पवित्र तीर्थ तथा धाम की जानकारी | Pavitra Tirath Dham

Pavitra Tirath Dham: किसी साधक ऋषि जी ने किसी स्थान या जलाशय पर बैठकर साधना की या अपनी आध्यात्मिक शक्ति का प्रदर्शन किया. वह अपनी भक्ति कमाई करके साथ ले गया तथा अपने इष्ट लोक को प्राप्त हुआ. उस साधना स्थल के बाद तीर्थ या धाम नाम पड़ा.पवित्र तीर्थ तथा धाम की जानकारी | Pavitra Tirath Dham

पवित्र तीर्थ तथा धाम की जानकारी | Pavitra Tirath Dham

अब कोई उस स्थान को देखने जाए तो यहाँ कोई साधक रहा करता था, उसने बहुतों का कल्याण किया. अब न तो कोई संत जी है, जो उपदेश दे, वह अपनी कमाई करके चला गया. विचार करे कृपया तीर्थ व धाम को ह्मोमद्स्ता जाने एक डेढ़ फुट लोहें का गोल पात्र लगभग 9 इंच परिधि का गोल लोहें का डंडा सा मूसल जैसा होता है.

तथा डेढ़ फुट लम्बा तथा दो इंच परिधि का गोल लोहें का डंडा सा मुसल जैसा होगा, जो सामग्री व दवाइयां कूटने के काम आता है, उसे ह्मोमदस्ता कहते है. एक व्यक्ति पड़ौसी का ह्मोम दस्ता मांगकर लाया. उसने हवन सामग्री कुटी तथा मांज धोय्कर लौटा दिया. जिस कमरे में हमोमदस्ता रखा था. उस कमरे में सुगंध आने लगी. घर के सदस्यों ने देखा सुगंध कहा से आ रही है, तो पता चला कि हमोम दस्ते से आ रही है. वह समझ गये कि पड़ौसी ले गया था, उसने कोई सुगंध युक्त वस्तु कुटी है. कुछ दिन बाद वह सुगंध आनी बंद हो गई.

इसी प्रकार तीर्थ व धाम एक हमोम दस्ता जानों. जैसे सामग्री कूटने वाले ने अपनी सर्व वस्तु पोछ कर रख ली. खाली ह्मोम दस्ता लौटा दिया. अब कोई उस ह्मोम दस्ते को सूंघकर ही क्रत्यार्थ माने तो नादानी है, उसको भी सामग्री लानी पड़ेगी, तब पूर्ण लाभ होगा.

ठीक इसी प्रकार किसी धाम या तीर्थ पर रहने वाली पवित्र आत्मा तो राम नाम की सामग्री कूटकर झाड़ पौछ कर सर्व सफाई करके चला जाता है. बाद में अनजान श्रद्धालु उस स्थान पर जाने मात्र से कल्याण समझे तो उनके मार्ग दर्शकों की शास्त्र विधि रहित बताई साधना का ही परिणाम है. उस महान आत्मा संत प्रभु की साधना करने से ही कल्याण ही संभव है. उसके लिए तत्वदर्शी संत की खोज करके उपदेश लेकर आजीवन भक्ति करके मोक्ष प्राप्त करना चाहिए.

शास्त्र विधि अनुकूल संत साधना मुझ दास के साथ उपलब्ध है.

READ MORE:-

Hope you find this post about ”Pavitra Tirath Dham in Hindi” useful. if you like this article please share on Facebook & Whatsapp. and for latest update keep visit daily on hihindi.com.
Note: We try hard for correctness and accuracy. please tell us If you see something that doesn’t look correct in this article about Pavitra Tirath Dham and if you have more information History of Tirath Dham then help for the improvements this article.

Leave a Reply