Top 10 Desh Bhakti Songs | देश भक्ति गाने

Top 10 Desh Bhakti Songs नमस्कार दोस्तों आज के इस लेख में आपके लिए देशभक्ति के टॉप 10 गाने यहाँ उपलब्ध करवाए जा रहे हैं. राष्ट्रिय कार्यक्रमों में प्रस्तुती देने में आपकों ये patriotic songs आपकी मदद करेगा. हमने पूरी कोशिश की हैं, आपकों अच्छे से अच्छे राष्ट्रभक्ति के गीत सरल हिंदी भाषा में विडियो के साथ उपलब्ध करवाए ताकि 26 जनवरी और 15 अगस्त 2017 के इस स्वतंत्रता दिवस पर आप इन्हें उपयोग कर सकते हैं. यहाँ आपकों प्रत्येक सोंग्स के साथ उनके लेखक और गायन की पूरी जानकारी उपलब्ध करवाई जा रही हैं. यदि आप किसी अन्य गाने को हिंदी टेक्स्ट और विडियो के जरिए चाहते हैं. तो उस देश भक्ति गाने का शीर्षक कमेंट कर अवश्य बताए.

देश भक्ति गाने (Patriotic Songs In Hindi)

Top 10 Desh Bhakti Songs

ऐ मेरे वतन के लोगों देशभक्ति गीत

भारत में सबसे बहुचर्चित ऐ मेरे वतन के लोगों गीत को कवि प्रदीप जी द्वारा लिखा गया था. इस गाने को स्वर कोकिला लता मगेशकर जी ने गाया हैं. जिसका संगीत सी रामचन्द्र जी द्वारा दिया गया हैं. यह देशभक्ति गीत 1962 की चाइना वार में शहीद भारतीय सैनिको की स्मृति में गाया गया था. 27 जनवरी 1963 जब इसे लताजी ने दिल्ली के मैदान में गाया तो इसकी मार्मिक भावनाओं में प्रधानमन्त्री पंडित जवाहर लाल नेहरु पूरी तरह बह गये और उनकी आँखों से आसू निकल आए थे.

ऐ मेरे वतन के लोगों : बोल

देशभक्ति गीत
ए मेरे वतन के लोगों, तुम ख़ूब लगा लों नारा
ये शुभं दिन हैं हम सब का, लहरा लो तिरंगा प्यारा
पर mat भुलो sema पर, वीरों ने है praan गवाए
कुछ yaad उन्हे भी कर लो, कुछ yaad उन्हे भी कर लो
जो लोट के ghar न आए, जो लोट के ghar न आए…

ए मैरे वतन के लोगो, जऱा आख में भर लो पानी
जो शहिद हुए हैं उनकी, ज़रा याद करो क़ुर्बानी
ऐ मेरे वतन के लोंगो ज़रा आख में भर लो पानी
जो शहिद हुए हैं उनकी, ज़रा याद करो क़ुर्बानी
तुम भुल न जाओ उनको, इसलिए सूनो ये कहानी
जो शहिदों हुए हैं, उनकी, जरा याद करो क़ुर्बानी…

जब ghaayl हुआ हिमालया, ख़तरे में पड़ी आज़ादी
जब तक थी सास लड़े वो.जब तक थी सांस लड़े वो, फिर अपनी लास बीछा दी
सगिन पे धर कर माथां, सो गए अमर बलिदानी
जो शाहिद्द हुए हैं उनकी, ज़रा याद करो क़ुरबानी…

जंब देश में थी दीवालि, वो खेल रहे थे होळी
जब हम बेठे थे घरों में… जब हम बेठे थे घरों में, वो जहेल रहे थे गोली
थे धन्य जवानों वो अपने, थी धन्य वो उनकी जवानी
जो शहिद हुए हैं उनकी, जरा याद करो क़ुर्बानी…

कोई शिख कोई जाठ मराटा, 2
कोई गुर्खा कोई मद्रासी, -2
सर्हद पर मर्नेवाला… सरहद पर मरनेवाला, वो वीर था हिंदुस्थानी
जो खुन गिरा पर्वत पर, वो खुन था भारतवासी
जो शहिद हुए हैं उनकी, ज़रा याद करो कुरबानी…

थी खुन से लत – पत काया, फीर भी बन्दुक उठाके
10 – 10 को 1 ने मारा, फिर गिर गए होस गंवा के
जब आखिर समय आया तो…. जब अन्त-समय आया तो, कह गए के एब मरतें हैं
खुश रहना देस के प्यारों… ख़ुश रहना देश के पयारों
अब हम तो सफर करते हैं।.. -2

क्या लोग थे वो दिवाने, क्या लोग थे वो अभीमानी
जो शहिद हुए हैं उनकी, जरा याद करो कुर्बानी
तुम भूल न जाओ उनको, इस्लिए कही ये कहानि
जो शहिद हुए हैं, उनकी जरा याद करो कुर्बानि
जय हिंद, जय हिंद, जय हिंद की सेना… जय हिंद, जय हिंद, जय हिंद की सेना..

ऐ मेरे वतन के लोगों देशभक्ति सोंग वीडियो डाउनलोड

ये देश हमारा पावन हैं : देशभक्ति गीत हिंदी में (Desh Bhakti Song)

ये देश हमारा पावन हैं
yah देश बड़ा मन भावन हैं
रवि चुम्बित किरणों से शोभित,
लहर-लहर पुलकित आनन्दित .
शस्य श्याम हैं अंचल जिसका
अनुपम रंग सुहागन हैं ये
ये देश हमारा पावन हैं
ये देश बढ़ा मनभावन हैं.

Utho Jawan Desh ki Vasundhara Pukarti : desh bhakti geet

उठा जवान देश की वसुधरा पुकारती
देश हैं पुकारता पुकारती माँ वसुंधरा
रगो में तेर बह रहा खून राम शाम का
जगद्गुरू गोविनद और रजपूती सहान का
तू चल पड़ा हैं. तो चल पड़ेगी तेरे साथ माँ भारती
हैं शत्रु दनदना रहा चाहू दिशा में देश की
पता बटा रही हें हमे किरन किरन दीनेश की
वो च्क्रव्ती विश्वविजयी मात्रभूमि हारती

उठा कडम बढ़ा कदम कदम कदम बढाए जा
कदम कदम पै दुश्मनो के धड से सर उडाए जा
उठेगा विशव हाथ जोड करने तेरी आरति

desh bhakti video song

राष्ट्रभक्ति ले ह्रदय में : hindi desh bhakti song

राष्ट्र-भक्ति ले हृदय मे हो खडा यदी देश सारा
सकटो पर मातं कर यह देश विजयी हो हमारा ॥

क्या कभि किसने सूना है सुर्य छीपता तिमीर भय से
क्या कभी सरिता-रुकी है बाध से बन पर्वत से
जो न रुक्ते मार्ग चलते चिर कर सब संकटों-को
वर्न करती कीर्ती उनको तोड़ कर सब असूर दल को
धयेय मंदीर के पतिक को कन्टकों का ही सहारा ॥

हम न रुक्ने चले है सुर्य के यदि पुतर है तो
हम न हट्नें को चले है सरित् की यदि प्रेरना को
चरण अगद ने रखा है आ उसे कोइ हटाएं
बहकात ज्वालामुखि यह आ उसे कोइ बुझाए
म्रत्यु की पी कर सुधा हम चल पडेंगे ले दु-धारा ॥

ज्ञान के वि-ज्ञान के भी क्षेत्र मे हम बढ़ पडेगे
निळ नभ के रूप के नव अरथ भी हम कर सकेंगे
भोगं के वातावरण मे त्याग का सदेश देंगे
तरास के घन बादलों-से सोख्य की वर्शा करेंगे
स्वपन यह साकार करने संघठित हो हिन्दु-सारा ॥

desh bhakti geet download (sankato par mat kar yeh rashtra vijai ho hamara)

desh bhakti geet in hindi free download

dharatee kee shaan too bhaarat kee santaan
teree muththiyon mein band toofaan hai re
manushy too bada mahaan hai bhool mat
manushy too bada mahaan hai .dhr.
jo chaahe parvat pahaadon ko phod de
तू jo chaahe nadeeyon ke mukh ko bhee mod de
.too jo chaahe maatee se amrt nichod de
too jo chaahe dharatee ko ambar se jod de
amar tere praan —2 mila tujhako varadaan
teree aatma mein svayam bhagavaan hai re.1.

—manushy too bada mahaan hai
nayano se jvaal teree gatee mein bhoochaal
teree chhaatee mein chhupa mahaakaal hai
prthvee ke laal tera himagiree sa bhaal
teree bhrkutee mein taandav ka taal hai
nij ko too jaan —2 jara shaktee pahachaan
teree vaanee mein yug ka aavhaan hai re .2.

—-manushy too bada mahaan hai
dharatee sa dheer too hai agnee sa veer
too jo chaahe to kaal ko bhee thaam le
paaponka pralay ruke pashuta ka sheesh jhuke
too jo agar himmat se kaam le
guru sa matimaan —2 pavan sa too gatimaan
teree nabh se bhee unchee udaan hai re .3.
—manushy too bada mahaan hai

desh bhakti geet hindi

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *