राजस्थान की प्रमुख झीलें | Rajasthan Lakes Gk In Hindi

Rajasthan Lakes Gk In Hindi, lakes in rajasthan– राजस्थान की प्रमुख झीलों को जल की दृष्टि से दो भागों में विभाजित किया जाता है. खारे पानी की झीलें तथा मीठे पानी की झीलें. Rajasthan में मीठे पानी की झीलों में जयसमन्द (JaySamand) , Rajsamand , पिछोला(Pichhola) , आनासागर(Aanasagar) , फाईसागर , पुष्कर (Pushkar) , सिलसेढ , नक्की (Nakki) , बालसमन्द , कोलायत (Kolayat) , फतहसागर व उदयसागर कुछ बड़ी झीलें है.मीठे पानी की झीलों का पानी पीने एंव सिंचाई के लिए उपयोग किया जाता है. जबकि खारे पानी की झीलों में मुख्यतया नमक उत्पादन का कार्य ही सम्पन्न किया जाता है. एक नजर मुख्य Rajasthan Lakes पर.

राजस्थान की झीलें (lakes in rajasthan)important lakes in rajasthan

खारे पानी की झीलें (salt water lakes in rajasthan)

खारे पानी की झीलों में सांभर, डीडवाना, लूणकरणसर व पचपदरा प्रमुख है. सांभर भारत की सबसे बड़ी खारे पानी की झील है. जयपुर जिले में फुलेरा के पास है. इस झील में मन्था, मेड़, खारी, रूपनगर व खंडेला नदियाँ गिरती है. डीडवाना झील नागौर जिले में डीडवाना शहर के दक्षिण में है.

यहाँ पर सोडियम व सल्फेट बनाने के संयत्र है. बीकानेर जिले में लूणकरणसर व बाड़मेर जिले में पचपदरा झील है. अन्य झीलें, फलौदी, कांवोद, कछोर व खोसा आदि है.

राजस्थान में मीठे पानी की झीलें (sweet water lakes in rajasthan)

राज्य में जयसमंद, राजसमंद, पिछोला, आनासागर, पुष्कर, सिलीसेढ़, उदयसागर, फतेहसागर, जनासागर, नक्की कोयलाना आदि मीठे पानी की झीलें है. जयसमंद झील राजस्थान की सबसे बड़ी कृत्रिम झील है. यह उदयपुर के पास है. इसकें बिच में कई टापू भी है.

इसके सबसे बड़े टापू का नाम बाबा का भागड़ा व उससे छोटे टापू का नाम प्यारी है. यह पर्यटन की दृष्टि से महत्वपूर्ण है.

राजसमंद झील कांकरोली के निकट है. इसका निर्माण महाराणा राजसिंह ने 1662 में करवाया था. झील का दक्षिणी भाग नौ चौकी के नाम से प्रसिद्ध है. यहाँ संगमरमर के प्रस्तर खंडो पर 25 शिलालेख उत्कीर्ण है.

जिस पर मेवाड़ का इतिहास व झील के निर्माण का विवरण संस्कृत भाषा में लिखा हुआ है. ये शिलालेख प्रकाशित है.

पिछोला झील उदयपुर में है. इसका निर्माण राणा लाखा के शासनकाल में हुआ था. आनासागर झील अजमेर शहर में है. इसे पृथ्वीराज चौहान के दादा अन्ना जी ने 1137 में बनवाया था.

यहाँ पर इसके किनारे शाहजहाँ द्वारा बारहदरी तथा जहांगीर द्वारा दौलत बाग़ (सुभाष उद्यान) बनवाया गया.

पुष्कर झील प्रसिद्ध धार्मिक स्थल है, जहाँ विश्व प्रसिद्ध ब्रह्माजी का मन्दिर है. सिलीसेढ़ झील अलवर जिले में स्थित है. जहाँ मछली पालन किया जाता है.

कोलायत झील बीकानेर जिले में है. यहाँ प्राचीन काल में कपिल मुनि का आश्रम था. जनासागर झील उदयपुर के पास बड़ी में स्थित है.

यह भी पढ़े-

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *