मेरा सबसे प्रिय खिलौना टेडी बेयर पर निबंध Essay On Teddy Bear In Hindi

Hello Welcome, We Providing Information About Teddy Bear In Hindi. Short Essay On Teddy Bear In Hindi Language – मेरा सबसे प्रिय खिलौना टेडी बेयर पर निबंध, My Favourite Toy Teddy Bear Par Nibandh For Class 1, 2, 3, 4, 5.

Essay On Teddy Bear In Hindi – मेरा प्रिय खिलौना टेडी बेयर पर निबंध

मेरा सबसे प्रिय खिलौना टेडी बेयर पर निबंध Essay On Teddy Bear In Hindi

मेरा प्रिय खिलौना टेडी बियर-

मुझे मेरे जन्मदिन के मौके पर मेरे पिताजी ने टेडी बेयर गिफ्ट के तौर पर दिया था और मुझे नहीं पता था कि यही टेडी बेयर एक दिन मेरा सबसे प्रिय खिलौना बन जाएगा। मैंने अपने टेडी बेयर को गोलू नाम दिया है। इसके अंदर भारी मात्रा में रुई भरी गई है। इसलिए यह छूने में बहुत ही नरम है। मेरे प्रिय खिलौना टेडी बेयर का रंग सफेद है, जिसकी नाक काले रंग की है और इसकी आंखों को बनाने के लिए दो बटन का इस्तेमाल किया गया है।

यह इतना बड़ा है कि मैं खुद इसके सामने छोटा लगने लगता हूं। मेरे टेडी बेयर के ऊपर एक लाल रंग की टोपी भी है। इस प्रकार यह देखने में बहुत ही आकर्षक लगता है। रात को जब मैं बिस्तर पर सोने के लिए जाता हूं तब मैं इसे अपने साथ ले कर के ही सोता हूं। जब यह मेरे पास होता है तब मुझे ऐसा लगता है जैसे कोई मेरा रक्षक मेरे साथ सो रहा हो।

जब मेरे दोस्त घर पर खेलने के लिए आते हैं तब हम सभी अपने टेडी बेयर के साथ मिलकर के खेलते हैं। हम लोग जब कहीं पर पिकनिक मनाने के लिए जाते हैं तब मैं अपने टेडी बेयर को अपने साथ में लेकर के जाता हूं। 

हालांकि यह थोड़ा बड़ा है। इसलिए थोड़ी प्रॉब्लम भी होती है, परंतु फिर भी मैं एडजस्ट कर लेता हूं। मैंने अपने टेडी बियर को घर में रखने के लिए एक अलग से ही स्थान बनाया हुआ है, ताकि मुझे यह जब चाहू तब आसानी से मिल जाए और मैं उसके साथ खेल सकूं।

Teddy Bear Essay In Hindi

5 से 12 तक साल तक के बच्चों की आयु को खेल खिलौने की उम्रः कहा जाता हैं. इस उम्रः में बच्चें अपने दोस्तों के साथ खेल खेलने में खूब आनन्द लेते हैं.

Telegram Group Join Now

किसी को डॉली गुड़िया, कंचे, हेलिकोप्टर आदि पसंद होते हैं मगर मेरा प्रिय खिलौना टेडी बीयर हैं, जो मुझे जान से अधिक प्रिय लगता हैं. प्यार से मैंने इसका नाम रोहन रखा हैं क्योंकि रोहन मेरा सबसे अच्छा दोस्त हैं.

जब मेरा दोस्त मेरे साथ नहीं होता तो टेडी रोहन ही मेरा मनोरंजन करता हैं. लाल रंग के बेहद नरम कपड़े का टेडी सुंदर सफेद रंग की टोपी पहने हुए हैं. जो हर पल मेरे साथ ही रहता हैं. रात को भी मुझे इसके बिना नींद नहीं आती हैं. जब पिछले रविवार में बाजार गया तो रोहन के लिए नयें कपड़े भी अपने साथ लाया था.

जहाँ भी मैं जाता हूँ यथा बाजार, मेला, पिकनिक, ननिहाल मेरा रोहन हमेशा साथ चलता हैं. मेरे मम्मी पापा और परिवार के अन्य लोग भी टेडी बीयर रोहन को बहुत पसंद करते हैं.

माँ ने उनके लिए कुछ कपड़े सिले हैं मैं हर वक्त इसका सही ढंग से ख्याल रखता हूँ, रोजाना इसकी साफ़ सफाई करता हैं. इसके बालों को संवारने के लिए एक ब्रश भी लाया, मै अपने टेडी बीयर रोहन से बेहद लगाव रखता हूँ.

टेडी बेयर के इतिहास की एक रोचक कहानी अमेरिकी राष्ट्रपति रुल्वेल्ट से जुड़ी हुई हैं. 26 वें अमेरिकी राष्ट्रपति थियोडोर रूजवेल्ट 14 नवम्बर 1902 को मिसिसिपी में शिकार करने के लिए निकलें.

राष्ट्रपति के सहयोगियों ने उनके शिकार के काम को आसान करने के लिए एक भालू (बिअर) को एक पेड़ से बाँध दिया. जब रूजवेल्ट की नजर उस पर पड़ी तो उन्होंने मजबूर जानवर का शिकार करने से इंकार कर दिया.

उन्होंने उस भालू को जीवित छोड़ उसका एक चित्र उतार लिया. इसी घटना को एक कार्टूनिस्ट ने अखबार में कार्टून बनाकर लगा दिया. इस कार्टून पर एक टॉफी बेचने वाले यहूदी मिकटॉम की नजर पड़ गई.

मिकटॉम अपनी पत्नी के साथ मिलकर रात में टॉफियाँ और सॉफ्ट टॉय बनाता था, जिसे दिन में बाजार में बेचता था. उसने उसी कार्टून को आधार बनाकर कपड़े का एक भालू बनाया और इसका नाम टेडी बियर रखा.

क्योंकि रुक्वेल्ट का निक नेम भी टेडी था और उन्होंने भालू यानी बियर को बचाया था. बेहद हल्का फुल्का और क्यूट होने के कारण टेडी बियर दुनिया में बहुत लोकप्रिय हुआ और यह मेरा भी प्रिय खिलौना हैं.

यह भी पढ़े

उम्मीद करता हूँ दोस्तों Essay On Teddy Bear In Hindi का यह लेख आपकों पसंद आया होगा. टेडी बियर के बारे में दी गई जानकारी आपकों पसंद आई हो तो इसे अपने दोस्तों के साथ भी शेयर करें.

Leave a Comment