Prayer in Hindi to God – ईश्वर प्रार्थना वंदना

School Prayer in Hindi to God – ईश्वर प्रार्थना मनुष्य को शांति एवं सुख देने वाली होती हैं. जीवन में सुख सम्रद्धि तथा सभी के भले की कामना मानवता का पाठ पढाती हैं. ईश्वर/ भगवान की दूर दृष्टि प्रत्येक इंसान पर होती हैं. हम वहीँ पाते है जैसा हमारा कर्म होता हैं यहाँ दी गई ईश्वर की प्रार्थना भजन गीत इश वन्दना को पढ़ सकेगे. साथ ही इस आर्टिकल में प्रेयर के बारे में विस्तार से जानेगे.

Prayer in Hindi to God

Prayer in Hindi to God – ईश्वर के लिए प्रार्थना

Morning Prayer To God In Hindi: जीवन में हम कड़ी मेहनत और अपने सामर्थ्य के बल सपने साकार करने के योग्य तो हो जाते हैं. मगर कई बार हमारी ताकत हमारा ज्ञान कुछ अवसरों पर काम नहीं आता हैं. जीवन के कुछ अवसरों पर वश नहीं चलता जिसे हम बुरा समय की संज्ञा देते हैं.

मानव स्वभाव से ही कष्ट या परेशानी में होने पर अपने इष्ट को याद करता हैं. तथा उनसे कार्य सिद्धि की प्रार्थना में लग जाता हैं. हजारों लोग तरह तरह की मन्नतों के साथ ईश्वर से प्रार्थना करते हैं, मगर सभी की प्रार्थनाएं कबूल नहीं होती अथवा इच्छित फल नहीं मिलता हैं. इसका बड़ा कारण यह हैं कि वे प्रार्थना की अवधारणा अर्थ आदि को नहीं जानते हैं.

Prayer in Hindi में ईश्वर की कुछ प्रार्थनाएं पढ़ने से पूर्व आपकों समझना चाहिए, कि इसका अर्थ मीनिंग तथा सही व गलत तरीका क्या हैं, जिसे हम इस आर्टिकल में आपकों विस्तार से बता रहे हैं.

प्रार्थना का अर्थ (Meaning of prayer)

सरल शब्दों में समझा जाए तो अपने दिल की बात कहना प्रार्थना हैं. जो अपने से छोटे बड़े शिक्षक या माता पिता से भी हो सकती हैं. इसके माध्यम से व्यक्ति स्वयं या अन्य व्यक्ति की इच्छाओं की पूर्ति के लिए प्रयास करता हैं. प्रार्थना के कई सारे रूप हैं तन्त्र, मंत्र, गीत, संगीत, भजन या मौन रूप से अपने बात कहने को प्रार्थना का रूप समझा जाता हैं.

ऐसा माना जाता हैं कि प्रार्थना से छोटे छोटे बदलाव आते हैं तथा प्रकृति व परिवेश में आपके अनुकूल वातावरण निर्मित होने लगता हैं. अकेले अथवा कई लोगों के साथ प्रार्थना करने में स्वाभाविक ही हैं अधिक लोगों की तमन्ना से प्रकृति में बड़ा बदलाव लाया जाना संभव हैं.

प्रार्थनाएं नाकाम क्यों हो जाती है

कई बार हमें ऐसा लगता हैं कि हमारी प्रेयर अनसुनी हो गई अथवा भगवान से हम खूब प्रार्थना कर रहे हैं मगर हमें इसका फल नहीं मिल रहा हैं. ऐसे हालात में आपको अपनी प्रार्थना के विषय तथा तरीके पर गौर करना चाहिए जिन कारणों से अक्सर प्रार्थना कबूल नहीं की जाती हैं.

– प्रार्थना से फल की प्राप्ति की लिए हमें चाहिए कि हम उसे अपने आचार विचार में अपनाए.
– हमारे विचारों तथा व्यवहार पर काबू न होने से भी प्रार्थना स्वीकार नहीं होती हैं.
– अपने माता पिता का सम्मान न करने वाले की प्रार्थना भी नाकाम ही होती हैं.
– यदि आपकी प्रेयर में किसी का या आपका अहित छुपा हो तो वह स्वीकार्य नहीं हैं
– तर्क हीन बातें या मांग स्वीकार्य नहीं होती.

प्रार्थना के नियम (Rules of prayer)

सही ढंग से की गई प्रार्थना न केवल भगवान द्वारा स्वीकार की जाती हैं बल्कि वह जीवन में चमत्कारी बदलाव ले आती हैं यहाँ कुछ नियमों को जानिये तथा इसे जीवन में उतारने का प्रयास अवश्य करे.

– बोली अथवा गाई जाने वाली प्रार्थना सरल, सौम्य व सार्थक अर्थ देने वाली हो.
– प्रार्थना के लिए चूना गया स्थल स्वच्छ व पवित्र हो.
– रात्रि जागरण में अथवा देर रात की गई प्रेयर ईश्वर अवश्य सुनता हैं.
– अपनी दिनचर्या में प्रार्थना के लिए नियत समय हो.
– किसी को नुकसान पहुचाने के उद्देश्य से प्रार्थना कभी न करे.
– किसी के लिए ईश्वर से प्रेयर करने के लिए पहले अमुक इंसान के बारे में विचार करे फिर प्रार्थना आरंभ करे.

भला किसी का कर ना सको तो | Bhala Kisi Ka Kar Na Sako To

भला किसी का कर ना सको तो, बुरा किसी का ना करना,
फूल नही बन सकते तो तुम, काटे बन कर ना रहना.

बन ना सको भगवान् अगर, कम से कम इसान बनो
नही कभी शैतान बनो, नही कभी हैवान बनो
सदाचार अपना न सको तो, पापो में पग ना धरना
पुष्प नही बन सकते तो तुम, काटे बन कर ना रहना.

सत्य वचन ना बोल सको तो, झूठ कभी भी मत बोलो
मौन रहो तो ही अच्छा, कम से कम विष ना घोलो
बोलो यदि पहले तुम तोलो, फिर मुह को खोला करना
पुष्प नही बन सकते तो तुम, काटे बन कर ना रहना.

घर ना किसी का बसा सको तो, झोपड़िया ना जला देना
मरहम पट्टी कर ना सको तो, खार नमक ना लगा देना
दीपक बन कर जल ना सको तो, अधियारा ना फैला देना
पुष्प नही बन सकते तो तुम, काटे बन कर ना रहना.

अमृत पिला ना सके किसी को, ज़हर पिलाते भी डरना
धीरज बधा नही सको तो घाव किसी के मत करना
राम नाम की माला ले कर सुबह श्याम भजन करना
पुष्प नही बन सकते तो तुम, काटे बन कर ना रहना.

प्रार्थना करने का तरीका

हम कामना करते हैं आपकी हर एक प्रार्थना उपरवाला स्वीकार करे तथा आपकों मनोवांछित फल की प्राप्ति हो. दोस्तों प्रार्थना करने के कुछ तौर तरीके भी माने गये हैं यदि हम उनको ध्यान में रखते हुए अपने इष्ट से प्रेयर करे तो सम्भव हैं वह स्वीकार्य होगी.

  • प्रार्थना के लिए चूना गया स्थान एकांत हो
  • जमीन पर सिर आसमान की तरफ करते हुए कमर सीधी कर बैठे
  • प्रार्थना की शुरुआत अपने गुरु या ईष्ट के स्मरण से करे
  • अब जिस तरह की प्रार्थना आपकों करनी है उसे शुरू करे
  • अपनी प्रार्थना को किसी तक प्रचारित न करे इसे गोपनीय ही बनाए रखे.
  • अवसर मिलने पर प्रेयर को दोहराते रहे.

प्रभु प्रार्थना | God Prayer

इतनी शक्ति हमे देना दाता, मन का विश्वास कमजोर हो ना,
हम चले नेक रस्ते पे हम से, भूलकर भी कोई भूल हो ना.

दूर अज्ञान के हो अधेरे, तू हमे ज्ञान की रौशनी दे,
हर बुराई से बचते रहे हम, जितनी भी दे भली जिन्दगी दे,
बैर हो न किसी का किसी से, भावना मन मे बदले की हो ना.

हम ना सोचे हमे क्या मिला है, हम यह सोचे किया क्या है अर्पण,
फूल खुशियो के बाटे सभी को, सब का जीवन ही बन जाए मधुवन,
अपनी करूणा का जल तू बहा के, कर दे पावन हर एक मन का कोना.

यह भी पढ़े

आशा करता हूँ फ्रेड्स यहाँ दिया गया Prayer in Hindi to God का यह भाषण आपकों पसंद आया होगा, यदि आपकों इस आर्टिकल में दी गई जानकारी पसंद आई हो तो प्लीज इसे अपने दोस्तों के साथ सोशल मिडिया पर जरुर शेयर करें.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *