Paragraph On Independence Day In Hindi 15 August Short Essay Speech Paragraphs For Kids

Paragraph On Independence Day In Hindi 15 August Short Essay Speech Paragraphs For Kids: Happy Independence Day To All Indians Reader, India Has Been Going To Celebrate Her 72 nd Independence Day On 15 August 2018. In Paragraph On Independence Day In Hindi, We Share With You Short Essay Speech Paragraphs On Independence Day 2018 In Hindi language, Read Here 15 August Short Essay Speech Paragraph On Independence Day. essay on independence day for class 1,2,3,4,5,6,7,8,9,10 Giving Blow. 5 Line, 10 Line, 100 Words, 200 Words, 250,300,400 and 500 Words swatantrata diwas essay in Hindi Ready Here To Speak For Students And Kids.

Paragraph On Independence Day In Hindi

Paragraph On Independence Day In Hindi 15 August Short Essay Speech Paragraphs For Kids

सभी देशप्रेमियों को 72 वें स्वतंत्रता दिवस की ढेरों शुभकामनाए, Paragraph On Independence Day In Hindi में आपके लिए Paragraph On 15 august, Independence Day Paragraph in hindi, essay on independence day 200 words & 150 words for class 4th wikipedia. लेकर आए हैं. पढिए इन शानदार पेरोग्राफ को और अपने बच्चों के लिए सही अनुच्छेद का चयन कर उन्हें लिखाइये.

 15 August Paragraph On Independence Day In Hindi 200 Words For Kids

Short Paragraph on Independence Day:- हम भारत के लोग हर साल 15 अगस्त के दिन को स्वतंत्रता दिवस के रूप में मनाते हैं. आज हमारा देश स्वतंत्र हैं, खुली हवा में देश के नागरिक जी रहे हैं. यह मूल्यवान आजादी हमें आज ही के दिन 15 अगस्त 1947 को प्राप्त हुई थी.

कई सदियों से स्वतंत्रता दिवस की बाट देख रही त्रसित भारत की जनता के लिए देश के पहले प्रधानमंत्री पंडित जवाहर लाल नेहरु ने लाल किले की प्राचीर से तिरंगा फहराया था.

अंग्रेजों की गुलामी की बेड़ियों को तोड़ भारत स्वतंत्रता के इस पल को जश्न के रूप में मनाकर आने वाले सालों में भारत को एक उभरती हुई ताकत के रूप में देखना चाहते थे.

अपनी स्वतंत्रता को एक यादगार बनाने के उद्देश्य से हम हर वर्ष 15 अगस्त को स्वतंत्रता दिवस मनाकर शहीदों को याद करते हैं. इस अवसर पर देश की राजधानी दिल्ली के लाल किले पर मुख्य कार्यक्रम का आयोजन किया जाता हैं. पूरा देश इस पर्व को मनाने की ख़ुशी में मग्न रहता हैं.

देश के नौजवानों द्वारा अपने राष्ट्र की एकता एवं अखंडता को अक्षुण्ण बनाए रखने का संकल्प किया जाता हैं. यह स्वतंत्रता दिवस हमें अपने स्वतंत्रता सैनानियों और देशभक्तों का स्मरण करवाता हैं, भारत के लोग उन पुरुषों के पथ पर चलने का संकल्प लेते हैं. स्वतंत्रता दिवस हमें अपने जाति, धर्म, भाषा, क्षेत्र के भेद को भुलाकर एक तिरंगे के नीचे लाकर नव राष्ट्र निर्माण की प्रेरणा देता हैं.

pandra august bhashan Paragraph On Independence Day In Hindi

speech on independence day in hindi pdf-: गुलामी यानि परतंत्रता क्या होती हैं, इनका आभास तो उन्हें ही होता हैं जिन्होंने इनको झेला हैं. आज से 72 साल पूर्व भारत में अंग्रेजों का शासन था. अपने ही देश में भारतियों को अंग्रेजों के हुक्म का पालन करना पड़ता था.

महात्मा गांधी जैसे नेताओं को अंग्रेजों के रेल डिब्बों में यात्रा तक न कर देना, यह अंग्रेजों की भारतीयों के प्रति नफरत का एक संक्षिप्त उदहारण था. वें भारतीयों को ब्लैक मैंन मेन यानि काले इंसान कहा करते थे.

उस जमाने की दास्ता को इन शब्दों के बया करना असम्भव हैं. यह वह दौर था जब अंग्रेजों की पूर्ण मनमानी चलती थी. उन्हें लगता कि कोई व्यक्ति उनके आदेश की अवहेलना करता तो सरे आम उन्हें कोड़े बरसाना, जेल में डालना, गोली मार देना या फांसी पर लटका देना आम बात हुआ करती थी. शायद हर श्वास में इन गोरों की गुलामी की बू थी, जों हमारे पूर्वजों ने सहन की.

जलियांवाला बाग़ हत्याकांड अंग्रेजों के अत्याचारों का प्रमाण था. यही वक्त था कि भारतीयों को अपनी स्वतंत्रता का महत्व मालूम हुआ और संगठित होकर भारत की स्वतंत्रता के लिए संघर्ष करना आरम्भ कर दिया. सभी वर्ग जिनमें महिलाएं, बच्चें, विद्यार्थी अपने कार्यों का बहिष्कार कर अंग्रेज विरोधी हो गये. इस स्वतंत्रता संग्राम में हजारों सैनानियों को जेल जाना पड़ा, कई लोगों को फांसी पर लटका दिया गया. मगर आजादी की यह मांग निरंतर जारी रही.

नेताजी सुभाषचन्द्र बोस ने जापान व दक्षिण एशियाई देशों में रह रहे भारतीयों के सहयोग से अंग्रेजो के खिलाफ मौर्चा खोला दिया. भले ही बोस की आजाद हिन्द फौज भारत को आजाद नही करवा पाई मगर, 15 अगस्त 1947 को मिली इस आजादी में नेताजी जैसे स्वतंत्रता सैनानियों के योगदान को भुलाया नही जा सकता.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *