डेबिट कार्ड क्या होता है कैसे बनता है | Debit Card Kya Hai

डेबिट कार्ड क्या होता है कैसे बनता है उपयोग, लाभ एटीएम में अंतर | Debit Card Kya Hai Meaning uses, benefits difference in ATM In Hindi: हम सभी दैनिक जीवन में डेबिट कार्ड का उपयोग करते है इस प्लास्टिक कार्ड के चलते कैश निकालने और सभी तरह के ऑनलाइन बिल भुगतान करने की सुविधा रहती हैं. आज के आर्टिकल में हम इस कार्ड के मूलभूत उपयोग क्या है यह कैसे बनता है लाभ आदि के विषय में जानेगे. कुछ नया और रोचक सीखेगे आप अंत तक हमारे साथ बने रहे.

Debit Card Kya Hai डेबिट कार्ड क्या होता है

Debit Card Kya Hai डेबिट कार्ड क्या होता है

what is debit card In Hindi डेबिट कार्ड का अर्थ क्या होता है

हमारे बैंक के Savings Account के साथ ग्राहक को पेमेंट कार्ड प्रदान किया जाता है जिसे आम बोलचाल की भाषा में एटीएम कार्ड भी कहते हैं. इसका सामान्यतः उपयोग किसी ऑनलाइन प्रोडक्ट की खरीददारी अथवा कैश निकालने के लिए किया जाता हैं.

अपने डेबिट कार्ड के साथ एक तरह के कोड भी होते है जिन्हें पर्सनल वेरिफिकेशन नम्बर कहा जाता है जो सुरक्षा पासवर्ड की तरह काम करते है उसके बिना एटीएम मशीन या स्वाइप मशीन से कैश नहीं निकालते हैं.

ऑनलाइन लेन देन के लिए डेबिट कार्ड के साथ बैंक खाते में रजिस्टर्ड मोबाइल नम्बर की जरूरत भी होती है जिस पर हर ट्रांजेक्शन पर ओटीपी कोड भेजा जाता है. बैंक अपने ग्राहक से इस पेमेंट कार्ड के लिए अल्प वार्षिक शुल्क लेता है. डेबिट कार्ड के खो जाने, चोरी हो जाने या डैमेज हो जाने की स्थिति में उसे ब्लॉक करवाकर नया कार्ड बैंक से प्राप्त किया जा सकता हैं.

नया डेबिट कार्ड बैंक में एप्लीकेशन देकर प्राप्त किया जा सकता हैं. बैंक ग्राहक के दिए पते पर डाक की मदद से इसे पहुंचाता हैं. नये कार्ड को एक्टिवेट करने के लिए एक बार एटीएम जाना पड़ता है तथा पिन सेट कर ओटीपी वेरिफिकेशन करना पड़ता हैं. कार्ड से डेली भुगतान की एक सीमा का निर्धारण होता है उससे अधिक का भुगतान 24 घंटे की अवधि में नहीं किया जा सकता हैं.

Telegram Group Join Now

आजकल ऑनलाइन पेमेंट करने वाले डिजिटल वालिट का प्रचलन बहुत अधिक हो गया हैं. फोन पे, गूगल पे, भारत पे जैसे एप्प को संचालित करने के लिए भी हमें डेबिट कार्ड की आवश्यकता पड़ती हैं. इसके बिना इन वालिट का अकाउंट नहीं बन पाता है न ही हम घर बैठे लेन देन कर पाते हैं.

नया डेबिट कार्ड कैसे बनता है (How to get a new debit card In Hindi)

अब तक हम जान चुके है कि डेबिट कार्ड क्या है तथा इसके बेसिक उपयोग क्या क्या है. अगर आपका अभी तक डेबिटकार्ड नहीं बना है तो महज एक दिन में आप इसे बनवा सकते है. एक बार आपको अपनी होम बैंक ब्रांच में जाना पड़ेगा.

बैंक जाकर एटीएम अथवा डेबिट कार्ड के लिए आवेदन फॉर्म को भरकर जमा करवाने के पश्चात कुछ दिनों की अवधि में बैंक इसे आप तक पहुंचा देता हैं. नया डेबिट कार्ड मिलने के बाद इसके एक्टिवेशन की जरूरत पड़ती हैं.

नजदीकी एटीएम मशीन जाकर आप डुप्लीकेट पिन के साथ ओटीपी प्राप्त कर नया पिन सेट कर इसे एक्टिवेट कर सकते हैं. अगर आप डेबिट कार्ड के लिए यह सभी प्रक्रिया नहीं अपनाना चाहते है तो घर बैठे यह कार्ड बनाने का एक तरीका और भी हैं.

पेटीएम पेमेंट बैंक, एयरटेल पेमेंट बैंक ये बैंक अपने ग्राहक को घर बैठे बैंक अकाउंट के लिए ऑनलाइन आवेदन की सुविधा देती है, साथ ही बैंक खाता खुलने के बाद उन तक डेबिट कार्ड भी पहुंचा देती हैं.

डेबिट कार्ड से जुड़े फायदे और नुकसान क्या होता है (What are the advantages and disadvantages of debit card In Hindi)

फायदे

अब हम बात करेगे डेबिट कार्ड के क्या क्या लाभ है तथा इसके नुक्सान क्या हैं, सामान्य रूप से इसका उपयोग करने वाला प्रत्येक इंसान इसकी सीमाओं से परिचित होते हैं.

  • डेबिट कार्ड का पहला लाभ यह है कि कैश अर्थात नकद लेकर घूमने की से आजादी और बैंक राशि का सुरक्षित उपयोग सम्भव हुआ हैं.
  • व्यर्थ के धन के अपव्यय को रोकने में डेबिट कार्ड हमारी अप्रत्यक्ष रूप से मदद करता हैं जेब में नकद होने की स्थिति में कई बार अनावश्यक खर्च भी बढ़ जाते है जबकि कार्ड का उपयोग अमूमन जरूरी स्थितियों में ही किया जाता हैं.
  • डेबिट कार्ड के अधिक चार्ज भी बैंक नहीं वसूलता हैं बहुत कम वार्षिक शुल्क के साथ ही सेवा शुल्क भी न्यून होता है इस कारण प्रत्येक खाता धारक इस कार्ड को आसानी से अपना सकते हैं.
  • डेबिट कार्ड का आज के समय में सबसे बड़ा फायदा ऑनलाइन लेन देन में इसके उपयोग का हैं. सभी तरह के ऑनलाइन वालिट जैसे फोन पे आदि में खाता बनाने से लेकर सभी तरह के भुगतान के लिए इस कार्ड की जरूरत पड़ती हैं.
  • ऑनलाइन खरीददारी, फ्यूल फिलिंग रिचार्ज आदि के लिए भी डेबिट कार्ड बहुत फायदेमंद हैं.

नुकसान

अगर बात कि जाए डेबिट कार्ड से होने वाले नुकसान की तो कह कहा जा सकता है इसके असीमित फायदों के आगे नुकसान बेहद अल्प व नगण्य हैं.

  • रोजाना लेन देन की लिमिट इसकी एक बड़ी कमी हैं, कई बार नकद निकालने की स्थिति में डेली लिमिट बड़ी बाधा के रूप में सामने आती हैं.
  • छोटे छोटे गाँवों, कस्बों में एटीएम मशीन नहीं होते है अगर होते भी है तो उनकी लम्बी कतार और समय पर कैश न मिलना बड़ी समस्याएं रहती हैं.
  • डेबिट कार्ड का सावधानीपूर्वक उपयोग किया जाना भी जरुरी हैं, सुरक्षा के लिहाज से पिन आदि को सिक्योर रखना बहुत जरुरी हैं.
  • इसका एक बड़ा नुक्सान सिमित उपयोग हैं, हम अपने बैंक खाते में विद्यमान राशि का ही उपयोग कर सकते हैं क्रेडिट कार्ड की तरह अधिक राशि का उपयोग का कोई विकल्प नहीं हैं.

ATM और DEBIT कार्ड्स में अंतर क्या है (What is the difference between ATM and DEBIT card In Hindi)

वैसे तो एटीएम और डेबिट कार्ड को हम एक ही समझते है दोनों के उद्देश्य और फीचर एक जैसे ही होते है मगर इनमें कुछ बेसिक फर्क भी होता हैं हम इन्हें शोर्ट में जानने का प्रयास करेंगे. पहला फर्क यह है कि एटीएम पिन नम्बर पर आधारित कार्ड है पिन की मदद से ही इसका उपयोग किया जा सकता हैं मगर आज हम जिन एटीएम कम डेबिट कार्ड (ATM cum Debit Card) का उपयोग करते है ये दोनों काम करता है.

एटीएम कार्ड्स डेबिट कार्ड्स की तुलना में बहुत कम उपयोगी होते है इनका उपयोग केवल एटीएम मशीन से नकद पैसे निकालने में ही यूज होता हैं जबकि डेबिट कार्ड की मदद से हम स्टोर, रेस्टोरेंट, ऑनलाइन भुगतान आसानी से अपने मोबाइल फोन से कर सकते हैं. सुरक्षा के लिहाज से डेबिट कार्ड के भी पिन नम्बर होते है मगर इन्हें आप जब मर्जी हो बदल भी सकते हैं.

क्रेडिट और डेबिट कार्ड में क्या है अंतर (What is the difference between credit and debit card In Hindi)

जब हम अपने बैंक में खाता खुलवाते है तो बैंक की तरफ से हमें चेकबुक, पासबुक और एटीएम कम डेबिट कार्ड आदि ऑफर किए जाते हैं मगर हमारे अच्छे वित्तीय लेन देन की स्थिति में बैंक क्रेडिट कार्ड का ऑफर भी देता हैं. दोनों तरह के कार्ड बहुत से और बुनियादी फर्क है जिन्हें हम यहाँ समझने का प्रयत्न करेंगे.

  1. डेबिट कार्ड से हम अपने बैंक खाते में विद्यमान राशि को नकद के रूप में उपयोग कर सकते है अथवा उनका ऑनलाइन भुगतान किया जा सकता हैं.
  2. क्रेडिट कार्ड में बैंक अकाउंट में धनराशि न होने की स्थिति में भी हम तय सीमा तक बैंक से धन उधार लेकर उनको खर्च कर सकते हैं.
  3. बैंक डेबिट कार्ड की तुलना में क्रेडिट कार्ड पर अधिक प्रवेश व वार्षिक शुल्क लेती हैं.
  4. प्रत्येक ग्राहक को डेबिट कार्ड आवेदन पर मिल सकता है मगर क्रेडिट कार्ड के लिए सैलरी अकाउंट या कमर्शियल ग्राहक होना जरूरी है.
  5. क्रेडिट कार्ड धारक को कई बार बैंक से उधार लिए पैसे पर ब्याज या पेनल्टी देनी पड़ती है जबकि डेबिट कार्ड्स के मामले में ऐसा नहीं होता हैं.
  6. अंतर्देशीय लेन देन के लिए डेबिट कार्ड का उपयोग किया जा सकता है मगर विदेशी लेन देन में क्रेडिट कार्ड की जरूरत पड़ती हैं.

भारत की टॉप डेबिट कार्ड कंपनी

आप अपने एक ही बैंक खाते के लिए कई तरह के डेबिट कार्ड रख सकते हैं. यहाँ आप भारत की शीर्ष बैंक तथा उनकी ओर से जारी किए जाने वाले डेबिट कार्ड के नाम यहाँ बता रहे हैं. आप चाहे तो इनके लिए आवेदन भी कर सकते हैं.

Best SBI Debit Card

Classic Debit CardPremise Debit CardSBI Pride Card
Silver InternationalSBIIntouch Tap and GoSBI Mumbai Metro Combo
Global International DebitGold InternationalSBI Platinum International

HDFC Debit Card

Millenniahdfc bank rewardsJet Privilege HDFC Bank World
Easyshop Imperia Platinum ChipEasyShopEasyShop NRO
Easyshop Preferred PlatinumJet Privilege HDFC Bank SignatureEasyShop Gold
EasyShop Classic PlatinumEasy Shop Rupee NROEasyShop Titanium
EasyShop PlatinumRuPay PremiumEasyShop Titanium Royal
times pointEasyShop BusinessEasyShop Woman Advantage

Axis Bank Debit Card

BurgundyValue Plusyouth debit card
priorityonline rewardwealth debit card
PrestigeRewards+Power Salute
Delightsecure debit cardRuPay Platinum

ICICI Bank Debit Card

Senior Citizen Goldsenior citizen silverNRO Debit Card
NRE DebitYoung StarsSmart Shopper Silver
Privilege Banking Goldgold debitHPCL Debit
Titaniumwomen debitSmart Shopper Silver
Titanium FamilyGold Familyplatinum chip
Wealth Select Visa Infinitesignatureworld debit

Yes Bank Debit Card

Yes Premia WorldYes Samridhi Platinum
Yes Samridhi Titanium PlusYes Prosperity Titanium
Yes Samridhi Rupay PlatinumYes Bank Rupay Kisan
Yes Bank PMJDY Rupay Chip

Kotak Mahindra Debit Card

platinum debit cardeasy payment
PayShopMoreRupay
world debit cardPrivy League Platinum
Business Power Platinumgold debit card
classic oneRuPay India
Infinite Wealth ManagementPrivy League Signature
Access Indiajifi platinum
Business Class Gold

FAQ डेबिट कार्ड क्या होता है

Q. डेबिट कार्ड बनवाने के लिए क्या करना पड़ेगा?

Ans: इसके लिए आप अपनी बैंक शाखा में जाकर निर्धारित फोर्मेट में दिए गये आवेदन पत्र को भरकर जमा करवाएं, कुछ दिनों के भीतर बैंक आपके पते पर यह कार्ड जारी कर देती हैं.

Q. डेबिट कार्ड आवेदन के लिए क्या पात्रता हैं?

Ans: आवेदक की आयु 18 वर्ष से अधिक होनी चाहिए तथा सम्बन्धित बैंक में उसका खाता होना चाहिए, इसके अलावा अपने खाते से जुडी सामान्य जानकारियों के साथ आप डेबिट कार्ड के लिए आवेदन कर सकते हैं.

यह भी पढ़े

मित्रों आपको डेबिट कार्ड क्या होता है कैसे बनता है | Debit Card Kya Hai शीर्षक से दिया गया यह आर्टिकल कैसा लगा कमेंट कर जरुर बताएं. इस लेख में हमने डेबिट कार्ड के विषय में सरल भाषा में बेसिक जानकारी देने की कोशिश की हैं.

आपको यहाँ दी गई जानकारी उपयोगी लगी हो तो इसे सोशल मिडिया पर भी शेयर करें. इस तरह के कंटेट पढने के लिए आप अपने इस ब्लॉग को नियमित रूप से विजिट करते रहे.

Leave a Comment