History

स्वतंत्रता संग्राम 1857 के कारण महत्व परिणाम और सफलता के कारण | Indian Freedom Struggle In Hindi

1857 का स्वतंत्रता संग्राम कारण महत्व परिणाम और सफलता के कारण Indian Freedom Struggle In Hindi: भारत में अंग्रेजों के विरुद्ध तीव्र असंतोष बढ़ता जा रहा था. अंग्रेजो की सम्राज्यवादी निति और आर्थिक शोषण ने इस असंतोष  को और तीव्र कर दिया. सन 1857 का प्रथम स्वतंत्रता संग्राम इसी तीव्र असंतोष का परिणाम था. ब्रिटिश विद्वानों ने …

स्वतंत्रता संग्राम 1857 के कारण महत्व परिणाम और सफलता के कारण | Indian Freedom Struggle In Hindi Read More »

आनंद मंदिर म्यांमार का इतिहास | Ananda Temple Myanmar History Story In Hindi

आनंद मंदिर म्यांमार का इतिहास | Ananda Temple Myanmar History Story In Hindi: बर्मा में सर्वोत्तम पेगन का आनंद मंदिर (Ananda Temple) हैं. यह 564 वर्गफीट के चौकोर आंगन के बिच स्थित हैं. मुख्य मंदिर ईंटो का बना हुआ और वर्गाकार हैं. भव्य अनुपात और व्यवस्थित नियोजन के साथ ही आनन्द मंदिर का सौन्दर्य यहाँ पर उत्कीर्ण …

आनंद मंदिर म्यांमार का इतिहास | Ananda Temple Myanmar History Story In Hindi Read More »

भील जनजाति के बारे में जानकारी | Details of Bhil Tribe in Hindi

भील जनजाति के बारे में जानकारी | Details of of Bhil Tribe Food, Language, Costume, Dance, Festivals In Hindi दक्षिण राजस्थान के बहुत इलाके में पाई जाने वाली भील जनजाति (Bhil Tribe) शब्द की उत्पत्ति वील यानि कमान से मानी गई हैं, अंग्रेजी इतिहासकार जेम्स टॉड ने इन्हें वनों में रहने के कारण ही वनपुत्र की संज्ञा …

भील जनजाति के बारे में जानकारी | Details of Bhil Tribe in Hindi Read More »

रूस की क्रांति 1917 कारण स्वरूप और परिणाम : Russian Revolution In Hindi

रूस की क्रांति 1917 कारण स्वरूप और परिणाम : Russian Revolution In Hindi रूस की तत्कालीन शासक जार के अयोग्य, भ्रष्ट एवं निरंकुश शासन के विरुद्ध 1917 में रूस की क्रांति हुई. एवं जारशाही को समाप्त कर दिया. रूस में मार्च 1917 एवं नवम्बर 1917 में दो क्रांतियां हुई. मार्च की क्रांति में जारशाही शासन …

रूस की क्रांति 1917 कारण स्वरूप और परिणाम : Russian Revolution In Hindi Read More »

पारसी धर्म के संस्थापक इतिहास और पूजा स्थल | Parsi Religion Founder History and Place of Worship in Hindi

पारसी धर्म के संस्थापक इतिहास और पूजा स्थल | Parsi Religion Founder History and Place of Worship in Hindi: पारसी धर्म का जन्म फारस (ईरान) में हुआ था. वहां के निवासियों का धर्म प्रकृति की पूजा पर आधारित था. पारसी धर्म के मुख्य देवता सूर्य, चन्द्रमा, पृथ्वी आदि थे. परन्तु सूर्य को सबसे बड़ा देवता …

पारसी धर्म के संस्थापक इतिहास और पूजा स्थल | Parsi Religion Founder History and Place of Worship in Hindi Read More »

आनंदपाल सिंह का इतिहास | Anand Pal Singh History In Hindi

राजस्थान के सबसे खतरनाक गैंगस्टर आनंदपाल सिंह का इतिहास | Anand Pal Singh History In Hindi :-पिछले दो वर्षो से राजस्थान पुलिस के नाक में दम करने वाला खुखार गैंगस्टर आनंदपाल सिंह Anand Pal कल रात चुरू में पुलिस के एनकाउंटर में मारा गया| करीब 30 से अधिक उच्च पुलिस अधिकारियो की टीम इसे पिछले डेढ़ …

आनंदपाल सिंह का इतिहास | Anand Pal Singh History In Hindi Read More »

राजा बिन्दुसार का इतिहास जीवनी | History Of King Bindusara in Hindi

राजा बिन्दुसार का इतिहास | History Of King Bindusara in Hindi: भारत के इतिहास प्रसिद्ध मौर्य साम्राज्य के संस्थापक चन्द्रगुप्त मौर्य की सन्तान के रूप में बिन्दुसार का जन्म हुआ था. इनके बेटे का नाम सम्राट अशोक था, जिन्हें आज कौन नही जानता हैं. जैन लेखक हेमचन्द्र परिशिष्ठ के अनुसार बिन्दुसार की माता का नाम दुर्धरा था इनकी …

राजा बिन्दुसार का इतिहास जीवनी | History Of King Bindusara in Hindi Read More »

हर्यक वंश का इतिहास | Haryak Empire History In Hindi

हर्यक वंश का इतिहास | Haryak Empire History In Hindi यहाँ हम हर्यक वंश इतिहास में वंश के संस्थापक, अंतिम शासक राजा, बिम्बिसार राजा नन्द वंश के बारे में संक्षिप्त रूप में इस राजवंश के इतिहास का अध्ययन करेगे. 544 ई. पू. से 412 ई. पू. तक हर्यक वंश भारत की राजनीति में रहा. इसकी स्थापना बिम्बसार …

हर्यक वंश का इतिहास | Haryak Empire History In Hindi Read More »

शिशुनाग वंश का इतिहास | Shishunaga Dynasty History In Hindi

शिशुनाग वंश का इतिहास | Shishunaga Dynasty History In Hindi के इस लेख में वंश की स्थापना, राजधानी, वंश के शासकों तथा अंतिम शासक सहित महत्वपूर्ण जानकारी व इतिहास के बारे में संक्षिप्त में जानेगे. मगध पर नंदवंश के शासक के पूर्व बिहार से लेकर बंगाल तक शिशुनाग का राज्य था, जिन्होंने  ४१२ई॰ में एक नयें …

शिशुनाग वंश का इतिहास | Shishunaga Dynasty History In Hindi Read More »

मेहरानगढ़ किले का इतिहास | Mehrangarh Fort Jodhpur History in hindi

Mehrangarh Fort Jodhpur History जोधपुर किला & मेहरानगढ़ किले के बारे में : राजस्थान के प्रसिद्ध किलों में मेहरानगढ़ का महत्वपूर्ण स्थान है यह राजस्थान के जोधपुर जिले में स्थित हैं. भारत के वैभवशाली इतिहास के प्रतीक इस दुर्ग का निर्माण राव जोधा द्वारा करवाया गया था. जोधपुर शहर से Mehrangarh Fort – मेहरानगढ़ किला तकरीबन साढ़े …

मेहरानगढ़ किले का इतिहास | Mehrangarh Fort Jodhpur History in hindi Read More »