विश्व जल दिवस 2018 थीम लोगो आवश्यकता महत्व स्लोगन कविता | World Water Day In Hindi

Jal Divas 2018, World Water Day In Hindi,  World Water Day Theme, Logo, Essential, Slogan, Poem, Essay, Speech In Hindi

हर साल 22 मार्च को विश्व जल दिवस (इंटरनेशनल वाटर डे) मनाया जाता है, पहली बार 1993 में Uno द्वारा मनाया गया था. 1992 में ब्राजील के रियो डी जेनेरियो में आयोजित विश्व पृथ्वी सम्मेलन के दौरान इस ज्वलंत समस्या को सदस्य राष्ट्रों के मध्य रखा गया था. पर्यावरण तथा विकास का संयुक्त राष्ट्र सम्मेलन के तत्वाधान में आयोजित इस दिवस को मनाने के पीछे मुख्य उद्देश्य आम लोगों में जल की जागरूकता पैदा करना है, इस दिवस को हर साल मनाकर स्वच्छ जल के संरक्षण के महत्व को बताना है.

विश्व जल दिवस 2018 थीम लोगो आवश्यकता महत्व स्लोगन कविताWorld Water Day In Hindi

World Water Day In Hindi– आज दुनिया के हर कोने में जल की कमी व्याप्त है, भविष्यवाणी यहाँ तक की जाती है, कि यदि चौथा विश्व युद्ध होगा, तो वह जल को लेकर ही होगा. विकसित हो या विकासशील सभी राष्ट्रों की उन्नति के लिए स्वच्छ पेयजल पहली प्राथमिकता है. इंसान अपने स्वार्थ के लिए जल संसाधन का विदोहन कर रहा है,

इसी का परिणाम है कि कही सुखा पड़ रहा है तो कही जल की कमी से लोग प्यासे ही रह जाते है, यदि कही जल की कही पर्याप्त मात्रा उपलब्ध है तो उनमे प्रदूषित तत्व एवं फ्लोराइड की मात्रा अधिक है.

अतः 22 मार्च को विश्व दिवस मनाना इस दिशा में एक महत्वपूर्ण कदम है जिससे लोगों में जल के प्रति जागरूकता इसके संरक्षण एवं पुनःप्राप्त करने के तरीकों पर विचार करने का अच्छा अवसर है.

विश्व जल दिवस 2018 की थीम एवं लोगो (International/World Water Day 2018 Theme & Logo)

World Water Day Theme-

  • प्रथम जल दिवस 1993 का थीम और लोगो- Water for the City (शहर के लिए जल बचाओं)
  • 1994 विश्व जल दिवस का थीम It is the job of every one to take care of our water resources (यह हर एक का कार्य है कि जल संसाधनो का संरक्षण करे)
  • 1995 के विश्व जल दिवस की थीम थी- प्यासे नगरों के लिए जल बचाओं (महिला और जल) “Women and Water”
  • वर्ष 1996 विश्व जल दिवस का थीम – प्यासे नगरो के लिए जल बचाओं (Water for the Thirsty City)
  • 1997 के विश्व जल दिवस का लोगो था विश्व का जल: क्या पर्याप्त है “Water of the World: What is Enough”.
  • 1998 के विश्व जल दिवस की थीम थी भू जल अद्रश्य है ( Land-Water Invisible Resources)
  • विश्व जल दिवस 1999 का थीम – हर कोइ प्र्वाह की ओर जा रहा (Land-Water Invisible Resources)
  • सन 2000 के विश्व जल दिवस का थीम था- 21 वी सदि के लिये जल (Water for the 21st Century)
  • 2001 के विश्व जल दिवस का नारा था स्वास्थ्य के लिए जल (Water for Health)
  • विश्व जल दिवस वर्ष 2002 के लिए नारा- विकास के लिए जल (Water for Development)
  • 2003 विश्व जल दिन के लिए थीम भविष्य के लिए जल (Water for the Future)
  • 2004 में विश्व जल दिवस का थीम था जल और आपदा (Water and Disaster)
  • वर्ष 2005 विश्व जल दिवस का थीम लोगो 2005 से 2015 में जीवन के लिए जल (Water for life in 2005-2015)
  • वर्ष 2006 में विश्व जल दिवस का थीम था जल एवं संस्कृति (Water and Culture)
  • विश्व जल दिवस वर्ष 2007 प्रोग्राम का थीम था “जल दुर्लभता के साथ मुंडेर”
  • 2008 के विश्व जल दिवस का विषय था स्वच्छता
  • वर्ष 2009 को आयोजित इंटरनेशनल वाटर डे का लोगो “जल के पार” था.
  • विश्व जल दिवस 2010 के लिए लोगों- स्वस्थ विश्व के लिए स्वच्छ जल.
  • वर्ल्ड वाटर डे 2011 का विषय था “शहर के लिये जल: शहरी चुनौती के लिये प्रतिक्रिया”
  • 2012 विश्व जल दिवस का थीम- जल एवं खाद्य सुरक्षा
  • वर्ष 2013 में आयोजित विश्व जल दिवस का विषय था- जल सहयोग
  • 2014 विश्व जल दिवस का विषय जल एवं उर्जा था.
  • 2015 जल दिवस का थीम एवं लोगो था दीर्घकालीन विकास एवंम जल
  • 2016 विश्व जल दिवस का विषय था जॉब एंड वाटर
  • वर्ष 2017 विश्व जल दिवस का थीम- जल का विदोहन
  • विश्व जल दिवस 2018 थीम, लोगो, विषय जल के लिए प्रकृति के आधार पर समाधान रखा गया है.

विश्व जल दिवस कैसे मनाया जाता है (How is the World Water Day celebrated?)

शिक्षा, पर्यावरण, स्वास्थ्य, कृषि और व्यापार, तकनीकी, आर्थिक विकास जैसे महत्वपूर्ण विषयों तथा जीवन का आधार जल ही होने के कारण इसके प्रति जागरूकता बढ़ाने के लिए हर साल 22 मार्च को विश्व जल दिवस मनाया जाता है. देश तथा दुनिया के विभिन्न शहरों में इस दिन कई प्रकार के पर्यावरणीय जागरूकता कार्यक्रम आयोजित किये जाते है. जिसके द्वारा आम लोगों में जल के महत्व तथा इनके संरक्षण की नीतियों पर विस्तृत चर्चा आयोजित की जाती है.

विद्यालयों में इसके प्रति जागरूकता बढ़ाने के लिए संगीतात्मक उत्सव, स्थानीय तालाब, झील, नदी और जलाशय की सैर, जल प्रबंधन निबन्ध प्रतियोगिताओं का आयोजन किया जाता है. नीले रंग की जल की बूँद की आकृति विश्व जल संरक्षण का प्रतीक है. जल के महत्व को हर व्यक्ति समझे तथा अपनी आने वाली पीढियाँ इसका उपयोग कर सके इसके लिए इसके समुचित उपयोग के बारे में जागरूकता पैदा करना ही हर साल विश्व जल जल दिवस मनाने का मुख्य उद्देश्य है.

विश्व जल दिवस पर कविता (poem on world water day in hindi)

विश्व जल दिवस पर मेरी एक कविता ।क्योंकि जल है तो कल है पर जल नहीँ तो आज भी नही है ।इसलिए पानी बचाने का प्रयास करें।

आज अचानक दादाजी को, बड़े जाकर गुस्सा आया
कितना बड़ा अनर्थ करते हो, अब तक तुम्हे समझ न आया
बोले दादा तुम सब बच्चों, पानी बहुत अधिक फैलाते
एक घुट पानी पी कर के, पूरा गिलाश व्यर्थ लुढ़काते
एक बाल्टी में नहा सकते हो, पर चार चार बाल्टी फैलाते
घंटो जैट पम्प चला कर, सडको पर पानी बहाते
बिजली पानी व्यर्थ नष्ट कर, अपने देश को हानि पहुचाते
अपने मात-पिता को तुम सब, पानी का महत्व क्यों नही समझाते
यही चला तो एक दिन पीने का, पानी खत्म हो जाएगा
पानी के बिन प्यासे रह कर, पशु, पक्षी, मानव का, जीवन नष्ट हो जाएगा
मैंने बोला सॉरी दादाजी, अब हम ऐसा नही करेगे,
अब हम सारे बच्चे मिलकर, एक नयी शुरुआत करेगे
पानी की एक एक बूंद बचाकर, इसका सही उपयोग करेगे.

जल ही जीवन है, बिना जल नही है कल (Water is life, there is no water tomorrow)

यह सोचकर भी डर से दिल काँप उठता है, यदि कल पानी का नल या टैंकर नही आया तो हमारी दिनचर्चा कैसे चलेगी, फिर यदि जल हमेशा के लिए समाप्त हो जाएगा तो क्या होगा. मानव सहित सभी जीव जन्तुओ पर क्या बीतेगी. क्या हम प्यासे ही मर जाएगे. ऐसा ही होगा, यदि आज हम सावधान नही हुए तो. जरा सोचिए हम जल की कितनी फिजूलखर्ची करते है सुबह हाथ मुह धोने के लिए 10 लीटर की बाल्टी उडेल देते है, इतना पानी एक व्यक्ति के लिए एक दिन पीने के लिए पर्याप्त होगा. हम एक लोटे भर पानी से भी हाथ मुह धो सकते है.

शेष पानी की बचत हमारे भविष्य में आने वाली परेशानियों को कम कर सकती है. एक अनुमान के मुताबिक एक व्यक्ति दिन में 60 से 70 लीटर पानी खर्च करता है. जबकि वह चाहे तो वही काम 20 लीटर पानी में कर सकता है. यदि एक व्यक्ति इतनी पानी की बचत करता है तो सोचिये एक दिन में हम सभी मिलकर कितना पानी बचा सकते है. आज विश्व जल दिवस पर हम संकल्प ले कि व्यर्थ में पानी खर्च न कर इसका समुचित उपयोग करेगे, तथा लोगों को भी ऐसा करने के लिए प्रेरित करेगे.

विश्व जल दिवस पर स्लोगन, नारे (slogan on world water day in hindi)

  • जल नही तो जीवन नही
  • पानी है तो कल है
  • पानी है अनमोल इसके बचाने के करो जतन
  • पानी बचाना हमारी जरूरत एवं कर्तव्य भी
  • जल बचाकर अपने जीवन को सुरक्षित बनाए
  • आज रंग बरसे, कल जल को तरसे
  • जल बचाओ, जल बचाओ, पानी है अनमोल – न बहाने दो जल को जानो इसका मोल
  • जल बचावों, हर पल बचावों
  • अच्छी सेहत चाहिए तो स्वच्छ जल ही अपनाइए

Hope you find this post about ”Jal Divas 2018, World Water Day In Hindi,  World Water Day Theme, Logo, Essential, Slogan, Poem, Essay, Speech In Hindi” useful. if you like this article please share on Facebook & Whatsapp. and for latest update keep visit daily on hihindi.com.

Note: We try hard for correctness and accuracy. please tell us If you see something that doesn’t look correct in this article about 22 MARCH World Water Day ESSAY SLOGAN POEM THEME LOGO In Hindi and if you have more information History of Vishwa jal diwas then help for the improvements this article.

2 अप्रैल भारत बंद : Hindi News And Update Bharat Bandh 2018... एससी एसटी एक्ट संशोधन के खिलाफ 2 अप...
Bharat Bandh Tomorrow: Timings Confirmed 2 April 2018 Sc St Act Bharat Bandh Tomorrow :अनुसूचित जात...
प्लीज अच्छा लगे तो शेयर करे

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *