Vice President Gk Notes In Hindi | भारत के उपराष्ट्रपति के बारे में जानकारी | Vice President Of India In Hindi

Vice President Gk Notes In Hindi भारत के उपराष्ट्रपति के बारे में जानकारी Vice President Of India In Hindi: हेलो साथियों , Vice President Gk Notes In Hindi (भारत के उपराष्ट्रपति पर निबंध जानकारी) आदि को यहाँ हम जानेगे. The Vice President of India में हम भारत के दूसरे सबसे बड़े सर्वोच्च पदाधिकारी के बारें में हम संक्षिप्त में जानेगे, प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए यह लेख आपके लिए मददगार साबित हो सकेगी.

Vice President Gk Notes In Hindi

Vice President Gk Notes In Hindi

list of presidents of India from 1947 to 2019: उपराष्ट्रपति देश का दूसरा सर्वोच्च पद होता हैं. पद क्रम में उसका पद राष्ट्रपति के बाद आता हैं. उप राष्ट्रपति का पद अमेरिका के उपराष्ट्रपति की तर्ज पर बनाया गया हैं.

चुनाव:  उपराष्ट्रपति का चुनाव अप्रत्यक्ष  रूप से होता  है.  संसद के दोनों सदनों के सभी निर्वाचक मंडल  सदस्यों  द्वारा उप राष्ट्रपति का चुनाव किया जाता हैं. चुनाव आनुपातिक प्रतिनिधित्व की एकल संक्रमणीय पद्धति द्वारा और गुप्त मतदान से होता हैं. उपराष्ट्रपति का निर्वाचक मंडल राष्ट्रपति के निर्वाचक मंडल राष्ट्रपति के निर्वाचक मंडल से दो बातों में भिन्न हैं.

उपराष्ट्रपति के निर्वाचक मंडल में संसद के दोनों सदनों के निर्वाचित और मनोनीत दोनों प्रकार के सदस्य होते हैं जबकि राष्ट्रपति के चुनाव में केवल निर्वाचित सदस्य ही होते हैं. उपराष्ट्रपति के निर्वाचक मंडल में राज्यों और संघीय क्षेत्र की विधान सभाओं के सदस्य नहीं होते जबकि राष्ट्रपति के निर्वाचन में इनके निर्वाचित सदस्य भी भाग लेते हैं.

उपराष्ट्रपति पद हेतु योग्यताएं

  • वह भारत का नागरिक हो
  • वह ३५ वर्ष की आयु पूर्ण कर चूका हो
  • वह राज्यसभा का चुनाव लड़ने के योग्य हो
  • वह केंद्र या राज्य सरकार या स्थानीय प्राधिकरण या सार्वजनिक प्राधिकरण के किसी लाभ पद पर न हो

कार्यकाल 

उपराष्ट्रपति के पद ग्रहण से पांच वर्ष तक होता हैं. परन्तु वह अपने कार्यकाल में किसी भी समय राष्ट्रपति को त्यागपत्र दे सकता हैं. उसे कार्यकाल समाप्त होने से पहले भी राज्यसभा के कुल सदस्यों के बहुमत द्वारा पारित प्रस्ताव से, जिसे लोकसभा भी स्वीकार कर ले उसे पद से हटाया जा सकता हैं.

उपराष्ट्रपति अपने पद पर तब तक आसीन रहेगा, जब तक उसका उतराधिकारी पद ग्रहण न कर ले. उपराष्ट्रपति चुनाव से सम्बन्धित सभी विवादों की जांच और निर्णय सर्वोच्च न्यायालय द्वारा किया जाएगा.

शक्तियाँ व कार्य

  • वह राज्यसभा को पदेन सभापति के रूप में कार्य करता हैं इस सन्दर्भ में उसकी शक्तियाँ व कार्य लोकसभा अध्यक्ष की भांति ही होते हैं. वह इस बारे में अमरीकी उपराष्ट्रपति की भांति ही कार्य करता हैं.
  • किसी विधेयक का प्रस्ताव के पक्ष विपक्ष के समान मत आने पर वह निर्णायक मत का प्रयोग करता हैं.
  • किसी कारण से जब भी राष्ट्रपति का पद रिक्त हो या अपना कार्य करने में असमर्थ हो तो उपराष्ट्रपति राष्ट्रपति के पद पर कार्य करेगा और यह कार्य उस समय तक करेगा जब तक राष्ट्रपति पद ग्रहण नहीं कर लेता. जिस काल में उपराष्ट्रपति ही राष्ट्रपति पद पर कार्य करेगा, उसे वही उपलब्धियों, वेतन, भत्ते मिलेगे जिनका की राष्ट्रपति अधिकारी ही, भारत के प्रथम उपराष्ट्रपति डॉ सर्वपल्ली राधाकृष्णन थे.

यह भी पढ़े-

दोस्तों उम्मीद करता हूँ कि Vice President Gk Notes In Hindi का यह लेख आपकों पसंद आएगा. भारत के उपराष्ट्रपति के बारे में जानकारी में दी गयी जानकारी पसंद आई हो तो प्लीज इसे अपने दोस्तों के साथ भी शेयर करे.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *