Poem On Grandfather In Hindi | मेरे प्यारे दादाजी पर कविता

Poem On Grandfather In Hindi | मेरे प्यारे दादाजी पर कविता : दादाजी बहुत प्यारा नाम है, जितना प्यारा ये नाम है उतना ही प्यारा ये रिश्ता कहलाता हैं. grandfather Poems दादाजी पर कविताएँ के माध्यम से आज हम उन्ही बचपन की यादों को फिर से आपके संग ताजा कर रहे हैं. बालपन में बच्चे के सबसे करीब उन्हें दादाजी ही होते हैं. वे उन्हें माँ बाप से भी बढ़कर प्यार करते हैं. यही वजह होती हैं कि वह अपनी हर इच्छा, जरूरतों तथा विचारों को दादाजी के साथ शेयर कर देता हैं.Poem On Grandfather In Hindi

दादाजी पर कविता – Poem On Grandfather In Hindi

Grandfather Hindi Poem: आप भी छोटे थे तक माता पिता ने जब आपकी कोई जिद्द् न मानी हो तब आप फरियाद  लेकर जरुर ही दादाजी लो तरफ गये होंगे.  हमारे पास आपके लिए दादाजी पर छोटी कविता है जिन्हें आज हम आपके साथ शेयर कर रहे हैं. चलिए लीजिए पढिये कुछ बेहतरीन कविताएँ.

Grandfather Poem – प्यारे दादा जी पर कविता

छड़ी पकड़ कर जाते
बाजार से फल सभी
थैला भर कर लाते।

मीठे, रसीले और पके
छांट -छांट कर लाते ,
हम सभी मिल बांट कर ,
बड़े मजे से खाते।

प्यारे से दादा जी
सच की राह दिखाते
प्रेम -प्यार से मिलते
सब के मन को भाते।

Poem on Grandfather in Hindi दादा जी पर बाल कविता

मेरे दादाजी ह सबसे प्यारे
दादाजी है सबसे न्यारे
मुझे नए नए खिलौने लाकर देते
खुशियां भी भरपूर है देते

ज्ञान की बाते मुझे सुनाते
अपने साथ मुझे नहलाते
मेरे दादाजी है सबसे प्यारे
दादाजी है सबसे न्यारे

खुशिया वो अनेक देते
मेरे साथ वो झूमते गाते
मेरे दादाजी है सबसे प्यारे
दादाजी हैं सबसे न्यारे

उगली पकड़कर मुझे चलाते
पूरा गाव वो मुझे घुमाते
मेरे दादाजी हैं सबसे प्यारे
दादाजी है सबसे न्यारे

उम्मीद करता हूँ दोस्तों Poem On Grandfather In Hindi का यह लेख आपको पसंद आया ही होगा. यदि आपकों दादा जी की कविताओं का छोटा सा आर्टिकल पसंद आया हो तो इसे अपने दोस्तों के साथ जरुर शेयर करे.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *