गाँव पर शेरो शायरी स्टेटस फोटो Shayari On Village Status Quotes In Hindi

गाँव पर शेरो शायरी स्टेटस फोटो Shayari On Village Status Quotes In Hindi: हेलो नमस्कार दोस्तों आपका स्वागत है गाँव किसे नहीं लुभाते, भारतीय ग्रामीण जीवन की मनोरम झलक हर कोई पाना चाहता हैं मगर ये नसीब नसीब की बात हैं जो लोग गाँव छोड़कर शहर की ओर पलायन कर गये हैं उन्हें गाँव का महत्व तभी पता चलता हैं जब वे धक्के मार जीवन से व्याकुल होकर अपने अतीत के जीवन में झांकते हैं. गाँव की यादे शायरी कोट्स उद्धरण स्टेटस Village Shayari Village Status Village Gaanv Poem में हम कुछ बेहतरीन शेरो शायरी बता रहे है जो यकीनन आपकों अपने गाँव की याद दिला देगी.

गाँव पर शायरी स्टेटस फोटो Shayari On Village Status Quotes In Hindi

गाँव पर शेरो शायरी स्टेटस फोटो Shayari On Village Status Quotes In Hindi

गाँव शायरी – Village Status in Hindi Shayari Quotes DP Lines गाँव शायरी – Village Status in Hindi Shayari Quotes DP Lines: Hello Guys Here Is Latest Collection Of Village Related Shayari In Hindi For Lover oF Village Soul.

मेरी शहर सी ज़िंदगी में,
वो एक गाँव सी है।
शांत, स्वच्छ और मासूम।


सुना है .. खरीद लिया उसने करोड़ों का घर शहर में ..
मगर आंगन दिखाने आज भी वो बच्चो को गांव लाता है …🌼


गाँव पर कविता

“ गाँव “
अब ताले खुलेंगे !
परदेसी लौट आये हैं !
शायद गहरी कोई चोट खाये हैं !
अब ताले खुलेंगे ।
अब जाले हटेंगे !
मालिक लौट आये हैं !
शायद नौकर उनके, नौकरी छोड़ आये हैं !
अब ताले खुलेंगे ।
अब बुजुर्ग मुस्कराएँगे !
नाती-पोते सब लौट आये हैं !
शायद खिलोनें सारे टूट चुके हैं !
अब ताले खुलेंगे ।
अब गाँव गायेंगे !
गाँव वाले लौट आये हैं !
शायद शहर पराये हो आये हैं !
अब ताले खुलेंगे ।


गांव और शहर के लोगों में
उतना ही अंतर होता है
जितना धरती और गमले में
उगे हुए पौधे में होता है।


गाँव की याद शायरी

हर गाँव में एक पेड़ ऐसा भी होता है
जिसपर बचपन में उस गाँव के
सभी बच्चे बारी-बारी झूला करते हैं।
और जहाँ जवान होने पर किसी का
मजबूर जीवन झूल जाया करता है।


गाँव की माँए आज भी कच्चे रस्तो पर चलती है,
क्योकि ये पक्की सड़के उनके बेटो को शहर लेती गई।♥️


यूँ तो समेट लाए हर चीज़ गाँव से मगर,
धागे तुम्हारे नाम के बरग़द पे ही रह गए ❤️


ये दौड़ता हुआ शहर है जनाब,
चलना हो हो आओ मेरे गांव कभी।❤️


वो बड़े शहर का छोरा और वक़्त से तेज़ है ,,,,
But don’t worry….
इस गांव की छोरी के सपनों में कैद है ।। 😊


गांव की मासूमियत अक्सर शहर
कि हवा में गुम हो जाती है।


गांवों में भीड़ बढ़ती जा रही है,
सुना है शहर में कोई बीमारी आयी है!!..


दरवाजे से छुपकर देखती है वो रोज मुझे, ♥️♥️
ये गाँव का इश्क है जनाब, शहर की नौटंकीयां नहीं..!!💙🤗


गाँव को शहर नहीं
शहर को गाँव बनने की जरूरत है!


गाँव पर स्टेटस इन हिंदी

जब जलाती है ये धूप, बरगद का छाँव याद आता है,
और
जब आसरा छीन लेता है ये शहर, तब मेरा गांव याद आता है।


गाँव नाप आते थे पूरा नंगे पाँव,
पैर जलने लगे जबसे डिग्री सेल्सियस समझ आया।


शहर और गांव में भिन्नता। शहर में साधु को भिखारी समझा
जाता है, और गांव में भाखरी को भी साधु समझते हैं।


गांव में आये सुकून की तलाश में ..
वहाँ भी पीछे पीछे शहर आ गए💙💙✒️


बनना है तो गाँव सा बचपन बनो,
शहर सी जवानी बस बचपन की याद दिलाती है.


ये वही गांव है जिस पर आरोप था ,
:
अगर यहाँ रहेंगे तो भूखे मर जाएंगे ..
वही आज गाँव आये है


जब जलाती है ये धूप, बरगद का छाँव याद आता है,
और
जब आसरा छीन लेता है ये शहर, तब मेरा गांव याद आता है।


किस आज़ादी में क़ैद है ये शहर,
के फ़िर गाँव हो जाने को तरस गये है।


बदला है मिज़ाज़ जब से तेरे दिल के शहर का,
मेरे गांव की नसों में फ़ैल गया है ये “किस्सा” ज़हर सा..💯🙏🏻


वो दादा जी की कहानियां फिर सुना जाती हैं…
जब जब गाँव से मीठी मठ्ठी शहरों में लायी जाती हैं।।


एक कुआ पुराना सा.. जिसको बने बीत गया जमाना सा..
वही चकरी वही घीरणी वही ऊँचा घेराव हैं।।
साहब मेरा गाँव आज भी गाँव हैं


गाँव पर शेरो शायरी इन हिंदी

ठोकरें शहरों सी, और अनुभव गांव सा है।


बहुत गुमान था उनको शहरों की इमारतों पर,🔥🔥
ऐसा भी क्या हुआ कि गांव याद अा गया..!!💙🤗


यू तो गाव के हर घर में रहते हैं अलग परिवार
पर फिर भी गाब खुद एक सांझा परिवार होता हैं


मेरी अटैची में,
मेरा गाँव कैद है,
माँ के हाथ का आचार,
बाबा की दी हुई किताब,
भाई के चुराये जूते,
पड़ोस की खिड़की से फेंका हुआ खत,
चाचा के साइकिल की घंटी,
और मेरे खेत में उगता चावल,
मैं जिंदगी को शहर की सरहद पे ले आया हूँ,
मेरी अटैची में मेरा गाँव लाया हूँ ।


फोन का नेटवर्क पूरा आने लगा है मेरे गांव में …
पर अफसोस चिड़ियों की चहचहाहट अब सुनाई नहीं देती।😊


बहुत शुकून मिलता है, जब भी दरख्तों की छाँव में बैठता हूँ,
महकती मिट्टी का अहसास होता है,जब भी गाँव में बैठता हूँ।
जिंदगी की मुश्किलों ने कुछ तजुर्बे दिए हो मुझे मगर,
जीवन का सार मिल जाता है जब भी बुजुर्गों के पांव में बैठता हूँ। ✍


ऐ गाँव !
ये कैसी शान और अदा है तेरी
जो एक बार आते हैं, तेरे मुरीद हो जाते हैं


गाँव में जो छोड़ आए हजारों गज की हवेली
शहर के दो कमरों को तरक्की कहते हैं…


एक गाँव ही तो है जो छोड़ जाने के बाद भी पनाह देता है
देता है रोटी, छाव, बहुत सा अपनापन उसको भी जो
शहर जाने का कर गुनाह देता है


अपनेपन और सुकून की छांव,
हम सबका अपना – अपना गांव।❤️


Village Shayari In Hindi

सारा जहां एक तरफ,और मेरा गांव एक तरफ
अगर
मोल किया जाए तो सारा जहां फीका सा हर तरफ।


मंज़िल करीब आते ही, एक पाँव कट गया……..
और चौड़ी हुई सड़क तो मेरा गांव कट गया……..


आसमां से टूट कर ये तारे कहाँ जाते होंगे??
क्या इनके पाँव नहीं होते…..
एक अरसे से ये बात खाये जा रही हैं, फ़कत मुझे,,
शहरों से रूठ कर वो लोग कहाँ जाते होंगे ??
जिनके गाँव नहीं होते… ..


देहाती वो नहीं जो गाँव में रेहते है,
देहाती वो है जो दहेज माँगते है ।


जब जलाती है ये धूप, बरगद का छाँव याद आता है,
और
जब आसरा छीन लेता है ये शहर, तब मेरा गांव याद आता है।


जहां कुदरत की अपनी छांव है,
जिसे अपना कह सकूं वह अपना गांव है!


होती होंगी शहरों की शामे रंगीन,
मेरे गांव की रातों में सुकून ह।


Village Life Shayari

पीपल की छैया यादों की गलियां खूबसूरत खेत और खलिहान,
बड़ों का आदर और बुजुर्गों का सम्मान
हमने ऐसी संस्कार गांव से ही सीखा है यार ❤


गांव एक ऐसी जगह है जहां पे आप अपना जीवन प्रकुर्ति के साथ
बिता सकते है और अपने जीवन को एक बहेतरीन बना सकते हो.।


मैं अपने गीत ग़ज़लों से तुम्हें पैगाम करता हूं,
तुम्हारी दी हुई दौलत तुम्हारे नाम करता हूं
शहर आकर हमें बस रात की शोखी हुई
हासिल मैं अपने गांव की हर
शाम तुम्हारे नाम करता हूं।❤️❤️❤️❤️


गांव से छोटा शहर लगने लगा है ..
हर कोई रहगुजर लगने लगा है ..
दिन से बड़ा रातों का पहर लगने लगा है.
कभी सबका था साथ,
अब अपनों से डर लगने लगा है..
मेरी कीमत भी क्या होगी,
अपना घर ही अब कबर लगने लगा है ❣️


पूरी दुनिया से थक हार के एक गाँव ही
तो था जाह में चैन से मर सकता था।


Missing Village Shayari In Hindi

याद आते हैं हर वो लम्हे जहां हमने खेले गिल्ली डंडे और कंचे,
सावन की बहार और नदियों में पानी की बौछार
ऐसा स्वर्ग से सुंदर चित्रण मेरे गांव का है यार 😍❤😘


सुना है शहर
हताश निराश हो कर
लौट आया है गांव फिर से…..


गाँव के आसमान में
उड़ते हुए हवाई जहाज़
नहीं दिखते !!
जमीनी हकीकत , में
गाँव का हर बच्चा
हवाई जहाज़ में
उड़ने का ख्वाब
बुन रहा होता है ।


भूल जाएगी तेरे शहर की शाम को आ कभी मिलाओ मेरे गांव के सवेरे से
क्या किससे सुनाऊं मेरी कहानी के खत्म भी तुझ पर ही होते हैं शुरू भी तेरे से-


फर्क दिल और दिमाग से सोचने का है।
यही बांट देते है गांव और शहर को।❤️


गाँव की मिट्टी,
शहर का धूल!
ये फ़र्क़ क्यूँ ?
गाँव! गाँव है।
तेरा शहर नर्क क्यूँ ??
क्या हैसियत है?
कहाँ से आया है?
शक्ल देख और हालत भी!
लगता है गाँव से आया है!!
अच्छे घर के लगते हो,
महसूस हुआ नहीं है या
किसी ने बताया नहीं है?
बत्तमीज हो नहीं!
लगता है शहर ने बनाया है!!


ये कल का गाँव आज शहर हो गया,
जो था कल तक मीठा आज ‘जहर’ हो गया। 🙏🙏


उसकी आंखों के
गांव में
घर है मेरे….दिल का


कहीं दिखती नहीं तितलियां शहर में,
वहीं जाड़े की धूप खिलखिला के आती है मेरे गांव में..


My Village Shayari Hindi

तू एक बार गांव का होकर तो देख
गांव तुझे अपना ना लगे तो कहना


नैनों में था रास्ता, हृदय में था गांव
हुई न पूरी यात्रा, छलनी हो गए पांव


गाँव – गाँव ये बात उठी है सहज ही कोई आया है,
बहति नदिया घाट किनारे ,पीपल पर फिर दीप जग-मगाया है ।।


बस इतना ही फर्क है साहब,
शहर में लोग मकान नंबर से पहचानते है
और गाव में पिता के नाम से🙏


Village Ki Shayari

वो माटी की खुशबू , झर झर बहता पानी
गांव की गलियों में बीत गयी, वो अल्हड़ जवानी।


वो चमकती धूप, हर शाम जहाँ रुहानी,
जहाँ आज भी घड़ों में भर कर रखा जाता है
पानी, बस यही है मेरे “गाँव” की सादी सी कहानी ॥
Gaon Wali Shayari


मेरे गावों में आज भी जाता हूँ,
मेरा बचपन लौट आता हैं।


मेरे गांव का वो सूना चौक,
जहाँ हुआ करती थी बहसें कभी,
खास विषयों पर
ताश और हुक्कों के बीच,
वो खिलखिलाती सी,
बुजुर्ग जवानियां,
वो नीम का पेड़,
जो सूख चुका है अब,
देता है गवाही ,
तरक्की तो हुई,
पर बहुत कुछ छूट गया..।
Village Shayari Hindi


किसी ने कहा गाव के बारे मे कुछ बताओ.
गाव छोडकर शहर मे घर बसानेवाले
भी गाव की वाह वाह करने लगे.
Shayari Village


बंद कमरों में कहाँ एैसी सदाएं होंगीं,
ये मेरे गाँव के बरगद की हवांए होंगी !😍
Shayari On Village In Hindi


ये शहर ही है जनाब जिसने अपनों पर से भी भरोसा उठा दिया,
मेरे गांव में जाकर देखिए वहां आज भी लोग घरों में ताले नहीं लगाते।❤️
shayari gaon


Shayari On Village Life

सुख दुःख में सब साथ उत्सव मेले हर शाम यहां,
कुरीतियों को भी पनाह जहां मैंने उसको गाँव कहा।


शहर की दवा और गाँव की हवा बराबर होती है।
Gaon Ki Yaad Shayari In Hindi


गांवों की मिट्टी की खुशबू, शहर में आती नहीं…
हवा सुहानी गांवों वाली शहरों तक जाती नहीं।
पुराने हों भले ही तोर तरीके, पर उन गांवों
जैसी बात कहीँ और बन पाती नहीं।
My Village Shayari


बहुत कमा लिया हमने उल्टे पांव लौट चलें ..
चल भाई शहर को छोड़कर गांव लौट चलें 😢😢


Status On Village

इस शहर की नौकरी ने बहुत भगाया है ,
चलो कुछ दिन गांव जाकर सुकून से रह लें।☺️❤️
Village Status In Hindi


मैं बालक हूँ गाँव वाला, है बाते भी गाँव वाली,
आप ठहरे शहर वाले, है बाते भी शहर वाली. ..
Status On Village Life


मैंने देखा है नदियों को
शहरों से नज़र छुपाते,
चुपचाप गुज़र जाते हुए
तुम भी तो नदी सी ही थी,
तुममें ही तो विसर्जित
किया था मैंने ख़ुदको
जाने क्यों,
चुपचाप गुज़र गई थी तुम
हाँ, पर याद है मुझे,
मर रहा था गांव मेरे अंदर का
या शायद मैं शहर हो रहा था..
Way To Village Status


बहती है एक नदी शांत सी
उस दूर के परम्पराओं वाले गांव से
बीती रात कुछ मशालें
टहल रहीं थीं घाट पर
सुबह को उसी शांत
नदी ने जन्म दिया था
एक मुर्दा नवजात लड़की को..
status for village


हमारे लिए तो गाँव हमारी ज़िंदगी है साहब
My Village Status


Village Status In English

देखो भीड़ होने लगी शहर की सड़को पर
लगता है फिर से गांव ऊजड़ जायेगा
फिर भागने लगा है शहर सारा
लगता है फिर गांव ठहर जायेगा
आ गये बच्चे बहुत से भूख मिटाने
लगता है गांव के साथ बचपन भी छूट जायेगा
देखो रौनक हो गयी है शहर के बाज़ारो में
गांव का हाट फिर रूठ जायेगा


चलते चलते आज बहुत पीछे छूट गया मेरा गांव,
इमारतें बहुत खड़ी हैं यहां पर मिली ना वो नीम वाली छांव।


वह जो यह कहकर गांव छोड़कर चल दिए कि यहां रखा ही क्या है,
आज वही अपने प्राणों को बचाने गांव की तरफ भागते नजर आ रहे हैं।🙂
Village Status For Whatsapp


जब से छोड़ा है इसने गाँव को अपने,
सुकून की तलाश में,भटक रहा है ये शहर…💔
Village Boy Status


गाँव का वो जमाना कितना अच्छा था
घर कच्चे थे पर रिश्ता पक्का था
तुम्हारे शहर में अपने भी अपने नही
हमारे गाँव में दुश्मन भी अपना था
यहाँ तुम एक कमरे के मकान को तरक्की बताते हो
हमारे गाँव में इससे बड़ा नौकर का कमरा था
Village Hindi Status


यह भी पढ़े

उम्मीद करता हूँ दोस्तों गाँव पर शेरो शायरी स्टेटस फोटो Shayari On Village Status Quotes In Hindi का यह लेख पसंद आया होगा, यदि आपकों गाँव की शायरी पसंद आई हो अपने दोस्तों के साथ जरुर शेयर करें.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *