History

तारागढ़ किले का इतिहास | Taragarh fort Ajmer History In Hindi

Taragarh fort Ajmer History– तारागढ़ किला अजमेर में स्थित हैं. जो राजस्थान के अन्य किलों की तरह अरावली पर्वतमाला की पहाड़ी पर बना हुआ हैं. इस दुर्ग को राजस्थान का जिब्राल्टर अथवा राजस्थान की कुंजी भी कहा जाया हैं. अजमेर की तारागढ़ पहाड़ी पर तक़रीबन ७०० फीट की ऊँचाई पर बना यह दुर्ग अजमेर के इतिहास …

तारागढ़ किले का इतिहास | Taragarh fort Ajmer History In Hindi Read More »

भटनेर किले का इतिहास | Bhatner Fort History in hindi

Bhatner Fort History भटनेर किला हनुमानगढ़ – राजस्थान अपने किलों एवं दुर्गों के लिए लिए भी विख्यात हैं. राज्य के हर कोने की वीरता की बखान करते ये किले बहुत से इतिहास और रहस्य अपने में समाए हुए हैं. ऐसा ही एक किला भटनेर का किला है जो वर्तमान में हनुमानगढ़ जिले में हैं. अकबर से लेकर पृथ्वीराज …

भटनेर किले का इतिहास | Bhatner Fort History in hindi Read More »

रणथम्भौर किले का इतिहास | Ranthambore Fort history in hindi

Ranthambore Fort history in hindi: हठीले हम्मीर की गाथाएं रणथम्भौर के किले से जुड़ी हुई हैं. यह राजस्थान के उन पांच दुर्गों में गिना जाता है जिन्हें यूनेस्कों की विश्व धरोहर सूचि में शामिल किया गया हैं. लम्बे समय तक अजेय रहने वाले रणथम्भौर का किला सवाई माधोपुर के रणथम्भौर राष्ट्रीय उद्यान में स्थित हैं. राजस्थान …

रणथम्भौर किले का इतिहास | Ranthambore Fort history in hindi Read More »

जैसलमेर के किले का इतिहास | Jaisalmer Fort History In Hindi

Jaisalmer Fort History In Hindi: बाहरवी सदी में राव जैसल द्वारा निर्मित जैसलमेर किले को विश्व विरासत सूची में शामिल किया गया है. इसे सोनारगढ़ भी कहा जाता हैं. पीले पत्थरों से निर्मित जैसलमेर किले ने कई लड़ाइयों को भी देखा हैं. गोल्डन फोर्ट के नाम से जाने जाने वाला यह दुर्ग जैसलमेर के पर्यटन स्थलों …

जैसलमेर के किले का इतिहास | Jaisalmer Fort History In Hindi Read More »

जालौर के किले का इतिहास | Jalore Fort History In Hindi

Jalore Fort History In Hindi: jalore kila राजस्थान के दक्षिणी पश्चिमी भाग में स्थित जालौर के किले को मारवाड़ राज्य का गढ़ माना जाता था. पूर्ण रूप से हिन्दू शैली में निर्मित इस किले का निर्माण आठवी सदी में गुर्जर प्रतिहार शासकों द्वारा करवाया गया था. सूकड़ी नदी के तट पर बना यह एक गिरी दुर्ग …

जालौर के किले का इतिहास | Jalore Fort History In Hindi Read More »

बूंदी के तारागढ़ किले का इतिहास | Taragarh Fort Bundi History In Hindi

Taragarh Fort Bundi History In Hindi: राजस्थान के बूंदी शहर का इतिहास तक़रीबन आठ सौ वर्ष पुराना हैं. अरावली की वादियों में नागपहाड़ी पर स्थित बूंदी का किला अथवा तारागढ़ दुर्ग का निर्माण  राव देव हाड़ा ने चौहदवीं शताब्दी में करवाया था. अपनी स्थापत्य कला एवं ख़ूबसूरती के कारण इस किले को स्टार फोर्ट के नाम …

बूंदी के तारागढ़ किले का इतिहास | Taragarh Fort Bundi History In Hindi Read More »

Nagaur Fort History In Hindi | नागौर के किले का इतिहास

Nagaur Fort History In Hindi: पधारों म्हारे देश और रंगीले राजस्थान के गौरवशाली इतिहास की निशानियों के रूप में राज्य के कई भागों में किले और ऐतिहासिक ईमारते हमेशा लोगों के मन में उत्कंठा पैदा करती रही हैं. आज हम राजस्थान के महत्वपूर्ण पर्यटन स्थल एवं नागौर के ऐतिहासिक किले के बारे में जानकारी बताएगे. किले …

Nagaur Fort History In Hindi | नागौर के किले का इतिहास Read More »

बाला किला अलवर का इतिहास | Alwar fort History In Hindi

Alwar fort History In Hindi: अलवर किला या बाला किला यह राजस्थान के अलवर शहर की पहाड़ी पर स्थित हैं. 1550 में हसन खान मेवाती ने इस बाला किले का निर्माण करवाया था. यह भव्य किला अपनी आकर्षक स्थापत्य कला और सुंदर डिजाइन के लिए देश भर में विख्यात हैं. जय पोल, लक्ष्मण पोल, सूरत पोल, …

बाला किला अलवर का इतिहास | Alwar fort History In Hindi Read More »

भैंसरोडगढ़ किले का इतिहास | Bhainsrorgarh Fort History In Hindi

Bhainsrorgarh Fort History In Hindi: चम्बल और बामनी नदियों के संगम तट पर अरावली पर्वतमाला की घाटी में  भैंसरोड गढ़ Bhainsrorgarh Fort जल दुर्ग स्थित हैं. कर्नल टॉड ने जनश्रुति के आधार पर व्यापारी भैंसाशाह और रोड़ा चारण को इस किले का निर्माता माना हैं. यह किला अधिकांशतः मेवाड़ के अधिकार में ही रहा. मराठों ने …

भैंसरोडगढ़ किले का इतिहास | Bhainsrorgarh Fort History In Hindi Read More »

मांडलगढ़ के किले का इतिहास | Mandalgarh Fort History In Hindi

Mandalgarh Fort History In Hindi: वीर विनोद ग्रंथ के अनुसार अजमेर के चौहान शासकों ने मांडलगढ़ के गिरि दुर्ग का निर्माण करवाया. मंडलाकृति होने के कारण इसका नाम मांडलगढ़ पड़ा. जनश्रुति के अनुसार मांडिया भील के नाम पर यह किला मांडलगढ़ कहलाया. यह अरावली की उपत्यकाओं में समुद्रतल से १८५० फीट की ऊँचाई पर बना हुआ …

मांडलगढ़ के किले का इतिहास | Mandalgarh Fort History In Hindi Read More »