वीडियो गेम पर निबंध – Essay On Video Games In Hindi

वीडियो गेम पर निबंध – Essay On Video Games In Hindi: इन्टरनेट और तकनीकी की दुनिया में आज हर किसी के पास डिजिटल उपकरण जैसे – स्मार्टफ़ोन, कंप्यूटर, लैपटॉप और अन्य उपकरण मिल जाते हैं. तकनीकी पर आधारित इन उपकरणों के सैकड़ो उपयोग होते हैं. मनोरंजन के लिए इन इलेक्ट्रोनिक्स उपकरणों के माध्यम से स्क्रीन पर खेल खेला जाता हैं, जिसे विडियोगेम्स कहा जाता हैं.

वीडियो गेम पर निबंध – Essay On Video Games In Hindi

वीडियो गेम पर निबंध - Essay On Video Games In Hindi

इस विडियो गेम निबंध में हम यह जानेंगे कि विडियो गेम क्या होता हैं और इसके फायदे-नुकसान क्या हैं? इसके साथ इस निम्बंध में हम यह भी जानेंगे कि कैसे तकनीकी के ये उपकरण हमारे लिए समस्या बन रहे है और इनका भविष्य क्या हैं?

विडियो गेम्स क्या होते हैं?

विडियो गेम एक इंटरैक्टिव डिजिटल मनोरंजन हैं, जिसको हम गेम कंसोल(प्लेस्टेशन) जैसे – कंप्यूटर, टैबलेट, मोबाइल फ़ोन से चलाते या खेलते हैं.

क्या आपको पता हैं कि विडियो गेम को हिंदी में क्या कहा जाता है? विडियो गेम को हिंदी में चलचित्र खेल कहते हैं.

मनोरंजन के इस साधन में शारीरिक सक्रियता की महत्वपूर्ण भूमिका नहीं रहती हैं. क्योंकि विडियो गेम को दिमागी कुशलता और हाथो के नियंत्रण से खेला जाता हैं.चलिए अब हम विडियो गेम के कुछ महत्वपूर्ण पहलुओं पर प्रकाश डालते हैं.

Telegram Group Join Now

वीडियो गेम का आविष्कार किसने किया

अक्टूबर 1950 में, भौतिक विज्ञानी Josef Kates ने सबसे पहले विडियो गेम को बनाया था. सबसे पहला विडियो गेम बर्टी द ब्रेन(Bertie the Brain) गेम था. यह विडियो गेम टिक-टोक-टोई केटेगरी का था. यहाँ पर कुछ सबसे पहले बनने वाले विडियो गेम की लिस्ट हैं.

  1. पहला विडियो गेम बर्टी द ब्रेन(Bertie the Brain) था. 1950, टिक-टोक-टोई केटेगरी.
  2. दूसरा विडियो गेम टेनिस फॉर टू(Tennis for Two) था. 1958, स्पोर्ट्स केटेगरी.
  3. तीसरा विडियो गेम स्पेसवार(Spacewar) था. 1962, स्पेस फाइटिंग केटेगरी.
  4. चौथा विडियो गेम कंप्यूटर स्पेस(Computer Space) था. 1971, कंप्यूटर पर पहला विडियो गेम, स्पेस फाइटिंग केटेगरी.
  5. पांचवा विडियो गेम गैलेक्सी गेम(Galaxy Game) था. 1971, स्पेस सिमुलेशन केटेगरी.
  6. छठा विडियो गेम मैग्नावोक्स ओडिसी(Magnavox Odyssey) था. 1972, इसमें अलग अलग 12 विडियो गेम थे, यह सबसे पहला होम विडियो गेम था.

इन विडियो गेम के बीच कुछ और गेम भी बने थे लेकिन वे सफल नहीं रहे. सबसे पहला सफल विडियो गेम टेनिस फॉर टू था.

विडियो गेम को बनाने की शुरूआती दौर बहुत कठिन भरा रहा, लेकिन जैसे जैसे तकनीकी के कदम बढ़ते गए वैसे वैसे इनमे सुधार होता गया. आज विडियो गेम्स अपनी चरम सीमा पर हैं.

विडियो गेम कैसे बनाते हैं

एक विडियो गेम को डिजाईन करके या डेवलेप करके बनाया जा सकता हैं. विडियो गेम के डिजाइनिंग के लिए पहले से मौजूद ढांचों को व्यवस्थित करके एक नया रूप दे दिया जाता हैं.

गेम को डेवलेप करने के लिए कई चरणों से गुजरना होता है. सबसे पहले जिस केटेगरी में गेम बनाया जाता हैं, उस पर रिसर्च की जाती हैं और अवधारणायें बनायीं जाती हैं.

फिर सॉफ्टवेर पर प्रोग्रामिंग करके गेम को तैयार किया जाता हैं. एक बार तैयार होने के बाद उसको टेस्ट किया जाता हैं. टेस्ट सफल होने पर विडियो गेम बनकर तैयार हो जाता हैं.

विडियो गेम के मुख्य उपकरण

जैसा की आप जान गए होंगे की विडियो गेम्स स्क्रीन के अन्दर चलने वाले चित्र और ग्राफ़िक्स होते हैं. विडियो गेम्स के मुख्य स्क्रीन उपकरण – कंप्यूटर, मोबाइल, टेबलेट, लैपटॉप, प्लग ओन टीवी इत्यादि.

कुछ विडियो गेम इन डिवाइस में प्री लोड होते हैं. लेकिन कुछ डिवाइस ऐसे होते हैं, जिनको अलग से लगाया जाता हैं, इनको प्ले स्टेशन कहा जाता हैं. कुछ प्ले स्टेशन जैसे – Nintendo 3DS, PlayStation सीरीज इत्यादि.

एक बार इन प्ले स्टेशन को मोनिटर के साथ जोड़ने पर विडियो गेम को स्टार्ट किया जा सकता हैं.

बढ़ते डिजिटल उपकरणों और इन्टरनेट की क्रांति से लगभग सभी की पहुँच डिजिटल सामग्री तक हो चुकी हैं. इन्टरनेट की क्रांति बहुत पुरानी नहीं हैं. इसलिए डिजिटल सामग्री से पड़ने वाले प्रभावों के कोई विशेष नतीजे निकलकर नहीं आये.

यहाँ पर हम डिजिटल उपकरण, खासतौर विडियो गेम पर विशेषज्ञों की राय क्या हैं और वे किस इसको किस नज़र से देखते हैं? यहाँ विडियो गेम से होने वाले फायदे और नुकसान पर हम विशेषज्ञों की राय रखने जा रहे हैं.

खेलने वीडियो गेम के फायदे

चाहे छोटे बच्चे हो या जवान, जो विडियो गेम खेलते है, उनको अनेक आश्चर्यजनक फायदे होते हैं. जहाँ विडियो गेम बच्चों के कौशल विकास में सहायता करते हैं, वहीँ कुछ हद तक सामाजिक संबंध बनाने में मदद करते हैं. विडियो गेम खेलने वालो की क्रिएटिविटी आम लोगो की तुलना में अधिक होती हैं. यहाँ विडियो वदो गेम खेलने के कुछ फायदे दिए गए है.

दिमाग की क्रिएटिविटी बढती हैं

जो बच्चे विडियो गेम खेलते है, उनके पढने की कुशलता में वृद्दि होती हैं. जब को बच्चा विडियो गमे को खेलता हैं तो स्क्रीन पर आने वाले निर्देशों को समझने की जरुरत होती हैं, अरु इसमें टाइम पीरियड भी कम रहता हैं , तो सब कुछ जल्दी जल्दी करना होता हैं. इसके लिए दिमाग को तेजी से दौड़ाना पड़ता हैं.

एक्शन गेम, माइंड पजल गेम खलने से दिमाग के न्युरोंस खुलते हैं. जो बच्चे पढने के लिए संघर्ष करते हैं, उनको अपनी दैनिक दिनचर्या में विडियो गेम को जरूर जोड़ना चाहिए.

मैपऔर जटिल चीजे जल्दी समझ में आती हैं

कई गेम जैसे Minecraft, Robocraft को आभासी दुनिया में सेट किये गए हैं, इसमें कोई नक्शा नहीं होता हैं, सब कुछ बच्चों  को ही नेविगेट करना होता हैं. इसलिए नयी जगहों को ढूँढना और लक्ष्य तक पहुंचना उनके लिए एक मिशन की तरह होता हैं.

इसका परिणाम यह होता हैं कि इन गेम को खेलने वाले बच्चे अपने आस पास की जगहों को तो बेहतर से समझ पाते हैं, इसके अलावा अनसुलझे रास्तों को भी ढूँढ निकालते हैं. इसलिए दुरी और स्थान की बेहतर समझ हो सकती हैं.

समस्या समाधान(Problem-Solving Skills)

हर विडियो गेम में एक चुनौती होती हैं, कुछ गेम आसानी से समझ में भी नहीं आते. कुछ गेम एक पहेली की तरह होते हैं. प्रत्येक गेम बच्चों के सामने एक समस्या रखता हैं और उसको सुलझाने का मौका देता हैं.

एक्सपर्टस का कहना हैं कि विडियो गेम खेलने वाले के तीन क्षेत्रों में सुधर होता हैं – योजना बनाने में, लचीली सोच रखने में और संघठन बनाने में.

सामाजिक संबंध

कुछ बच्चों को वास्तविक जीवन में दोस्त बनाने में परेशानी हो सकती हैं. ऑनलाइन ऐसे सैकड़ों गेम हैं, जिसमे बच्चे एक कम्युनिटी बनाकर खेलते हैं, और दोस्त की भावना से जुड़े रहते हैं.

विडियो गेम खेलने वाले बच्चों पर किये गए परिक्षण से पता चलता है कि स्कूल में इन बच्चों कि संगीत, ग्रुप डिस्कशन, फिजिकल गेमिंग में रूचि बढ़ जाती है.

इमिनेजेशन पॉवर बढ़ता हैं

रेसिंग गेम्स, पजल सोल्विंग गेम्स में दिमाग को एक कदम आगे दौड़ना पड़ता हैं. विडियो गेम में आगामी ग्राफ़िक्स लोडिंग होते रहते है तो दिमाग को उसके अनुसार चलाना पड़ता हैं. इससे कल्पना करने की शक्ति बढती हैं.

इस बात का प्रमाण भी निकाला गया की विडियो गेम से रचनात्मक शक्ति बढती है. गेम खेलने वाले 12 वर्षीय बच्चों के समूह से क्रिएटिव प्रश्न पूछे गए तो उन्होंने आम बच्चों की तुलना में ज्यादा उत्सुकता दिखाई.

वीडियो गेमिंग में करियर

लगातार विडियो गेम में बढती उत्सुकता को देखकर निरंतर नए नए विडियो गेम का निर्माण हो रहा हैं. ऐसे बच्चे जो शुरू से ही इस गेमिंग क्षेत्र में माहिर होते है, वे भी इस फील्ड में कोडिंग, प्रोग्रामिंग सीखकर नए गेम को बना सकते हैं. यह करियर का उभरता हुआ क्षेत्र हैं.

वीडियो गेम के नुकसान

हर किसी पहलु के एक सीमा तक फायदे होते हैं, विडियो गेम पर भी यही बात लागु होती हैं. यहाँ पर हमने विडियो गेम के कुछ फायदे बताये हैं, लेकिन यह कोई ख़ुशी की बात नहीं हैं. विडियो गेम से जितने फायदे होते हैं, उससे अधिक नुकसान हैं.

आज कल के बच्चे विडियो गेम के आदि हो चुके हैं. उनको न तो बैठने की पोजीशन का ध्यान रहता हैं, न आँखों की फ़िक्र. विडियो गेम की खोज भले ही पुरानी हो लेकिन इसके प्रभाव में आये हुए मुश्किल से दस वर्ष हुए होंगे.

इसलिए अभी तक इसके कोई खास दुष्प्रभाव सामने नहीं आये हैं. लेकिन जैसे जैसे कुछ आंकड़े और मेडिकल नतीजे सामने आ रहे है, उसके अनुसार यह एक गंभीर समस्या हैं.

यहाँ मोबाइल पर गेम खेलने के नुकसान दिए गए हैं, जो की आने वाले समय में गंभीर समस्या बनने वाले हैं.

विडियो गेम की लत लगना

अक्सर जब कोई विडियो गेम खेलता हैं तो उसको आनंद महसुस होत्ता हैं. इसका मुख्य कारण यह हैं कि जब कोई विडियो गेम खेलता हैं तो उसके दिमाग से एक हार्मोन(न्यूरोट्रांसमीटर) डोपामाइन जारी होता हैं.

लम्बे समय तक अनियमित तरीके से विडियो गेम खेलने पर डोपामाइन के जारी होने कि गति अनियमित हो जाती हैं. ऐसे में जब कोई विडियो गेम्स से दूर होता हैं तो उसका मन दूसरी चीजों में नहीं लगता हैं.

इस स्थिति में जब कोई विडियो गेम को छोड़ने कि कोशिश करता हैं तो उसका मन दुसरे प्लेटफार्म जैसे सोशल मीडिया, YouTube या कुछ स्क्रॉलिंग करने की तरफ आकर्षित होता हैं. इस प्रकार विडियो गेम कि लत एक गंभीर मानसिक समस्या है.

मोटिवेशन में कमी

विडियो गेम में मिलने वाली चुनौतियां और जीवन कि सच्चाई में बहुत बड़ा फर्क होता हैं. विडियो गेम में मिलने वाले मिशन का एक निश्चित पैटर्न होता हैं जो एक या दो प्रयास में पूरे हो हो जाता हैं. लेकिन, हकीकत में ऐसा नहीं होता हैं. वे बच्चे, जो गेम कि भावनाओं में ही खोये हुए रहते है, वे जीवन कि सच्चाई को समझ ही नहीं पाते हैं.

इस प्रकार विडियो गेम जीवन में प्रेरणा की कमी लाता हैं, जिसके कारण जीवन में आने वाली समस्याओं से निपटारा करने में दिक्कत होती हैं.

भावनाओं पर नकारात्मक प्रभाव(एलेक्सिथिमिया)

जब हमारा दिमाग भय, चिंता, शर्म जैसी नकारात्मक भावनाओं को महसूस करता हैं तो दिमाग में एमिग्डाला सक्रिय हो जाता हैं.

एमिग्डाला दिमाग का वह हिस्सा हैं जो नकारात्मक भावनाओं को शांत करता हैं. एफएमआरआई की रिसर्च यह कहती हैं कि जब कोई बच्चा इस स्थिति में गेम खेलना शुरू करता हैं तो एमिग्डाला शांत हो जाता हैं.

एमिग्डाला का स्त्रावित होना बहुत जरूरी हैं, अगर एमिग्डाला जारी होना बंद हो जाये तो कोई भावनाओं को समझ ही नहीं पायेगा.

इसलिए गेम खेलने वाले कुछ बच्चों का बर्ताव बदल जाता हैं.

लम्बे समय तक इस स्थिति से गुजरने पर एलेक्सिथिमियानाम नाम की स्थिति पैदा हो सकती हैं. एलेक्सिथिमिया एक एसी स्थिति हैं जिसमें किसी को अपनी भावनाओं का निर्धारण करने में कठिनाई आती हैं.

विडियो गेम का स्वास्थ्य पर प्रभाव

इस वक्त विडियो गेम की प्रथम पीढ़ी चल रही हैं, इसलिए इसके भयानक नतीजे अभी तक सामने नहीं आये हैं. स्थिति को देखकर इस बात का अंदाज़ा लगाया जा सकता हैं कि आने वाला भविष्य क्या होगा.

जो बच्चे एक निश्चित पोजीशन में बैठकर लगातार विडियो गेम खेलते हैं, उनके अंगूठे, कलाई, बाजु, कोहनी, गर्दन, कमर प्रभावित हो सकती हैं.

भले ही यह इनके प्रभाव शीघ्र देखने को नहीं मिले, लेकिन सच्चाई यहीं हैं कि बहुत जल्दी ही प्रभाव में आयेंगे.

एक लम्बे विडियो गेम के सेशन के बाद दूसरी जगहों पर फोकस करना मुश्किल हो जाता हैं.

लम्बे समय तक कंप्यूटर पर बैठने से न्यूरोमस्कुलोस्केलेटल सिस्टम में बदलाव आ जाता हैं. इसके प्रभाव में गर्दन झुक जाती हैं, और भविष्य में पीठ दर्द की समस्या का खतरा बढ़ जाता हैं.

समाज से सम्बन्ध टूटना

बहुत सारे गेम जिसमे बच्चे मल्टीप्लेयर या ग्रुप गेमिंग करते हैं, लेकिन इसको सामाजिकता नहीं कहा जा सकता. डिजिटल उपकरणों में व्यस्त रहने से लोगो का आपस में मिलना-जुलना इतना कम हो गया हैं कि लोग ठीक से उनको भी नहीं पहचान नहीं पाते हैं जो उनके आस पास रहते हैं.

समाज से सम्बन्ध टूटने पर एक बच्चे का सही मायने में विकास नहीं होगा, यह किसी भी तरह से ठीक सन्देश नहीं हैं.

ऊपर हमने आपको विडियो गेम से होने वाले फायदे और नुकसान के बारें में बताया. हमें पूरा भरोसा हैं कि आप अच्छे से समझ गए होंगे. अभी आपके दिमाग में के सवाल चल रहा होगा कि हमें विडियो गेम खेलने चाहिए या नहीं?

इस सवाल के साथ एक सवाल को और जोड़ा जा सकता हैं, हमें किस प्रकार के गेम खेलने चाहिए और किस प्रकार के गेम नहीं खेलने चाहिए?

हमें किस प्रकार के विडियो गेम खेलने चाहिए

एक गेम आपकी लाइफस्टाइल को बदल सकता हैं. इसलिए आप कौनसे विडियो गेम्स खेल रहे हैं, इसका चयन बड़ी सावधानी पूर्वक करें. अपनी स्किल्स और हॉबी के अनुसार अपने लिए बेस्ट गेम का चयन करे.

एडवेंचर, स्पोर्ट्स, पजल गेम्स, एजुकेशनल क्विज अच्छे साबित हो सकते हैं, अगर इनको उचित और दैनिक गतिविधियों के साथ खेला जाए.

किस प्रकार के विडियो गेम नहीं खेलने चाहिए

जुए, छटा, ताशवाले गेम कभी नहीं खेलने चाहिए. जिस गेम को खेलने के लिए लालच दिखाया जाता हैं, उनको कभी नहीं खेले. अपनी कमाई का पैसा लगाकर किसी भी गेम को नहीं खेले.

बहुत गेम ऐसे होते हैं जो मन में हिंसात्मक भाव उत्पन्न करते हैं, उनकी तरफ कभी मत जाइये.

आपने क्या सीखा…ESSAY ON VIDEO GAMES IN HINDI

विडियो गेम्स एक तरह से ड्रग्स हैं, जितना कम उपयोग में लायेंगे उतना ही अच्छा रहेगा. जितना अधिक उपयोग में लोंगे उतना ही साइड इफ़ेक्ट करेंगी.

विडियो गेम्स मनोरंजन, नयी स्किल्स डेवलेप करने का एक अच्छा माध्यम हो सकता हैं. विडियो गेम पर निबंध में हमने आपके सामने बहुत सारे पहलु रखे. हमें आशा हाँ कि आपको सभी बिंदु अच्छे से समझ आये होंगे. अगर आपको यह यह निबंध  जानकारी पूर्ण लगा हो तो इसको आगे शेयर करे.

यह भी पढ़े

Leave a Comment