लगा रखी है. आईये जानते है फिल्म से जुड़े विरोध और रानी पद्मावती के इतिहास के बारे में.

Padmavati Movie News जानिये पद्मावती फिल्म के विरोध के बारे में 

Who is Rani Padmavati? कौन थी रानी पद्मावती?

रानी पद्मावती मेवाड़ की महारानी थी. कहा जाता है की 1303 में अपना सम्मान बचाने के लिए रानी पद्मावती ने अन्य नारियों के साथ जौहर कर लिया था. पुरातत्व विभाग को भी खुदाई में राख, चूड़ियां, हड्डिया मिली थी जो जौहर होने की सच्चाई को बयां करती है. साड़ी जांचे होने के बाद उसे जौहर स्थल घोषित कर दिया था.

पद्मावती फिल्म से जुड़े विवाद Controversies related to Padmavati film

  1. करणी सेना के अनुसार फिल्म में एतिहासिक तथ्यों से छेड़छाड़ की गई है और उन्हें तोड़-मरोड़ कर पेश किया गया है.
  2. करणी सेना का मानना है की इसमें रानी पद्मावती को अलाउद्दीन खिलजी की प्रेमिका बताया गया है, जिसे बर्दाश्त नहीं किया जा सकता.
  3. फिल्म में “घुमर” नृत्य में रानी पद्मावती को नाचते हुए दिखाया गया है जो की राजपूतों के अनुसार गलत है, क्योंकि राजपूत नारियां खुले घुंघट में किसी के सामने नहीं नाचती है.

आग में घी का काम करता “जावेद अख्तर” का बयान

इसी विरोध के बीच जावेद अख्तर ने कहा है की राजपूत जब अंग्रेजी शासन के गुलाम थे तब तो उन्होंने कोई विरोध नहीं किया और आज एक फिल्म के लिए इतना विरोध कर रहे है. हालाँकि संजय लीला भंसाली, दीपिका पादुकोण के साथ-साथ जावेद भाई का भी पुतला जलाया गया और यह भी बिना कोई वजह के राजपूतों के विरोध का शिकार बन गए.

सलमान भाई भी फंसे

सलमान खान ने भी इस फिल्म का समर्थन दिया था. सही है बॉलीवुड तो बॉलीवुड का समर्थन करेगा परन्तु उन्हें राजपूतों की ताकत का अंदाजा नहीं है. इनका पुतला भी अपने समर्थन के कारण आग की भेंट चढ़ गया.

एक सवाल क्या हिन्दू संस्कृति फिल्मों के माध्यम से इसी तरह बदनाम होती रहेगी

पहले भी जोधा-अकबर फिल्म में हिन्दू संस्कृति के तथ्यों के साथ छेड़छाड़ की गई थी और अब फिल्म पद्मावती में भी यही किया गया है. चाहे कुछ भी हो हर धर्म की अपनी मान्यता और रीती-रिवाज होते है. किसी को कोई हक़ नहीं है की वो इन्हें तोड़-मरोड़ कर पेश करें. जिसने अपने सम्मान के लिए जौहर कर लिया हो उसे फिल्म में इस तरह दिखाना मर्यादाओं के खिलाफ है.

इन सब बातों से यह तो पक्का है की जब तक फिल्म में सभी चीजें सही तरह से पेश नहीं की जाएगी तब तक इसे रिलीज कर पाना मुश्किल ही नहीं नामुमकीन है. उम्मीद करता हु की आपको इस लेख के माध्यम से रानी पद्मावती के इतिहास और इस फिल्म से जुड़े विवादों के बारे में पता चल गया होगा. कमेंट बॉक्स में अपनी सलाह दे की फिल्म का विरोध होना सही है या नहीं? 

Leave a Reply