मेरी प्रथम रेल यात्रा पर निबंध | Rail Se Pehli Yatra Essay In Hindi

मेरी प्रथम रेल यात्रा पर निबंध Rail Se Pehli Yatra Essay In Hindi

मेरी प्रथम रेल यात्रा पर निबंध Rail Se Pehli Yatra Essay In Hindi

Rail Se Pehli Yatra Essay In Hindi: प्राचीनकाल में यात्राएं इतनी सुगम नहीं थीं. जितनी कि आज हैं. निसंदेह विज्ञान ने आज संसार को बहुत ही निकट ला दिया हैं. यद्पि यात्राओं में कष्ट तो होता हैं. किन्तु नये स्थानों, प्राकृतिक दृश्यों तथा अनेक धार्मिक स्थानों के दर्शन से सारा कष्ट आनंद में बदल जाता हैं.

प्रस्थान: मुझे मई के आरम्भ में अजमेर की यात्रा करनी पड़ी. मैंने अपनी सीट आठ दिन पूर्व ही सुरक्षित करा ली थी. मैंने अजमेर जाने की तैयारियाँ कीं और जरुरी सामान लेकर स्टेशन पर आ गया.

रेलवे स्टेशन का वर्णन: टिकट घर पर सैकड़ों व्यक्ति पंक्तियों में खड़े टिकट ले रहे थे. कुछ लोग इस बात के लिए प्रयत्नशील थे कि टिकट शीघ्र मिल जाए. इसलिए कभी कभी धक्का मुक्की हो जाती थी लेकिन पुलिस के सिपाही शांति बनाये रखने में प्रयत्न शील थे. स्टेशन पर बड़ी भीड़ थी.

प्लेटफोर्म पर मेला सा लगा हुआ था. लगभग रात के 12 बजे हमारी गाड़ी सवाई माधोपुर पर आई. भीड़ के कारण चढ़ने में कुछ परेशानियां आईं. थोड़ी देर में हमारी गाड़ी चल दी.

यात्रा का वर्णन: गाड़ी तेजी से चली जा रही थी. इधर हम पर निद्रा देवी ने अधिकार जमा लिया. प्रातः काल के 5 बजे थे, जयपुर थोड़ी दूर ही रहा होगा. कि मेरे साथी जागे और उन्होंने अपना सामान सम्भालना आरम्भ कर दिया. जयपुर पर वे लोग मुझसे विदा ले गये.

कुछ क्षणों के बाद उस स्थान पर अन्य यात्री आ गये तथा उनसे परिचय आरम्भ हो गया. प्रातःकाल का सुहावना समय था. शीतल मंद सुगंध हवा चल रही थी. लगभग 9 बजे मैंने अंतिम हिन्दू सम्राट पृथ्वीराज चौहान की सुंदर एवं आकर्षक नगरी अजमेर में प्रवेश किया. गाड़ी के सामान उतारकर कुली पर रखवाकर प्लेटफोर्म के बाहर आया और धर्मशाला चला गया.

उपसंहार: रेल यात्रा में बड़े आनन्द आते हैं. नवीन दृश्यों से मन मोहित हो जाता हैं. अपरिचित व्यक्तियों से भेंट होती है. विभिन्न प्रकार की वेशभूषा, भाषा तथा बोलियों से परिचय होता हैं. इस प्रकार यात्रा करने से हमारा ज्ञान बढ़ता हैं.

यह भी पढ़े

Rail Se Pehli Yatra Essay In Hindi का यह निबंध आपकों अच्छा लगा हो तो प्लीज अपने दोस्तों के साथ भी इसे शेयर करिये.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *