Sweet Poem For Sister In Hindi – बहिन के लिए कुछ कविताएँ

Sweet Poem For Sister In Hindi – बहिन के लिए कुछ कविताएँ आज का लेख समस्त my sister को समर्पित हैं. जीवन में भाई बहिन के रिश्ते की महिमा के कई तरीके हो सकते हैं. मैं आपके लिए Sweet Poem For Sister In Hindi के जरिये अपनी प्यारी बहिनों को अपनी भाषा में lines for sister in hindi शेयर करने जा रहा हूँ. स्कूल अथवा कॉलेज के स्टूडेंट्स इन बहिन पर कविता के माध्यम से अच्छा लेख भी तैयार कर सकते हैं चलिए जानते है कुछ inspirational sister poems.Sweet Poem For Sister In Hindi

Sweet Poem For Sister In Hindi

Here We Share Few Sweet Poem For Sister In Hindi or Bahin bhai Kavita

यह सच हैं कि रिश्ते बनाये नही जाते है बल्कि ये ऊपर से ही बनकर आते है कुछ ऐसा ही कुदरती रिश्ता भाई बहिन का भी हैं. जो प्यार से भरा भी है तथा कुछ चटपटा भी है बालपन से बड़े होने तक आपस में मनमुताब भी होते हैं मगर समझौता भी आसानी से ही हो जाता हैं.

1, 2, 3, 4, 5, 6, 7, 8, 9 ,10, 11, 12 class students हिंदी फॉण्ट में बहिन भाई के रिश्ते पर सुंदर कविता की रचना हमारे इस संग्रह की मदद से कर सकते हैं.

भाई भाई का साथ जीवन भर होता है मगर युवावस्था में ही बहिन अपने भाइयों का घर छोड़ ससुराल चली जाती हैं. बहिन के जन्म पर सबसे अधिक खुशी तथा बहिन की विदाई पर सबसे अधिक दुःख एक भाई को ही होता हैं.

Sweet Poem For Sister In Hindi – Bhai Bahin Ka Pyar Rakhi Ka Tyohar

छोटी के पास गुड़िया मेरे पास गाड़ी थी
रोये थे दिनभर तब पापा ने दिलाई थी
शर्त रखी थी मम्मी हर दिन दिन दो घंटे पढ़ने की
पर उम्र थी हमारी छोटी लड़ने और झगड़ने की

एक एक रूपये को जोड़ जोड़ बहिन ने चिल्लर जोड़ी थी.
छिपकर मैंने अधियारे में उसकी गुल्लक फोड़ी थी
शर्ट है गंदी चश्मा अच्छा बहिन से मैंने सीखा था
डांट से पापा की बचने का उसके पास तरीका था

फूल सी कोमल थी मोम के जलती थी
मेरी गलती को मम्मी से कहती अपनी गलती थी
जब मायूस हुआ मेरा चेहरा तब उसकी रोई थी
बचपन बीता जिस आंगन में उस घर से बहिन खोई थी

सुनों देश के युवा साथियों बहिनों का सम्मान करो
आँख दिखाने के पहले अपनी बहिन का ख्याल करो
मेरी हो या तेरी हो आखिर हम सबकी बहिन है वो
माँ बाप की इज्जत का मानो साफ़ शुद्ध दर्पण है वो

है बचाना मेरी बहिनों को तुम पर कोई आंच न होगी
तेरे धर्म की रक्षा हो चाहे मेरी सांस न होगी
कीचड़ में खिलता पंकज भी करता इन्तजार है
न रहे हाथ मेरा सूना आया राखी त्योहार हैं.
Pankaj Pandit Lalitpur

Bahin Pukar Rahi hai Poem in hindi

शिक्षा के मंदिर में तुम ये कैसा काम कर बैठे।
तुम तो गुरु की महिमा को बदनाम कर बैठे।

कुछ नही करेगा कानून,हैवानो ने ऐसा सोच लिया।
देखो दरिंदो ने फूल सी बेटी को नोच लिया।

कोई नेता नही बोलेगा,सबके होंट सिले हुए हैं।
क्या उमीद है,प्रशासन से ये सब मिले हुए है।

इन नेताओ को तो बेटी नही बस वोट चाहिए।
क्या न्याय होगा,जहां सबको बस नोट चाहिए।

होता रहा ऐसा अन्याय तो मानवता मर जायेगी।
फिर बेटी कॉलेज पढ़ने के नाम से डर जायेगी।

भेजा था माँ-बाप ने पढ़ने बड़े अरमानो के साथ।
वो बेटी अस्मत खो बैठी कुछ हैवानो के हाथ।

तुमने डेल्टा नही,देश की एक प्रतिभा मारी है।
क्यों घूमते है बेख़ौफ़ ये दरिंदे ,क्या लाचारी है।

अपनी बहिन बेटियां मर रही अब तो आत्म बोध करो।
उत्तर पड़ो सड़को पर,जाहिलों का प्रतिसोध करो।

हे! भारत के जवानो अब तो एक हुंकार भरो।
नही कर सकते कुछ तो,चुल्लू भर पानी में डूब मरो।

इन हैवानो से न जाने कितनी बहिने हारी है।
अब कुछ करो,कल अपनी बहिन की बारी है।

कैसे पढ़ेगी बेटियां फिर घर से दूर होकर।
कब तक मरती रहेगी डेल्टाये मजबूर होकर।

सब के सब चुप क्यों है,क्यों कोई बोलता नही है।
खून नही पानी है क्या जो रगो में खोलता नही है।

कवि की कलम एक डेल्टा की चीक लिख रही है।
मुझे तो इस डेल्टा में सबकी बहिने दिख रही है।।

दरिंदो की नोची वो लास तुम्हे ललकार रही है।
बाहर निकलो भाइयों बहिन तुम्हें पुकार रही है।।

sister marriage poem in hindi

मेरे भैया तुम रखना संभाल के ये राखी है अनमोल गहना
बाबुल के आंगन में खेली कूदी, आँख रोई और डोली उठी
मेरे भैया तुम संभाल के ये राखी है अनमोल गहना

राखी तुम रक्षा करना, भाई को अमर करना
कदम चूमे दुनिया सारी, दिल से मैं दूँ सारी दुहाई
मेरे भैया तुम रखना संभाल के राखी है अनमोल गहना

कभी ना आए कोई गम, संसार की खुशियाँ पड़े कम
मेरे प्यार के अरमान बांधू, तुम जियो हजारो साल इतना मांगू
मेरे भैया तुम रखना संभाल के, राखी है अनमोल गहना

sweet poem for sister in hindi bhool Na Jana

जाओ जब राखी लेने बाजार तो ये बात हरगिज भूल न जाना तुम
जो भाई करता हैं रक्षा हरदम अनजाने में उसकी मौत का सामान न ले आना तुम

वों राखी नहीं हैं मौत का फंदा है बहिना
ये हरगिज भूल न जाना तुम
हर भाई ने बचाई आज तक लाज तुम्हारी बहना
आज भाई की लाज बचाना तुम
इस त्यौहार में छुपा है गहरा
बस इस प्यार को निभाना तुम

चली जाएगी जान तुम्हारे राखी खरीदने से
इसलिए बहिना चाइनीज राखी न लाना तुम
बांधकर रक्षा सूत्र रेशम का कलाई पर
अपने भाई का जान बचाना तुम

यह भी पढ़े-

उम्मीद कर रहा हूँ दोस्तों Sweet Poem For Sister In Hindi का यह लेख आपकों अच्छा लगा होगा. यदि आपकों बहिन पर हिंदी कविताओं का लेख पसंद आया हो तो अपने दोस्तों के साथ जरुर शेयर करे. आपकों यह लेख कैसा लगा कमेंट कर अपनी राय जरुर दे.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *