अजीत अंजुम का जीवन परिचय | Ajit Anjum Biography In Hindi

अजीत अंजुम का जीवन परिचय | Ajit Anjum Biography In Hindi आज के दौर में खबरें मीडिया के द्वारा जनसाधारण तक पहुँच रही हैं, जिन्हें पहुँचाने में पत्रकारों की विशेष भूमिका होती है। मुद्दों को कैसे, किस तरह, किस रूप में प्रस्तुत करना इनके कार्य कौशल पर निर्भर करता है जिसका असर जनता पर पड़ता है।

अजीत अंजुम का जीवन परिचय | Ajit Anjum Biography In Hindi

अजीत अंजुम का जीवन परिचय | Ajit Anjum Biography In Hindi

अपनी रुचि, आत्मबल, अडिग निश्चय से इंसान रास्ते में आने वाली विफलताओं को पार कर अपनी सफलता को अंजाम दे पाता है इसी श्रेणी में आज हम ऐसे वरिष्ठ पत्रकार अजीत अंजुम के बारे में जानेंगे.

जिन्होंने अपने दम पर पत्रकारिता के क्षेत्र में अपना मुकाम पाया और वर्तमान में भी अपने कार्य कौशल, लगन, मेहनत से अडिग हैं और स्वतंत्र रूप से अपने कार्य में सलंग्न हैं।

कौन है अजीत अंजुम?

मीडिया के क्षेत्र में पत्रकारिता से ताल्लुक रखने वाले पत्रकारों की श्रेणी में से जाना पहचाना नाम अजीत अंजुम जो अपने बेबाक एवं अपनी विविध शैली की वजह से जाने जाते हैं। अजीत अंजुम एक अच्छे पत्रकार के साथ साथ टी.वी एंकर, न्यूज़ एंकर, लेखक, संपादक भी हैं। 

अजीत अंजुम का मूल नाम अजीत कुमार था लेकिन ‘सामान्य’ नाम की वजह से उन्होंने पाटलिपुत्र टाइम्स में स्थानीय रिपोर्टर के रूप में कार्य करते समय अपना नाम बदलकर ‘अजीत अंजुम’ कर दिया था।

अंजुम न्यूज़24, इंडिया टी.वी और टी वी9 में पत्रकार के रूप में चर्चित हुए और न्यूज़24 एवं इंडिया टीवी जैसे समाचार चैनलों के प्रबंध संपादक का कार्यभार भी इन्होंने संभाला।

Telegram Group Join Now

पूरा नाम अजित कुमार 
निक नेम अज्जू 
जन्मतिथि 7 अप्रैल 1969
जन्मस्थान बेगुसराय बिहार 
पिता का नाम रामसागर प्रसाद सिंह 
धर्म हिन्दू 
नागरिकता भारतीय 
पेशा पत्रकारिता

जन्म

अजीत अंजुम का जन्म बिहार के बेगूसराय  जिले में 7 अप्रैल 1969 को हुआ था। उनका वास्तविक नाम अजीत कुमार था जो बाद में बदलकर अजीत अंजुम कर दिया गया।

उनकी माता एक ग्रहणी हैं एवं पिताजी का नाम रामप्रसाद सागर सिंह है जो न्यायिक सेवा में कार्यरत थे और न्यायाधीश के पद से पटना से सेवानिवृत्त हुए थे। अजीत अंजुम बिहार राज्य के हिंदू राजपूत घराने से संबंध रखते हैं।

शिक्षा

अजीत अंजुम बचपन से ही पढ़ने में रुचि रखते थे उन्होंने अपने विद्यालय की शिक्षा बेगूसराय और दरभंगा से की है। इन्होंने मुजफ्फरपुर के लंगट सिंह महाविद्यालय से जनसंचार में स्नातक की उपाधि प्राप्त की है और आगे की शिक्षा बिहार विश्वविद्यालय मुजफ्फरपुर से प्राप्त की।

शिक्षा के दौरान ही उन्होंने अपने करियर की शुरुवात कर दी थी और एक पत्रकार के रूप में कार्य करना शुरू किया।

निजी जीवन

अजीत अंजुम पत्रकार होने के साथ-साथ अन्य गतिविधियों में भी रुचि रखते हैं, उन्हें तैराकी, पार्टीज़ में जाना, योगा करना, भारतीय खाना पसंद है साथ ही शाहरुख खान और प्रियंका चोपड़ा उनके पसंदीदा अभिनेता एवं अभिनेत्री हैं इसके अलावा फिल्में, सीरियल, क्रिकेट, घुमना, लिखना-पढ़ना भी पसंद है। 

अजीत अंजुम विवाहित हैं उनकी पत्नी का नाम गीताश्री है जो पेशे से अजीत अंजुम की ही तरह पत्रकार एवं साहित्यकार हैं और गोयनका पुरस्कार से सम्मानित भी की जा चुकी है।

जिया नाम की उनकी एक बेटी भी है। अजीत अंजुम का छोटा सा एक खुशहाल परिवार है और फुर्सत के समय वो रसोईघर में कुकिंग करते हुए अपना शौक पूरा करते हैं।

अजीत अंजुम का करियर

अजीत अंजुम का करियर अनेक विवादों से जुझता हुआ भी सफल दिखाई पड़ता है अजीत अंजुम का करियर पत्रकार के रूप में  महाविद्यालय की शिक्षा ग्रहण करते हुए ही शुरु हो चुका था, जहाँ उन्होंने एक लेख लिखकर पाटलिपुत्र टाइम्स में अपने पत्रकारिता की शुरुवात कर दी थी। करियर के अन्य पहलू कुछ इस प्रकार हैं:

पत्रकारिता के क्षेत्र में एक सच्चे एवं स्पष्टवादी सफल पत्रकार अंजुम के विभिन्न पहलू:

  • पाटलिपुत्र टाइम्स में लेखन के पश्चात उन्होंने दिनमान, धर्मयुग, रविवार और साप्ताहिक हिंदुस्तान आदि पत्र-पत्रिकाओं में ‘मुक्त’ रूप से लेखन किया था।
  • वर्ष 1889 दिल्ली में सबसे लोकप्रिय अखबार ‘अमर उजाला’ जो कि उस समय उत्तर भारत का तीसरे नंबर का प्रसिद्ध अखबार माना जाता था के साथ जुड़कर कार्य करना शुरू किया था तत्पश्चात उन्होंने ‘चौथी दुनिया’ और ‘जनसत्ता’ जैसे प्रसिद्ध अखबार के लिए कार्य किया।
  • वर्ष 1994 में वे इलेक्ट्रॉनिक मीडिया से जुड़े और अपने करियर को एक नई दिशा दी और ‘बीएजी’ फिल्म्स से लगभग 15 वर्षों तक जुड़कर एक प्रोड्यूसर के रूप में अनेक चर्चित शो में कार्य किया जिसमें  उनका टॉक शो ‘रूबरू’ प्रख्यात हुआ जहाँ उन्होंने निर्देशन का कार्यभार भी संभाला था।
  • वर्ष 2007 में उनके करियर को एक नया रूप मिला और वे  न्यूज़24 चैनल के कर्ताधर्ता साबित हुए जहाँ प्रबंध संपादक के रूप में अनेक वर्षों तक कार्यरत रहे। आगे चलकर सीनियर प्रोड्यूसर के रूप में ‘आज तक’ में और सीनियर एडिटर के रूप में ‘इंडिया टीवी’ पर कार्यरत रहे।
  • भारतवर्ष में टीवी9 में अपने बेबाक अंदाज की पत्रकारिता ने उन्हें अपने चर्चित शो ‘राष्ट्रीय बहस’ से काफी लोकप्रियता दिलाई जिसमें उन्होंने कई नामी प्रमुख लोगों का इंटरव्यू लिया और उनसे जुड़े अनेक रोचक तथ्यों को उजागर किया।
  • स्टार न्यूज़ के लिए अजीत अंजुम रेड अलर्ट, सनसनी और पोल खोल आदि शो से जुड़े रहे।
  • न्यूज़24 के एक अभियान के तहत बाढ़ पीड़ितों की सहायता स्वरूप उनको राहत सामग्री पहुँचाने का प्रबंधन के रूप में कार्यभार संभाला।

अजित का कृषि आंदोलन में पत्रकारिता के रूप में सक्रिय रूप इस प्रकार है-

  • अजीत अंजुम ने अपनी निष्पक्ष पत्रकारिता के स्वरूप लोकसभा द्वारा पारित कृषि बिल विवादों में किसानों के आंदोलन पर अपनी उत्कृष्ट पत्रकारिता के दर्शन कराये।
  • जनता के समक्ष किसानों द्वारा जो कि सिंधु बॉर्डर, गाजी बॉर्डर और दिल्ली हरियाणा से जुड़े बॉर्डर पर धरने पर बैठे थे उनकी समस्या को जनता के समक्ष रखा।
  • जनवरी की शीत लहर में किसानों के संघर्ष को बिना किसी पक्षपात के कैमरे के समक्ष जनसामान्य के सम्मुख रखा।
  • सरकार और किसानों के बीच उत्पन्न विवाद को एक मध्यस्थ के रूप में बड़े सहज रूप से दर्शाया एवं आंदोलन की असली वजह को मुख्यता देते हुए एक निष्पक्ष रूप सामने रखा जो उनकी पत्रकारिता की कार्यकुशलता को दर्शाता है।

अजीत अंजुम का यूट्यूब चैनल से संबंधित करियर

  • वर्तमान में अजीत जहाँ एक ओर जाने-माने लेखक, संपादक, एंकर के रूप में मशहूर हैं वहीं वर्ष 1889 से अब तक अपने पत्रकारिता के करियर को आगे बढ़ाते हुए कार्य में सलंग्न हैं और स्वतंत्र पत्रकारिता के रूप में अपने यूट्यूब चैनल में कार्यरत हैं।
  • यूट्यूब चैनल में अंजुम समसामयिक मुद्दों को अपने बेबाक संवाद शैली एवं निष्पक्ष रूप को अनेक घटना क्रम को लोगों के सामने लाते हैं जो उनकी पत्रकारिता के कार्य कौशल को दर्शाता है जिससे पता चलता है कि प्रतिभा कभी अपनी पहचान नहीं खोती।

पत्रकारिता के क्षेत्र में अजीत अंजुम को मिलने वाले मुख्य सम्मान कुछ इस प्रकार हैं:

  • वर्ष 2010 में बिहार में आई भयावह बाढ़ ग्रस्त आपदा के संदर्भ में अपनी पत्रकारिता की उत्कृष्टता को प्रदर्शित करते हुए रिपोर्टिंग का प्रारूप इतना अच्छा रखा कि उन्हें इसके लिए पत्रकारिता के सबसे सम्मानीय पुरस्कार “रामनाथ गोयनका” से सम्मानित किया गया था।
  • वर्ष 2016 में समाज के प्रत्यक्ष रूप को अपनी पत्रकारिता के रूप में ऐसा ढाला और एक प्रभावी पक्ष समाज के समक्ष प्रस्तुत किया जिसके कारण उन्हें “फेम इंडिया मैगजीन” के 50 प्रभावशाली व्यक्तियों की सूची में शामिल किया गया जो गौरवपूर्ण है।
  • वर्ष 2017 में पत्रकारिता के क्षेत्र में ही एक और सम्मान प्राप्त हुआ ,उन्हें “दुष्यंत स्मृति सम्मान” से भी पुरस्कार के रूप में सम्मानित किया गया।

अजीत अंजुम से जुड़े रोचक तथ्य

  • अंजुम ने स्नातक की शिक्षा ग्रहण करते हुए लेखन एवं पठन में रुचि रखना शुरू कर दिया था।
  • अजीत अंजुम की पिताजी की मृत्यु 20 मार्च 2011 में बेगूसराय में हृदयघात के कारण हुई थी।
  • अंजुम का जन्म बेगूसराय में हुआ था लेकिन वह रहते मुजफ्फरपुर में थे क्योंकि उनके पिताजी मुजफ्फरपुर में न्यायाधीश के पद पर कार्यरत थे।
  • अंजुम वर्ष 1990 से 1992 तक अमर उजाला में कार्यरत रहे।
  • वर्तमान में समाजिक मुद्दों पर अपने विचारों से सोशल मीडिया जैसे फेसबुक, युटुब, टि्वटर, इंस्टाग्राम आदि में सक्रिय रूप से कार्यरत हैं।
  • ऐसा कहा जाता है कि टीवी 9 भारतवर्ष से अजीत अंजुम ने इस्तीफा दिया जिसका मुख्य कारण उनका मीडिया हाउस के साथ अनुबंध समाप्त होना था।

विवाद

  • अंजुम के बेबाक संवाद के कारण अक्सर वे सुर्खियों में रहते हैं उनके पक्ष विपक्ष से जुड़े लोग मोदी के खिलाफ एवं समर्थन के रूप में उन पर टिप्पणी करते रहते हैं। मोदी सन्दर्भ के कारण ही वे विवादों में घिर गए थे और विवाद का सामना करना पड़ा था।
  • अजीत की टिप्पणी जिसमें ब्राह्मण को “उन्नाव रेप कांड” में आरोपी बताकर, उच्च कुल-गोत्र का संदर्भ समक्ष रखकर “हैदराबाद रेप कांड” से तुलना कर ट्वीट किया था जिस वजह से वह विवाद के घेरे में आ गए थे, जिस कारण उन्हें “कलंक” ट्रेड के रूप में लोगों की तीखी टिप्पणियों का सामना करना पड़ा था लेकिन उनके प्रशंसकों ने उनका समर्थन भी किया।
  • सोशल मीडिया में अजीत अंजुम और बॉलीवुड फिल्ममेकर अशोक पंडित के बीच विवाद के तहत लोगों ने काफी टिप्पणी लिखी थी। अजीत अंजुम की रिपोर्टिंग पर अशोक पंडित ने पश्चिम बंगाल से संबंधित वीडियो पर तीखा वार करते हुए कई विपरीत शब्द कहे।
  • न्यूज़ 24 के सम्पादन को लेकर की न्यूज़ 24 कौन चलायेगा इस संदर्भ में अनुराधा प्रसाद और अजीत अंजुम के बीच सुर्खियों में विवाद की खबर आई थी कि दोनों के मध्य उनके ईगो के कारण मतभेद हुआ।
  • जी न्यूज़ के एंकर सुधीर चौधरी और अजीत के मध्य एक वीडियो साक्षात्कार को लेकर ट्विटर में मतभेद दिखाई पड़ा। सुधीर चौधरी द्वारा अजीत को “बेरोज़गार पत्रकार बता कर शब्दों से वार किया था जिसका अजीत ने करारा जवाब दिया था।

यह भी पढ़े

पत्रकारों की मीडिया के क्षेत्र में विशिष्ट भूमिका होती है जो समाज के समक्ष मुद्दों की छवि प्रस्तुत करते हैं ऐसे ही पत्रकार जो अपनी स्पष्टवादिता, निष्पक्षता, बेबाक संवाद के रूप में जाने जाते हैं.

वह हैं अजीत अंजुम का जीवन परिचय Ajit Anjum Biography In Hindi, जिनके बारे में प्रस्तुत जानकारियाँ समक्ष रखी गयी हैं जो व्यक्ति को आत्मविश्वास के बल पर आगे बढ़ने की प्रेरणा देती हैं। उपरोक्त जानकारियों के रूप में अजीत अंजुम के संदर्भ में जाना जा सकता है।

Leave a Comment