त्योहारों का देश – Desh Bhakti Kavita In Hindi

Desh Bhakti Kavita In Hindi में विद्यार्थियों के पढ़ने के लिए बेहतरीन patriotic poems त्योहारों का देश हमारा हमकों इससे प्यार हैं दी गई हैं. स्वतंत्रता दिवस कविता एवं गणतंत्र दिवस देश भक्ति कविता इन हिंदी को कक्षा 1,2,3,4,5 ,6,7,8 के स्टूडेंट्स अपनी प्रस्तुती दे सकते हैं. desh bhakti poem shayari gana geet in hindi पढ़ने व देखने के लिए रिलेटेड पोस्ट पढ़े-

त्योहारों का देश – Desh Bhakti Kavita त्योहारों का देश - Desh Bhakti Kavita In Hindi

हुलस रहा माटी का कण कण उमड़ रही रस धार हैं
त्योहारों का देश हमारा, हमकों इससे प्यार हैं.

मन भावन सावन आते ही,
हरियाली छा जाती हैं
राखी के दिन बहिन ख़ुशी से
फुला नही समाती हैं
घर बाहर झूले ही झूले
गाते राग मल्हार हैं
त्योहारों का देश हमारा
हमकों इससे प्यार हैं

आजादी के दिवस तिरंगा
घर घर लहराता हैं
वीर शहीदों की गाथाएं
हमकों याद दिलाता हैं
मन भावों से भर जाता हैं
माँ की जय जयकार हैं
त्योहारों का देश हमारा
हमकों इससे प्यार हैं.

आता हैं हर वर्ष दशहरा
होते खेल तमाशे हैं
दीवाली पर दीप दान
फुलझड़ियाँ खील बताशे हैं
धूम धड़ाके और फटाखों
की कैसी भरमार हैं
त्योहारों का देश हमारा
हमकों इससे प्यार हैं.

भाईचारे का संदेशा
ले ईद मुबारक आती हैं
मीठी खीर सवैया
सबके मन को भाती हैं

खेल खिलोने पाते बच्चे
क्रिसमस के उपहार हैं
त्योहारों का देश हमारा
हमकों इससे प्यार हैं

लोकतंत्र की झांकी ले
छब्बीस जनवरी आती हैं
बासंती फूलों की खुशबु
झोली में भर जाती हैं
होली के डफ ढोल मजीरे
रंगों की बौछार हैं
त्योहारों का देश हमारा
हमकों इससे प्यार हैं.

Tyoharon ka desh hamara 8th class

 

READ MORE:-

Leave a Reply