Poems On Bal Gangadhar Tilak In Hindi | बाल गंगाधर तिलक पर कविता

Poems On Bal Gangadhar Tilak In Hindi बाल गंगाधर तिलक पर कविता: लोकमान्य बाल गंगाधर तिलक का नाम हर भारतीय बड़े सम्मान के साथ लेता हैं. अपना सम्पूर्ण वतन भक्ति के अभियान में अर्पित कर देने वालों को इस देश ने अपना ताज माना हैं. 23 जुलाई ऐसा दिन हैं जब भारत के दो अमूल्य रत्नों ने जन्म लिया जी हाँ आज आजाद जयंती व तिलक जयंती मना रहे हैं. हिन्दू ह्रदय सम्राट व राष्ट्रवाद के पुरोधा पुरुष तिलक पर कविता पॉएम शायरी आज   के आर्टिकल में हम साझा कर रहे हैं. लोकमान्य टिळक यांच्यावर कविता मराठी के माध्यम से हम उनके महान विचारों स्लोगन आदि को यहाँ समझेगे.

Poems On Bal Gangadhar Tilak In Hindi बाल तिलक जयंती पर कविता

Poems On Bal Gangadhar Tilak In Hindi बाल तिलक जयंती पर कविता

Poem on Bal Gangadhar Tilak in Hindi Language lokmanya tilak poem, lokmanya tilak poem 2019

जिसने वतन के लिए जीवन जिया
वतन के लिए सब कुछ किया
समाज की बुराइयो को दूर करके
वतन मे आगे बढ़ने का रास्ता हमे दिया

लोकमान्य तिलक नाम है जिनका
गीता सार जिसने समझाया
ना भूलेगे महान इस देश भक्त को
इन्होंने वतन के लिए जीवन त्याग किया

कई बार जेल की यातनाए सही
वतन के लिए उन्होंने सब कुछ किया
एकता के सदेश को हम तक पहुचाया
जिसने वतन के लिए जीवन जिया
वतन के लिए सब कुछ किया

Bal Gangadhar Tilak Poem in Hindi

प्रतीक था आजादी अभियान का,
जिसको मिला ‘लोकमान्य’ का उपनाम था,
तिलक उसका नाम था।
बाल-विवाह विध्वशक वो,
राष्ट्रवाद का प्रतीक पुरुष वो,
खगोल और गणित का ज्ञानी भी वो,
भविष्य दृष्टा और प्रतिभावान चितक वो।
जन्मसिद्ध अधिकार कहा जिसने स्वराज को,
जिसका उद्देश्य समाज का उत्थान था,
तिलक उसका नाम था।
वो उठा था, विधवाओ के अधिकार के लिए,
वो अडिग था, कुरीतियो के सहार के लिए,
उसके आगे आए असख्य विरोधी लेकिन,
वो लड़ा समाज से, समाज मे सुधार के लिए,
वेतज्ञ, सस्कृतज्ञानी वो गंगाधर विद्वान था,
इस भारत भूमि का अद्विक वरदान था ,
लोकमान्य तिलक उनका नाम था।

यह भी पढ़े

बाल गंगाधर तिलक जयंती पर कविता का यह लेख आपकों कैसा लगा. Poems On Bal Gangadhar Tilak In Hindi में दी कविताएँ पसंद आई हो तो अपने दोस्तों को भी भेजे.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *