स्वतंत्रता दिवस पर निबंध 2021 Independence Day Essay In Hindi

स्वतंत्रता दिवस पर निबंध 2021 Independence Day Essay In Hindi : सभी देशवासियों को 15 अगस्त 2021 भारत वर्ष के 75 वें स्वतंत्रता दिवस की हार्दिक बधाई. आज हम स्कूल स्टूडेट्स क्लास 1, 2, 3, 4, 5, 6, 7, 8, 9, 10, 11, 12 वीं के बच्चों और टीचर्स के लिए सरल भाषा में आजादी दिवस के कई निबंध लेकर आए हैं. हम उम्मीद करते है आपकों हमारा ये लेख पसंद आएगा.स्वतंत्रता दिवस निबंध 2021 Independence Day Essay In Hindi

स्वतंत्रता दिवस निबंध 2021 Independence Day Essay In Hindi

Short Essay On Independence Day 2021 In Hindi: तुलसीदास जी ने ठीक ही लिखा हैं, पराधीन सपनेहु सुख नाहि यानि एक गुलाम व्यक्ति कभी न तो सुख चैन से रह सकता हैं. न साँस ले सकता हैं. आज से 75 वर्ष पूर्व तक हमारी भी यही स्थति थी. न तो हमारे देश में कानून कायदे तो थे, मगर अंग्रेजो के बनाये.

हम अपने देश में चाहकर भी कुछ नही कर सकते थे.” क्युकि हम पराधीन थे. हम अंग्रेजो के गुलाम थे.आज हम पूरी तरह से स्वतंत्र हैं, दुनियाँ भारत को अपनी आखोँ का तारा मानती हैं. हम तकनिकी, शिक्षा, खेल, विकास जैसे क्षेत्रो में उन देशो से कई कदम आगे हैं. जो हमसे पहले आजाद हुए या गुलामी झेली ही नही. Independence Day 15 August 2021 Essay (स्वतंत्रता दिवस निबंध) पढिए इस शोर्ट इंडिपेंडेंस डे एस्से.

स्वतंत्रता दिवस कब मनाया जाता हैं (Independence Day is celebrated)

देश के सभी नागरिक अपने राष्ट्रिय उत्सवो से पूर्ण परिचित हैं. हर वर्ष 15 अगस्त के दिन देश भर में सभी स्थानों पर स्वतंत्रता दिवस बड़ी धूमधाम से मनाया जाता हैं.भारत के बाहर जिस देश में भी कोई भारतीय मूल का रहता हैं. वो स्वतंत्रता दिवस के दिन अपने घर में ही इसे तिरंगा फहराकर मनाते हैं.

14-15 अगस्त की मध्यरात्रि को भारत ने स्वतन्त्रता प्राप्त कर ली थी. अगली सुबह दिल्ली के लाल किले पर पहली दफा तिरंगा फहराकर पुरे देश ने धूमधाम के साथ अपना पहला स्वतंत्रता दिवस मनाया था. पिछले 73 वर्षो से हम आजादी के इस पावन दिन को मनाते आ रहे हैं. आज हम अपना 74 व़ा स्वतंत्रता दिवस मनाने जा रहे हैं.

स्वतंत्रता दिवस क्यों मनाते हैं ? (Why Celebrate Independence Day)

स्वतंत्रता दिवस का पावन पर्व पुरे देश में हर्ष और उल्लाश के साथ मनाया जाता हैं. इसी दिन 15 अगस्त 1947 को देश के सभी नागरिको को आजाद रहने जो चाहे जब चाहे करने का हक़ मिला था. जो सपना 1857 के क्रांतिकारियों ने देखा था आखिर वो 14 अगस्त 1947 की रात को पूरा हो गया था.आपकों बता दे आजादी के साथ ही भारत का पूर्व निर्धारित विभाजन भी हो चूका था. इस वजह से भारत से एक दिन पहले यानि 14 अगस्त को पाकिस्तान अपना स्वतंत्रता दिवस मनाता हैं, जबकि 15 अगस्त को भारत अपना आजादी का दिन मनाता हैं.

करीब 90 वर्षो की खुनी लड़ाई और 200 वर्षो तक के अंग्रेजो के अत्याचारी शासन को उखाड़ने के लिए हजारो-लाखो स्वतन्त्रता प्रेमियों ने अपनी जान की बाजी लगा दी थी. इसी कारण हम 15 अगस्त को वीर शहीदों की याद में आजादी का यह जश्न मनाते हैं.

स्वतंत्रता का अर्थ (Meaning of Freedom)

व्यवहारिक जीवन में स्वतन्त्रता का अर्थ इस Independence Day Essay की शुरूआती पक्तियों में बताया जा चूका हैं. यदि हम स्वतन्त्रता शब्द के निर्माण पर नजर डाले तो स्व तथा तंत्र शब्दों से मिलकर बने स्वतन्त्रता के दो अर्थ होते हैं. सकारात्मक और नकारात्मक.

नकारात्मक स्वतंत्रता– व्यक्ति पर किसी दुसरे की कोई पाबंदी ना हो, वह जो चाहे वो कर सकता हैं. उसकी मर्जी के खिलाफ कोई शासन या सता निर्थक हैं. वह बिना किसी प्रकार की रुकावट के कोई भी कार्य कर सकता हैं.

सकारात्मक स्वतंत्रता- ये आजादी का दूसरा रूप हैं, जो सभी देशो में अपनाया जाता हैं. इसमे व्यक्ति को सभी तरह की स्वतंत्रता तो मिलती हैं. मगर उनके साथ कुछ उपबन्ध भी जुड़े होते हैं. इसके अतिरिक्त देश की मुख्य नियम प्रणाली जिन्हें सविधान भी कहा जाता हैं, उनकी पालना करनी पडती हैं. इस स्वतंत्रता में एक व्यक्ति को स्वय की स्वतंत्रता का उपयोग करते हुए दुसरे व्यक्ति की आजादी का भी ध्यान रखना पड़ता हैं.

स्वतंत्रता दिवस का महत्व (Importance of Independence Day)

किसी व्यक्ति अथवा राष्ट्र के लिए स्वत्रन्त्रता का बहुत बड़ा महत्व हैं,एक गुलाम मुल्क की कोई पहचान नही होती हैं.न ही किसी तरह के सम्बन्ध अन्य राज्यों के साथ बना सकता हैं. स्वतंत्रता और अधिकार एक दुसरे के पूरक हैं. स्वतंत्रता के बिना अधिकार कोई महत्व के नही होते हैं. स्वतंत्रता को व्यक्ति का प्राक्रतिक मौलिक अधिकार हैं, जिन्हें कोई हडप या छीन नही सकता हैं. मगर कुछ ताकतवर मुल्क ऐसा करने से पीछे नही हटते हैं.

स्वतंत्रता ही एक राष्ट्र की पहचान होती हैं, एक स्वतंत्र मुल्क ही अपने फैसले स्वय ले सकता हैं. अपना विकास कर सकता हैं, दुसरे राष्ट्रों के साथ अपने राजनितिक आर्थिक सम्बन्ध स्थापित कर सकता हैं.

भारत का स्वतंत्रता दिवस 15 अगस्त 2021 (Independence Day of India 15th August 2021)

हम आजाद हुए आज 75 साल हो चुके हैं, यह दिन एक अमूल्य आजादी की प्राप्ति की खातिर अपनी जान न्योछावर कर देने वाले वीरो को याद करने का हैं. साथ ही यह दिन हैं हमारी वर्तमान स्थति का विश्लेषण करने का. आजादी के इन 75 वर्षो में हमने क्या पाया और क्या खोया.

15 अगस्त 1947 के दिन भारत के प्रधानमन्त्री जवाहरलाल नेहरु ने लाल किले की प्राचीर से तिरंगा फहराया था. उसी परम्परा का निर्वहन करते हुए इस बार भी प्रधानमन्त्री श्री नरेंद्र मोदी राजपथ चौराहे की परेड और किले की प्राचीर के राष्ट्र को सम्बोधित भी करेगे.

Paragraph On Independence Day In Hindi

आप सभी को स्वतंत्रता दिवस की हार्दिक शुभकामनाएँ. आज हम यहाँ Paragraph On Independence Day In Hindi का आर्टिकल लेकर आए हैं. स्कूल के बच्चों के लिए 15 August 2021 Paragraph यहाँ Hindi में साझा कर  कर रहे हैं. छोटी बड़ी कक्षा के छात्र व छात्राएं 75 वें स्वतंत्रता दिवस पर Independence Day Paragraph को लिख सकेगे.

15 August Short Essay Speech Paragraphs For Kids

सभी देशप्रेमियों को 75 वें स्वतंत्रता दिवस की ढेरों शुभकामनाए, Paragraph On Independence Day In Hindi में आपके लिए Paragraph On 15 august, Independence Day Paragraph in hindi, essay on independence day 200 words & 150 words for class 4th wikipedia. लेकर आए हैं. पढिए इन शानदार पेरोग्राफ को और अपने बच्चों के लिए सही अनुच्छेद का चयन कर उन्हें लिखाइये.

Paragraph On Independence Day In Hindi 15 August For Kids: Happy Independence Day To All Indians Reader, India Has Been Going To Celebrate Her 73rd Independence Day On 15 August 2021. In Paragraph On Independence Day In Hindi Share With You Short Essay Speech Paragraphs On Independence Day 2021 In Hindi language.

Read Here 15 August Short Essay Speech Paragraph On Independence Day. essay on independence day for class 1,2,3,4,5,6,7,8,9,10 Giving Blow. 5 Line, 10 Line, 100 Words, 200 Words, 250,300,400 and 500 Words swatantrata diwas essay in Hindi Ready Here To Speak For Students And Kids.

Paragraph On Independence Day In Hindi 200 Words For Kids

Short Paragraph on Independence Day:- हम भारत के लोग हर साल 15 अगस्त के दिन को स्वतंत्रता दिवस के रूप में मनाते हैं. आज हमारा देश स्वतंत्र हैं, खुली हवा में देश के नागरिक जी रहे हैं. यह मूल्यवान आजादी हमें आज ही के दिन 15 अगस्त 1947 को प्राप्त हुई थी.

कई सदियों से स्वतंत्रता दिवस की बाट देख रही त्रसित भारत की जनता के लिए देश के पहले प्रधानमंत्री पंडित जवाहर लाल नेहरु ने लाल किले की प्राचीर से तिरंगा फहराया था.

अंग्रेजों की गुलामी की बेड़ियों को तोड़ भारत स्वतंत्रता के इस पल को जश्न के रूप में मनाकर आने वाले सालों में भारत को एक उभरती हुई ताकत के रूप में देखना चाहते थे.

अपनी स्वतंत्रता को एक यादगार बनाने के उद्देश्य से हम हर वर्ष 15 अगस्त को स्वतंत्रता दिवस मनाकर शहीदों को याद करते हैं. इस अवसर पर देश की राजधानी दिल्ली के लाल किले पर मुख्य कार्यक्रम का आयोजन किया जाता हैं. पूरा देश इस पर्व को मनाने की ख़ुशी में मग्न रहता हैं.

देश के नौजवानों द्वारा अपने राष्ट्र की एकता एवं अखंडता को अक्षुण्ण बनाए रखने का संकल्प किया जाता हैं. यह स्वतंत्रता दिवस हमें अपने स्वतंत्रता सैनानियों और देशभक्तों का स्मरण करवाता हैं, भारत के लोग उन पुरुषों के पथ पर चलने का संकल्प लेते हैं. स्वतंत्रता दिवस हमें अपने जाति, धर्म, भाषा, क्षेत्र के भेद को भुलाकर एक तिरंगे के नीचे लाकर नव राष्ट्र निर्माण की प्रेरणा देता हैं.

 Indian Independence Day 2020 Paragraph Kids & Students In Hindi

speech on independence day in hindi pdf-: गुलामी यानि परतंत्रता क्या होती हैं, इनका आभास तो उन्हें ही होता हैं जिन्होंने इनको झेला हैं. आज से 74 साल पूर्व भारत में अंग्रेजों का शासन था. अपने ही देश में भारतियों को अंग्रेजों के हुक्म का पालन करना पड़ता था.

महात्मा गांधी जैसे नेताओं को अंग्रेजों के रेल डिब्बों में यात्रा तक न कर देना, यह अंग्रेजों की भारतीयों के प्रति नफरत का एक संक्षिप्त उदहारण था. वें भारतीयों को ब्लैक मैंन मेन यानि काले इंसान कहा करते थे.

