Short Hindi Poem on Betiyan | बेटी पर कविता हिंदी में

Short Hindi Poem on Betiyan के आर्टिकल में आपका स्वागत है बेटी पर कविता हिंदी में आपके साथ पुत्रियों तथा बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ Beti Par Kavita बेटी से ही देश बचेगा विषयों पर मार्मिक हिंदी पोएम आपके साथ शेयर कर रहे है. आज के Betiyan Hindi Poem के माध्यम से आप जान पाएगे कि बेटियों का क्या महत्व है तथा इनकी रक्षा क्यों किये जाने की आवश्यकता आन पड़ी हैं.

Short Hindi Poem on Betiyan | बेटी पर कविता Short Hindi Poem on Betiyan | बेटी पर कविता हिंदी में

beti ke janam par kavita: एक समय हुआ करता था जब बेटियों के जन्म को ही अभिशाप मान लिया जाता हैं. हमेशा से बेटी अपने माता-पिता के लिए वरदान ही साबित हुई है उनका नाम रोशन करने में बेटी की अहम भूमिका रही हैं.

समय के बदलाव के साथ समाज को भी अपनी सोच को बदलना होगा तथा खुले मन से बेटियों का स्वागत करना चाहिए. बेटी के जन्म पर भी स्वयं को इतना गौरवान्वित महसूस किया जाना चाहिए, जितना कि एक बेटे के जन्म पर.

Few Short Hindi Poems on Betiyan / Daughter

बेटी मां के गर्भ से,करती करूण पुकार,
मा मुझको तुम जन्म दो,मत मारो इस बार।

देकर जन्म मनाइये,खुशी आप इस बार,
बेटी पर विश्वास यदि,कर सकती उद्धार।

देकर बेटी को जन्म,कभी करो मत खेद,
पालन पोषण में कभी,करो न कोई भेद।

बेटी को भी दीजिये,शिक्षा का अधिकार,
बेटों से बढ़कर कहीं,मानेगी उपकार।

बेटा माँ को मानता,रखता माँ का मान,
बेटी को भाता पिता,रखे पिता का ध्यान।

मान पराया धन करो,नहीं एक भी काम,
इससे मानवता सदा,होती है बदनाम।

बाध रहे हो क्यों गाय सा,खूटे से यू आप,
बना रहे हो क्यो सुता के,जीवन को अभिशाप।

बेटी में क्षमता बहुत,यह समझें श्रीमान,
दो दो घर वह देखती,काम नहीं आसान।

बेटी ने इसान का,सदा दिया है साथ,
हर महान व्यक्ति के,पीछे इसका हाथ।

बेटे से मै कम नही,बेटी का उदघोष,
यदि मुझको अवसर मिले,देखो मेरा जोश।

बेटी का हर बात पर,अधिक दीजिये ध्यान,
उस पर निर्भर देश की,है भावी सन्तान।

छोड़ पुराना दीजिये,एक नया परिवेश,
पढ़ा लिखा कर भेजिये,उसको आप विदेश।

विनती सुनिए बहु की, हे! सासु महाराज,
बेटी सा अपनाइये, अगर बचानी लाज।

बेटी हो या हो बहु, दोनो एक समान,
दोनो को ही चाहिए,सदा मान सम्मान।।।

poems for betiyaan in hindi

“जीवन की एक आस है बेटी

सब रोगो की दवा है बेटी,
जीवन की एक आस है बेटी

ममता का सम्मान है बेटी,
माता-पिता का मान है बेटी

आगन की तुलसी है बेटी,
पूजा की कलसी है बेटी

सृष्टि है, शक्ति है बेटी,
दृष्टि है, भक्ति है बेटी

श्रद्धा है, विश्वास है बेटी
जीवन की एक आस है बेटी

poetry on betiyaan in hindi

कई मनौतियों के बाद मिली एक बेटी
उसके लिए खोल दी धन की पेटी
कई बरस लाडली गोदी में ही रही
लाड प्यार में पलती बढ़ती ही रही

मायके में नहीं था कोई अभय
पिता का था गाँव में प्रभाव
माता पिता ने बरात, विदा की ख़ुशी खुशी
पति निकला शराबी, रही सदा दुखी दुखी

नकदी, सोना, चांदी, दहेज दिया अपार
ससुराल में हुई दो रोटी को लाचार
बचपन बीता लाड से फूलों पर
दाम्पत्य जीवन जी रही शुलों पर

थी यह सुशिल सुंदर नारी
थी उसकी छटा उसकी अनुपम न्यारी

परित्यक्ता होकर भी पराये नर के साथ नहीं रही
जिन्दगी भर पति के सुधरने की आस पर रोती रही
सुधिजन कुरीतियों की न करे परवाह
परित्यक्ता व विधवा का हो पुनर्विवाह

इनका बसे पुनः संसार
यही है समय की पुकार
सुखी रहे हर भारतीय नारी
यही शुभकामना है हमारी

Hindi Poem on Daughter

कभी हंसू तो हंसे मेरे साथ
कभी रोऊ तो रोए मेरे साथ
कभी उदास होऊ तो बैठे मेरे पास
और प्यार से पूछे
मम्मा क्या हुआ है आज आप के साथ?
कुछ न बोल पाऊ तो कहे
मम्मा, मैं हूँ हमेशा आपके साथ
मैं कहती हूँ नहीं नहीं है कुछ ख़ास
गीली नम आँखों को पौछ्ते हुए बोले
मम्मा, आप झूठ नहीं बोल पाती हो कुछ ख़ास
क्यों कहते हो बेटी को माँ की परछाई
आज हुआ मुझको ये एहसास
गले लगा के उसे मैं बोली
आज, तुम नहीं थी मेरे पास इसलिए मैं थी उदास
प्यार से वो बोली.. कभी तो कहती हो
तू मेरी हर दुआ में, हर साँस में मेरे साथ
फिर क्यों, आज मुझे अपने से अलग कर दिया अनायास
कुछ न बोल पाई मैं
तो गोदी में सिर रखकर लेट गई मेरे पास
और प्यार से वो बोली
अब तो मुस्करा दो और अपने सब गम भुला दो
क्योंकि आपकी बेटी है हमेशा आपके साथ

poem on beti bachao beti padhao in hindi

हे मा हमें बता हम बोझ क्यूँ है
हम पूर्णिमा का चाँद फिर दोज क्यूँ है

बेटियों ने कई कीर्तिमान बनाए
हमसे स्नेह की बजाय नफरत रोज क्यों है

हमने भी किसी दिन जन्म लिया
पर बेटों के जन्म दिन पर भोज क्यों हैं.

हम भी माँ बाप की सेवा करती है फिर
बेटों में बुढापे के सहारे की खोज क्यों है.

कद्र कर तू हमारी लिंग अनुपात को समझ
बेटियाँ कम बेटों की फौज क्यों है

तुमने भी एक माँ की कोख से जन्म लिया
हम रहे दुखी फिर बेटों की ही मौज क्यों हैं.


best poems on betiyaan in hindi

प्रकृति का कन्या अमूल्य उपहार है
सृष्टि संचालन में जिनका अहम किरदार है

जब बहू गर्भवती हुई तो
पूरा परिवार बड़ा खुश हुआ

पतिदेव को बधाईयाँ दी
बहु को पुत्रवती भवः का आशीर्वाद दिया

परिवार का वंश बढ़ेगा
बहु को अच्छा खाने को दिया

सास ने कुछ महीनों तक
बहू के खान पान को महसूस किया

फिर आस पड़ौस से पूछ कर
अल्ट्रा साउंड मशीन को याद किया

फिर पतिदेव क्लिनिक ले गया, सहमे से डोक्टर से पूछा
डोक्टर कुछ बुदबुदाने लगा
पतिदेव ने डॉक्टर को तुरंत पैसा दिया

बहू को लेटाया गया
मशीन ने गर्भ को चैक किया
फिर डॉक्टर ने मुहं लटकाया
तो पतिदेव ने डॉक्टर से पूछ लिया

फिर घन घिनौने अँधेरे में
पैदा होने वाली कन्या पर वार किया
बेचारी कन्या को इस प्रकार मौत दी गई
उसे श्मशान घाट तक नसीब नही हुआ.


hindi poem on hamari pyari betiyan

हमारी बेटियां हमारा प्यार,
हमारा गुरुर इनसे सजा है हमारा संसार
हमारे जीवन में आई,
प्यारी सी परियां बनकर
इन्होने ही करवाया मुझे ममत्व का एहसास

इनका वो पहला स्पर्श सोचते ही पुलकित हो जाती हूँ
इसकी हर एक मुस्कराहट पर सारे गम भुला देती हूँ
इन्होने बोला जब पहला शब्द, जब से चली है ये पहला कदम
पापा की पीठ को घोडा बनाकर, माँ की गोद को झूला बना

नन्ही बहिन का हाथ थाम, चल पड़ी उसका हौसला बन
बहुत से पल ऐसे थे जिन्हें समेटने को जी चाहता है.

इन नन्हे हाथों से इशारे करना, हाव भाव प्रकट करना
इनका तुतलाना वो इनका बारिश में नहाना, छपछप करना, कागज की नैय्या बनाना
कभी रोना कभी मचलना अपने नटखट अंदाजों से सबका मन मोह लेता

ऐसे ही कुछ नजारों को नजरों में कैद करने को जी चाहता है.
इनकी ख़ुशी है हमारा मकसद इनकी खातिर सब कुछ न्यौछावर करने को जी चाहता है
हमेशा हंसते रहे ये इनके सारे गम भुलाने को जी चाहता है

पता नहीं कैसे गुजर गया ये वक्त के सारे पल जीने को जी चाहता है
जानते है ये नहीं हो पायेगा फिर भी उन्हें याद करते रहने को जी चाहता है

बस इतनी सी इच्छा है हमारी कि इन्हें मिले सभी का प्यार
दे पाऊ मैं इसे सारे संस्कार ये बने होशियार
कि गर्वित हो सारा परिवार, आशीर्वाद रहे हमेशा तुम्हारे साथ

यह भी पढ़े

आशा करता हूँ दोस्तों आपकों Short Hindi Poem on Betiyan का यह लेख अच्छा लगा होगी. यहाँ पर शेयर की गई बेटी पर छोटी कविताएँ आपकों पसंद आई हो तो अपने दोस्तों के साथ जरुर शेयर करे. साथ ही कमेंट कर भी बताएं ये संग्रह आपकों कैसा लगा.

इस लेख से सम्बन्धित अन्य पोस्ट
प्लीज अच्छा लगे तो शेयर करे

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *