अपनी एकाग्रता शक्ति कैसे बढ़ाये How To Increase Concentration Power In Hindi

अपनी एकाग्रता शक्ति कैसे बढ़ाये How To Increase Concentration Power In Hindi: दिमाग की एकाग्रता या माइंड का कंसंट्रेशन पॉवर (concentration power in hindi) क्या होता हैं. यह किस प्रकार काम करता हैं, एकाग्रता कैसे आती हैं और हम किस तरह दिमाग की एकाग्रता को बढ़ा सकते हैं. Concentration Power के बारें में सभी विषयों पर चर्चा करेंगे. सबसे पहले यह जान लेते हैं कि कंसंट्रेशन या मेमोरी पॉवर क्या होता हैं?

अपनी एकाग्रता शक्ति कैसे बढ़ाये How To Increase Concentration Power In Hindi

अपनी एकाग्रता शक्ति कैसे बढ़ाये How To Increase Concentration Power In Hindi

एकाग्रता क्या है (what is concentration power)

एकाग्रता की परिभाषा – बिना विचलित हुए किसी काम को अपनी इच्छानुसार करना और अपने दिमाग से उसको निर्देशित करना या ध्यान पर नियंत्रण को एकाग्रता कहते हैं. एकाग्रता में रहने के लिए एक मुख्य विषय को छोड़कर शेष सभी विषयों और अन्य विचारों को दिमाग से हटाना पड़ता हैं.

एकाग्रता को आप ऐसे भी समझ सकते हैं – किसी एक विशेष काम को करने के लिए अपनी पूरी उर्जा को लगाना, इसके लिए आपको उन स्रोतों से भी उर्जा को एकत्रित करनी पड़ती हैं, जो उसी वक्त आप दूसरी जगह खर्च कर रहे होते हैं, इसी को माइंड पॉवर और एकाग्रता कहते हैं.

एकाग्रता क्या हैं? इसका उतर आप जान गए हो तो अब यह भी जान लीजिये कि हमारा दिमाग काम कैसे करता हैं, क्योंकि फाइनली हमारा दिमाग ही हमारी एकाग्रता को बढ़ाएगा.

हमारा दिमाग कैसे काम करता हैं

हमारे शरीर की पांच ज्ञान-इन्द्रियां – आँख, कान, नाक, जीभ और त्वचा होती हैं. इनके जरिये बाहरी सूचनाएं हमारे दिमाग तक पहुँचती हैं. फिर इन सूचनाओं की प्रोसेसिंग होती हैं, और दिमाग इनको चेतन या अवचेतन दिमाग में स्टोर कर देता हैं.

जब कभी इनकी जरुरत पड़ती हैं तो आप इसका आउटपुट भी दे सकते हैं, आप आउट पुट इतने प्रतिशत ही दे सकते जितना अन्दर स्टोर करते हैं. ज्यादा आउटपुट के लिए आपको अपने स्टोरिंग क्षमता को बढ़ाने की जरुरत होती हैं.

इसलिए कभी कभी आपको सुझाव दिया जाता हैं या आप खुद ही सोच लेते कि मुझे दिमाग की शक्ति यानी कंसंट्रेशन पॉवर को बढ़ानी हैं. यहाँ हम आपको बताएँगे कि आप अपने दिमाग की शक्ति को कैसे बढ़ा सकते हैं, पर पहले आप यह जान लीजिये कि एकाग्रता के क्या फायदे होते हैं?

एकाग्रता के फायदे (Benifit of Concentration)

एकाग्र मन एक वस्तु एक और विचार पर केन्द्रित होता हैं, इसी एक विचार पर सारी उर्जा केंद्रित होती हैं. मन को एकाग्र करने के लिए कोई कठिन तपस्या की जरुरत नहीं पड़ती, कुछ सामान्य बदलावों से और अच्छी आदतों से आप अपने कंसंट्रेशन पॉवर को असीम स्तर तक ले जा सकते हैं, अगर आपने ऐसा कर दिया तो आपको निम्न परिणाम देखने को मिलेंगे.

चीजों को बेहतर ढंग से कर पाएंगे

एकाग्रता से आप उन तमाम काम को प्रभावी ढंग से और उसी अंदाज में कर पाएंगे, जिस तरह से आप उसको करने की सोच रहे हों, एकाग्रता आपका ध्यान भटकाने कि बजाय बार बार उस स्थिर मुख्य बिंदु पर प्रतिस्थापित करेगी. अच्छी तरह से एकाग्रता बनाये रखने की क्षमता आपको चीजों को सफलतापूर्वक करने में सक्षम बनाएगी. 

महत्वहीन विचारों को अनदेखा कर पाएंगे

हमारे दिमाग में अरबों छोटे छोटे न्युरोंस होते हैं, जब आपके दिमाग में कोई विचार आता हैं तो एक न्यूरोन की बत्ती जल जाती हैं. जैसे जैसे आप एक विचार से दुसरे विचार पर पहुंचेंगे, आपके दुसरे न्युरोंस की बत्तियां भी जलने लगेगी.

लेकिन जब आपका मन सही मायने में एकाग्र होगा तो आपके दिमाग के कोंनसे भाग की बत्ती जलानी हैं और कोंनसे भाग की बत्ती बंद रखनी हैं इसका पूरा पूरा नियंत्रण आपके हाथ में होगा. अर्थात आप उन चीजो और विचारों को नकार पाओंगे जिनका उस वक्त आपसे कोई लेना देना नहीं हैं.

आत्म नियंत्रण रख पाएंगे

किसी काम की शुरुआत करना, उसको अच्छे से करना और सही समय पर पूरा करना, इसके लिए आपको चाहिए कि आपका खुद पर आत्म नियंत्रण हो. आप जो योजनायें बनाते है वहां तक पहुँचने के सारे रास्ते आपको मालूम हो सकते हैं,

लेकिन यदि आपको चीजें बेहतर ढंग से करनी ही नहीं आती तो आप कैसे उस काम को पूरा कर पाएंगे. एकाग्रता वह शक्ति हैं, जो आपको खुद पर नियंत्रण रखना सिखाएगी.

आत्मविश्वास को बढ़ा पाएंगे

एकाग्र मन आपके द्वारा तय किये गए अभियानों को सफल करता हैं. शांत और एकाग्र मन से आपको जब छोटी छोटी सफलता मिलेगी तो आपका खुद पर विश्वास अगले स्तर तक बढ़ जायेगा. इसी तरह आप बड़े बड़े काम और चुनौतियों को आसानी से पूरा कर पाएंगे.

इच्छा शक्ति को बढ़ा पाएंगे

जब मन पर नकारात्मक विचारों का साया होता हैं तो काम को करने की इच्छा शक्ति कम हो जाती हैं. अब सवाल यह हैं कि आपके मन में नकारात्मक विचार आये क्यों? कहीं आपके मन में जो विचार चल रहे हैं वो आपकी कार्य कुशलता को प्रभावित तो नहीं कर रहे हैं.

विचारों को निर्धारित करना पड़ता हैं, कोंनसे विचार अच्छे हैं कोंनसे विचार बुरे हैं. एक बार जब आपको पता चल जायेंगा की कौनसे विचार से आपके मन और इच्छा से विपरीत जा रहे हैं, तो फिर आप अपने मन को कभी उसके पास जाने ही नहीं दोंगे. ऐसा करने से आपका मन सही विचारों से भर जायेगा, जो आपकी इच्छा शक्ति और कार्य की कुशलता को बढ़ा देगा.  

आप कुछ अद्भुत सोच पाएंगे

बड़े बड़े अविष्कार और कुछ नया करने के लिए दिमाग को आम विचारों से हटाना पड़ता हैं. ये एक प्रमाणिक सत्य हैं कि जब कोई किसी किसी एक विशेष विषय में 10 हज़ार घंटे से अधिक का समय लगाता हैं, तो वह उस विषय का मास्टर बन जाता हैं.

10 हज़ार घंटे किसी एक विषय पर लगातार फोकस करना, इतना आसान नहीं हैं, लेकिन चीजों को आसन बनाया जा सकता हैं. जब चीजें आसान बनती हैं तो कोई भी रचनात्मक सोच सकता है.

अब आप ये तो जान गए होंगे कि माइंड को कंसन्ट्रेट करके आप बहुत कुछ हासिल कर सकते हैं. लेकिन माइंड को कंसन्ट्रेट कैसे करे, कैसे हम दिमाग की शक्ति को इतना बढ़ा सकते हैं कि हम कुछ नया और अद्भुत कर सके. तो आइये जानते हैं.

कंसंट्रेशन पावर कैसे बढ़ाये

विधार्थी कंसंट्रेशन पॉवर को कैसे बढ़ाएं(how to increase memory power students in hindi). दिमाग की शक्ति (concentration power in hindi) को बढ़ाने का सबसे आसन तरीका हैं, उस वक्त केवल वहीँ काम करना जो आप कर रहे हों.

कंसंट्रेशन पावर को कुछ समय में पैदा नहीं किया जा सकता. लेकिन अगर आप इसका परिणाम शिघ्र देखना चाहते हो तो नीचे इन चार लाइनों पर जरूर ध्यान करना. पूरे निम्बंध का निचोड़ यहीं हैं.

  1. देखते समय देखना,
  2. सोचते समय सोचना,
  3. बोलते समय बोलना और
  4. महसूस करते समय महसूस करना.

हम यहाँ पर कुछ सिद्ध किये हुए तरीके बता रहे हैं, अगर आप इनका अनुसरण करते हो तो आप निश्चित ही दिमाग को वश में कर लोंगे.

आप इन बिन्दुंओं पर विचार करना, इनका एक लक्ष्य बनाना और बाद में उस तक पहुंचने के लिए कदम उठाना. हम आपको यह भी बताएँगे, जब आप इन विचारों पर कदम उठाएंगे तो आपका मन विचलित होगा, उस स्थिति में क्या करना हैं, इसके बारें में भी कुछ टिप्स देंगे.

मन की एकाग्रता को बढ़ाने के तरीके उपाय How To Improve Your Memory Power And Concentration In Hindi

1 अपने दिमाग को सिखाएं

किसी निश्चित दिशा में आप दिमाग पर जिस प्रकार का जोर दोंगे, परिणाम आपको उसी के अनुरूप मिलेंगे. आपका दिमाग हर वक्त कुछ न कुछ सीख रहा होता हैं, निर्भर यह करता हैं कि उस वक्त आपके दिमाग में क्या चल रहा होता हैं.

अगर दिमाग में सही चीजों को दौड़ाएंगे तो, दिमाग स्वत: ही नयी चीजों को सीखता जायेगा, और आगे बढ़ता जायेगा.
दिमाग को ट्रेन करने के लिए कुछ खास तरह के गेम जैसे सुडोकु, पहेलियाँ, रिमेम्बेरिग गेम, वर्ड्स अरेंजमेंट्स इस प्रकार के गेम्स को खेल सकते हैं.

आपको गेम खेलना अजीब लग सकता हैं, लेकिन 2015 में 4715 व्यस्कों के ऊपर एक अध्ययन किया गया. जिसमे इन वयस्कों को तीन सप्ताह के लिए सप्ताह में पांच दिन, मात्र 15 15 मिनट के लिए इस प्रकार के गेम्स खेलने को कहा.
इसके नतीजे में देखा गया कि उन लोगो की एकाग्रता शक्ति में अद्भुत रूप से वृद्धि हुई.

2 वीडियोस गेम्स खेले

इस पॉइंट पर आगे बढ़ने से पहले आपको एक सन्देश यह देना चाहूँगा कि हद से ज्यादा किसी काम को करने पर उसके नकारात्मक परिणाम ही मिलते हैं. मैं इस लिए कह रहा हूँ, कि आने वाले समय में विडियो गेम्स के दुष्परिणाम सामने आने वाले है. लेकिन इसके फायदे अपनी जगह हैं.

एक रिसर्च में पाया गया कि जो लोग वीडियो गेम्स को खेलते हैं, उनके अन्दर instant answer कैपिसिटी पायी जाती हैं. जो कहीं न कहीं दिमाग की सक्रियता को दर्शाती हैं.

दरअसल विडियो गेम के रचनात्मक वीएसएस के सीन्स आपके दिमाग को केन्द्रित करने का प्रयास करते हैं, इसलिए गेम्स खेलते समय दूसरा कुछ नहीं सूझता हैं. विडियो गेम्स भी एकाग्रता को बढाने का जरिया हो सकता हैं.  

3 नींद में सुधार करें

नींद की कमी एकाग्रता को बाधित करती हैं. मशीने भी गर्म होती हैं, और फिर दिमाग तो कंप्यूटर से भी बड़ी मशीन हैं. नींद आपके बिगड़े हुए मूड को बना सकती हैं.

इसलिए अच्छी नींद आपके काम करने की क्षमता को बढ़ा देती हैं. नींद का एक निश्चित समय होना चाहिए, जो आपकी गाड़ी को हर वक्त सही तरीके से चलाती रहे.

नींद के लिए घंटे आप अपने अनुसार तय कर सकते हैं. आप ध्यान लगाकर(by using meditation) या योग निंद्रा से नींद को कम भी कर सकते हैं. एक व्यस्त जिंदगी की बजाय सादगी और शांति की जिंदगी जिए.

4 खुद के लिए समय निकाले

खुद के लिए समय निकालने का मतलब यह होता हैं कि उन काम को करना जो सीधे आपके शारीरिक और मानसिक स्थिति पर प्रभाव डालते हैं. इसके लिए योग करें, व्यायाम करें, आप एरोबिक व्यायाम(जंपिंग, रनिंग, स्विमिंग) भी कर सकते हैं.

2018 में एक रिसर्च की गयी जिसमे यह पता लगाया गया कि लगातार चार सप्ताह तक नियमित व्यायाम करने से ध्यान शक्ति को बढाया जा सकता हैं.

5 प्रकृति में समय बिताएं

अगर आप प्राकृतिक रूप से अपनी कंसंट्रेशन पॉवर बढ़ाना चाहते हो तो हमेशा थोड़ी देर के लिए अपने आप को प्रकृति के हवाले कर दो. जब आप निरंतर ऐसा करते रहेंगे तो आप प्रकृति से बात कर पाओंगे.

अपने घर के आस पास या अपने कमरे में पौधों को जरूर रखे. वायु की गुणवत्ता में भी सुधार होगा, और आपकी ध्यान शक्ति भी बढ़ेगी.

6 मैडिटेशन करने का प्रयास करे

ध्यान शक्ति पैदा करने के लिए मैडिटेशन करना लगभग सबसे कठिन हैं, ऐसा लोग मानते हैं. लेकिन मैडिटेशन दिमाग की शक्ति को बढ़ाने का सबसे उत्तम रास्ता हैं और सबसे बेहतर परिणाम भी इसी के ही मिलते हैं.

रोजाना दस मिनट का ध्यान आपके पूरे दिन को बना सकता हैं. और 66 दिनों का ध्यान आपके पूरे जीवन को बदल सकता हैं.

7 एक छोटा ब्रेक ले

हर ब्रेक के बाद एक नयी शुरुआत होती हैं. लगातार काम करना और एक ही प्रोजेक्ट पर बने रहना आपके ध्यान को कम कर सकता हैं. इसलिए एक निश्चित समय के बाद छोटा सा ब्रेक ले और थोड़ी देर के लिए खुद को एक अलग विचार पर समर्पित कर दें.

8 संगीत सुने

ऊपर हमने आपको एक ब्रेक लेने के लिए कहा, उस ब्रेक के दौरान आप इस एक्टिविटी को कर सकते हैं. संगीत सुनना आपके मूड को ताजा कर सकता हैं. संगीत की क्वालिटी भी निर्भर करती हैं, इसका चयन करना भी आपको आना चाहिए.

संगीत में आप वाइट नॉइज़ सुन सकते हैं. वाइट नॉइज़ को आप चलते काम भी सुन सकते हैं, हालाँकि थोड़े समय के लिए आपको कठिन लग सकता हैं. लेकिन वाइट नॉइज़ से आप अपने ध्यान को दूसरी जगह पर भटकने से रोक सकते हों.

9 अपने व्यवहार में बदलाव करें

सब कुछ संभव हैं, लेकिन अगर आप करने को ही तैयार नहीं हैं तो, कैसे आप बदलाव कर पाएंगे और कैसे अपनी ध्यान शक्ति को बढ़ा पाएंगे. अपनी ध्यान शक्ति को बढाने के लिए खुद को तैयार कीजिये. संभव नहीं हैं, मेरे वश की बात नहीं हैं, ऐसे नकारात्मक विचारों से खुद को दूर कीजिये.

10 स्वस्थ रहने का प्रयास करें

शरीर की कोई बीमारी कभी भी मन और दिमाग को स्थिर नहीं रहने देती. जहाँ तक संभव हो अपनी बीमारी का इलाज करवा लो. नहीं तो उसको स्वीकार कर लों.

अच्छे तरीके से खाना खाइए, भरपूर पानी पीजिये आपका स्वस्छ मन और तन आपके जीवन को आनंदित बनाएगा, और आपके दिमाग को भी.

हम ध्यान क्यों नहीं लगा पाते why can’t we concentrate

यहाँ पर हमने आपके सामने कुछ मुख्य तथ्यों को रखा जो आपके कंसंट्रेशन पॉवर (concentration power) को बढ़ा सकते हैं, लेकिन जब इन विचारो पर काम करना शुरू करेंगे, तब आपके सामने कुछ रूकावटे आयेंगी.

इनसे आपका ध्यान भटक भी सकता हैं, या आप पुरानी गतिविधियों में वापस जा सकते हैं. यहाँ पर कुछ बिंदु हैं, जहाँ आपका मन भटक सकता हैं.

  1. आपके फ़ोन के नोटिफिकेशन और सोशल टिंग आपके मन को उसकी और आकर्षित कर सकती हैं.
  2. परिवार के सदस्य या आपके रूम मेट्स से आपका ध्यान भंग हो सकता हैं.
  3. आपके आस पास चल रही चीजों से आपका मन उनकी और भटक सकता हैं.
  4. आप अपने कठिन दिनचर्या से बोर हो सकते हो.
  5. कोई स्वास्थ्य संबंधी दिक्कत आपको एक विचार पर आपको टिकने नहीं देगी.
  6. गन्दी आदत आपको कुछ नया करने से रोकेगी.

ध्यान शक्ति बढाने के लिये प्रो टिप्स (Tips to Increase Mind Attention Power In Hindi)

चीजों को अजीब, असामान्य और अनुपातहीनता के नजरिये से देखिये. आप कुत्ते को कुत्ते की नजर से नहीं बल्कि कालू कुत्ते सिंह की नज़र से देखिये. पेन को पेन की बजाय जादुई पेन की नज़र से देखना शुरु किजिये. विचारों को भावनाओं से जोड़ना सीखिए, आपके दिमाग की क्रिएटिविटी बढ़ जाएगी. आप चिजों को अलग नज़र से देख पाओंगे.

कर्म पहले अन्दर से होता हैं फीर बाहर से होता हैं. पहले मन में अच्छे से तय कर लीजिये, फिर जब पूरी तरह से तैयार हो जाओ तब ही कोई एक्शन लेना. नहीं तो एक और असफलता हाथ लगेगी, फिर हमारे जैसे लोगो पर उँगलियाँ उठायी जाएगी.
अच्छी आदतें बनने में थोडा समय लगता हैं, इसलिए धैर्य रखे. सही दिशा में मेहनत करोगे तो सफलता जरूर मिलेगी.

आपने क्या सीखा…. concentration power in hindi

मन को एकाग्र (concentration power in hindi) कैसे करें, इस पोस्ट को आपने पूरी पढ़ी हैं तो आप एकाग्रता के फायदे, एकाग्रता कैसे बढाई जाती हैं इन विषयों को विस्तार से जाना होगा. हमने आपको मांइड की कंसंट्रेशन पावर को बढ़ाने के लिए कुछ प्रो टिप्स भी दी हैं. अगर आप इनको follow करेंगे तो निश्चित ही बेहतर परिणाम मिलेगा.

यह भी पढ़े

अपने विचार यहाँ लिखे