उस जमाने की दास्ता को इन शब्दों के बया करना असम्भव हैं. यह वह दौर था जब अंग्रेजों की पूर्ण मनमानी चलती थी. उन्हें लगता कि कोई व्यक्ति उनके आदेश की अवहेलना करता तो सरे आम उन्हें कोड़े बरसाना, जेल में डालना, गोली मार देना या फांसी पर लटका देना आम बात हुआ करती थी. शायद हर श्वास में इन गोरों की गुलामी की बू थी, जों हमारे पूर्वजों ने सहन की.

जलियांवाला बाग़ हत्याकांड अंग्रेजों के अत्याचारों का प्रमाण था. यही वक्त था कि भारतीयों को अपनी स्वतंत्रता का महत्व मालूम हुआ और संगठित होकर भारत की स्वतंत्रता के लिए संघर्ष करना आरम्भ कर दिया. सभी वर्ग जिनमें महिलाएं, बच्चें, विद्यार्थी अपने कार्यों का बहिष्कार कर अंग्रेज विरोधी हो गये. इस स्वतंत्रता संग्राम में हजारों सैनानियों को जेल जाना पड़ा, कई लोगों को फांसी पर लटका दिया गया. मगर आजादी की यह मांग निरंतर जारी रही.

नेताजी सुभाषचन्द्र बोस ने जापान व दक्षिण एशियाई देशों में रह रहे भारतीयों के सहयोग से अंग्रेजो के खिलाफ मौर्चा खोला दिया. भले ही बोस की आजाद हिन्द फौज भारत को आजाद नही करवा पाई मगर, 15 अगस्त 1947 को मिली इस आजादी में नेताजी जैसे स्वतंत्रता सैनानियों के योगदान को भुलाया नही जा सकता.

Speech & essay on independence day in hindi 200 words Pdf 2021

15 अगस्त अर्थात स्वतंत्रता दिवस का दिन भारत के इतिहास के सबसे महत्वपूर्ण दिनों में से एक हैं. इसी दिन भारत ने ब्रिटिश राज से गुलामी की जंजीरों को तोड़ स्वतंत्रता की स्वर्णिम आभा को देखा था. हर भारतीय को इस दिन का सदियों से देखने का ख़्वाब थी. हजारों जोत इस रोशनी को देखे बिना ही असमय बुझ गई थी.

भारत को स्वतंत्रता किसी के रहमोकर्म से नहीं मिली थी, बल्कि भारत के स्वतंत्रता सेनानियों ने अपना रक्त बहाकर हमारे देश को स्वतंत्र कराया था. इसी दिन पंडित नेहरु ने लाल किले से राष्ट्र ध्वज फहराया था.

आज के दिन इस शुभ अवसर पर देश के माननीय प्रधानमंत्री दिल्ली के लाल किले से ध्वजारोहण कर राष्ट्र को सम्बोधित करते हैं. प्रत्येक नागरिक में विजय पर्व के उपक्क्ष्य में देशभक्ति एवं जूनून देखने लायक होता हैं.

इस दिवस पर राष्ट्र सेवा के लिए अपना जीवन बलिदान कर देने वाले वीरों को याद करने का अवसर हैं. हम आज यह संकल्प ले कि अपने सेनानियों की बताई राह चलकर हम राष्ट्र को उन्नति के शिखर तक ले जाएगे और उनके सपनों का भारत बनाएगे.

स्वतंत्रता दिवस पर अनुच्छेद निबंध, independence day Paragraph in hindi, (600 शब्द)

प्रस्तावना: हमारे देश का आजादी दिवस हर साल अगस्त माह की १५ तारीख को मनाया जाता हैं. इसी दिन वर्ष १९४७ में हम गोरो की गुलामी से स्वतंत्र हुए थे. एक स्वतंत्र देश के रूप में भारत ने अपनी पहचान बनाई थी, यह दिन आजादी के संग्राम में शहिद हुए भारत माँ के सपूतों को याद करने का दिन भी हैं.

एक गौरवशाली राष्ट्र के लिए स्वतन्त्रता दिवस का बड़ा महत्व होता हैं. अतीत से सबक लेते हुए अपने महापुरुषों के सपनों के भारत को बनाने में हमें एकजुट प्रयास करने की प्रेरणा मिलती हैं. प्रत्येक नागरिक इस दिन गर्व से कह उठता हैं मुझे भारतीय होने पर गर्व हैं.

स्कूलों / कॉलेजों में स्वतंत्रता दिवस समारोह: देश भर में 15 अगस्त के दिन राजकीय अवकाश होता है. इस दिन सभी स्कूल तथा कॉलेज में स्वतंत्रता दिवस के कार्यक्रम का आयोजन होता हैं. इस पावन एवं ख़ुशी के अवसर पर शिक्षण संस्थानों में विभिन्न तरह के सांस्कृतिक कार्यक्रमों की प्रस्तुतियां जैसे देशभक्ति गीत, नाटक, कविता, भाषण, निबंध व वाद विवाद प्रतियोगिताओं के आयोजन किये जाते हैं.

कार्यालयों में स्वतंत्रता दिवस समारोह: चूँकि यह दिन करोड़ो भारतीयों की सांझी लड़ाई का विजय दिवस हैं इस कारण देश भर में इस दिन सरकारी एवं निजी कार्यालयों में भी ध्वजारोहण तथा राष्ट्रगान के साथ स्वतंत्रता दिवस मनाया जाता हैं. लोग इस अवसर पर विभिन्न तरह की नवीन पौशाकों पहनते हैं. भारत की विविधता में एकता के दर्शन इस दिन स्पष्ट देखा जा सकता हैं.

आवासीय क्षेत्रों में स्वतंत्रता दिवस समारोह: मोडर्न भारतीय सोसायटी में भी स्वतन्त्रता दिवस के दिन लोग अपने अपने मोहल्ले में स्थानीय स्तर पर तिरंगा फहराकर इस गौरवपूर्ण दिन के कार्यक्रम का हिस्सा बनते हैं. अपनी सोसायटी के पार्क या खुले स्थान में सभी सवेरे एकत्रित होते हैं. पूर्व नियत थीम एवं कार्यक्रम के अनुसार विभिन्न गतिविधियाँ आयोजित की जाती हैं.

पतंगबाजी: वैसे तो देश में पतंग उड़ाने की परम्परा मकर सक्रांति से जुड़ी हुई मानी जाती हैं. मगर ऐसा माना जाता है कि नीले गगन में उडती पतंग आजादी की प्रतीक होती हैं. इसलिए कई स्थानों पर इस दिन पतंगबाजी की गतिविधियाँ भी देखी जाती हैं. जिसमें लोग हर्ष और उल्लास के साथ सम्मिलित होते हैं.

निष्कर्ष: भारत का स्वतंत्रता दिवस अपने नागरिको को आजादी का जश्न मनाने का अवसर देता हैं. लोग अपने अतीत को याद कर पूर्व में हुई भूलों को न दोहराते हुए एक सुनहरे भविष्य का स्वप्न पालते हैं. यह दिन उन वीर सैनानियो को याद करने का अवसर भी हैं जिन्होंने अपनी मातृभूमि की स्वतंत्रता की खातिर अपना जीवन हंसते हंसते कुर्बान कर दिया था.

Essay On Independence Day In Hindi 200 Words

Hey, Students And Friends Here You Get Essay On Independence Day In Hindi 200 Words for students They Read In Class 1,2,3,4,5,6,7,8,9,10 And Searching 15 August 2021 Short Essay in 100, 150, 200, 250, 300, 400, And 500 words. Long And Short independence day essay For Students, Kids, Children, Teachers Can Use This Short Essay As Your Topic 5 Line, 10 Line To Say Something On Indian Independence Day 2018. सभी भारतीयों को HIHINDI.COM की तरफ से हार्दिक शुभकामनाएं, आज आपके लिए independence Day यानि 15 August 2021 पर Short Essay विभिन्न शब्द सीमा में प्रस्तुत कर रहे हैं.

75 वें स्वतंत्रता दिवस पर निबंध (इंडिपेंडेंस डे एस्से): हम सबकी शान तिरंगा है हमारी पहचान तिरंगा है, जी हैं भारत 15 अगस्त 2021 को अपना 75 वां स्वतंत्रता दिवस हर्षोल्लास के साथ मनाने जा रहा हैं. एक लम्बे अरसे तक की गुलामी के बाद भारत के लोगों को स्वतंत्रता के सूरज का भान इसी दिन हुआ था. तभी से हम 15 अगस्त को स्वतंत्रता दिवस के रूप में मनाते आए रहे हैं.

15 august independence day speech in hindi language: हमारे राष्ट्रीय उत्सव स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर स्कूल में कार्यक्रमों का आयोजन होता हैं. जहाँ बच्चों को भाषण, निबंध, देशभक्ति कविता नारे, स्लोगन, गीत, शायरी आदि को बोलने के लिए आमंत्रित किया जाता हैं. स्टूडेंट्स इस निबंध की मदद से स्वतंत्रता दिवस पर भाषण 2021 की अच्छी तैयारी कर सकते हैं.

15 August 2021 Short Essay For Students

15 अगस्त को हम भारत की स्वतंत्रता का जन्म दिवस भी कह सकते हैं. इसके पीछे कि वजह आप सब को मालुम ही होगी, क्योंकि इसी दिन हमारा भारत देश गोरों की 200 वर्षों की लम्बी गुलामी के बाद स्वतंत्र हुआ था.

भारत पर विदेशियों के शासन की शुरुआत तो 12 वीं सदी में ही अफगानों के आक्रमण के साथ शुरू हो गई थी. इससे पूर्व भारत में हिन्दू शासकों का राज्य हुआ करता था.अंग्रेजों का भारत में आगमन एक नई रणनीति के तहत हुआ था उन्होंने  शासकों को व्यापार के लाभ के बहाने झांसे में लेकर एक व्यापारी के तौर पर भारत में रहने की अनुमति मांगी थी.

अपनी कूटनीति एवं मुगल शासकों के पारिवारिक झगड़ों में व्यस्त होने के अवसर को देखकर अंग्रेजों ने दिल्ली की सत्ता प्राप्त कर ली थी.

आधुनिक युग में भारतीय स्वतंत्रता सैनानियों के अथक प्रयास के बाद भारत को स्वतंत्रता दिलाने में कामयाबी हासिल की. हालांकि इस संघर्ष में भारत को कई अपने अहम हिस्सों को भी खोना पड़ा. 1905 का बंगाल विभाजन, 1947 में भारत पाकिस्तान विभाजन और अंग्रेजों ने जाते जाते कश्मीर को भी विवादित बना दिया, जिसका परिणाम आज दोनों देश भुगत रहे हैं.

देश की जनता की इच्छा के विरुद्ध अंग्रेजों ने पहले बंगाल के टुकड़े किए, फिर उन्होंने भारत के टुकड़े कर दिए. तत्पश्चात आखिर 15 अगस्त 1947 के दिन भारत को आजादी और पहली बार दिल्ली के लाल किले पर यूनियन जैक की जगह तिरंगा झंडा फहराया गया था.

Short Speech Independence Day Essay In Hindi 200 Words Part- 2

15 अगस्त हमारा राष्ट्रीय पर्व हैं, हर साल इसे हम बड़े धूम धाम के साथ मनाते हैं. सभी छोटे बड़े विद्यालयों  महाविद्यालयों में छात्र इस ऐतिहासिक उत्सव को बड़े उल्लास एवं उत्साह के साथ आयोजित करते हैं. हमारे विद्यालय में भी विगत वर्षों की तरह इस साल भी स्वतंत्रता दिवस 2021 हर्षोल्लास के साथ मनाया जा रहा हैं. स्कूल के सभी छात्र छात्राएं पूर्व निर्धारित समय के अनुसार विद्यालय प्रांगण में एकत्रित हुए, सभी अध्यापक भी इस अवसर पर उपस्थित रहे.

कार्यक्रम अपनी रुपरेखा के अनुसार आगे बढ़ा, हमारे प्रधानाचार्य जी मंच का संचालन कर रहे थे. उन्होंने छात्रों को प्रभात फेरी में चलने का संकेत किया. छात्र तीन तीन की लाइन में सड़क पर चल रहे थे. पकती में आगे वाले छात्र के हाथ में तिरंगा था, वे सभी देशभक्ति गीत तथा भारत माता की जय, वन्दे मातरम के नारे बुलंद कर रहे थे.

प्रभात फेरी के बाद छात्रों की टोली विद्यालय प्रांगण में पहुची, मुख्य अतिथि महोदय द्वारा ध्वजारोहण के पश्चात सभी छात्रों ने तिरंगे की सलामी दी. अब बारी थी 15 अगस्त के सांस्कृतिक कार्यक्रम की, कार्यक्रम में बच्चों ने देशभक्ति भाषण, देशभक्ति कविताएँ, और शहीदों के लिए देशभक्ति गीतों के मार्मिक सुरों से प्रांगण में तालियों की गडगडाहट चलती रही, अंत  में मिष्ठान वितरण के साथ ही मेरे विद्यालय का स्वतंत्रता दिवस कार्यक्रम समापन हुआ.

Essay On Independence Day In Hindi 200 Words independence day essay & Speech- 3

राष्ट्रीय स्तर पर 15 अगस्त पर्व का मुख्य आयोजन दिल्ली के लाल किले में हर वर्ष आयोजित किया जाता हैं. इस समारोह को देखने के लिए भारी संख्या में जनसमूह उमड़ आता हैं, इस अवसर पर लाल किले का प्रांगण एवं सड़के खचाखच भर जाती हैं. यहाँ प्रधानमंत्री जी के आगमन के साथ ही कार्यक्रम का शुभारम्भ हो जाता हैं.

सेना के तीनों अंगों जल, थल और वायु सेना की टुकडियां और एनसीसी के केडिट सलामी देकर प्रधानमंत्री का अभिनन्दन स्वीकार करते हैं.

साथ ही देश के प्रधानमन्त्री लाल किले के सम्मानीय मंच पर जाकर समस्त देशवासियों का अभिनन्दन व स्वागत करते हैं तथा राष्ट्रीय ध्वज तिरंगे को फहराने के साथ ही कार्यक्रम की विधिवत शुरुआत हो जाती हैं. ध्वजारोहण के समय सेना की 21 तोपों द्वारा तिरंगे झंडे को सलामी दी जाती हैं.

इसके बाद इसी मंच से प्रधानमंत्री राष्ट्र के नाम संबोधन देते हैं, जिसमें सरकार के अहम कार्यों को जनता के सामने लाया जाता है व पड़ोसी देशों को भी इस देश प्रधान्मन्त्री द्वारा संदेश दिया जाता हैं. इस कार्यक्रम का सीधा प्रसारण सभी न्यूज चैनल्स पर लाइव दिखाया जाता हैं. प्रधानमंत्री के भाषण की समाप्ति पर उनके द्वारा तीन बार जय हिन्द का नारा उद्घोष किया जाता हैं, वहां उपस्थित लाखों लोग देश के नायक की राग में राग मिलाते हैं.

आजादी दिवस के इस अवसर पर देश के सभी निजी एवं सरकारी स्कूलों कॉलेजों एवं दफ्तरों में शान से तिरंगा फहराकर राष्ट्र गान गाया जाता हैं. अलग अलग प्रकार के कार्यक्रमों का आयोजन किया जाता हैं. समारोह के अंत में प्रतिभाशाली बालकों एवं कार्यक्रम में शिरकत करने वाले बच्चों को पुरूस्कार देकर सम्मानित किया जाता हैं. तथा मिष्ठान वितरण के साथ इस आयोजन का समापन होता हैं.

आज का दिन मंगल पांडे, सुभाषचंद्र चंद्र बोस, भगतसिंह, रामप्रसाद बिस्मिल, रानी लक्ष्मीबाई, महात्मा गांधी, अशफाक उल्ला खां, चन्द्र शेखर आजाद, सुखदेव, राजगुरु जैसे अनगिनत उन वीर सपूतों को याद करने का अवसर हैं. जिन्होंने देश को गुलामी की बेड़ियों से मुक्त करने के लिए अपनी जान दांव पर लगा दी थी. प्रत्येक नागरिक को इस दिन अपने वीर अमर सपूतों की कुर्बानी का स्मरण करना चाहिए.

Swatantrata Diwas 15 august shayari in hindi 2021

न हिन्दू बन के देखू
ना मुस्लिम बन के
सपूतों की इस लड़ाई में
बस मेरी भारत माँ को देखू.


15 august shayari In Hindi

संस्कार और संस्क्रति की सान मिले ऐसे,
हिंदू-मुसलमान और हिंदुस्तान मिले ऐसे
सब मिलजुल के रहे ऐसे की
मंदिर में अल्लहा और मसिज्द में प्रभुराम मीले जेसे.


15 august shayari hindi

गुजराती की तरह कार्य करें;
एक राजस्थानी की तरह खाओ;
बीगी ~ एनगल की तरह गाओ;
पंजाबी की तरह नृत्य;
कश्मीरी की तरह मुस्कान;
गोवा की तरह जीवन जीना;
और हमेशा एक भारतीय होने का मज़ा लेते हैं!
स्वतंत्रता दिवस की शुभकामनाएं


hindi shayari on independence day

कुछ नशा तिरंगे के आन का,
कुछ नशा मातृभूमि की शान का,
हर जगह लहराए ये तिरन्गा,
नसा ये हिन्दुस्थान की शान का हैं ||

Swatantrata Diwas 15 august Kavita in hindi

independence day poem in hindi

अगर आजादी को बचाना चाहते हो, तो देश के लिए लहू बहाना होगा
जो देश की खातिर जीते-मरते हैं, उनके आगे अपना शीश झुकाना होगा
जो चाहते हो, जय हिन्द का नारा बुलंद रहे, तो तुम्हें सुभाष बन जाना होगा
अगर अकबर को उसकी औकात दिखानी है, तो खुद को प्रताप बनाना होगा………………
मुगलों से लोहा लेना है, तो शिवाजी बनकर आना होगा
गौरी को मौत की नींद सुलानी है, तो पृथ्वीराज सा बाण चलाना होगा
अगर अंग्रेजों के छक्के छुड़ाने हो, तो लक्ष्मीबाई बन जाना होगा………
कभी मंगल, कभी भगत, तो कभी आजाद बनकर धरती में आना होगा…………

जाति धर्म देखे बिना, देशद्रोहियों को अपने हाथों से मिटाना होगा
नई पीढ़ी को अभिमन्यु सा, गर्भ में देशभक्ति का पाठ पढ़ाना होगा
तुम्हें व्यक्तिवाद छोड़कर राष्ट्रवाद अपनाना होगा…………
हर व्यक्ति में भारतीय होने का स्वाभिमान जगाना होगा………
लोकतंत्र को स्त्तालोलुपों से मुक्त कराना होगा
देशभक्ति को भारत का सबसे बड़ा धर्म बनाना होगा
वीरता की परम्परा को आगे बढ़ाना होगा……………
हर भारतीय को देश के लिए जीना सिखाना होगा……

poem on independence day

आज फिर 15 अगस्त हैं.
आजादी के 75 साल बाद भी.
स्वराज प्राप्ति के बाद भी
अर्थव्यवस्था सुस्त पड़ी हैं,
देशभर में सभी जगह
तिरंगा फहराया जाएगा.

.भारत माता की जय का नारा
उद्घोष किया जाएगा||
राष्ट्रगान गाया जाएगा,
इस तरह एक और
15 अगस्त मनाया जाएगा,
देश के नेता मदमस्त हैं.
भ्रष्टाचारीयों ने देश को कर,
अस्त-व्यस्त हैं.
देश के युवा आज पथ भ्रष्ट हैं.
भोग रहे बेरोजगारी का
सर्वव्यापी कष्ट हैं.
और अपना जीवन कर रहे हैं नष्ट
देश के युवाओं में आए जाग्रति
इसी में व्याप्त हैं, देश की उन्नति
बेरोजगारी भ्रष्टाचार के संग हो जाए सती
इन नेताओं की भी कभी सुधर जाए मती
अव्यवस्था और अन्याय की हो रही अति
आर्थिक विकास की रुक रही गति
जिसे अब अवश्य मिलनी चाहिए
एक नई गति
एक नई गति
एक नई गति

15 august 2021 independence day speech in hindi

सभी पाठकों को स्वतंत्रता दिवस की हार्दिक बधाई और शुभकामनाएं. क्यों हमे याद आता देश अथवा हमारे शहीद जब 15 अगस्त अथवा 26 जनवरी हो. क्या जरुरी हैं तभी हमारी देशभक्ति जगे. या फिर यु कहे इसे ही कहा जाता हैं. देशभक्ति कि राष्ट्रिय पर्व पर एक दो शायरी sms इधर-उधर कर दो हो गया इति श्री ? जी नही ऐसा तो नही हैं. जब भक्ति मातृभूमि भूमि से हो और प्यार देश से वही कहलाती हैं देशभक्ति. कौन हैं सच्चा देशभक्त यह हमारा विषय नही हैं. मगर कौन देशद्रोही हैं इसकी पहचान करना बेहद कठिन हैं, इस राष्ट्रभक्ति के मुखोटे में तो सभी समाएँ हैं. बस इनकी पहचान कर सात दिन में 1 घंटा भी अपने देश को देने का सकल्प हर सपूत ले तो क्या भ्रष्टाचार क्या आतंकवाद ?

15 अगस्त हमारे इतिहास का एक ऐतिहासिक और यादगार दिन हैं. हमने आपके लिए स्वतंत्रता दिवस 2021 के लिए हिंदी शायरी, कविता, निबंध और भाषण उपलब्ध करवा रहे हैं. हर किसी में देश के प्रति अगाध प्रेम होता हैं, 15 अगस्त और ऐसे राष्ट्रिय पर्वो पर यह देशप्रेम कई गुना बढ़कर हिलोरे मारने लगता हैं, इसे बया करना उतना आसान नही होता हैं. आज के इस लेख में हम आपकी पूरी मदद करने की कोशिश कर रहे हैं. स्वतन्त्रता दिवस के इस अवसर पर आप भी अपनी बात कुछ बेहतर तरीके से रख पाए.

स्वतंत्रता दिवस भाषण 2021

मेरे प्यारे गुरुजनों भाई और बहिनों सबसे पहले तो आपकों 74 वे स्वतंत्रता की बहुत बहुत बधाई. जैसा कि हम सभी जानते हैं 15 अगस्त और 26 जनवरी हमारे राष्ट्रिय त्यौहार हैं. जिन्हें हम हर वर्ष बड़े हर्षोल्लास के साथ पिछले 70 वर्षो से मनाते आ रहे है.
यदि आज हम स्वतंत्र हैं तो इनका श्रेय हमारे उन लाखों भारत माँ के शहीद सपूतों को जाता हैं.जिनके मातृभूमि प्रेम और साहस की वजह से हैं. हमारा कर्तव्य बनता है कि हम अपने वीर शहीदों द्वारा दी गईं स्वतंत्रता का सही उपयोग करते हुए, भारत को नये मुकाम तक ले जाए. जैसा उन सपूतों ने भारत का सपना देखा था. हम उसे पूरा कर दिखाएँ.

हमें यह कहते उतना अहसास नही होता कि भारत 1947 से पहले तक 200 वर्षो तक अंग्रेजो का गुलाम रहा था. गुलामी क्या होती हैं इन्हे हम नही समझ सकते क्युकि हम आजाद भारत में जन्मे. हमने वो कुछ भी नही भुगता जो हमारे पुरखों ने कई पीढियों तक भोगा था.

यदि राह चलते हमे यह कह दे कि कल यहाँ से मत निकालना तो हमे कितना उस इंसान पर गुस्सा आता हैं, उससे घ्रणा होती हैं. तेरे बाप का राज हैं क्या, या तू बताएगा मुझे कहना चलना हैं. ऐसे शब्द स्वत: ही निकल जाते हैं. इसी वजह हमारी आजादी हैं. जो लम्बे सघर्ष के बाद 15 अगस्त 1947 को मिली थी.

Swatantrata Divas Hindi bhashan

मगर उस समय हम वो सब कुछ नही कर पाते थे, जो हम करना चाहते थे हमारा जी चाहता था. क्युकि ऐसा करने से रोकने वालों के बाप का राज था. जी हुजुर या चुपके से ही अंग्रेजो की इच्छा के खिलाफ के कार्य को किया जा सकता था.

मगर इस वीर भूमि पर ऐसे भी सपूत जन्मे जिनमे सुभाषचन्द्र बोस, भगतसिंह, चन्द्रशेखर आजाद, लाला लाजपत राय, महात्मा गाँधी जैसे नेताओं ने गोरों के जेहन में वो खोफ भर दिया. जिस कारण भारत में लम्बे समय तक शासन चलाना उनके वश की बात नही रही.

ऐसा तभी संभव हो पाया, जब इन बहादुरों ने गोलियों का जवाब गोलियों और गोले का जवाब गोले से दिया. इन राष्ट्रभक्तो ने भारत की स्वतंत्रता के लिए अपनी पूरी जिन्दगी खफा दी, और हसते-हसते मौत का फंदा गले में डाल दिया था. क्युकि उन्हें इस भारत भूमि से प्रेम था, अपनी आने वाली नस्लों को आजादी के सूर्य की खातिर अपने बलिदान देने से नही झिझके थे.

कम से कम आज स्वतंत्रता दिवस पर ही सही हमे विरासत में मिली खून से सनी इस आजादी का उपयोग हमने कितना किया, अपने शहीदों के सपने के भारत बना पाए कि नही. इनके सवाल और जवाब किसी से अपरिचित नही हैं. आज भी हम कई ऐसी कठिनाइयो से गुजर रहे हैं. जो समय भी थी. ठीक हैं हम सभी समस्याओं का निदान नही कर पाए, जिनमे धीरे सुधार कर रहे हैं. मगर उन शहीदों को भ्रष्टाचार,आतंकवाद,और देशद्रोही जैसे सवालों के जवाब क्या देगे. यह समस्याएं से हमने ही पैदा कर हमारे भारत को और मुश्किल में डालने का काम किया हैं.

speech on 15 august in hindi

यदि इन सबके पीछे सौ बात की एक बात जाने तो वह यह हैं कि हम कर्तव्यहिन् हैं, आलसी हैं. बेवकूफ हैं. अंग्रेज हम पर ज्यादा वर्षो तक इसलिए गुलाम रख सके क्युकि उन्होंने हिन्दुओ और मुसलमानों को आपस में लड़ाए रखा. और उनकी दूकान चलती रही. अंग्रेज तो चले गये मगर अपनी कुछ संतानों यहाँ छोड़ गये जो कभी राजनीती तो कभी फिल्म जगत में साफ़ दिखती हैं. उस समय लाखों की तादाद में अंग्रेज थे. आज करोड़ो की संख्या में हो सकते हैं. जो हमे आपस में बाटे रखकर अपने काम में व्यस्त हैं.

हम इंसान को अभी तक उनकी बाहरी छवि को पहचानने लगे हैं जल्दी ही हमे मन के मैले राष्ट्र विरोधियो को उनके सही स्थान पर पहुचाने की आवश्यकता हैं.

आज हम स्वतंत्रता दिवस पर यह प्रण करे गाँधी और बुद्ध की इस पावन धरा पर जहर बेचने वालों को उन्ही के अंदाज में जवाब दे, क्युकि अभी नही तो कभी नही, हो सकता हैं इस बार अंग्रेजो या किसी और को दूर देश से यहाँ आकर राज करने की नौबत ना आए. इनकी तादाद को नियंत्रित कर उन्हें सम्पूर्ण नष्ट किया जाना ही भारत के बेहतर भविष्य का एकमात्र रास्ता हो सकता हैं.

Essay On Independence Day For School Children 15 August Kids Essay Hindi 2021

Essay On Independence Day For School Children 15 August Kids Essay Hindi 2021 Here  Short Small school-going children & kids Desire To Know About Indian Independence Day, By Reading This Simple Essay On Independence Day 2021 For School Children. 15 August Kids Essay Tell You About The Importance, History Of Indian Freedom Struggle. This Essay On Independence Day Mostly Can Be Used For Class 1,2,3,4,5,6,7,8,9,10,11,12 School Children Students For Essay Or Speech On Indian 76th Independence Day Celebration 2021.

Independence Day of India is celebrated on the 15th of August every year. It was on this day India got its Independence from the British, who ruled our country for 200 years, in the year 1947, after many struggles and sacrifices made by our freedom fighters.

It was on this day, Pt. Jawaharlal Nehru, the first Prime minister of India unfurled our national flag at the Red Fort for the first time. This day is celebrated to remind ourselves of all the sacrifices made by all the people who fought for freedom and to celebrate the victory of independence.

Independence Day Essay For School Children In Hindi

Essay On 15 August For School Children: हमारा राष्ट्रीय पर्व 15 अगस्त का सम्पूर्ण देश जश्न मना रहा हैं. लम्बे अरसे से स्कूल के बच्चों को इंडिपेंडेंस डे का इंतजार रहता हैं. अन्तोगत्वा भारत अपना 74 वाँ आजादी दिवस मना रहा हैं. इस अवसर पर समस्त देशवासियों को स्वतंत्रता दिवस की हार्दिक शुभकामनायें देते हैं.

स्कूल चिल्ड्रन के लिए इंडिपेंडेंस डे के प्रति अलग ही कौतूहल होता हैं. उन्हें इस दिन भारतीय स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर स्कूल सेलिब्रेशन कार्यक्रम में स्पीच, एस्से पॉएम, देशभक्ति शेरो शायरी गीत नाटक आदि प्रस्तुत करने का अवसर भी मिलता हैं.

कक्षा 1,2,3,4,5,6,7,8,9,10 के School Children के लिए यहाँ सरल भाषा में Independence Day Nibandh दिया गया हैं विविध शब्दसीमा यथा 5, 10, 15 लाइन (Lines) 100, 200, 250, 300, 400, 500, 1000 शब्दों (Words) में 15 पन्द्रह अगस्त (15 August ) का सरल निबंध स्कूल के लिए (Simple essay for school) यहाँ दिया गया हैं.

5 lines on independence day & essay on independence day for class 2 में दी गई जानकारी आपकों पसंद आई होगी, 15 अगस्त के दिन के निबंध भाषण की तैयारी के लिए निबंध की खोज में लग जाते हैं. छोटा बड़ा हिंदी, अंग्रेजी, मराठी, गुजराती, बंगाली, तमिल, पंजाबी, उड़िया, तमिल, तेलगू, मलयालम आदि भाषाओं में भारतीय स्वतंत्रता दिवस का निबंध दिया गया हैं.

स्वतंत्रता दिवस पर निबंध 2021 Essay on Independence Day In Hindi

Independence Day Essay In Hindi 2021 : 15 अगस्त सन 1947 का दिन भारतीय इतिहास में महत्वपूर्ण स्थान रखता है. यह वह दिवस है जिस दिन हमे अंग्रेजो से आजादी मिली थी जिससे पुरे देश में हर्ष की लहर दौड़ पड़ी थी. तथा इसी दिन दिल्ली का लाल किला तिरंगे से सुशोभित हुआ था. इसके साथ ही भारत से विदेशी सता का खात्मा हुआ. इसी समय भारतीय जनता ने अपनी सरकार स्थापित की.

स्वतंत्रता दिवस मनाने का कारण- 15 अगस्त का दिन वर्ष 1947 के पश्चात प्रतिवर्ष हमारे स्वतंत्रता दिवस के रूप में मनाया जाता है. इस दिन को मनाने का मुख्य कारण देश की आजादी की खातिर शहीद हुए तमाम लोगों को श्रद्दांजलि अर्पित करना.

तथा कड़े सघर्ष से प्राप्त बहुमूल्य आजादी को निरंतर बनाए रखना. हर साल स्वतंत्रता दिवस का दिन एक महत्वपूर्ण राष्ट्रिय दिवस के रूप में पुरे देश में मनाया जाता है.

विभिन्न कार्यक्रम- स्वतंत्रता दिवस का कार्यक्रम हर साल सरकार व् पुरे देश की जनता द्वारा बड़े धूमधाम तरीके से मनाया जाता है. देश के हर कोने में इस पर्व को मनाया जाता है.

स्कुलो तथा कोलेजो में प्रातकाल से ही विभिन्न प्रकार के कार्यक्रम आयोजित किये जाते है. गाँवों तथा शहरों में प्रभात फेरिया व देशभक्ति गीत गाए जाते है. देश व् विभिन्न राज्यों के राजधानी शहर में यह दिवस ध्वरोहण के साथ हर्षोल्लास से मनाया जाता है.

इस दिन राष्ट्रिय कार्यक्रम में प्रधानमन्त्री व् राज्य स्तरीय समारोह में मुख्यमन्त्रियो द्वारा ध्वजारोहण किया जाता है. स्वतंत्रता दिवस पर हमारे राष्ट्रिय ध्वज के सम्मान में 21 तोपों की सलामी देकर गोले दागे जाते है.

लाल किले की प्राचीर से प्रधानमन्त्री महोदय झंडा फहराकर विशाल जन समूह को संबोधित करते है. दिल्ली के राजपथ में आयोजित इस स्वतंत्रता दिवस का सीधा प्रसारण आकाशवाणी तथा कई अन्य टीवी चैनल्स पर किया जाता है.

इस दिन देश के सभी सरकारी और निजी कार्यालयों में ध्वजारोहण के साथ राष्ट्रगान गाया जाता है. रात के समय सभी शहरों और कस्बो को रौशनी से जगमगा दिया जाता है. सभी देशवासी प्रसन्नता व् हर्ष से स्वतंत्रता दिवस के इस राष्ट्रिय उत्सव को बड़े धूमधाम से मनाते है.

उपसहार-भारत के इतिहास में स्वतंत्रता दिवस (15 अगस्त ) का दिन हमेशा अमर रहेगा. हर साल यह दिन देशवासियों में नया जोश और जूनून लेकर आता है.

वास्तव में यह दिन हमारे देश का महत्वपूर्ण राष्ट्रिय पर्व है. हमे हर साल इसे अत्यधिक जोश और उत्साह के साथ मनाना चाहिए.

essay on independence day 2021 in hindi for class 5

स्वतन्त्रता दिवस निबंध | Essay on Independence Day in Hindi … of Essays on ‘Independence Day’ for the students of Class 3, 4, 5, 6, 7, 8, 9, 10: प्रस्तावना- अपनी स्वतंत्रता पर गर्व करना किसी भी देश के लिए गौरव की बात हैं. स्वतंत्रता प्राप्ति करने में लाखों वीर बलिदान हो जाते हैं. शहीदों की स्मृति को बचाए रखने तथा स्वतंत्रता पर गर्व करने के लिए स्वतंत्रता दिवस समारोह हमारे देश में प्रतिवर्ष 15 अगस्त को मनाया जाता हैं.

15 अगस्त स्वतंत्रता दिवस मनाने का कारण– हमारा देश सदियों की परतन्त्रता के बाद 15 अगस्त 1947 को आजाद हुआ. इस शुभ दिन के लिए न जाने कितने वीरों ने अपनी जान न्यौछावर कर दी. इस दिन लाल किले पर हमारा राष्ट्रीय ध्वज तिरंगा मुक्त आकाश में फहर उठा. सभी भारतवासियों ने इसी दिन गुलामी की जंजीरों से मुक्ति पाई. इस दिन बलिदानियों को श्रद्धा के साथ याद किया जाता हैं.

विभिन्न कार्यक्रम– स्वतंत्रता दिवस हमारा राष्ट्रीय पर्व हैं. इस पावन पर्व को सरकार एवं जनता दोनों धूमधाम से मनाते हैं. दिल्ली के लाल किले पर प्रधानमंत्री राष्ट्रध्वज फहराते हैं. तथा सैनिक राष्ट्रध्वज को सलामी देते हैं. सरकारी कार्यालयों विद्यालयों तथा महत्वपूर्ण संस्थाओं में राष्ट्रध्वज फहराएं जाते हैं. तथा विभिन्न सांस्कृतिक कार्यक्रमों का आयोजन किया जाता हैं. संसद भवन, विधानसभाओं एव विभिन्न सरकारी भवनों पर रंग बिरंगी रोशनी की जाती हैं.

पूरे दिन राष्ट्रभक्ति एवं देशप्रेम के गीत गूंजते हैं. आकाशवाणी एवं दूरदर्शन राष्ट्रभक्ति के विभिन्न कार्यक्रम प्रस्तुत करते हैं. देश के सभी नगरों में तथा गाँव गाँव में स्वतंत्रता दिवस समारोह धूमधाम से मनाया जाता हैं.

उपसंहार– हमें स्वतंत्रता दिवस समारोह मनाने की औपचारिकता ही पूरी नही करनी हैं. बल्कि हमे यह संकल्प लेना होगा कि देश की स्वतंत्रता की रक्षा के लिए प्राण भी देकर स्वतंत्रता दिवस समारोह के आयोजनों का लक्ष्य पूरा हो सकेगा.

यह भी पढ़े

मित्रों स्वतंत्रता दिवस 2021भाषण निबंध  का ये लेख आपकों कैसा लगा, हमारे लिए Independence Day Essay 2021 In Hindi स्वतंत्रता दिवस निबंध इस लेख के बारे में कोई सुझाव या सलाह के लिए हमे आपके कमेंट का इन्तजार रहेगा.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *