गो डैडी के संस्थापक बॉब पार्सन्स की जीवनी | Bob Persons Biography In Hindi

गो डैडी के संस्थापक बॉब पार्सन्स की जीवनी Bob Persons Biography In Hindi आज के समय की सबसे बड़ी डोमेन विक्रेता कम्पनी गो डैडी के संस्थापक बॉब पार्सन्स के बारे में लोग बहुत कम जानते हैं. ये एक ऐसी शख्सियत का नाम हैं, जिन्होंने अपने आरम्भिक जीवन बड़ा आर्थिक संकट झेला. माध्यम वर्गीय परिवार में जन्मे बॉब विश्व के सबसे अमीर लोगों में गिने जाने वाली हस्ती हैं. बॉब पार्सन्स की succes story आज के प्रत्येक नवयुवक के लिए inspiring story से कम नही हैं.

बॉब पार्सन्स की जीवनी | Bob Persons Biography In Hindi

गो डैडी के संस्थापक बॉब पार्सन्स की जीवनी  Bob Persons Biography In Hindi

27 नवम्बर 1950 को बाल्टीमोर, मैरिलैण्ड, संयुक्त राज्य अमेरिका में जन्मे रोबर्ट पोर्सन्स को आज दुनिया गो डैडी के संस्थापक और सीईओ बॉब पार्सन्स के नाम से जानती हैं. आज इनकी अनुमानित सम्पति २.8 बिलियन डॉलर से अधिक आंकी जाती हैं.

मिडल क्लास फॅमिली में जन्मे बॉब ने अपने बचपन में बड़ा आर्थिक संकट झेला. उन्होंने ऐसा वक्त भी देखा जब पैसे के लिए मोहताज परिवार की जरुरतो की पूर्ति के लिए बॉब पार्सन्स को अखबार बेचने के साथ-साथ फैक्ट्रियो और गैस स्टेशनों में भी कई महीनों तक एक मजदूर की भांति कार्य करना पड़ा था. इतना सब कुछ झेलने के बावजूद वो आज बहुत सारी व्यापारिक कम्पनियों के मालिक और सह-मालिक हैं.

यूएस मरीन कोपर्स

70 वर्षीय ने हाई स्कुल से आरम्भिक शिक्षा पूर्ण करने के पश्चात् अमेरिका-वियतनाम युद्ध के दौरान कुछ समय के लिए अमेरिकी मरीन कोपर्स से भी जुड़े थे. इस दौरान बॉब पार्सन्स को 26 वीं बटालियन का सदस्य बनाया गया था. इसके अतिरिक्त इसी वियतनाम युद्ध के समय बॉब पार्सन्स डेल्टा के लिए 1969 में राइफलमैन का भी काम कर चुके हैं.

अमेरिकी मरीन में बॉब पार्सन्स के सेवाकार्य के दौरान इन्हे वियतनामिज क्रोस ऑफ गैलेट्री, काम्बैट एक्शन रिबन और पर्पल होर्ट सम्मान से भी पुरुस्कृत किया गया. इस सक्रिय भूमिका के बाद बॉब पार्सन्स ने अपनी कॉलेज की पढाई (ग्रेजुएशन) पूरी की.

पब्लिक अकाउंटेंट से करियर

बॉब पार्सन्स पेशे से एक पब्लिक अकाउंटेंट हैं. बॉब ने अपने करियर के शुरूआती वर्षो में कई निजी कम्पनियों के लिए एकाउंटिंग और मैनेजमेंट के पद पर कार्य किया. एक अकाउंटेंट के तौर पर कार्य करते हुए बॉब की रूचि कंप्यूटर प्रोग्रामिंग की तरफ बढ़ी. जो उस समय में एक नया विषय था.

इसी रूचि को बॉब पार्सन्स ने अपने बिजनेस में बदल दिया. इसी क्रम में इन्होने वर्ष 1984 में पार्सन्स तकनीक (टेक्नोलॉजी) नाम से एक कंप्यूटर सॉफ्टवेयर कम्पनी बनाई. इसकी शुरुआत के ठीक १० साल बाद बॉब ने 1994 में इसे 64 मिलियन डॉलर की कीमत पर इस कम्पनी को बेच दिया.

बॉब पार्सन्स की सफलता की कहानी

वर्तमान में, बॉब YAM वर्ल्डवाइड के सीईओ और संस्थापक हैं, जो मोटरसाइकिल, गोल्फ, रियल एस्टेट, वित्त, विपणन, नवाचार और परोपकार के क्षेत्र में काम करती हैं.

बॉब ने 1984 में पार्सन्स टेक्नोलॉजी के साथ करियर की शुरुआत की यह कम्पनी कुछ ही समय में एक हजार सक्रिय कर्मचारियों और तीन मिलियन ग्राहकों की बन गई मगर 1994 में इसे 64 मिलियन डोलर में बेच दिया और 1997 में Jomax Technologies की शुरुआत की जो बाद में godaddy के रूप में विश्व की सबसे बड़ी होस्ट प्रदाता कम्पनी बन गई.

साल 2012 में बॉब ने YAM वर्ल्ड वाइड की स्थापना की जो दर्जन से अधिक कम्पनियों का ग्रुप हैं. इस तरह अपने जीवन में बॉब पार्सन्स ने एक से बढ़कर एक सफल कम्पनियां बनाई और सफल व्यवसायी बने.

ये 2012 से द बॉब एंड रेनी फाउंडेशन के माध्यम से गरीब और पीड़ित लोगों को शिक्षा, चिकित्सा और सहायता प्रदान कर रहे हैं. वर्तमान में बॉब की आयु 70 वर्ष हैं.

गोडैडी की कहानी

गोडैडी की स्थापना 1997 में बाल्टीमोर, मैरीलैंड, में बॉब पार्सन्स ने की. उस समय इसका नाम जोमैक्स टेक्नोलॉजी रखा गया था, मगर कम्पनी के कर्मचारियों के सुझाव पर 1999 में इसका नाम बिग डैडी करने का विचार रखा गया.

मगर यह डोमेन नाम उपलब्ध न होने की वजह से गो डैडी रखा गया. इस नाम के बारे में पार्सन्स कहते है कि यह नाम लोगों के चेहरे पर मुस्कान ला देता हैं. वर्ष 2006 में गो डैडी से पुनः यह गोडैडी कर दिया गया.

शुरूआती समय में यह अपनी प्रतिस्पर्धी कम्पनियों के मुकाबले काफी तेजी से ग्रोथ कर रही थी. 2005 में यह इन्टरनेट पर सबसे बड़ी होस्ट प्रदाता कम्पनी बन गई.

अच्छे समाज सेवक भी

आज की विख्यात ऑनलाइन डोमिन कम्पनी गो डैडी की शुरुआत बॉब पार्सन्स ने 1997 में की थी. इनके अतिरिक्त बॉब के पास बाइक डीलरशिप, कस्टम मोटरसाइकिल शॉप, गोल्फ क्लब और ऐसी सैकड़ो कम्पनियों का स्वामित्व इनके पास हैं.

बॉब पार्सन्स मानते हैं. कि उन्होंने आज तक जो भी कमाया हैं, उसे अपने समाज को वापिस करना चाहिए. बॉब अब तक 90 बिलियन डॉलर से अधिक पैसा गरीब बच्चो के खाने शिक्षा और अनाथालय में दान कर चुके हैं.

यह भी पढ़े

उम्मीद करता हूँ दोस्तों गो डैडी के संस्थापक बॉब पार्सन्स की जीवनी Bob Persons Biography In Hindi का यह लेख आपको कैसा लगा हमें कमेंट कर जरुर बताएं, यदि आपको बॉब पार्सन्स की जीवनी जीवन परिचय में दी जानकारी पसंद आई हो तो अपने सोशल मिडिया अकाउंट पर जरुर शेयर करें.

अपने विचार यहाँ लिखे