Where Makes Your Device | कहां-कहां बनते हे आपके डिवाइस?

WHERE MAKES YOUR DEVICE: क्या आप जब भी कोई Laptop, Phone, Hardware या Software खरीदने जाते हे तो दुकानदार से यह जानने की कोशिश करते हे की यह Device या Hardware कहां का बना हुआ हे? शायद ही कोई खरीददार इस तरह के सवाल करता हे. हर खरीददार उत्पाद के Features, उसकी Warranty और कीमत के बारे में बात करता हे. आमतौर पर लोग जान रहे होते हे की कौन सी कम्पनी कहां की हे और उसकी प्रतिष्ठा कैसी हे.

ब्रांड और प्रतिष्ठा

मिसाल के तौर पर Apple अमेरिका की कंपनी हे और उसका Iphone, Ipad आदि के ब्रांड की अपनी प्रतिष्ठा हे. अब यह उत्पाद अमेरिका में बनते हे या चीन में बनते हे इससे किसी को कोई मतलब नहीं होता हे. इसी तरह Samsung दक्षिण कोरिया की कंपनी हे और Sony जापान की कंपनी हे. इन कम्पनियों और इनके उत्पादों की अपनी ब्रांडिंग हे, प्रतिष्ठा हे, जिसके दम पर लोग इन्हें खरीदते हे.

एक जगह क्यों नहीं बनते सारे डिवाइस

हालाँकि इन दिनों में यह बात ख़ास सामने आई हे की लोग अपने देश का सामान खरीदने में रूचि रखते हे. लेकिन तकनिकी Device के मामले में ऐसा करना संभव नहीं हे. इन्हें Design करने वाली कम्पनियां अगर चाहे तो भी अपने उत्पाद को अलग-अलग देश में नहीं बना सकती हे. अगर Apple चाहे की वो जहां-जहां अपने उत्पाद बेचें, वहीं पर उसका उत्पादन किया जाये तो यह बहुत महंगा हो जायेगा और व्यवसाहिक रूप से ऐसा करना संभव नहीं होगा. कुछ टाइम पहले Apple के सारे उत्पाद अमेरिका में ही बनते थे लेकिन बाद में उसने सारा मैन्युफैक्चरिंग चीन में शिफ्ट कर दिया. अब सिर्फ Design का काम अमेरिका में होता हे. बाकी सारे काम एशिया से चलते हे.

सैमसंग (SAMSUNG)

मौजूदा टाइम में Samsung ही ऐसी कम्पनी हे जिसका डिजाईन का और मैन्युफैक्चरिंग का काम अपने ही देश में हे. एशिया में Samsung को कच्चे माल की आपूर्ति हो जाती हे और दक्षिण कोरिया में सबसे सस्ता श्रम उपलब्ध हे. वहां उस तरह से नियमों की बाधा नहीं हे, जैसी अमेरिका या दुसरे विकसित देशों में हे. इसलिए वो वहां से अपने उत्पाद बनाकर उनकी मार्केटिंग कर रहा हे. चाहे Apple हो या Samsung, Sony हो या LG सब Processing और Screen Design का काम अपने मुख्यालय में ही करते हे.

एप्पल (APPLE)

एक अनुमान के मुताबिक Apple हर महीने 90 लाख Iphone बेच रही हे और 50 लाख के करीब Ipad. इतनी बड़ी मात्रा में डिवाइस तैयार करना, उनकी पैकिंग और समय से उन्हें भेजना बहुत जटिल प्रक्रिया हे. सन 2000 तक कम्पनी यह काम उतरी कैलीफोर्निया में करती थी, लेकिन उसने अब इसे चीन में शिफ्ट कर दिया हे. वहां Apple के अपने कुछ कर्मचारी हे लेकिन सारा काम करीब-करीब आउटसोर्स किया हुआ हे. उसके उत्पाद का Display, Processor, Memory, चिप्स और दुसरे कंपोनेंट अलग-अलग जगहों पर बनते हे. किसी एक कम्पनी के लिए यह संभव नहीं हे की वो सारे कंपोनेंट का काम एक साथ करें.

आजकल हर कम्पनी अपने डिवाइस के Hardware, Software, Processor, Memory, चिप्स आदि अलग-अलग जगह से तैयार करवाती हे. इस मामले में Samsung ही अपवाद हे, क्योंकि इस कम्पनी में यह सारी चीजें अपने ही देश में बनती हे. Samsung में करीब 4 लाख कर्मचारी काम करते हे. कम्पनी सारे कंपोनेंट खुद बनाती हे और फायदा उठाती हे.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *