लॉ ऑफ़ अट्रैक्शन की मदद से डिप्रेशन से कैसे बाहर आ सकते हैं?

लॉ ऑफ़ अट्रैक्शन की मदद से डिप्रेशन से कैसे बाहर आ सकते हैं?: अगर आप भी लॉ ऑफ अट्रैक्शन के बारे में पढ़ते हैं और किसी मुश्किल समय से या किसी मुश्किल हालात से गुजर रहे हैं तो आपके दिमाग में ये सवाल जरूर आया होगा कि क्या लॉ ऑफ अट्रैक्शन डिप्रेशन से बाहर आने में मदद कर सकता है? और अगर कर सकता है तो ये कैसे मुमकिन है? क्योंकि लॉ ऑफ अट्रैक्शन का बेसिक रूल जो है वो ये है कि हम जो सोचते हैं जो महसूस करते हैं और जिस चीज में सबसे ज्यादा हमारा फोकस होता है, हमारा ध्यान होता है, वो चीज हमारी जिंदगी में सच होती है। अगर आप अच्छा नहीं महसूस कर रहे हैं और चाहते हैं कि जल्द से जल्द इस घुटन से आप बाहर आ जाए तो अब बिल्कुल सही जगह पर है। क्योंकि आज हम ये जानने वाले हैं कि लॉ ऑफ अट्रैक्शन के टेक्निक्स को इस्तेमाल करके हम डिप्रेशन से बाहर कैसे आ सकते हैं और अपने लाइफ में वो सारी चीजें जो हमें खुशी देती हैं, वो इमोशनल सपोर्ट और इमोशनल बैलेंस कैसे पा सकते हैं। तो चलिए जानते हैं कि लॉ ऑफ अट्रैक्शन से डिप्रेशन जैसे मुश्किल से कैसे बाहर निकला जा सकता है। 

  1. जो भी आप महसूस कर रहे हैं जैसे ही हालात से गुजर रहे हैं उनको स्वीकार करना 

अगर आप किसी चीज को बदलना चाहते हैं तो इसके लिए सबसे पहले जरूरी है उसको स्वीकार करना। जब हम बस हर वक्त खुश होने की कोशिश कर रहे होते हैं और चीजों को सही करने की कोशिश कर रहे होते हैं तब हम खुद को और ज्यादा परेशान करते हैं। लेकिन जब हम ये स्वीकार कर लेते हैं कि कुछ चीजें हैं जो आपके लिए नहीं है या फिर जिन को बदलने के लिए इस वक्त, अभी के टाइम आप कुछ कर नहीं कर सकते, जब आप ये स्वीकार कर लेते हैं तो काफी चीजें बदल जाती हैं और आप यूनिवर्स में और भगवान पर भरोसा करके उन चीजों को वैसा ही छोड़ देते हैं और जैसे वो है वैसा ही स्वीकार कर लेते हैं जैसे वो हैं। तो जब इस चीज को अपने स्वीकार कर लिया तो उसके बाद आप परेशान होना बंद कर देंगे, लड़ना बंद कर देंगे और फिर आप अपने लाइफ में और ज्यादा परेशानी को मेनिफेस्ट नहीं करेंगे। यहाँ पर स्वीकार करने का मकसद ये है कि जो चीजें जैसी है उनको वैसा ही स्वीकार करते हुए समझते हुए की कुछ चीजें जिंदगी में होती है और वो अच्छे के लिए ही होती है उनको लेकर हम ज्यादा परेशान होकर और तकलीफ में रहकर, रो कर या उनके बारे में बुरा सोच कर उनको सही नहीं कर सकते, तो इससे बेहतर ये होता है कि उनको स्वीकार कर लें और जब हम को स्वीकार कर लेते हैं तो अपने आप एक शांति आ जाती है। 

  1. खुद से प्यार करने की शुरुआत करना 

जब आप ने स्वीकार कर लिया अपने हालात को और आप जो महसूस कर रहे हैं उन सब इमोशंस को तो अब बारी आती है खुद को भी स्वीकार करते हुए खुद से प्यार करने की। अगर लॉ ऑफ अट्रैक्शन का इस्तेमाल करते हुए आप डिप्रेशन से बाहर आना चाहते हैं तो अपने आप से प्यार करना शुरुआत में थोड़ा मुश्किल लग सकता है, लेकिन ये नमकीन बिल्कुल नहीं होता और जवाब धीरे-धीरे वो चीजें करना शुरू करते हैं जो आप सिर्फ अपने लिए करते हैं, जो आप सिर्फ इसलिए कर रहे हैं क्योंकि आप अपना ख्याल रखना चाहते हैं और कहीं ना कहीं खुद से भी जरूर प्यार करते हैं। बिल्कुल भी जरूरी नहीं है कि आप पहले ही दिन में बहुत अच्छा महसूस करने लगे और आप एकदम खुद से बहुत ज्यादा प्यार करने लगे और अपने आप को अप्रिशिएट करने लगे लेकिन धीरे-धीरे मुमकिन जरूर है। अगर आप समझना चाहते हैं कि खुद से प्यार करने की शुरुआत आप कैसे कर सकते हैं और क्या चीजें हैं जो आपको करनी चाहिए ताकि आप अपने लिए प्यार को बढ़ा सकें और अच्छा महसूस कर सके तो नीचे दिया हुआ वीडियो जरूर देखना और उसमें आपको समझ में आएगा कि ऐसी कौन सी चीज है जो आपको आज से करनी शुरू कर देनी चाहिए अपने आप से प्यार करने के लिए। 

Life के 70% Problem इस छोटे से Change से खत्म हो सकते – SELF LOVE | How To LOVE Yourself

  1. अपने इमोशनल और स्प्रिचुअल हीलिंग के लिए एक्शन लेना 

डिप्रेशन या किसी भी तरह का जो दुख होता है जो हम महसूस करते हैं ये तकलीफ बिल्कुल हमारे शरीर में जैसे चोट लगने से तकलीफ होती है वैसे ही तकलीफ होती है और इसको भी हीलिंग की जरूरत पड़ती है। जब हमारे शरीर पर कोई चोट लगती है तो हम उसमें कोई दवाई लगा देते हैं और कुछ दिन तक वैसे ही दवाई लगाते रहते हैं और वो अपने आप ठीक हो जाती है कुछ वक्त के बाद। लेकिन जब हम दुखी होते हैं, डिप्रैस होते हैं, तब हम दवाई लगाना तो नहीं जानते हैं लेकिन इस तकलीफ को, चोट को और कुरेदने में लगे हुए रहते हैं। खुद को इमोशनली और स्प्रिचुअली हिल करने का सबसे आसान तरीका है होपोनोपोनो टेक्निक का इस्तेमाल करना। होपोनोपोनो एक ऐसी टेक्निक है लॉ ऑफ़ अट्रैक्शन की जिसमे हम पहले माफी मांगते हैं माफ करते हैं फिर शुक्रिया अदा करते हैं और उसके बाद प्यार जाहिर करते हैं। ये आप ध्यान की तरह यानी कि मेडिटेशन की तरह भी कर सकते हैं और मंत्र की तरह भी कर सकते हैं। जहां पर आप खुद को इमोशनली और स्प्रिचुअली हील करना चाहते हैं तो सबसे पहले आप अपने आप को दी गई तकलीफों के लिए और उन सब बुरे विचारों के लिए खुद से माफी मांगेंगे जो अपने अपने लिए की है ये जानते हुए भी कि वो सब आपको तकलीफ देंगे। फिर आप अपने आप को माफ भी करेंगे और उसके बाद खुद को आप को थैंक यू कहना है और आई लव यू भी कहना है अपने आप को ही। की टेक्निक आपको कम से कम 21 दिन तक और ज्यादा से ज्यादा 3 महीने तक करनी चाहिए। 

100% Results With Ho’oponopono Technique Heal Yourself Instantly & Manifest Anything You Want

मुझे पूरी उम्मीद है कि इन तीनों चीजों को समझने और करने के बाद अब जरूर डिप्रेशन से बाहर आ जाएंगे। और सबसे जरूरी बात ये है कि आपको बिल्कुल भी ये सोच कर परेशान होने की जरूरत नहीं है कि आप उदास है या फिर डिप्रैस महसूस करते हैं तो ये एक मुश्किल है या कोई समस्या है। हर एक इंसान की जिंदगी में कभी ना कभी कोई ना कोई मुश्किल आती है बहुत सारे उतार-चढ़ाव आते हैं और उन सब को हमें जिंदगी का हिस्सा मान के आगे बढ़ते रहना चाहिए कभी रुकना नहीं चाहिए किसी एक जगह पर। और यकीन मानिए कि ये जो वक्त है ये बहुत जल्दी निकल जाएगा और आपको पता भी नहीं चलेगा तो उम्मीद हमेशा बनाए रखनी चाहिए।

लेखक परिचय: hihindi के लिए यह लेख खुशबू पाण्डेय जी द्वारा लिखा गया हैं. आप लो ऑफ़ अट्रेक्शन विषय अच्छी जानकारी रखती हैं. मेम ने इसी साल लॉ ऑफ़ अट्रेक्शन पर एक यूट्यूब चैनल भी बनाया हैं. जहाँ आप रोचक विडियो और जानकारी पोस्ट करती हैं. इनका चैनल अपने आप में अनूठा और रोचक हैं एक बार आप अवश्य चैनल पर जाए, मेम भविष्य में hihindi के लिए ऐसे ही लेख प्रस्तुत करेंगी.

उम्मीद करता हूँ दोस्तों लॉ ऑफ़ अट्रैक्शन की मदद से डिप्रेशन से कैसे बाहर आ सकते हैं? (How to get out of depression with the help of Law of Attraction In Hindi) का यह लेख आपकों पसंद आया होगा. यदि आपकों इस आर्टिकल में दी गई जानकारी पसंद आई हो तो इसे अपने दोस्तों के साथ जरुर शेयर करें.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *