गुरमीत राम रहीम की जीवनी | Gurmeet Ram Rahim Biography in Hindi

गुरमीत राम रहीम की जीवनी | Gurmeet Ram Rahim Biography in Hindi गुरमीत सिंह राम रहीम भारत में विवादों से जुड़ा हुआ एक बड़ा नाम है। वर्तमान समय में यह किसी परिचय के मोहताज नहीं इनके बारे में लगभग भारत का बच्चा-बच्चा जानता है। पिछले कई महीने जेल में अपना जीवन बिताने वाले गुरमीत रामरहीम का वास्तविक जीवन क्या है, और खुद को अध्यात्मिक लीडर के साथ-साथ एक अभिनेता और एक सिंगर के तौर पर देखने वाले गुरमीत रामरहीम असल ज़िंदगी में क्या है, किस कारण से वह इस समय सलाखों के पीछे हैं। इन सभी के पीछे वजह क्या है? आइए उनसे जुड़ी हुई सभी बारीकियों के बारे में आपको बताते हैं आपको बताते हैं। इस लेख में आप जानेंगे गुरमीत रामरहीम के बचपन से लेकर अब तक के उन सभी कृतज्ञो के बारे में, उनकी असल जिंदगी के बारे में, जिससे आप पूरी तरह से अनजान है, तो चलिए शुरू करते हैं, बिना समय गवाएं।

गुरमीत राम रहीम की जीवनी | Gurmeet Ram Rahim Biography in Hindi

गुरमीत राम रहीम की जीवनी Gurmeet Ram Rahim Biography in Hindi
नामगुरमीत राम रहीम
जन्म15 अगस्त 1967
जन्म स्थानराजस्थान
मातानसीब कौर
पितामगहर सिंह
विवाहहरजीत कौर
पुत्र/पुत्रीहनीप्रीत और (not know)
राष्ट्रीयताभारतीय
धर्मसिक्ख धर्म
पेशाआध्यात्मिक गुरु, फिल्म कला निर्देशक

गुरमीत राम रहीम का जन्म साल 1967 में 15 अगस्त को राजस्थान में हुआ था। राम रहीम का जन्म गंगानगर जिला के श्री गुरुशर मोइडा नामक गांव में हुआ था। रामरहीम के माता का नाम नसीब कौर और पिता का नाम मगहर सिंह है।

इनके पिता जी अपने प्रांत के एक बड़े जमींदार के रूप में जाने जाते थे। गुरमीत रामरहीम की प्रारंभिक पढ़ाई भी श्री गुरु सर मोईदा गांव के एक छोटे से विद्यालय में हुई। 

गुरमीत सिंह राम रहीम का परिवार

गुरमीत रामरहीम के परिवार में इनके अलावा इनकी पत्नी हरजीत कौर और इनके तीन बच्चे और एक बच्ची भी है, गुरमीत रामरहीम इन सभी नामों के अंत में अपने पिता द्वारा हासिल की गई “इंसा” की उपाधि लगाते थे। 

एक संत के रूप में गुरमीत राम रहीम का शुरुआती जीवन

गुरमीत रामरहीम ने सबसे पहले 23 सितंबर साल 1990 को शाह सतनाम के द्वारा किए गए एक आयोजन में औपचारिक रूप से सार्वजनिक मंच पर खुद को एक संत होने की उपाधि धारण की। और सबसे पहले यहीं से इन्हें गुरमीत सिंह से गुरमीत रामरहीम का नेतृत्व सौंपा गया। 

डेरा सच्चा सौदा से गुरमीत राम रहीम का संबंध-

गुरमीत रामरहीम डेरा सच्चा सौदा नाम से एक संस्था भी चलाते थे। इस संस्था के माध्यम से आम तौर पर कई तरह के सामाजिक कार्यक्रमों का आयोजन किया जाता रहा था।

इस संस्था द्वारा संचालित सामाजिक कार्यक्रमों में विभिन्न तरह के कार्य जैसे रक्तदान शिविर, साफ-सफाई प्रोग्राम, सार्वजनिक तौर पर वृक्षारोपण कार्यक्रम, किन्नरों और वेश्याओं के लिए उचित एवम कल्याणकारी  कार्य किए जाते थें। गुरमीत रामरहीम को प्रशासन के तरफ से उच्च स्तर की सुरक्षा भी प्राप्त थीं। 

परंतु इन सब के बावजूद भी गुरमीत रामरहीम  कई तरह के क्रिमिनल्स केसों में फंसते रहे हैं। फिलहाल इन पर बलात्कार और यौन शोषण के आरोप में अदालत में केस भी चल रहे हैं।

अब हम आगे आपको बताएंगे गुरमीत रामरहीम से संबंधित सभी विवादों और इन पर दर्ज मुकदमों के बारे में। आइए अब राजनीति में उनकी रुचि के बारे में आपको बताते हैं।

गुरमीत राम रहीम का राजनीति से संबंध

गुरमीत रामरहीम राजनीति से भी गहरा संबंध रखते हैं। रामरहीम का पंजाब के मालवा क्षेत्र में हमेशा से राजनीतिक दबदबा रहा है। 2014 के हरियाणा विधानसभा चुनाव में गुरमीत रामरहीम को भारत की सबसे बड़ी रूलिंग पार्टी और तत्कालिक सत्ताधारी पार्टी भारतीय जनता पार्टी का समर्थन भी मिला था।

इसके बाद साल 2015 में दिल्ली में हुए विधानसभा चुनाव में रामरहीम ने भारतीय जनता पार्टी को खुलकर समर्थन किया था, और दिल्ली में अपने बीस लाख से भी अधिक समर्थक बताए थे, और “भारतीय जनता पार्टी का दिल्ली में सरकार बनेगी” ऐसा दावा किया था, परंतु ऐसा हुआ नहीं और भारतीय जनता पार्टी पूरी दिल्ली में महज 3 सीटें ही जीत पाई थी।

इसके बाद बिहार में हुए विधानसभा चुनाव में भी गुरमीत राम रहीम ने भारतीय जनता पार्टी के समर्थन में अपने 3000 से भी अधिक डेरा सदस्यों को पूरे बिहार भर में भारतीय जनता पार्टी के प्रचार प्रसार के लिए उतार दिया था। परंतु बिहार में भी भारतीय जनता पार्टी को गुरमीत रामरहीम का कोई फायदा नहीं हुआ और यहां भी भारतीय जनता पार्टी चुनाव हार गई। 

गुरमीत राम रहीम का फिल्मों और गानों से संबंध

गुरमीत रामरहीम की फिल्मों और गाना में भी काफी रुचि थी। आमतौर पर लोग उन्हें फिल्मों के निर्देशक के तौर पर भी जानते थे। गुरमीत रामरहीम बाबा फिल्म में बतौर ऐक्टर तो रोल नहीं करते थे, परंतु वह अपनी निर्देशन के फिल्मों में गानों को आवाज जरूर देते थे। आइए हम आपको बताते हैं कि गुरमीत रामरहीम किन-किन फिल्मों में गाना किए हैं।

  1. साल 2015 में सबसे पहले MSG इसके बाद MSG.2 इन दोनों मूवी में गुरमीत राम रहीम ने गाना बनाया हैं।
  2. इसके बाद वर्ष 2016 में भी गुरमीत राम रहीम ने MSG: द वॉरियर लॉयन हार्ट मूवी में गाना गाया है 
  3. इसके बाद साल 2017 में गुरमीत राम रहीम ने अपने द्वारा निर्देशित एक फिल्म जिसका नाम था ‘हिंद का नापाक के जवाब’ में भी गाना गाया।

डिस्कोग्राफी

  1. Thank you for that नाम की डिस्कोग्राफी से साल 2012 में गुरमीत राम रहीम ने अपनी डिस्कोग्राफी कैरियर की शुरुआत की थी। 
  2. इसके बाद साल 2012 में है नेटवर्क तेरे लव का नाम की दूसरी डिस्कोग्राफी भी और फिर चश्मा तेरे यार का नाम की तीसरी डिस्कोग्राफी भी अपने ही कंपोजीशन में राम रहीम के द्वारा रिलीज की गई।
  3. इन सभी डिस्कोग्राफी में बतौर म्यूजिक कंपनी यूनिवर्सल म्यूजिक ही थी।
  4. इसके बाद साल 2013 में रिलीज की गई लव रब से नाम की डिस्कोग्राफी को भी राम रहीम ने अपने ही कंपोजीशन और आवाज से सजाया था। इस डिस्कोग्राफी में भी बतौर म्यूजिक कंपनी एनिवर्सरी म्यूजिक ही थी।
  5. इसके बाद साल 2014 में भी रिलीज की गई डिस्कोग्राफी हाईवे लव चार्जर को भी गुरमीत राम रहीम ने ही अपने कंपोजीशन और आवाज से सजाया था। और इसमें भी बतौर म्यूजिक कंपनी यूनिवर्सल म्यूजिक ही थी।

अवॉर्ड्स

  1. साल 2016 में गुरमीत राम रहीम को अपनी मूवी MSG के लिए Best Actor, Best Director और Best script Writer का अवार्ड से सम्मानित किया गया।
  2. इसके अलावा इन्हें IFPI की ओर से भी 4 प्लैटिनम प्लॉक से सम्मानित किया गया था।
  3. वर्ष 2016 में ही गुरमीत राम रहीम को इनके द्वारा किए गए सामाजिक कार्यों के लिए जायंट इंटरनेशनल अवार्ड से सम्मानित किया गया था।
  4. 6 फरवरी 2017 को गुरमीत राम रहीम को महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस द्वारा Most Versatile Personality of the Year के साथ साल के Best Actor का अवॉर्ड भी प्राप्त हुआ।

गुरमीत सिंह राम रहीम का विश्व रिकॉर्ड

राम रहीम के नाम पर कई वर्ल्ड रिकॉर्ड भी दर्ज हैं। गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड के अनुसार राम रहीम के कुछ ऐसे कारनामे है जो विश्व भर में इनका कद ऊंचा करता हैं। तो आइए राम रहीम के द्वारा बनाए गए वर्ल्ड रिकॉर्ड से आपको परिचित कराते हैं।

  1. पूरे विश्व भर में एक साथ सबसे अधिक तेल के दीए जलाने का रिकॉर्ड गुरमीत राम रहीम के नाम पर दर्ज है। 23 सितंबर साल 2016 को राम रहीम द्वारा आयोजित एक कार्यक्रम में लगभग 15 लोगों ने हिस्सा लिया था और इस कार्यक्रम के दौरान ही ये दिए जलाए गए थें, जिसमे कुल लैंप्स की संख्या 1,50,009  थीं। 
  2. विश्व भर में सबसे बड़ी फिंगरपेंटिंग का रिकॉर्ड भी बाबा राम रहीम और शाह सतनाम ग्रीन एस वेलफेयर फोर्स विंग के नाम पर ही है। इनके द्वारा बनाई गई फिंगर पेंटिंग का कुल क्षेत्रफल लगभग 3900 वर्ग मीटर थीं।
  3. विश्व का सबसे बड़ा वेजिटेबल मस्जिद का रिकॉर्ड बाबा राम रहीम के नाम पर ही दर्ज है। संत राम रहीम के वेजिटेबल मस्जिद का कुल क्षेत्रफल 07 वर्गमीटर हैं।

गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड के साथ ही एशिया बुक ऑफ रिकॉर्ड में भी बाबा राम रहीम ने अपने परचम लहराए है। बाबा राम रहीम ने अपनी एक फिल्म ‘हिंद का नापाक को जवाब MSG लॉयन हार्ट 2’ मैं लगभग 43 भूमिकाओं और दायित्व के लिए रिकॉर्ड बनाया है। 

सिक्खों से विवाद

गुरमीत राम रहीम का सिक्खों से काफी गहरा विवाद रहा है। 12 साल मई 2007 में सिक्खों के दसवें गुरु श्री गुरु गोविंद सिंह की नकल करते हुए रामरहीम ने उनके कॉस्टयूम और कलगी आदि को धारण करके सिक्ख धर्म मानने वालों की धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंचाया था। 

गौरतलब है कि उसी वर्ष 16 जुलाई को सिक्खों की एक भीड़ ने रामरहीम पर हमला कर दिया था हालांकि बिना मार खाए उस हमले से बचकर रामरहीम भागने में कामयाब रहे। इस घटनाक्रम के बाद रामरहीम ने सार्वजनिक तौर पर अपने द्वारा किए गए कृतज्ञ के लिए सभी सिक्ख समुदाय के लोगों से क्षमा याचना की थी।

इन सबके बावजूद भी वर्ष 2009 में गुरमीत सिंह रामरहीम पर सिक्ख धर्म के लोगों पर धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंचाने के आरोप में अपराधिक मामला दर्ज कर लिया गया।

यह मामला साल 2009 में सिरसा के कोर्ट तथा साल 2014 में भटिंडा के कोर्ट में दर्ज किया गया। और इस मामले के बाद से डेरा समर्थकों और सिक्ख समुदाय के लोगों के बीच तनाव का पैदा होना तो औपचारिक ही था। 

हालांकि साल 2008 में ही 2 फरवरी को रामरहीम के दल पर सिक्खों द्वारा विस्फोटक चीजों से हमला किया गया जिसमें लगभग एक 11 लोग घायल हुए थे। बाद में हालांकि इस घटना के लिए जिम्मेदार ‘खालिस्तान लिबरेशन फोर्स’ से संबंधित लोगों को गिरफ्तार भी किया गया था। 

इस तरह अनगिनत अपराधिक मामलों में संत रामरहीम ने अपनी उपस्थिति दर्ज कराई है परंतु किसी भी मामले में अभी तक कोर्ट द्वारा किसी भी प्रकार की कोई सजा ना आने की वजह से रामरहीम अपने समर्थकों के दिलों में अपने लिए जगह बनाए हुए थें। 

परंतु 25 अगस्त 2017 को वह अपने डेरा सच्चा सौदा में यौन शोषण बलात्कार, हत्या जैसे संगीन मामलों में दोषी करार किए गए थे।

28 अगस्त 2017 को एक अदालत द्वारा उन्हें 10 वर्ष कैद की सजा सुनाई गई हैं, तथा उपरोक्त मामलों में याचिकाकर्ता दोनों साध्वियों को 14–14 लाख रूपए देने को कहा गया हैं। यहां नीचे हम आपको गुरमीत रामरहीम द्वारा किए गए अपराधों और दर्ज मुकदमों के बारे में बता रहे हैं।

राम रहीम पर दर्ज अपराधिक मामले

गुरमीत रामरहीम के ऊपर अब तक अनगिनत अपराधिक मामले दर्ज हो चुके हैं इनमें हत्या और बलात्कार से संबंधित मामले भी शामिल हैं। तो आइए अब हम आपको गुरमीत रामरहीम पर दर्ज एक-एक करके सभी अपराधिक मामलों का वर्णन करते हैं।

  1. सबसे पहले वर्ष 2002 में ही इन पर इनके ही संस्था की एक साध्वी द्वारा इनके ऊपर यौन उत्पीड़न का आरोप लगाया गया था। उस समय यह मामला काफी हाईलाइट हुआ था, और तत्कालीन प्रधानमंत्री अटल बिहारी बाजपेई तक यह मामला पहुंच गया था। हालांकि प्रधानमंत्री तक इससे एक गुमनाम चिट्ठी द्वारा पहुंचाया गया था।
  1. गुरमीत रामरहीम पर उन्हीं के एक साथी रणजीत सिंह की हत्या का भी आरोप है। और इस हत्या का पड़ताल कर रहे एक पत्रकार की हत्या का भी आरोप रामरहीम पर ही हैं।
  1. साल 2014 में अचानक से हड़कंप मच गया जब डेरा सच्चा सौदा में उपस्थित लगभग 400 से अधिक लोगों ने रामरहीम पर यह आरोप लगाया कि उन्हें इस डरे में जबरदस्ती नपुंसक बना दिया गया है।
  1. वर्ष 2014 में ही रामरहीम पर यह आरोप लगाया गया था कि वह अपने आश्रम में आए अनुयायियों को हथियार चलाने का भी प्रशिक्षण दे रहे हैं।
  1. इन सभी मामलों के अलावा गुरमीत रामरहीम का फकीरचंद में भी हाथ होने का आरोप भी लगाया गया था। 

गुरमीत रामरहीम से जुड़ी ताजा खबरें

गुरमीत रामरहीम के मामले में वर्तमान में सीबीआई के स्पेशल कोर्ट ने रामरहीम की सजा को 18 अक्टूबर तक टाल दिया है। पहले इसपर 12 अक्टूबर को फैसला होना था, परंतु कुछ निजी कारणों की वजह से इसे 18 अक्टूबर तक टाल दिया गया हैं।

हाल के दिनों में रामरहीम ने अपनी बीमार मां से मिलने के लिए 21 दिन के पैरोल की अर्जी की थी। परंतु रामरहीम को सिर्फ 1 दिन कि पैरोल ही मंजूर की गई और वह भी गुप्त रूप से।

रामरहीम अपने अब तक की सजा के दौरान कई बार पैरोल की अर्जी कर चुका है परंतु उनकी कोई भी पैरोल अब तक मंजूर नहीं की गई।

यह भी पढ़े

तो दोस्तों गुरमीत राम रहीम की जीवनी Gurmeet Ram Rahim Biography in Hindi के जीवन से संबंधित यह लेख कैसा लगा, हमें नीचे कमेंट बॉक्स में बताएं। और अगर रामरहीम से संबंधित कोई जानकारी शेष रह गई हो, तो हमें जरूर बताएं हम उसे अपडेट करने की पूरी कोशिश करेंगे और अगर आपको हमारा यह आर्टिकल अच्छा लगा हो, तो इसे अपने दोस्तों के बीच शेयर करना ना भूले।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *