हर्षल पटेल का जीवन परिचय Harshal Patel Biography In Hindi

हर्षल पटेल का जीवन परिचय Harshal Patel Biography In Hindi हर्षल वर्तमान समय में भारत के उभरते हुए तेज गेंदबाज हैं। हाल ही में समाप्त हुए आईपीएल 2021 के सत्र में अपनी बेहतरीन गेंदबाजी से इस युवा खिलाड़ी ने सबका ध्यान अपनी ओर आकर्षित किया है। और अपने प्रदर्शन से दर्शकों समेत BCCI को भी प्रभावित भी किया है। अपनी बेहतरीन गेंदबाजी के दम पर हर्षल ने IPL के इस सीजन में रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु की ओर से खेलते हुए बड़े-बड़े बल्लेबाजों को घुटने टेकने पर मजबूर कर दिया है।

हर्षल पटेल का जीवन परिचय Harshal Patel Biography In Hindi

हर्षल पटेल का जीवन परिचय Harshal Patel Biography In Hindi

आज के इस आर्टिकल में हम हर्षल पटेल के बचपन से लेकर उनके अब तक के जीवन और उनके क्रिकेट कैरियर के सफर को विस्तार से जानेंगे। क्रिकेट के अलावा उनको किस किस चीज में रुचि है, सभी पर विस्तार से बातें करेंगे, तो चलिए शुरू करते हैं बिना समय गवाएं।

हर्षल पटेल की बायोग्राफी जीवनी

नामहर्षल विक्रम पटेल
उपनामहर्ष
जन्म23 नवंबर 1990
जन्म स्थानसानंद, गुजरात, भारत
मातादर्शनी पटेल
पिताविक्रम पटेल
भाई/बहनभाई– तपन पटेल
धर्महिंदू
जाति
राष्ट्रीयताभारतीय
विवाह/अफेयर्सअविवाहित, not know
शिक्षाग्रेजुएशन
पेशाभारतीय क्रिकेटर (Right–Arm Medium Fast Boller)
डोमेस्टिक क्रिकेट टीमगुजरात, हरियाणा कैप्टन
कोचतारक त्रिवेदी
IPL डेब्यू2012 RCB

हर्षल पटेल का जन्म 23 नवंबर 1990 को गुजरात के साणंद जिले में हुआ था। फिलहाल वर्ष 2021 के अनुसार हर्षल पटेल की आयु लगभग 30 साल की है। हर्षल के पिता का नाम विक्रम पटेल है जो कि एक प्राइम फ्लाइट एविएशन में कार्यरत है।

वहीं अगर हर्षल पटेल की माता का नाम दर्शनी पटेल है, और वह डंकिन डोनट्स में नौकरी करती हैं। हर्षल पटेल के एक भाई भी हैं, जिनका नाम तपन पटेल है। 

प्रारंभिक पढ़ाई

हर्षल की शुरुआती शिक्षा सानंद के ही एक प्राइवेट स्कूल से पूरी हुई। इसके बाद की पढ़ाई के लिए उन्होंने गुजरात के ही “एच ए कॉलेज ऑफ कॉमर्स” में दाखिला लिया।

इसी कॉलेज से हर्षल ने अपने ग्रेजुएशन की पढ़ाई पूरी की। और आगे की पढ़ाई में उन्होंने कोई रुचि नहीं दिखाई और अपना सारा ध्यान क्रिकेट में लगा दिया।

हर्षल पटेल को पढ़ाई से ज्यादा क्रिकेट में थीं रुचि

पटेल को बचपन से पढ़ाई के साथ-साथ क्रिकेट में काफी रूचि थी। उन्हें पढ़ाई के बाद जब भी समय मिलता वो अपना सारा समय क्रिकेट को  ही देते थे। और इस तरह बचपन से ही पटेल क्रिकेट खेलते आए हैं।

पटेल ने अपनी ग्रेजुएशन की पढ़ाई फाइनल करने के बाद अपना सारा ध्यान क्रिकेट में लगा दिया और दिन-रात कड़ी मेहनत करके आज इस मुकाम को हासिल किया है, जहां दुनिया उनकी बॉलिंग की दीवानी हों गई हैं।

शादी या लव स्टोरी

बात की जाए हर्षल की शादी की तो फिलहाल उनकी शादी नहीं हुई है। और फिलहाल पटेल अविवाहित हैं। अगर उनके अफेयर्स के बाद की जाए तो इस बारे में भी फिलहाल कोई जानकारी उपलब्ध नहीं है जैसे ही हमें कोई जानकारी मिलेगी हम तुरंत इस आर्टिकल को अपडेट करने का प्रयास करेंगे।

हर्षल पटेल के क्रिकेट कैरियर की शुरुआत

पटेल आज भारत के एक तेज गेंदबाज के रूप में खुद को विकसित किया है। वर्ष 2005 में जब हर्षल के पिता की नौकरी अमेरिका में ट्रांसफर हुई, तो पूरा परिवार अमेरिका में शिफ्ट होने को सोच रहा था।

परंतु हर्षल पटेल ने अमेरिका जाने से मना किया वह भारत में रहकर अपने क्रिकेट कैरियर को सफल बना कर एक बेहतरीन क्रिकेटर बनने का सपना पूरा करना चाहते थे। और इस कारण हर्षल ने परिवार के साथ अमेरिका नहीं जाकर अकेले ही भारत में रहकर अपनी मेहनत को जारी रखा। 

महज 8 साल की उम्र से ही हर्षल पटेल में क्रिकेट के प्रति एक अद्भुत जोश और लगन थी। जिसके बाद से क्रिकेट के प्रति उनके इस लगाव और जोश को देखते हुए कोच तारक त्रिवेदी ने उन्हें अपने पास कोचिंग के लिए बुलाया। 

हर्षल ने भी बिना मौका गवाएं कोच तारक त्रिवेदी के मार्गदर्शन में अपनी मेहनत को और बढ़ाया। और साल 2008 से अपनी अकादमी में हर्षल ने सबसे ज्यादा मेहनत और जोश दिखाया। क्रिकेट के प्रति इतनी मेहनत और पागलपन का ही नतीजा है कि हर्षल आज IPL 2021  के सबसे श्रेष्ठ बॉलर बन कर उभरे हैं। 

हर्षल ने अपने कैरियर का पहला मैच New Jarsi Legue में खेला था। और वहीं से अपने गेंदबाजी का हुनर सबको दिखाया। फिर बाद में कुछ घरेलू मैचों में बेहतरीन प्रदर्शन करने के बाद हर्षल को भारतीय टीम में अंडर-19 वर्ल्ड कप के लिए चुन लिया गया।  फिर इसके बाद हर्षल को डोमेस्टिक क्रिकेट टीम में भी सिलेक्ट कर लिया गया।

भारतीय अंडर-19 टीम की ओर से खेलते हुए हर्षल पटेल ने सीजन 2008-9 के वीरू कमान ट्रॉफी में सबसे ज्यादा 19 विकेट चटकाए। इसके बाद हर्षल पटेल लोगों के बीच चर्चा का विषय बन गए और पूरी तरह से छाए हुए थे।

इसके बाद हर्षल को गुजरात की टीम में डोमेस्टिक क्रिकेट के लिए शामिल कर लिया गया। वहां हर्षल ने काफी अच्छा प्रदर्शन किया। और उनके प्रदर्शन के दम पर ही उन्हें महाराष्ट्र के खिलाफ विजय हजारे ट्रॉफी में खेलने का मौका मिला। 

डोमेस्टिक क्रिकेट में अब पूरी तरह से हर्षल का जलवा जारी था, हर जगह हर्षल पटेल छाए हुए थे। अपने दमदार प्रदर्शन के दम पर हर्षल की लोग तारीफ करते नहीं थक रहे थे।

उनके बेहतरीन प्रदर्शन के दम पर उन्हें भारत के लिए अंडर-19 वर्ल्ड कप टीम में चयनित किया गया। हालांकि उन्हें वहां एक भी मैच में खेलने का मौका तक नहीं मिला।

IPL क्रिकेट कैरियर

डोमेस्टिक क्रिकेट में शानदार प्रदर्शन करने के बाद इंडियन प्रीमियर लीग की फ्रेंचाइजी की नजर हर्षल पटेल पर पड़ी। और 2008 से लेकर 2011 तक बेहतरीन प्रदर्शन और कड़ी मेहनत का फल उन्हें साल 2012 में आईपीएल के ऑक्शन में मिला जब आरसीबी ने हर्षल को अपनी टीम में सिर्फ 8 लाख रुपए में ही शामिल कर लिया। जिसके बाद हर्षल पटेल को अपने IPL कैरियर के डेब्यू मैच में दिल्ली के खिलाफ खेलने का मौका मिला था। 

हालांकि उस समय हर्षल पटेल का प्रदर्शन कुछ खास नहीं रहा था जिस वजह से उन्हें बाद के सभी मैचों में खेलने का मौका नहीं मिल पाया। 

कई सालों तक उन्हें टीम में कम ही खेलने का मौका मिलता था। फिर साल 2017 तक यानी कि आईपीएल के लगातार छह सीजन तक हर्षल पटेल आरसीबी की टीम में शामिल रहे थे।

इसके बाद साल 2018 में हर्षल पटेल को आरसीबी ने रिलीज कर दिया जिसके बाद से दिल्ली डेयरडेविल्स ने उन्हें अपनी टीम में शामिल कर लिया था। और साल 2020 तक हर्षल पटेल दिल्ली डेयरडेविल्स के लिए खेलते हुए दिखे। 

हर्षल पटेल अब तक लगातार आईपीएल के सभी सीजन में कुछ खास प्रदर्शन करने में असफल हो रहे थे। जिसके बाद 2021 के आईपीएल ऑक्शन में दिल्ली डेयरडेविल्स ने भी उन्हें रिलीज कर दिया। इसके बाद से हर्षल को आरसीबी की टीम ने एक बार फिर से अपनी टीम में शामिल किया। और 2021 के आईपीएल सीजन के लिए पटेल आरसीबी टीम का हिस्सा बन गए। 

इस बार हर्षल मानो कुछ अलग करने की ठान कर ही आईपीएल में आए थे। आई पी एल 2021 के सीजन के पहले ही मैच में आरसीबी की ओर से खेलकर हर्षल पटेल ने मुंबई इंडियंस के पांच बल्लेबाजों को पवेलियन का रास्ता दिखा दिया।

जी हां मुंबई इंडियंस के खिलाफ मैच में हर्षल अपने 4 ओवर में 5 विकेट हासिल करके अपनी टीम को जीत का दावेदार बनाया। हर्षल अब भारत में एक चर्चा का विषय बन गए हैं हर जगह छा गए थे। हालांकि कोविड-19 की वजह से आईपीएल को बीच में ही रद्द करना पड़ा।

इसके बाद जब आईपीएल का सेकंड हाफ दुबई में चालू हुआ, तो भी हर्षल पटेल नाम कि आंधी थमने का नाम नहीं ले रही थी। और एक बार फिर से जब मुंबई इंडियंस से आरसीबी का सामना हुआ तो इस बार भी हर्षल ने मुंबई के चार बल्लेबाजों को पवेलियन का रास्ता दिखा दिया। अब हर्षल पटेल आईपीएल के उभरते हुए सितारों में गिने जाने लगे थे। 

आई पी एल 2021 के सीजन की शुरुआत से लेकर समाप्त होने तक हर्षल ने अपने सर पर पर्पल कैप सजाई रखी थी। पूरे आईपीएल के दौरान एक बार भी कोई भी गेंदबाज पर्पल कैप की रेस में उनके आसपास भी नहीं दिखा।

आईपीएल के एक सीजन में सबसे अधिक विकेट (32 विकेट)  लेने वाले हर्षल भारत के पहले गेंदबाज भी बन गए। और वह आईपीएल के एक सीजन में सबसे अधिक (32 विकेट) विकेट लेने वाले ड्वेन ब्रैवो के साथ संयुक्त रूप से शीर्ष पर पहुंच गए। 

हर्षल पटेल की क्रिकेट रिकॉर्ड एक नजर में

  1. पटेल ने मीनू मांकड ट्रॉफी में बतौर अंडर–19 प्लेयर सबसे अधिक 23 विकेट हासिल किए थे।
  2. उन्होंने डोमेस्टिक क्रिकेट महाराणा गौर से खेलते हुए कई रिकॉर्ड कायम किए हैं, और इसके बाद राजस्थान की ओर से खेलकर भी इन्होंने अनगिनत विकेट हासिल किए हैं।
  3. अभी हाल फिलहाल में इन्होंने IPL 2021 के सीजन में सबसे अधिक 32 विकेट हासिल करके पर्पल कैप हासिल की।
  4. IPL के एक सीजन में सबसे अधिक विकेट लेने का भारतीय रिकॉर्ड भी अब हर्षल पटेल ने अपने नाम कर लिया है।

यह भी पढ़े

उम्मीद करते हैं हर्षल पटेल का जीवन परिचय Harshal Patel Biography In Hindi से उनकी क्रिकेटिंग लाइफ तक के सफर की यह जानकारी आपको पसंद आई होगी। यदि हां तो कृपया इस जानकारी को अपने दोस्तों के बीच शेयर करना ना भूलें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *