एलन मस्क की जीवनी Elon Musk Biography In Hindi

एलन मस्क की जीवनी Elon Musk Biography In Hindi: दोस्तों एलन मस्क एक ऐसे व्यक्ति हैं जिन्हें हर कोई जानता है। दुनिया की तरक्की के लिए एलन मस्क निरंतर प्रयास कर रहे हैं। एलन मस्क दुनिया के सभी बिजनेसमैन और entrepreneur से अलग है क्योंकि इनकी ना सिर्फ सोच औरों से अलग है बल्कि इनके काम करने का तरीका भी बिल्कुल निराला है। एलन मस्क तीन बड़े-बड़े कंपनियों के मालिक हैं लेकिन यह अपना काम इतनी मेहनत और लगन से करते हैं कि इनका जीवन दूसरों के लिए किसी मार्गदर्शन से कम नहीं है।

एलन मस्क की जीवनी Elon Musk Biography In Hindi

एलन मस्क की जीवनी Elon Musk Biography In Hindi

एलन मस्क दुनिया के सबसे अमीर आदमी तो है ही साथ ही साथ यह दुनिया के सबसे अच्छे आदमियों में से भी एक माने जाते हैं। क्योंकि यह काम पैसे कमाने के लिए नहीं लोगों की भलाई के लिए करते हैं। लेकिन यह आज जिस मुकाम पर है वहां तक पहुंचने का सफर बहुत ही मुश्किल था। और इनके इसी सफर के बारे में आज हम आपको इस आर्टिकल में बताएंगे।

एलन मस्क का संक्षिप्त परिचय

नामएलन मस्क
जन्म28 जून 1971
जन्म स्थानPretoria, South Africa
उम्र49 वर्ष
Citizenshipसाउथ अफ्रीका, कनाडा, अमेरिका
पिता का नामErrol Musk
माता का नामMaye Musk
पत्नी का नामJustine Wilson, Talulah Riley
मैरिटल स्टेटसमैरेड

एलन मस्क का प्रारंभिक जीवन

एलन मस्क का जन्म 28 जून 1971 में Pretoria, South Africa में हुआ था। इनका जन्म एक साधारण परिवार में हुआ था जिनकी आर्थिक स्थिति काफी अच्छी थी। मस्क के पिता का नाम एरोल मस्क था। उनके पिता इलेक्ट्रिक इंजीनियर और पायलेट थे। इनकी मां का नाम मेई मस्क था। इनकी मां एक फ़ूड एक्सपर्ट थी।

जब एलन 10 साल के थे तब इनके माता-पिता का तलाक हो गया था। माता पिता के डिवोर्स के बाद मास्क अपने पिता के साथ रहने लगे। अपने पिता के साथ रहते हुए उन्होंने अपनी प्रारंभिक शिक्षा लेना शुरू किया था। अफ्रीका में एलन का समय काफी अच्छा बीता था। लेकिन बाद में वे काम के सिलसिले से और अपनी आगे की पढ़ाई पूरी करने के लिए अमेरिका चले गए।

एलन मस्क की शिक्षा

एलेन को बचपन से ही पढ़ने का बहुत शौक था वह हमेशा किताबें ही पढ़ते रहते थे। बचपन से ही मस्क ज्यादा किसी से बात नहीं करते थे। ऐसा भी सुनने को मिलता है कि जब यह मात्र 12 वर्ष के थे तब उन्होंने इतनी किताबें पढ़ ली थी जितना कोई ग्रेजुएशन का बच्चा भी नहीं पढ़ा होगा।

सुनने में तो यह बात बहुत आश्चर्यजनक लगती है और झूठ भी लगती है लेकिन मस्क के मामले में यह बिल्कुल सच है। हमेशा से ही इनकी सबसे पसंदीदा सब्जेक्ट कंप्यूटर रही है।

जब यह छोटे थे तब उस समय कंप्यूटर नया नया लांच हुआ था। पढ़ाई के प्रति उनकी रुचि देखकर इनके पिता एलन के लिए घर में एक कंप्यूटर ले आए।

उस समय तो एलेन को कंप्यूटर चलाना ही नहीं आता था लेकिन एक दिन में ही उन्होंने कंप्यूटर के बारे में सब कुछ पढ़ लिया और फिर प्रोग्रामिंग भी सीख ली थी। प्रोग्रामिंग सीखने के कुछ दिन बाद ही मस्क ने थोड़ी बहुत कोडिंग करके ब्लास्ट नाम का गेम बनाया था फिर इसे एक दूसरी कंपनी को $500 में बेच दिया था।

इनके पढ़ाई में अच्छे होने की वजह से स्कूल के दूसरे बच्चे इनसे जलते थे और मस्क ज्यादा किसी से बात करने में रुचि नहीं दिखाते थे इसलिए काफी बच्चे उन्हें तंग किया करते थे।

एक बार तो 1 बच्चे ने इन्हें परेशान करने के लिए सीडियो से धक्का दे दिया था जिसके बाद इन्हें इतनी चोट लगी थी कि वह 1 सप्ताह तक स्कूल नहीं गए थे। इस घटना के बाद मस्क को सांस लेने में परेशानी होती है और यह परेशानी आज तक उन्हें परेशान करती है।

इन्हें अपनी हाई स्कूल और कॉलेज की पढ़ाई अमेरिका से करनी थी लेकिन किसी वजह से वे ऐसा नहीं कर पाए लेकिन इस समय इनके पिता ने दूसरी शादी कर ली थी।

जिसके कारण एलन के पिता उन्हें अपना समय नहीं दे पा रहे थे इसीलिए आगे की पढ़ाई करने के लिए यह अपनी मां के रिश्तेदारों के घर कनाडा चले जाते हैं और वहां आपने बाकी की पढ़ाई पूरी करते हैं।

कनाडा जाकर इन्होने यूनिवर्सिटी ऑफ़ पेनसिलवेनिया से फिजिक्स में BA की डिग्री और व्हार्टन स्कूल ऑफ़ बिज़नेस से इकोनॉमिक्स (BE) की डिग्री भी प्राप्त की थी। इस तरह से इनकी पढ़ाई काफी अच्छी तरह से कंप्लीट हुई थी।

एलन मस्क के करियर की शुरुआत :-

Musk को तो हमेशा से ही अमेरिका जाना था। इसीलिए कनाडा में अपनी पढ़ाई पूरी कर लेने के बाद बाद के पढ़ाई के लिए इन्होंने अमेरिका यूनिवर्सिटी में एडमिशन लेने की कोशिश की और उस यूनिवर्सिटी का एग्जाम भी पास कर लिया था।

अमेरिका जाने के बाद मस्क की जिंदगी

कॉलेज की पढ़ाई पूरी कर लेने के बाद यह अपनी आगे की पढ़ाई यानी कि पीएचडी करने के लिए अमेरिका चले गए और यही उनके जीवन का टर्निंग प्वाइंट था। इन्होंने अमेरिका के स्टैनफोर्ड यूनिवर्सिटी में पीएचडी करने के लिए एडमिशन लिया था लेकिन वहां जाकर एलेन को इंटरनेट के बारे में जानकारी हुई। इंटरनेट के बारे में जानने के बाद एलन मस्क ने अपना एडमिशन वापस ले लिया और अपने भाइयों के पास चले गए और वहां उनके साथ मिलकर Zip2 कंपनी का निर्माण किया।

Zip 2 की फाउंडेशन की कहानी

इंटरनेट के बारे में सीखने के बाद इन्होंने अपने भाइयों के साथ मिलकर Zip 2 की स्थापना की थी। उनकी ये कंपनी एक न्यूज़ पेपर कंपनी को सिटी गाइड करने का काम करती थी। इस कंपनी में मस्क के शेयर सिर्फ 7% ही थे। इन्होंने बाद में इस कंपनी को 1999 में Compaq को बेच दिया था। कंपनी को बेचने के बाद मस्क को उनके shares के मुताबिक 22 मिलीयन डॉलर्स प्राप्त हुए थे।

X.com की शुरूआत और Paypal का निर्माण

Zip 2 के बाद में एलन मस्क ने X.com नाम की नई कंपनी शुरू की। उन्होंने इस कंपनी को सन 1999 में शुरू की थी। फिर बाद में उन्होंने इस कंपनी का नाम बदल कर इसका नाम PayPal रखा था।

वैसे तो PayPal बहुत अच्छा काम कर रहा था लेकिन इस कंपनी के दो CEO यानी कि ऐलन और बोर्डमेम्बर के आपसी मनमुटाव के कारण बाद में दोनों ने मिलकर इसे बेचने का फैसला ले लिया था।

जिसके बाद दोनों ने इस कंपनी को EBay को बेच दिया जिससे उन्हें 165 मिलियन डॉलर की प्राप्ति हुई।

SpaceX के निर्माण का समय

दो कंपनियों का निर्माण करने के बाद इन्होंने काफी कुछ सीख लिया था और इन्हें अंदाजा हो गया था कि इस फील्ड में कैसे काम किया जाता है! अपने दोनों ही कंपनियों से मस्क को काफी अच्छी तरक्की मिली थी। इसीलिए उन्होने रॉकेट के बारे में सोचा।

साल 2003 में रॉकेट में हाथ जमाने के लिए एलन मस्क सीधे 3 ICBM रोकेट खरीदने के लिए रूस चले गए लेकिन वहां उन्हें एक रॉकेट की कीमत 8 मिलियन डॉलर बताई गई जो कि बहुत ज्यादा थी। रॉकेट की इतनी कीमत सुनने के बाद मस्क ने रॉकेट नहीं खरीदा और वापस चले आए।

वे हमेशा सोचते थे कि रॉकेट काफी महंगा होता है जिसके कारण देश में ज्यादा रॉकेट लॉन्च नहीं किए जाते हैं। उन्होंने सोचा कि क्यों ना रॉकेट को बनाने का खर्च कम कर दिया जाए!

अगर रॉकेट बनने में कम खर्च होगा तो देश से ज्यादा से ज्यादा रॉकेट लॉन्च किए जाएंगे और देश की तरक्की भी होगी।

रॉकेट के खर्च को सोचने के बाद उन्होंने खुद ही रॉकेट बनाने के बारे में सोचा। वैसे तो ऐलन को रॉकेट के बारे में कोई जानकारी नहीं थी इसलिए उन्होंने पहले रॉकेट के बारे में पढ़ाई करनी शुरू कर दी।

किसी टीचर की हेल्प के बिना किताबों से रॉकेट साइंस की पढ़ाई कर ली! जिसे दुनिया की सबसे मुश्किल पढ़ाई मानी जाती हैं। जिसके 1 साल बाद SpaceX कंपनी की शुरुआत की।

कंपनी बनाने के बाद जब मस्क ने अपना पहला रॉकेट लॉन्च किया तब वह कुछ ऊपर जाकर ब्लास्ट हो गया। जिसके बाद मस्क ने फिर से एक बार प्रयास किया और नया रॉकेट बनाकर लॉन्च किया।

लेकिन इस बार भी उन्हें नाकामयाबी ही हाथ लगी और उनका यह रॉकेट भी ब्लास्ट हो गया। रॉकेट बनाने में एलन मस्क के काफी पैसे लग रहे थे जिसके कारण दूसरा रॉकेट लॉन्च के फेल हो जाने से उनके पास पैसे की भी कमी हो गई थी।

लेकिन Elon Musk हार कहां मानने वाले थे उन्होंने फिर से प्रयास किया और फिर से रॉकेट बना दिया। लेकिन इस बार उन्होंने अपने रॉकेट बनाने के खर्च में ज्यादा इन्वेस्ट नहीं किया था जिससे इस रॉकेट के लॉन्च के फेल हो जाने के बाद उन्हें ज्यादा कोई फर्क नहीं पड़ा था। ‌

इन्होंने रॉकेट के बचे हुए पार्ट्स और नए पार्ट को मिलाकर फिर से रॉकेट तैयार की और चौथी बार रॉकेट लॉन्च किया। लेकिन इस बार उनका लांच फेल नहीं हुआ। बल्कि इस बार सफलता उनके हाथ आई।

इस लॉन्च के बाद एलेन ने वह कर दिखाया जो कभी किसी ने सोचा नहीं था मतलब यह है कि एलन मस्क ने बहुत ही कम पैसे में रॉकेट का निर्माण किया।

एक वह समय था! जब सभी लोग एलन के काम को पागलपन और बेवकूफी बताकर उनका मजाक उड़ाते थे और अब नासा खुद द्वारा SpaceX बनाए गए रॉकेट का यूज करती हैं।

Musk ने किया Tesla का फाउंडेशन

एलन मस्क हमेशा ही इंसानों की भलाई के लिए सोचते रहते हैं। जब उन्होंने देखा लोग अंधाधुंध तरीके से नेशनल रिसोर्सेज का उपयोग कर रहे हैं तब उन्होंने अंदाजा लगाया कि एक समय के बाद यह रिसोर्सेस हमेशा के लिए खत्म हो जाएंगे।

इसीलिए उन्होंने ऐसी गाड़ी बनाने के बारे में सोचा जो बिना किसी इंधन से चले और देखने में भी सुंदर हो। इसी कारण उन्होंने इलेक्ट्रिसिटी से चलने वाली गाड़ी का निर्माण किया जो बहुत ही खूबसूरत भी थी। इस गाड़ी को बनाने के लिए मस्क ने Tesla कंपनी की नीव रखी थी।

कैसे Tesla और Solarcity का amalgamation (विलय)

टेस्ला कंपनी में एलन मस्क एक इनवर्टर के तौर पर काम करते थे क्योंकि उन्होंने खुद एक ऐसी चीज के बारे में सोचा जो पहले से इस दुनिया में मौजूद नहीं था उन्होंने इलेक्ट्रिसिटी से चलने वाली गाड़ियों के बारे में ना सिर्फ सोचा बल्कि उन्हें सच करके भी दिखाया था।

इस चीज को ध्यान में रखते हुए उन्होंने 2006 में सोलरसिटी में इन्वेस्ट किया और फिर बाद में सोलर सिटी को तेसला में विलीन कर दिया। जिसके बाद टेस्ला और सोलर सिटी एक ही कंपनी बन गई।

एलन मस्क का पारिवारिक जीवन

मस्क का पारिवारिक और वैवाहिक जीवन अच्छा नहीं था। एलन मस्क ने 2000 में जस्टिन बिल्सोन से शादी की थी। इनके साथ मस्क के 5 बच्चे थे शादी के 8 साल बाद साल 2008 में इन्होंने अपनी पत्नी से तलाक ले लिया था। जिसके बाद इन्होंने फिर से तालुला रियाल नाम की लड़की से साल 2010 में शादी‌ की।

लेकिन उनकी यह शादी भी ज्यादा समय तक नहीं टिक पाई और उनका 2012 में फिर से एक बार डिवोर्स हो गया। क्योंकि ऐलन तालुला रियाल से प्यार करते थे, इसलिए फिर से उन्होंने 2013 में उन्हीं से शादी की।

लेकिन फिर से एक बार 2016 में उनका तलाक हो गया। यही कारण है कि इन्हें कभी भी पारिवारिक सुख का आनंद नहीं मिला। लेकिन एलन अपने बच्चों को बहुत प्यार करते हैं और उनके साथ हमेशा समय बिताते हैं।

Elon Musk के कार्य एवं उनकी कंपनी

मस्क कई बड़ी-बड़ी कंपनियां तो चलाते ही है साथ ही साथ एलन मस्क छोटी छोटी कंपनियों को भी संभालते हैं। इनकी छोटी छोटी कंपनियों में सबसे फेमस कंपनी न्युरालिंक, द बोरिंग कंपनी और स्टारलिंक है।

न्युरालिंक कंपनी के अंतर्गत यह इंसानी दिमाग को विकसित करने पर कार्य कर रहे हैं क्योंकि इनका ऐसा मानना है कि एक समय ऐसा भी आएगा जब कंप्यूटर का राज इंसानों पर होगा इसलिए वह चाहते थे कि इंसान पहले से ही उस दिन के लिए तैयार रहें और उस समय कंप्यूटर का अच्छे से सामना भी कर सकें।

द बोरिंग कंपनी के अंतर्गत एलेन ट्रांसपोर्ट को अपने हाथ में ले रहे हैं उन्होंने ट्रांसपोर्ट को आसान बनाने के लिए 1 tunnel का निर्माण करने का सोचा है और उस पर काम कर रहे हैं। अपनी कंपनी स्टारलिंग की मदद से एलन दुनिया भर में इंटरनेट की सुविधा पहुंचाना चाहते हैं ताकि कोई भी देश शहर गांव इंटरनेट से अछूता न रहे।

कैसे बने एलन मस्क दुनिया के सबसे अमीर आदमी ?

Forbes ने इस साल अमीर आदमियों की जो सूची निकाली थी उस लिस्ट के अनुसार एलन मस्क दुनिया के सबसे अमीर आदमी थे इस लिस्ट को 8 जनवरी 2021 को पास किया गया था। Forbes के अनुसार इनके पास 184 बिलियन डॉलर है।

मस्क से जुड़े कुछ इंटरेस्टिंग फैक्ट्स

Elon से जुड़ी कई सारी ऐसी बातें हैं जो लोग उनके बारे में नहीं जानते हैं ऐसी ही कुछ बहुत ही इंटरेस्टिंग बातें हमने नीचे शेयर किया है –

  • इन्होंने सिर्फ 12 साल की उम्र में ही प्रोग्रामिंग करके ‘Blastar’ नाम का गेम बनाया था और उसे $500 में बेचा था।
  • उन्होंने फिर बाद में Zip2 का निर्माण किया था। उन्होंने अपने इस वेंचर को $307 million में बेच दिया था।
  • जिस पेपाल का इस्तेमाल हम सभी ट्रांजैक्शन करने के लिए करते हैं उसे भी इन्होंने ही बनाया था। ‌
  • एलन सप्ताह में 6 दिन काम करते हैं और संडे का दिन अपने परिवार के साथ बिताते हैं।
  • इन्होंने ना सिर्फ कार के डिजाइन में बदलाव किया है बल्कि उसका फ्यूल तक बदल दिया है। इलेक्ट्रिक कार्स को बनाने के पीछे यही कारण था कि मस्क चाहते थे दुनिया के natural resources की wastage ना हो।
  • मस्क एक बेहद प्रोडक्टिव और क्रिएटिव व्यक्ति है।
  • Elon Musk हमेशा ही first principle की टेक्निक को फॉलो करते हैं।
  • यह अपना काफी समय mind mapping में देते हैं। इससे उनका रूटीन भी काफी अच्छा रहता है।
  • एलन मस्क अपने इतने बुद्धिमान होने की एक वजह Jim Kwik को भी बताते हैं क्योंकि इनकी वजह से उन्होंने दिमाग के बारे में सीखा है और वे इन्हें अपना गुरु भी मानते हैं।
  • मस्क लोगों से बातें करते हुए बातों बातों में उनसे सीखते रहते हैं। ऐसा उनकी कंपनी के इंजीनियर और दूसरे एक्सपर्ट्स कहते हैं।
  • एलन मस्क का यही कहना है कि इंसान को सामने वाले व्यक्ति से वही बात करनी चाहिए जिसमें उसका इंटरेस्ट हो। मतलब यह है कि उनके अनुसार लोगों को बंदर से पेड़ के बारे में और मछली से पानी के बारे में ही बात करनी चाहिए।
  • Musk 5 मिनट rules को फॉलो करते हुए उस मुकाम तक पहुंचे हैं जहां वह आज है!

FAQ

Elon का पूरा नाम क्या है ?

Elon का पूरा नाम Elon Reeve Musk है।

एलन मस्क कौन-कौन सी कंपनियों के मालिक/ CEO हैं ?

मस्क SpaceX, Tesla Inc, Neuralink, Solar City, OPEN AI जैसे बड़ी-बड़ी कंपनियों के मालिक हैं।

एलन मस्क का क्या सपना है ?

एलन मस्क मंगल ग्रह पर इंसानों की बस्ती बसाना चाहते हैं।

यह भी पढ़े

उम्मीद करता हूँ दोस्तों एलन मस्क की जीवनी Elon Musk Biography In Hindi का यह लेख आपको पसंद आया होगा. यदि आपको मस्क की जीवनी के बारे में उनके जीवन परिचय सफलता की कहानी पसंद आई हो तो अपने फ्रेड्स के साथ भी शेयर करें.

अपने विचार यहाँ लिखे