क्रिकेट पर छोटा निबंध – Short Essay On Cricket In Hindi

आज इस इस लेख में क्रिकेट पर छोटा निबंध हम पढ़ेगे, क्रिकेट आज दुनियां का सबसे लोकप्रिय खेल हैं. भारत में इसे एक मजहब की तरह लिया जाता हैं. विद्यार्थी जीवन में खेलों का बड़ा महत्व होता हैं. खेल उन्हें स्फूर्ति व ऊर्जा प्रदान करते हैं. हर किसी को अलग अलग अलग खेल प्रिय होते हैं. क्रिकेट मेरा प्रिय खेल हैं, जिस पर यह छोटा निबंध इस खेल के बारे में दिया गया हैं. क्रिकेट पर निबंध अथवा Short Hindi Essay On Cricket में इस खेल के तीनों फोर्मेट के बारें में जानकारी दी गई हैं.क्रिकेट पर छोटा निबंध - Short Essay On Cricket In Hindi

Cricket का जन्म उन्नीसवीं सदी में इंग्लैंड से माना जाता हैं. हालांकि इससे पूर्व भी यह खेला जाता था. मगर आज के जेंटलमैन क्रिकेट की शुरुआत की अवधि यही थी. दोनों टीम के 11 खिलाड़ियों के मध्य खेला जाता हैं. बारी बारी से दोनों टीम को बल्लेबाजी एवं गेदबाजी करने का अवसर मिलता हैं. पहले कौन खेलेगा इसका निर्णय टॉस के द्वारा होता हैं.

क्रिकेट के खेल में तीन पक्ष होते हैं. गेदबाजी, बल्लेबाजी और क्षेत्ररक्षण तीनों क्षेत्रों में अच्छा प्रदर्शन करने वाली टीम विजयी कहलाती हैं. विश्व भर में क्रिकेट की कई राष्ट्रीय व अंतर्राष्ट्रीय प्रतियोगिताएं आयोजित होती हैं. भारत की बात की जाए तो यहाँ पर क्रिकेट का सबसे बड़ा उत्सव आईपीएल में देखने को मिलता हैं, इसके अतिरिक्त रणजी ट्रोफी, दिलीप ट्रोफी महत्वपूर्ण  Cricket टूर्नामेंट हैं.

यहाँ दिया गया क्रिकेट पर छोटा निबंध उन विद्यार्थियों के लिए उपयोगी है जो कक्षा 1,2,3,4,5,6,7,8,9,10 में पढ़ते है. तथा क्रिकेट पर निबंध- Essay On Cricket 100,200,250,300,400,500 का निबंध पढ़ना चाहते हैं. उनके लिए यहाँ पर छोटा क्रिकेट निबंध दिया गया हैं. परीक्षा के दृष्टिकोण से आप इस निबंध को कंठस्थ कर सकते हैं.

क्रिकेट खेल छोटा निबंध – Mera Priya Khel Essay On Cricket In Hindi

प्रिय खेल क्रिकेट पर छोटा निबंध, मेरा प्रिय खेल क्रिकेट निबंध, क्रिकेट मैच पर निबंध, क्रिकेट पर निबंध मराठी, क्रिकेट निबंध हिंदी, मेरा प्रिय खेल पर निबंध , मेरा प्रिय खेल फुटबॉल पर निबंध, क्रिकेट निबंध मराठी, essay on cricket in Hindi.

mera priya khel cricket in hindi, history of cricket in hindi language, mera priya khel cricket essay in hindi wikipedia, about cricket in hindi in short, mera priya khel cricket in hindi for class 3, about cricket in hindi wikipedia, important points of cricket in hindi,essay on live cricket match in hindi, Cricket Essay In Hindi, Short Hindi Essay On Cricket Game.

क्रिकेट पर छोटा निबंध – Short Essay On Cricket In Hindi

वर्तमान में क्रिकेट दुनिया का सर्वाधिक लोकप्रिय खेल हैं. भारत में क्रिकेट की शुरुआत अंग्रेजों के आगमन के साथ शुरू हुई. क्रिकेट कोई आसान खेल नही हैं. फिर भी क्रिकेट के कानून व नियम को निरंतर अभ्यास से सीखा जा सकता हैं.

क्रिकेट में 11-11 खिलाड़ियों की दो टीम होती हैं. दो अम्पायर होते है जो निर्णायक का कार्य करते हैं. इस खेल में दो मुख्य खिलाड़ी होते हैं. एक बल्लेबाज और दूसरा गेंदबाज.

बल्लेबाज अपने आउट होने तक खेल सकता हैं. और गेंदबाज अपना ओवर पूरा होने तक. क्रिकेट मैच शुरू होने से पहले एक सिक्का उछाला जाता हैं. और इससे इस बात का फैसला होता है कि कौनसी टीम पहले बल्लेबाजी या गेदबाजी करेगी.

भारत ने अपना पहला टेस्ट मैच लॉर्ड्स के मैदान पर 25 जून वर्ष 1932 में इंग्लैंड के विरुद्ध खेला था. टेस्ट मैच पांच दिनों का होता हैं जिसमें हर टीम को दो पारी खेलने का मौका मिलता हैं, जो टीम सबसे अधिक रन बनाती है वही विजेता बनती हैं.

एकदिवसीय अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट मैचों के आयोजन व विकास का श्रेय इंग्लैंड को ही जाता हैं. इंग्लैंड के प्रयासों के परिणामस्वरूप ही इंग्लैंड में प्रथम विश्व कप का आयोजन हुआ. इस विश्व कप क्रिकेट में आठ देशों की टीमों- भारत, पाकिस्तान, श्रीलंका, इंग्लैंड, ऑस्ट्रेलिया, न्यूजीलैंड, वेस्टइंडीज और पूर्वी अफ्रीका ने भाग लिया था.

टी-20 क्रिकेट का आधुनिक संस्करण हैं जो कम समय में ही काफी लोकप्रिय हो चुका हैं. क्रिकेट के इस प्रारूप में प्रत्येक टीम को 20 ओवर खेलने होते हैं. भारत ने अपना पहला टी ट्वेंटी क्रिकेट मैच 1 दिसंबर 2006 को जोहान्सबर्ग में दक्षिण अफ्रीका के विरुद्ध खेला.

इस मैच में भारत 6 विकेट से विजयी रहा. क्रिकेट के मैच में कुछ भी निश्चित नही होता हैं. इसीलिए इसे अनिश्चिताओं का खेल भी कहा जाता हैं. आखिरी मिनट तक भी पता नही होता है कि कोनसी टीम विजयी होगी.

Short Essay on Cricket Match in Hindi

जब मैंने क्रिकेट मैच देखा/ आँखों देखे मैंच का वर्णन

खेलों का महत्व– छात्रों के लिए अध्ययन जितना आवश्यक हैं, उतना ही खेलना भी महत्वपूर्ण हैं. स्वस्थ शरीर में स्वस्थ मस्तिष्क का निवास होता हैं और स्वस्थ शरीर के लिए व्यायाम तथा खेल परमावश्यक हैं. उससे मनोरंजन के साथ साथ मानसिक शारीरिक विकास भी होता है. खिलाड़ियों के संकल्प की दृढ़ता संगठन की क्षमता और अनुशासनप्रियता बढ़ती है. खेलों के प्रचार और उनके प्रति अभिरुचि जगाने के लिए मैचों की योजना की जाती है. मेरी भी खेलकूद में अत्यधिक रुचि है. मुझे हॉकी, फुटबाल तथा क्रिकेट का मैच देखने में बड़ा आनन्द आता हैं.

क्रिकेट मैच का आयोजन– गत वर्ष मार्च माह की पच्चीस तारीख को जयपुर में भारत और इंग्लैंड की टीमों में एकदिवसीय क्रिकेट मैच का आयोजन रखा गया था. मेरा एक घनिष्ठ मित्र जयपुर में रहता हैं. मैंने उसे मैच देखने हेतु आने के लिए पत्र लिख दिया था. अतः मेरे मित्र ने पहले से ही दो टिकट ले लिए थे और मुझे पत्र भेजकर मैच से एक दिन पहले जयपुर आने के लिए लिख दिया था. इसलिए मैं अपने गाँव से एक दिन पहले ही जयपुर आ गया. मैच के दिन प्रातः साढ़े आठ बजे हम दोनों सवाई मानसिंह स्टेडियम पहुच गये.

खेल का वर्णन-कुछ देर बाद दोनों अम्पायर और दोनों टीमों के कप्तान आए, सिक्का उछाल कर टॉस किया गया. अम्पायर ने घोषणा की कि टॉस इंग्लैंड टीम के कप्तान ने जीता हैं. इंग्लैंड की टीम ने पहले बल्लेबाजी करने का निश्चय किया और कुछ ही क्षणों में सभी खिलाड़ी मैदान में आकर अपने अपने स्थान पर खड़े हो गये. भारत की ओर से गेंदबाजी की शुरुआत इरफ़ान पठान ने की.

उसका साथ दूसरे छोर से अजित आगरकर ने किया. इन दोनों गेंदबाजों ने इतनी सधी हुई गेंदबाजी की कि इंग्लैंड के बल्लेबाजों को रन जोड़ने कठिन हो गये. दूसरे ओवर में पता ने एक साथ दो विकेट चटका लिए. उसकी सफलता से सभी खिलाड़ियों का उत्साह बढ़ा, वहीं दर्शक भी अपने अपने स्थानों पर नाचने लगे. अपने चौथे ओवर में आगरकर ने भी एक कीमती विकेट लिया.

इसके बाद रन धीमी गति से बनते रहे, परन्तु बल्लेबाज भी आउट होते रहे. कुल पचास ओवरों में इंग्लैंड की पूरी टीम दो सौ उनतीस रन बनाकर आउट हो गई. लंच के बाद खेल पुनः प्रारम्भ हुआ. भारतीय टीम को जीतने के लिए दो सौ तीस रन बनाने थे. यह लक्ष्य कोई कठिन लक्ष्य नहीं था. परन्तु प्रारम्भ में इंग्लैंड के गेंदबाजों ने ऐसी सधी हुई गेंदे फेकी कि भारतीय बल्लेबाज खुलकर न खेल सके.

सहवाग और सचिन की जोड़ी ने अच्छे स्ट्रोक लगाएं. इस तरह पांच खिलाड़ियों के आउट होने पर भारत के तीस ओवर में डेढ़ सौ रन बन पाए थे. उसके बाद धोनी और युवराज की जोड़ी ने बेधडक बल्लेबाजी की तथा चौके छक्के जमाकर सैंतालिस ओवरों में भारत को विजयी लक्ष्य तक पंहुचा दिया. इससे दर्शकों को बहुत ही प्रसन्नता हुई और सभी दर्शक खिलाड़ियों को तालियाँ बजाकर साधुवाद देते रहे.

अंतिम परिणाम एवं पुरस्कार वितरण-इस रोमांचकारी मैच में विजय भारतीय टीम की रही. सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ी के रूप में धोनी के नाम की घोषणा की गई. खिलाडियों को स्मृति चिह्न दिए गये. पुरस्कार वितरण के बाद सभी लोग अपने अपने घरों को चले गये.

उपसंहार– वस्तुतः खेल के मैदान में हजारों लोगों की भीड़ में एक दर्शक बनकर खिलाड़ियों को अपने सामने खेलते देखना आनन्ददायी लगता हैं. इस मैच को देखते से मेरा भरपूर मनोरंजन हुआ तथा मुझे यह शिक्षा भी मिली कि लग्न, साहस धैर्य और संघर्षशीलता से व्यक्ति जीवन क्षेत्र में अवश्य सफल रहता हैं.

यह भी पढ़े

क्रिकेट पर छोटा निबंध का यह लेख आपकों कैसा लगा कमेंट कर हमें जरुर बताइयेगा. क्रिकेट खेल व अन्य खेलों से जुड़े निबंध भाषण और उनके बारे में जानकारी के लिए निचे दी गई पोस्ट पढ़ सकते हैं.

छोटा निबंध क्रिकेट पर  – Short Essay On Cricket In Hindi में दी गई जानकारी आपकों अच्छी लगी हो तो इसे अपने फ्रेड्स के साथ जरुर शेयर करे.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *