What Is The Meaning Of Education In Hindi | शिक्षा का अर्थ महत्व व परिभाषा

मित्रों हम सभी का शिक्षा से जुड़ाव हमेशा से रहता हैं. शिक्षा जिन्हें हम अंग्रेजी के एजुकेशन शब्द से अधिक परिचित हैं. वाकई में शिक्षा का आशय क्या हैं इसका जीवन में महत्व, विद्वानों ने इसकी क्या परिभाषाएं दी हैं. इन्हें हम आज What Is The Meaning Of Education In Hindi शिक्षा का अर्थ महत्व व परिभाषा इस आर्टिकल के माध्यम से समझने का प्रयास करेगे.

What Is The Meaning Of Education In Hindi शिक्षा का अर्थ

What Is The Meaning Of Education In Hindi शिक्षा का अर्थ महत्व व परिभाषा

शिक्षा का अर्थ (Meaning Of Education)

शिक्षा शब्द संस्कृत भाषा का हैं जिसे अंग्रेजी शब्द education का समानार्थी माना गया हैं. जिसकी उत्पत्ति शिक्ष धातु के साथ हुआ, जिसका आशय ज्ञान या विद्या ग्रहण करने से हैं.

सीखने या शिक्षा प्राप्ति के लिए ज्ञान शब्द का उपयोग किया जाता हैं. जो संस्कृत की विद धातु से बना हैं. विद धातु से ही एक प्रचलित शब्द बनता है विद्वान, जिसका आशय जानने वाला होता हैं.

यदि हम विद्या और ज्ञान इन दोनों शब्दों को देखे तो दोनों के अलग अलग अर्थ हैं. शिक्षा का आशय समग्र रूप से शिक्षा प्राप्ति हैं जबकि विद्या का आशय किसी विशिष्ट ज्ञान में पूर्ण दक्षता हासिल करना.

शिक्षा शब्द का अंग्रेजी रूपान्तर शब्द Education हैं. इस शब्द का जन्म लैटिन भाषा के एडुकेटम ‘Educatum’शब्द  से हुआ हैं जिसका आशय अध्यापन कराने से हैं. एजुकेशन शब्द की उत्पत्ति के सम्बन्ध में कुछ विद्वानों का मानना है कि Educare से हुई है जिसका अर्थ-विकसित करना.

शिक्षा का अर्थ एवं उद्देश्य pdf

शिक्षा व्यक्ति के जीवन का निर्माण करता हैं. एक पीढ़ी से दूसरी पीढ़ी ज्ञान का स्थानान्तरण शिक्षा से ही सम्भव हैं. व्यक्ति को समाज से जोडकर अपनी संस्कृति की निरंतर को बनाए रखती हैं. शिक्षा व्यक्ति को आधारभूत नियमों, व्यवस्थाओं, समाज के प्रतिमानों एवं मूल्यों का ज्ञान कराती हैं.

अंतर्निहित क्षमता तथा उसके व्यक्तित्व के निर्माण एव विकास में शिक्षा की अहम भूमिका हैं. समाज एवं देश के एक योग्य नागरिक बनाने में शिक्षा की अहम भूमिका हैं.

आमतौर पर शिक्षा शब्द का उपयोग दो रूपों में किया जाता हैं. एक व्यापक एवं विस्तृत नजरिये के साथ एवं दूसरे संकुचित अर्थ में. विस्तृत परिपेक्ष्य में शिक्षा को समाज में निरंतर चलने वाली प्रक्रिया मानी जाने वाली सामाजिक सौददेश्य प्रक्रिया हैं जिससे मनुष्यों की जन्मजात शक्तियों का विकास उसके ज्ञान और कौशल में वृद्धि करने से हैं.

जिसके चलते ज्ञान एवं कौशल में वृद्धि एवं व्यवहार में बदलाव लाया जाए. जिसका लक्ष्य व्यक्ति को सभ्य, सुसंस्कृत एवं योग्य नागरिक का निर्माण करना होता हैं. वही संकुचित अर्थ में शिक्षा का आशय ऐसी सामाजिक सौद्देश्य व्यवस्था से हैं जिसके तहत निश्चित स्थानों में एक बालक को निश्चित पाठ्यक्रम को पढ़ाकर उन्हें उतीर्ण करने की व्यवस्था को शिक्षा का नाम दिया जाता हैं.

शिक्षा की परिभाषा (definition of education in hindi language)

विभिन्न शिक्षाविदों, समाजशास्त्रियों तथा विद्वानों ने अपने अपने हिसाब से शिक्षा शब्द को परिभाषित किया हैं. यहाँ हम कुछ बड़े व्यक्तियों के शिक्षा के सन्दर्भ में उनके विचार बता रहे हैं. जिससे हम शिक्षा का अर्थ आसानी से समझ सकेगे.

  • महात्मा गांधी के शब्दों में “शिक्षा से मेरा तात्पर्य बालक और मनुष्य के शरीर, मन तथा आत्मा के सर्वांगीण एवं सर्वोत्कृष्ट विकास से है”
  • स्वामी विवेकानन्द जी शिक्षा के बारे में कहते हैं कि “मनुष्य की अन्तर्निहित पूर्णता को अभिव्यक्त करना ही शिक्षा है.”
  • महान शिक्षा शास्त्री जॉन ड्यूवी कहते हैं शिक्षा का आशय “उत्तरदायित्त्वों का निर्वाह कर सके’
  • राष्ट्रीय शिक्षा आयोग, 1964-66 अर्थात कोठारी आयोग के अनुसार “शिक्षा राष्ट्र के आर्थिक, सामाजिक विकास का शक्तिशाली साधन है, शिक्षा राष्ट्रीय सम्पन्नता एवं राष्ट्र कल्याण की कुंजी है”
  • पेस्तालॉजी के विचार में शिक्षा “शिक्षा मानव की सम्पूर्ण शक्तियों का प्राकृतिक, प्रगतिशील और सामंजस्यपूर्ण विकास है”
  • जिद्दू कृष्णमूर्ति शिक्षा के बारे में कहते है शिक्षा व्यक्ति के समन्वित विकास की प्रक्रिया है.
  • एक और शिक्षाशास्त्री और मनोवैज्ञानिक हर्बट स्पैन्सर कहते है कि “शिक्षा अन्तःशक्तियों का बाह्य जीवन से समन्वय स्थापित करना है”

यह भी पढ़े

प्रिय दोस्तों आज का हमारा लेख What Is The Meaning Of Education In Hindi के विषय पर था, यहाँ हमने शिक्षा का अर्थ, शिक्षा शब्द का तात्पर्य परिभाषा आदि के  बारे में हमने जाना हैं. यदि आपकों यह लेख पसंद आया तो अपने दोस्तों के साथ जरुर शेयर करे.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *