मनोविज्ञान क्या है परिभाषा व अर्थ | What Is Psychology In Hindi

manovigyan in hindi मनोविज्ञान क्या है परिभाषा व अर्थ | What Is Psychology In Hindiमनोविज्ञान एक ऐसा विज्ञान है जो प्राणियों के व्यवहार एवं मानसिक दैहिक प्रक्रियाओं का अध्ययन करता हैं. व्यवहार में मानव व्यवहार के साथ साथ पशु पक्षियों के व्यवहार को भी सम्मिलित किया जाता हैं.

मनोविज्ञान क्या है परिभाषा व अर्थ | What Is Psychology In Hindi

मनोविज्ञान शब्द का शाब्दिक अर्थ है मन का विज्ञान अर्थात मनोविज्ञान अध्ययन की वह शाखा है जो मन का अध्ययन करती हैं.

मनोविज्ञान शब्द अंग्रेजी भाषा के Psychology शब्द से बना हैं. साइकोलॉजी शब्द की उत्पत्ति यूनानी (लैटिन) भाषा के दो शब्द साइकी तथा लोगस से मिलकर हुई हैं. साइकी शब्द का अर्थ है आत्मा जबकि लोगस का अर्थ है अध्ययन या ज्ञान से हैं. अतः अंग्रेजी शब्द साइकोलॉजी का शाब्दिक अर्थ है आत्मा का अध्ययन या आत्मा का ज्ञान.

human psychology in hindi language

मनोविज्ञान का जन्म यूनान में 300 ई पू को हुआ था. दर्शनशास्त्र को मनोविज्ञान का पिता कहते हैं. मनोविज्ञान को दर्शनशास्त्र से अलग करने का श्रेय संरचनावादी मनोवैज्ञानिकों को जाता हैं. मनोविज्ञान की प्रथम प्रयोगशाला की स्थापना विलियम वुंट ने 1879 ई को जर्मनी के लिपजिंग शहर में की थी.

मनोविज्ञान की विचारधाराएं- psychology notes in hindi

  • मनोविज्ञान आत्मा का विज्ञान– यह मनोविज्ञान की प्रथम विचारधारा है जिसका समय आरम्भ से 16 वीं सदी तक माना जाता हैं. इस विचारधारा के समर्थक प्लेटो, अरस्तू, देकार्ते, सुकरात आदि को माना जाता हैं.

यूनानी दार्शनिकों ने मनोविज्ञान को आत्मा के विज्ञान के रूप में स्वीकार किया हैं. साइकोलॉजी शब्द का शाब्दिक अर्थ भी आत्मा के अध्ययन की ओर इंगित करता हैं.

  • मनोविज्ञान मन/मस्तिष्क का विज्ञान– यह मनोविज्ञान की दूसरी विचारधारा हैं. जिसका समय 17 वीं से 18 वीं सदी माना जाता हैं. इस विचारधारा के समर्थक जॉन लॉक, पेम्पोलोजी, थोमस रीड आदि थे.

आत्मा के विज्ञान के रूप में मनोविज्ञान की परिभाषा के अस्वीकृत हो जाने पर मध्ययुग (17 वीं शताब्दी) के दार्शनिकों ने मनोविज्ञान को मन का विज्ञान के रूप में परिभाषित किया हैं. इनमें मध्ययुग के दार्शनिक पेम्पोलोजी का नाम विशेष रूप से उल्लेखनीय हैं.

  • मनोविज्ञान चेतना का विज्ञान– यह मनोविज्ञान की तीसरी विचारधारा हैं जिसका समय 19 वीं शताब्दी माना जाता हैं. इस विचारधारा के समर्थक विलियम वुंट, ई. बी टिचनर, विलियम जेम्स आदि को माना जाता हैं.

मनोवैज्ञानिकों के द्वारा मन या मस्तिष्क के विज्ञान की जगह मनोविज्ञान को चेतना के विज्ञान के रूप में व्यक्त किया गया. टिचनर, विलियम जेम्स, विलियम वुंट आदि विद्वानों ने मनोविज्ञान को चेतना के विज्ञान के रूप में स्वीकार करके कहा कि मनोविज्ञान चेतन क्रियाओं का अध्ययन करता हैं.

  • मनोविज्ञान व्यवहार का विज्ञान– यह मनोविज्ञान की नवीनतम विचारधारा हैं. जिसका समय बीसवी शताब्दी के प्रारम्भ से आज तक माना जाता हैं. यह मनोविज्ञान की सबसे महत्वपूर्ण विचारधारा हैं.

इस विचारधारा के समर्थक वाट्सन, वुडवर्थ, स्किनर आदि को माना जाता हैं. मनोविज्ञान को व्यवहार के विज्ञान के रूप में स्वीकार किया जाने लगा. वाट्सन वुडवर्थ स्किनर आदि मनोवैज्ञानिकों ने मनोविज्ञान को व्यवहार के एक निश्चित विज्ञान के रूप में स्वीकार किया हैं. वर्तमान समय में मनोविज्ञान की इस विचारधारा को ही एक सर्वमान्य विचारधारा के रूप में स्वीकार किया जाता हैं.

मनोविज्ञान की परिभाषाएं (What Is Psychology Definition In Hindi)

  1. वुडवर्थ– सर्वप्रथम मनोविज्ञान ने अपनी आत्मा को छोड़ा, फिर इसने अपने मन को त्यागा, फिर इसने चेतना खोई. अब वह व्यवहार को अपनाए हुए हैं.
  2. वाट्सन– मनोविज्ञान व्यवहार का शुद्ध विज्ञान हैं.
  3. मैक्डूगल– मनोविज्ञान व्यवहार एवं आचरण का विज्ञान हैं.
  4. स्किनर– मनोविज्ञान व्यवहार एवं अनुभव का विज्ञान हैं.
  5. क्रो एवं क्रो– मनोविज्ञान मानव व्यवहार एवं मानवीय सम्बन्धों का अध्ययन हैं.
  6. वुडवर्थ– मनोविज्ञान वातावरण के सम्पर्क में होने वाले व्यवहार का अध्ययन हैं.
  7. जेम्स ड्रेवर– मनोविज्ञान शुद्ध विज्ञान हैं.
  8. बोरिंग एवं लेंगफील्ड– मनोविज्ञान मानव प्रकृति का अध्ययन हैं.
  9. मैक्डूगल– मनोविज्ञान जीवित वस्तुओं के व्यवहार का विधायक विज्ञान हैं.

मनोविज्ञान से सम्बन्धित तथ्य (psychology question answer in hindi)

  • साइकोलॉजी शब्द का सर्वप्रथम प्रयोग- रुडोल्फ गोयकल
  • मनोविज्ञान का जनक- अरस्तु
  • आधुनिक मनोविज्ञान का जनक- विलियम जेम्स
  • प्रयोगात्मक मनोविज्ञान का जनक- विलियम वुंट
  • पशु मनोविज्ञान का जनक- थार्नडाईक
  • सरंचनात्मक संप्रदाय के प्रवर्तक- विलियम वुंट, टिचनर
  • मनोविश्लेषणवाद के जनक- सिगमंड फ्रायड
  • गैस्टाल्टवाद सम्प्रदाय के जनक- वर्दीमर, कोहलर, कोफ्का
  • व्यवहारवाद का जनक- वाट्सन
  • प्रयास एवं त्रुटि सिद्धांत के प्रतिपादक- थार्नडाईक
  • अनुबंधन सिद्धांत के जनक- पावलाव
  • प्रयास त्रुटि सिद्धांत के प्रतिपादक- थार्नडाईक
  • अनुबंधन सिद्धांत के जनक- पावलोव
  • क्रिया प्रसूत सिद्धांत के जनक- सी एल हल
  • मानवतावादी दृष्टिकोण के प्रतिपादक- मास्लो
  • प्रेरक संप्रदाय के प्रतिपादक- विलियम मैक्डूगल
  • प्रकार्यवाद संप्रदाय के प्रतिपादक- विलियम जेम्स, जॉन डीवी
  • क्षेत्रवाद सिद्धांत के जनक- कुर्त लेविन
  • अंतदर्शन विधि के प्रवर्तक- विलियम वुंट एवं टिचनर
  • बहिरदर्शन विधि के प्रवर्तक- जे बी वाट्सन
  • प्रश्नोत्तर व प्रश्नावली विधि के प्रवर्तक- सुकरात व वुडवर्थ
  • समाजमिति विधि के प्रवर्तक- जे एल मोरेनो
  • व्यक्ति इतिहास विधि के प्रवर्तक- टाइडमैंन
  • प्रयोगात्मक विधि के प्रवर्तक- विलियम वुंट
  • बीजकोषों की निरन्तरता का नियम- वीजमैंन
  • अर्जित गुणों का स्थानांतरण नियम- लैमार्क
  • मैडल का स्थानान्तरण का नियम- जॉन ग्रेगर मेडल
  • मनोलैंगिक विकास का सिद्धांत- सिगमंड फ्रायड
  • संज्ञात्मक विकास का सिद्धांत- जीन पियाजे
  • मनो सामाजिक विकास सिद्धांत- इरिक्सन
  • भाषा विकास का सिद्धांत- चोमस्की
  • नैतिक विकास सिद्धांत- कोहलबर्ग

यह भी पढ़े-

उम्मीद करता हूँ दोस्तों What Is Psychology In Hindi का यह लेख आपकों पसंद आया होगा. मनोविज्ञान क्या है मनोविज्ञान का अर्थ व परिभाषा क्या है के बारे में दी गई जानकारी पसंद आई हो तो अपने दोस्तों के साथ जरुर शेयर करे.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *