Teachers Day Essay In Hindi | शिक्षक दिवस पर निबंध

Teachers Day Essay In Hindi प्रत्येक व्यक्ति के जीवन को सही दशा और दिशा प्रदान करने में शिक्षक का महत्वपूर्ण स्थान होता हैं. शिक्षक ही वह समुदाय हैं, जो किसी समाज या राष्ट्र के भविष्य का स्रजन करते हैं. किसी देश का भविष्य कैसा होगा? यह उनके शिक्षकों पर निर्भर करता हैं. बात करे हम हमारे देश भारत की तो आदि गुरु शन्कराचार्य, चाणक्य से लेकर 20 वीं सदी तक कई ऐसी महान विभूतियों ने भारतभूमि पर जन्म लिया जिन्होंने शिक्षा के क्षेत्र में महत्वपूर्ण योगदान दिया. जिनमे रवींद्र नाथ टैगोर, सावित्रीबाई फुले, सवाई गंधर्व, आरके नारायण, सीके प्रहलाद, ईश्वर चन्द्र विद्यासागर,बाल गंगाधर तिलक, मदर टेरेसा, जिनमे एक नाम आता हैं भारत के पहले उपराष्ट्रपति और दुसरे राष्ट्रपति डॉक्टर सर्वपल्ली राधाकृष्णन जी का. 1962 से आज तक उनके जन्म दिवस शिक्षक दिवस पर भाषण 5 सितम्बर को शिक्षक दिवस के रूप में मनाया जाता हैं.

शिक्षक दिवस पर निबंध/भाषण

(Teachers Day Essay In Hindi)

व्यक्ति के जीवन में शिक्षक का कितना महत्व हो सकता हैं. इस बात को अच्छी तरह से समझने के लिए अलेक्जेंडर महान के इस उद्धरण को समझना होगा. कि मै अपने जीवन के लिए माता-पिता का ऋणी हु, अच्छे तरीके से जीवन जीने के लिए गुरु का. यानि माता-पिता हमे इस दुनिया में जन्म देते हैं. मगर दुनियाँ क्या हैं, व्यक्ति को कैसे जीवन यापन करना चाहिए. क्या गलत हैं क्या सही हैं. सही जानकारी एक शिक्षक ही दे सकता हैं.

डॉक्टर सर्वपल्ली राधाकृष्णन जिनका जन्म एक तमिल ब्राह्मण परिवार में हुआ था. दर्शनशास्त्र विषय से एम ए कर वे 1909 में अध्यापक बने. अपने जीवन के 40 वर्षो तक इन्होने शिक्षण कार्य करवाया. इस दौरान ये विभिन्न विश्वविध्यालयों के कुलपति और प्रोफ़ेसर भी रहे. 1952 में भारत के उपराष्ट्रपति बने. 1954 में भारत सरकार द्वारा इन्हें भारतरत्न सम्मान से अलकृत किया गया. लगातार 10 वर्षो तक उपराष्ट्रप्ति के पद पर कार्य करने के बाद 1962 में डॉक्टर सर्वपल्ली राधाकृष्णन भारत के दुसरे राष्ट्रपति बने.

जब कुछ लोगों ने डॉक्टर सर्वपल्ली राधाकृष्णन से उनके जन्म दिवस को शिक्षक दिवस (Teachers Day) मनाने की इच्छा जताई तो राधाकृष्णन ने इस पर अपनी हार्दिक प्रसन्नता दर्शाते हुए कहा- यह न सिर्फ मेरे लिए बल्कि सम्पूर्ण शिक्षक वर्ग के लिए सम्मान का अवसर होगा. डॉक्टर सर्वपल्ली राधाकृष्णन पेशे से एक शिक्षक थे, वे हमेशा एक शिक्षक होने के कारण स्वय को भाग्यशाली मानते थे.

दुनिया के सभी देशों में मुख्यत अलग-अलग दिन शिक्षक दिवस मनाया जाता हैं. भारत में इसे 5 सितम्बर (डॉक्टर सर्वपल्ली राधाकृष्णन जयंती) के दिन मनाया जाता हैं. भारतीय संस्कृति में शिक्षक कों भगवान् के समक्ष मानकर पूजनीय समझा जाता हैं. शिक्षण के बारे में लोगों की अलग-अलग अवधारणा होती हैं. मगर सच्चाई यह हैं, कि एक शिक्षक का कार्य दुनिया के सबसे कठिन और महत्वपूर्ण कार्यो में से एक हैं. भारतभर में मनाएं जाने वाले शिक्षक दिवस के अवसर पर विद्यालय और महाविद्यालयों के स्टूडेंट इस दिन अपने शिक्षकों के सम्मान में कई तरह के कार्यक्रम आयोजित करते हैं.

भले ही समय के परिवर्तन के साथ शिक्षक दिवस मनाने के तौर तरीकों में बदलाव आ गया हो. आज के स्टूडेंट्स अपने सभी शिक्षकों के सम्मान में सरप्राइज गिफ्ट, ग्रीटिंग्स कार्ड, पेन, डायरी या कोई कीमती वस्तु भेट कर उनकी दीर्घायु की कामना करते हैं. जो छात्र-छात्राएं शिक्षक दिवस समारोह में शामिल नही हो पाते हैं. वे sms, शायरी, वॉलपेपर और सोशल मिडिया स्टेट्स के जरिये शिक्षक दिवस की शुभकामनाएं प्रेषित अवश्य करते हैं.

आज के युग में शिक्षक दिवस का बड़ा महत्व हैं. इस तरफ हमारे देश के महान शिक्षक रह चुके डॉक्टर सर्वपल्ली राधाकृष्णन कों इस अवसर पर याद किया जाता हैं. वही आज के दिन सभी शिक्षक इस समारोह के माध्यम से अपने कर्तव्य और उतरदायित्व का आभास करते हैं. बच्चों के लिए शिक्षक के महत्व को समझने अपने गुरुजनों द्वारा दी गई सीख को जीवन में उतारने और आजीवन उनके प्रति श्रद्धा और सम्मान रखने की प्रेरणा मिलती हैं.

आज हम सभी यह प्रण ले शिक्षा रूपी उजाले की इस ज्योति को हम पूर्ण ईमानदारी के साथ स्वीकार करेगे. शिक्षा तथा इसके देने वाला शिक्षक यह कभी फर्क नही करता कि शिक्षार्थी कौन हैं. इतिहास गवाह हैं, जिन्होंने अपने शिक्षक के प्रति श्रद्धा और सम्मान का भाव रखते हुए शिक्षा अर्जित की हैं. निश्चय ही उन्होंने जीवन में सफलता के शिखर को चूमा हैं. शिक्षक दिवस के इस अवसर पर सिर्फ दो पक्तिया ही कहना चाहुगा.

ग्यानी के मुख से झरे नित्य ज्ञान री बात
हर एक पखुडी फुल खुशबु की सौगात.

मित्रों उम्मीद करते हैं आज का यह short Teachers Day Essay आपकों बहुत पसंद आया होगा. शिक्षक दिवस पर निबंध में दी गई जानकारी आपकों ज्ञानवर्धक लगी हो तो प्लीज इसे अपने मित्रों के साथ जरुर शेयर करे.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *