Tourism In Rajasthan In Hindi | राजस्थान में पर्यटन सर्किट

Tourism In Rajasthan In Hindi: राजस्थान में पर्यटन सर्किट प्रसिद्ध स्थान Rajasthan Tourism राजस्थान के दर्शनीय स्थल पधारों म्हारे देश, रंगीला राजस्थान, सुरंगों राजस्थान, अतिथि देवो भव और पधारो म्हारे देवरे के आकर्षक नारे देशी विदेशी पर्यटकों को राजस्थान आने का आमंत्रण देते हैं. राजस्थान का नाम सुनते ही किले, गढ़, महल और इनसें जुड़ी वीरता की कहानियां, खनकती तलवारें, घोड़ों की टापे, धधकती ज्वालाओं का जौहर आँखों के सामने साकार होने लगता हैं.Tourism In Rajasthan In Hindi

Tourism In Rajasthan In Hindi | राजस्थान में पर्यटन सर्किट

यहाँ के वीरों और वीरांगनाओं की गाथाएं, पन्ना का त्याग और बलिदान, महाराणा प्रताप की आन बान, कुम्भा का कला प्रेम, पद्मिनी का सौन्दर्य, मीरा की भक्ति कीर्तिगाथाएं बरबस ही पर्यटकों को राजस्थान खींच लाती हैं. दूर तक पसरे रेत के धोरे, मन भाव झीलें, पग पग पर मंदिर और देवालय पर्यटकों को रोमांचित कर देते हैं. Tourism Rajasthan.

यहाँ की सांस्कृतिक वैभव अतुलनीय है. कहीं मेले उत्सव, तीज त्योहारों की उमंग है तो कही कलाकारों द्वारा चित्रित जीवन की विविध पहलू मन को सहज ही छू लेते हैं. कहीं लोक कलाओं की सतरंगी प्रकाश है तो कही धोरों पर गूंजती कलाकारों की स्वर लहरियां, वाद्य यंत्रों का सुरीला संगीत और नृत्य की मोहक अदाएं पर्यटक को पुनः राजस्थान की ओर खींच लाती हैं.

Rajasthan Tourism Circuit & Tourism Place In Hindi

भारत में आने वाला हर तीसरा पर्यटक राजस्थान आता हैं. पर्यटन की जितनी विविधता राजस्थान में हैं उतनी किसी अन्य राज्य में नहीं हैं. विपरीत भौगोलिक परिस्थियों के बावजूद राजस्थान के पर्यटक स्थलों की संस्कृति मनों को जोड़ती है और परस्पर समन्वय का भाव जगाती हैं. यहाँ सर्वत्र प्राचीन काल से ही अतिथि को देवता का दर्जा देकर उसका सम्मान सेवा सत्कार किया जाता रहा हैं.

राजस्थान की संस्कृति में ही पर्यटक के साथ अतिथि जैसा व्यवहार किया जाता हैं. अतः पर्यटन यहाँ की धरती में बसा हुआ हैं. राजस्थान में 1956 ई पर्यटन विभाग की स्थापना की गई और 1989 ई में पर्यटन को उद्योग का दर्जा दिया गया. राजस्थान को पर्यटन की दृष्टि से दस सर्किटों में विभाजित किया गया हैं.

Information About Tourism In Rajasthan

  1. जयपुर, आमेर
  2. अलवर, सिलीसेढ़, सरिस्का परिपथ
  3. भरतपुर डींग धौलपुर परिपथ
  4. जैसलमेर, जोधपुर, बीकानेर, बाड़मेर नागौर परिपथ
  5. चुरू झुंझुनू, सीकर परिपथ
  6. माउंट आबू, सिरोही पाली, जालौर परिपथ
  7. उदयपुर, चित्तौड़गढ़, नाथद्वारा, कुम्भलगढ़, जयसमन्द, डूंगरपुर परिपथ
  8. अजमेर, पुष्कर, मेड़ता, नागौर परिपथ
  9. कोटा, बूंदी, झालावाड़ परिपथ
  10. रणथम्भौर, टोंक परिपथ

इन विभिन्न सर्किटों की अपनी अलग अलग विशेषताएं है. कोई प्रदेश पहाड़ी है तो कोई मरुस्थलीय, कहीं ऐतिहासिक ईमारते व किले हैं तो कहीं राष्ट्रीय पार्क और अभ्यारण्य हैं. राजस्थान में पर्यटन में इस दस सर्किटों में सभी प्रसिद्ध स्थल आते हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *