हल्दी दूध के फायदे, उपयोग और नुकसान | Turmeric Milk Benefits In Hindi

हल्दी दूध के फायदे, उपयोग और नुकसान | Turmeric Milk Benefits In Hindi हमारे घरों में छोटी बड़ी शारीरिक समस्याओं के समाधान के लिए दादी नानी के नुस्खे आदि काल से इस्तमाल किये जाते रहे हैं. ऐसा ही एक प्रयोग हल्दी दूध का हैं, जो भले ही स्वाद में बेहद प्रिय न हो मगर इसके इतने सारे गुण और फायदे हैं कि हमें कई बीमारियों से लड़ने में यह मदद करता है तथा शरीर की आवश्यकताओं को पूरा करने वाली यह एक औषधीय बूटी की तरह काम करता हैं.

हल्दी दूध के फायदे, उपयोग और नुकसान | Turmeric Milk Benefits In Hindi

हल्दी दूध के फायदे, उपयोग और नुकसान | Turmeric Milk Benefits In Hindi

दूध हमारे शरीर में केल्शियम की पूर्ति करता है. तथा कई पोषक तत्वों से युक्त होने के कारण अकसर हर उम्र के लोग इसका सेवन करते है. प्रतिदिन एक गिलाश दूध आपकी सेहत को तन्दुरस्त बनाता है, तथा मजबूती भी प्रदान करता है. आपने बहुत से लोगों को हल्दी वाला पीते हुए अवश्य देखा होगा.

बहुत सारे डोक्टर खासी जुकाम और बुखार में रोगी को हल्दी वाले दूध के सेवन की सलाह देते है. हम सुनते है कि स्वास्थ्य के लिए हल्दी मिला दूध फायदेमंद होता है, मगर क्या आप जानते है कि यही सजीवनी रूपी दूध कुछ स्थतियों में जहर का भी काम करता है, नही न चलिए आपकों बताते है कि कब हल्दी के दूध का सेवन करना हानिकारक होता है.

हल्दी वाला दूध स्वास्थ्य के लिए कैसे लाभदायक हैं

अगर बात करें हल्दी के दूध के स्वास्थ्य फायदों की तो इसमें विद्यमान एंटीबायोटिक गुण इसे रोग नाशक बनाता हैं वही कैल्शियम की भरपूर मात्रा और अन्य पोषक तत्व मिलकर शरीर को बीमारियों और संक्रमण से बचाने और ऊर्जा देने वाला भरपूर माध्यम हैं.

हल्दी में पाया जाने वाला करक्यूमिन (Curcumin) कंपाउंड यानी पॉलीफेनोल तत्व कई बीमारियों से लड़ने उन्हें रोकने में बड़ा लाभकारी हैं. हल्दीदूध के सेवन की एक बड़ी समस्या इसका अवशोषण है जो एक जटिल प्रक्रिया के जरिये गुजरता है इसलिए इस दूध के साथ घी और काली मिर्च मिलाने की सलाह दी जाती है जो इसे सुपाच्य बना देता हैं.

हल्दी दूध के फायदे – Benefits of Turmeric Milk in Hindi

अगर आपका शरीर किसी बड़ी बिमारी से ग्रसित नहीं है तो हल्दी दूध का सेवन स्वास्थ्य लाभ और ताजगी के लिए किया जा सकता हैं. खासकर सर्दियों में इसका लाभ लेना चाहिए, पीने का सबसे सही समय रात के भोजन के बाद और सोने से एक घंटा पूर्व माना जाता हैं, इसके गुण और लाभ इस प्रकार हैं.

Telegram Group Join Now

पाचन शक्ति वर्धक

शरीर की पाचन शक्ति को मजबूत बनाने में हल्दी वाला दूध बेहद मददगार साबित होता हैं, यह आँतों और पाचन की क्रिया को सुचारू रूप से काम करने में मदद करता हैं, हल्दी में विद्यमान करक्यूमिन कम्पाउंड एंटी इफ्लेमेटरी का असर दर्शाता है जो आँतों में संक्रमण और बिमारी की सम्भावना को खत्म कर देता हैं.

गाय के दूध में विटामिन बी 12 के अलावा कैसिइन व कैल्सियम होता है जो पाचन से जुडी समस्याओं को खत्म कर उसे मजबूती प्रदान करता हैं. अगर आप किसी तरह की भोजन के पाचन कब्ज और गैस के विकारों से परेशान हैं तो हल्दी के दूध का उपयोग कर सकते हैं.

घुटनों और जोड़ो के दर्द में

व्यक्ति की उम्र बढ़ने के साथ ही शरीर के भिन्न भिन्न भागों के जोड़ों में दर्द ऐठन तथा सूजन की समस्याएं आम हो जाती हैं. हल्दी के दूध में विद्यमान एंटी इफ्लेमेटरी इन समस्याओं को कम करके राहत देने का काम करता हैं. इस दूध को पीने से होने वाले फायदों में एक यह भी हैं, साथ ही आर्थराइटिस के चलते भी जकड़न एवं दर्द को यह दूध कम कर देता हैं.

नींद आने में समस्या

आज के तनावभरे जीवन में भरपूर नींद सभी नहीं ले पाते हैं. सोने के बाद लम्बे समय तक नींद न आना, नींद में खलल बार बार जगने की समस्या को अनिद्रा की समस्या माना जाता हैं. हल्दी के दूध में पाए जाने वाले ट्रिप्टोफैन मेलाटोनिन और करक्यूमिन नामक पोषक तत्व अनिद्रा की समस्या को खत्म कर अच्छी गुणवत्ता की नींद दिलाते हैं जो यकीनन शरीर के स्वास्थ्य वर्धन में सबसे बड़ा नुस्खा साबित होता हैं.

घातक बीमारियों के निदान में कारगर

हल्दी का दूध आज के दौर में सबसे अधिक प्रचलित और जानलेवा तीन बीमारियों कैंसर, मधुमेह और हार्ट की समस्या के लिए रामबाण ईलाज साबित हो रहा हैं, भले ही हल्दी दूध इन बीमारियों के ईलाज के रूप में औषधि नहीं है मगर इसके शुरूआती लक्षण के समय सेवन और स्वस्थ व्यक्ति के सेवन से इन बीमारियों की सम्भावना को कम किया जा सकता हैं.

इस दूध में पाए जाने वाले एंटी फ्लेमेटरी तथा माइक्रोन्यूट्रिएंट और कई बायोएक्टिव घटक कैंसर की सम्भावना को न्यून कर देता हैं. डायबिटीज के रोग में करक्यूमिन तत्व बहुत मददगार साबित होता हैं, यह इन्फ्लेमेशन और ओक्सीडेटिव तनाव को कम कर देता हैं.

अन्य स्वास्थ्य फायदे

हल्दी दूध के अन्य स्वास्थ्य लाभ में अच्छा हड्डी स्वास्थ्य, वजन घटाने बढ़ाने, सर्दी जुकाम, खांसी और ह्रदय रोग, मासिक धर्म दर्द में कमी, अच्छी मेंटल हेल्थ, अच्छी त्वचा और बालों के स्वास्थ्य में भी हल्दी दूध का सेवन बेहद लाभकारी माना गया हैं.

हल्दी दूध के नुकसान – Side Effects of Turmeric Milk in Hindi

हल्दी के दूध में तासीर का गुण पाया जाता है, जो काफी गर्मिला होता है. जो शरीर में जाकर खून को पतला करता है, यही वो मुख्य वजह है जिस कारण हल्दी मिला दूध सभी के लिए लाभकारी नही होता है.

जिन लोगों को पाइल्स और नाक से खून आने की समस्या रहती है, उन्हें विशेष कर इस दूध से दूर ही रहना चाहिए. क्योकिं यह उनके शरीर में जाकर लाभ पहुचाने की बजाय उल्टा नुकसान ही करता है. कुछ विशेष प्रकार की बीमारियों तथा पेट सम्बन्धी समस्या से ग्रस्त लोगों को हल्दी वाले दूध का सेवन करना चाहिए.

यदि आप लम्बे समय से इसका सेवन कर रहे है तो आपकों सावधान हो जाने की जरुरत है तथा इसे बिना चिकित्सक की सहायता के लम्बे समय तक जारी नही रखना चाहिए. इस artical में हम आपकों हल्दी के दूध पीने से लाभ और नुकसान के बारे में बता रहे है. जिनसे आप जान सकेगे कि इसका सेवन किसे करना चाहिए और किन्हें नही.

गॉलब्लैडर

गॉलब्लैडर यानि पित्त पथरी जो पिताशय में होती है. जिन्हें इस प्रकार की समस्या है उन्हें हल्दी के दूध का सेवन बिलकुल नही करना चाहिए. यदि आप ऐसा करते है तो एक बार चिकित्सक से सलाह अवश्य ले. क्युकि यह दूध आपके पित्त पथरी (गॉलब्लैडर) की समस्या को बढ़ा सकता है तथा कोई नई समस्या खड़ी हो सकती है.

यदि गैस और एसिडिटी की समस्या हो तो

हर साधारण व्यक्ति में यह समस्या देखि जा सकती है. लेकिन कुछ में अधिक तो कुछ में इसकी मात्रा कम ही होती है. यदि आप गैस की समस्या से परेशान है हल्दी वाला दूध पीना बंद कर देना चाहिए. यह एसिडिटी की समस्या को और बढ़ा सकता है. न सिर्फ यह स्तर को बढ़ाता है बल्कि एसिडिटी की दवा का असर कम कर देता है. गैस और एसिडिटी अलावा पेट में अल्सर होने पर भी इसे उपयोग में नही लेना चाहिए.

प्रेग्नेंसी पीरियड्स का समय चल रहा है तो नही काम में ले

यह काल अवधि हर स्त्री के लिए होती है. तो उन्हें इस बात का विशेष तौर पर ध्यान रखना चाहिए. गर्म हल्दी का तासीर वाला दूध यूटरस स्टिम्यूलेट के द्वारा कई समस्याओं को जन्म दे सकता है. इसलिए डॉक्टरों द्वारा भी इस बात का विशेष ध्यान देने की सलाह दी जाती है.

blood thinning drugs का सेवन कर रहे है तो हल्दी का दूध ना पीये

खून के गाढ़ापन को कम करने के लिए यदि आप ब्लड क्लॉटिंग का कोई कौर्स ले रहे है. तो इस समय हल्दी का दूध आपके स्वास्थ्य के लिए हानिकारक हो सकता है. यह आपकी दवाई के प्रभाव को कम करने के साथ ही कई साइड इफेक्ट्स को भी जन्म दे सकता है. इसलिए आप यदि रक्त को पतला करने की दवाई का सेवन करते है तो प्लीज बिना डॉक्टर की सलाह के हल्दी वाला दूध न पीये.

हल्दी दूध का पौष्टिक तत्व – Turmeric Milk Nutritional Value in Hindi

यहाँ हम हल्दी वाले दूध में पाए जाने वाले विभिन्न पोषक तत्वों की मात्रा के बारे में जानेगे, यहाँ दिए गये चार्ट के माध्यम से 100 ग्राम हल्दी और करीब 250 मिलीग्राम दूध के मिश्रण में किन किन तत्वों की प्रधानता रहती हैं इन्हें समझने का प्रयास करते हैं.

पोषक तत्वप्रति 100 ग्राम (हल्दी)1 कप दूध (प्रति 244 ग्राम)
पानी12.8 g215 g
ऊर्जा312 kcal146 kcal
प्रोटीन9.68 g8 g
टोटल लिपिड (फैट)3.25 g7.81 g
ऐश7.08 g
कार्बोहाइड्रेट67.1 g11.4 g
फाइबर, टोटल डायटरी22.7 g
शुगर, टोटल इंक्लूडिंग एनआईए (NLEA)3.21 g11.7 g
सुक्रोज2.38 g
कैल्शियम168 mg300 mg
आयरन55 mg
मैग्नीशियम208 mg29.3 mg
फास्फोरस299 mg246 mg
पोटेशियम2080 mg366 mg
सोडियम27 mg92.7 mg
जिंक4.5 mg1 mg
कॉपर1.3 mg0.002 mg
मैंगनीज19.8 mg
सिलेनियम6.2 µg4.64 µg
विटामिन सी, टोटल एस्कॉर्बिक एसिड0.7 µg
थियामिन (विटामिन बी1)0.058 mg0.137 mg
राइबोफ्लेविन (विटामिन बी2)0.15 mg0.337 mg
नियासिन (विटामिन बी3)1.35 mg0.256 mg
पैंथोथेटिक एसिड (विटामिन बी5)0.542 mg
विटामिन बी60.107 mg0.149 mg
फोलेट20 µg
चोलिन49.2 mg43.4 mg
बीटेन9.7 mg
विटामिन ई (अल्फा-टोकोफेरॉल)4.43 mg0.122 mg
विटामिन के (फिलोक्विनोन)13.4 µg0.732 µg
फैटी एसिड, टोटल सैचुरेटेड1.84 g4.54 g
फैटी एसिड, टोटल मोनोअनसैचुरेटेड0.449 g1.68 g
फैटी एसिड, टोटल पॉलीअनसैचुरेटेड0.756 g0.264 g
फैटी एसिड, टोटल ट्रांस0.056 g
फैटी एसिड, टोटल ट्रांस मोनोएनिक0.056 g
विटामिन ए (RAE)78.1 µg
रेटिनाल75.6 µg
कैरोटीन, बीटा17.1 µg
विटामिन डी (डी2+डी3)2.68 µg
कोलेस्ट्रॉल29.3 mg
विटामिन बी121.32 µg

FAQ

किस समय हल्दी दूध का सेवन सबसे अच्छा माना गया हैं?

इसका उपयोग दिन के किसी भी समय किया जा सकता हैं, मगर रात में सोने से पूर्व इसका सेवन अधिक लाभकारी हैं.

क्या मैं रोजाना हल्दी दूध पी सकता हूँ?

हाँ आप रोजाना इसे पी सकते हैं, मगर इसकी मात्रा पर ध्यान दिए जाने की जरूरत हैं क्योंकि अधिक मात्रा में इसका सेवन नुक्सान पंहुचा सकता हैं.

हल्दी के दूध के लाभ क्या हैं?

मुख्य रूप से जोड़ो के दर्द, मानसिक स्वास्थ्य, ह्रदय रोग, डायबिटीज और कैंसर के रोकथाम में कारगर घरेलू उपाय हैं.

यह भी पढ़े

आपको हल्दी दूध के फायदे, उपयोग और नुकसान | Turmeric Milk Benefits In Hindi का यह आर्टिकल कैसा लगा कमेंट कर जरुर बताएं, साथ ही इस लेख को कैसे अधिक उपयोगी बना सकते है इस बारे में अपनी राय अवश्य देवे.

Leave a Comment