सभ्यता और संस्कृति में अंतर व निबन्ध | Difference Between Civilization And Culture In Hindi

Difference Between Civilization And Culture:-सभ्यता और संस्कृति ये दो शब्द है और इनके अर्थ भी अलग अलग है. सभ्यता मनुष्य का वह गुण है. जिससे वह अपनी बाहर तरक्की करता है. संस्कृति वह गुण है. जिससे वह अपनी भीतरी उन्नति करता है. करुना प्रेम और परोपकार सीखता है. आज रेलगाड़ी और मोटर, हवाई जहाज लम्बी चौड़ी सड़के और बड़े बड़े मकान अच्छा भोजन और अच्छी पोछाक, ये किसी सभ्यता की पहचान है.

सभ्यता और संस्कृति में अंतर व निबन्ध | Difference Between Civilization And Culture In Hindi

जिस देश में इन साधनों की जितनी अधिक व्यापकता है. उस देश को हम उतना ही अधिक सभ्य मानते है. मगर संस्कृति उन सबसे अधिक बारीक चीज है. वह मोटर नही मोटर बनाने की कला है. मकान नही मकान बनाने की रूचि है. संस्कृति धन नही गुण है.

संस्कृति ठाठ बाट नही विनय और विनम्रता है. एक कहावत है कि सभ्यता वह चीज है जो हमारे पास है. लेकिन संस्कृति वह गुण जो हममे छुपा हुआ है.

हमारे पास घर होता है, कपड़े लते होते है, मगर ये सारी चीजे हमारी सभ्यता के सबूत है. जबकि संस्कृति इतने मोटे तौर पर दिखाई नही देती है., वह बहुत ही सूक्ष्म और महान चीज है. और हमारी हर पसंद , हर आदत में छिपी रहती है.

मकान बनाना सभ्यता का काम है, लेकिन हम मकान का कौनसा नक्शा पसंद करते है. – यह हमारी सभ्यता बताती है आदमी के भीतर काम क्रोध, लोभ, मंद, मोह और मत्सर ये छ विकार प्रकृति लिए हुए है. मगर ये विकास बेरोक छोड़ दिया जाए तो आदमी इतना गिर जाए कि उसमे और जानवर में कोई भेद नही रहता है.

इसलिए आदमी इन विकारों पर रोक लगाता है. इन दुर्गुणों पर जो आदमी जितना ज्यादा काबू पाता है उसकी संस्कृति भी उतनी ही ऊँची मानी जाती है. संस्कृति का सवभाव है कि वह आदान प्रदान से बढ़ती है, दो देशों या जातियों के लोग आपस में मिलते है तब उन दोनों की संस्कृतिय एक दुसरे से प्रभावित होती है. इसलिए संस्कृति की द्रष्टि से वह जाती या वह देश बहुत ही धनी माना जाता है.

जिसने ज्यादा से ज्यादा देशों या जातियों की संस्कृति से लाभ उठाकर अपनी संस्कृति का विकास किया हो.

sanskriti aur sabhyata me antar in hindi

इस आधार पर सभ्यता और संस्कृति में निम्न सूक्ष्म भेद किये जा सकते है.

  • सभ्यता का मापन किया जा सकता है. कि कोई जाति विशेष या देश कितना सभ्य या असभ्य है. जबकि संस्कृति उन मानवीय
  • नैतिकता और आदर्शो का पुलिंदा है. जिसका मात्रात्मक मापन संभव नही होता हैं.
  • सस्कृति का जन्म कई हजारों वर्षो में निरंतर और छोटे छोटे बदलाव से होता है मगर सभ्यता का जन्म कम समय में संभव है.
  • एक दर्शनिक के अनुसार सभ्यता कहती है हमारे पास क्या है. यानि उस सभी भौतिक साधनों को सभ्यता का हिस्सा माना जा सकता है. दूसरी तरफ संस्कृति में हम क्या है इस सवालों का जवाब ढूंढा जा सकता है.

Difference Between Civilization And Culture का ये लेख आपकों कैसा लगा कमेंट कर हमे जरुर बताए….

कंप्यूटर का परिचय | Computer Introduction In Hindi... कंप्यूटर का परिचय | Computer Introd...
आतंकवाद की समस्या पर निबंध | Hindi Aatankwad Ki Samasya Essay... आतंकवाद की समस्या पर निबंध | Hindi ...
प्लीज अच्छा लगे तो शेयर करे

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *