जसप्रीत बुमराह का जीवन परिचय Jasprit Bumrah Biography In Hindi

जसप्रीत बुमराह का जीवन परिचय Jasprit Bumrah Biography In Hindiआपने भारतीय क्रिकेट टीम के तेज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह के बारे में जरूर सुना होगा? क्या आप भी बुमराह के परिवार, करियर उनकी पसन्द नापसंद की जानकारी प्राप्त करना चाहते हैं। तो आज के इस आर्टिकल के माध्यम से हम आपको जस प्रीत के बारे में पूरी जानकारी बताएंगे जैसे कि उनका जन्म कब हुआ था, उनका पूरा नाम क्या है, वह कहां के रहने वाले हैं और उनके क्रिकेट करियर की शुरुआत कहां से हुई और अभी वह कहां पर है।

जसप्रीत बुमराह का जीवन परिचय Jasprit Bumrah Biography In Hindi

जसप्रीत बुमराह का जीवन परिचय Jasprit Bumrah Biography In Hindi

इसके अलावा हम आपको जस प्रीत की बारे में और भी जानकारी बताएंगे जो कि उनके बारे में खास है और उनके प्रशंसकों के लिए जानना बेहद जरूरी है। तो चलिए जसप्रीत बुमराह के बारे में जानना शुरू करते है।

जसप्रीत बुमराह का जन्म 

जसप्रीत बुमराह का पूरा नाम जसप्रीत जसवीर सिंह बुमराह है। उनका जन्म 6 दिसंबर 1993 को गुजरात के अहमदाबाद शहर में ही हुआ था। जस प्रीत बमराह देश की क्रिकेट टीम के लिए तेज गेंदबाजी करने के लिए जाने जाते हैं। 

बुमराह दाएं हाथ की एक तेज गेंदबाज है जो 140 और 145 के बीच तेज गति से गेंदबाजी कर सकते हैं। जस प्रीत ने अब तक कई बार अपनी बेहतरीन यॉर्कर डिलीवरी से कई खतरनाक बल्लेबाजों को धूल चटाई  है। इसी के चलते जस प्रीत बमराह का नाम पूरे विश्व में यॉर्कर किंग के नाम से भी जाना जाता है। 

इसके अलावा शुरुआती ओवरों में जसप्रीत इनस्विंग करने में भी माहिर है, विशेषकर जब शुरुआती ओवरों में पावर प्ले चलता है, उस दौरान सिर्फ दो फील्डर ही 30 गज के दायरे के बाहर आते हैं। 

बुमराह अपने खतरनाक इनस्विंग के माध्यम से बल्लेबाजों को आउट करते हैं जिसकी वजह से भारत अपने विरोधियों को शुरुआती झटके दे देता है और मैच में अपनी पकड़ बना लेता है। 

जसप्रीत बुमराह का परिवार 

बता दें कि बुमराह के पिता का देहांत बहुत जल्दी हो गया थी। जब जसप्रीत सिर्फ 7 साल के थे तभी उनके सर से अपने पिता का साया उठ गया था।

लेकिन फिर भी उनकी मां ने हार नहीं मानी और जस प्रीत बमराह और उनकी छोटी बहन का पालन पोषण बिल्कुल अच्छी तरह से किया। जस्सी जिस परिवार में पैदा हुए थे वह एक मध्यवर्गीय व्यवसाई परिवार था। 

बुमराह के पिता का नाम जसवीर सिंह था। जसपुरा के परिवार में वह उनकी एक छोटी बहन और उनकी मां रहती थी। उनकी मां और उनकी छोटी बहन के बारे में हमें बस इतना ही मालूम है कि उनकी मां एक प्रिंसिपल थी इसके अलावा हमें उनकी छोटी बहन का नाम नहीं मालूम है।

जस्सी की मां का नाम दलजीत कौर था और वह अहमदाबाद के ही एक हाई स्कूल में प्रिंसिपल के पद पर नियुक्त थी। जस प्रीत बमराह की बहन के बारे में हमारे पास कोई जानकारी नहीं है हमें ना ही उनका नाम पता चला है और ना ही उनकी शिक्षा दीक्षा के बारे में कोई जानकारी मिली है।

शिक्षा 

अब आपके मन में यह सवाल उठता होगा कि आखिर जस प्रीत बमराह के पिता के मरने के बाद उनकी शिक्षा-दीक्षा पर क्या असर पड़ा होगा या फिर उनके शिक्षा कैसे पूरी हुई होगी।

तो हम आपको बता दें कि बुमराह की शुरुआती शिक्षा अहमदाबाद के ही एक हाई स्कूल में हुई जहां जस प्रीत बमराह की मां प्रिंसिपल थी।

जस्सी पढ़ने लिखने में ज्यादा तेज तर्रार नहीं थे लेकिन जब भी स्कूल में या फिर कहीं क्रिकेट खेला जाता था तो वहां जसप्रीत बुमराह को लोग बुलाया करते थे क्योंकि जसप्रीत बमराह बहुत ही बढ़िया गेंदबाजी करते थे। 

जसप्रीत जब 14 साल के थी तब से ही उन्होंने ठान लिया था कि वह क्रिकेटर बनेंगे। इसलिए उन्होंने अपनी पढ़ाई पर ज्यादा ध्यान ना देते हुए अपनी क्रिकेट पर ज्यादा ध्यान दिया और वह जैसे तैसे करके 12वीं तक की परीक्षा उ्तीर्ण करने में कामयाब रहे। 

जसप्रीत बुमराह करियर 

अब आप सबके मन में यह सवाल आ सकता है कि आज जसप्रीत बुमराह इंडिया के लिए गेंदबाजी कर रहे हैं तो आखिर जसप्रीत बुमराह के करियर की शुरुआत कहां से हुई थी?

कहां से बुमराह पर लोगों की नजर पड़ी और लोगों ने जस प्रीत बमराह को आगे बढ़ाया?  बता दें कि जस प्रीत बमराह आज जिस जगह पर है उनको वहां पहुंचाने में उनके बचपन के कोच त्रिवेदी किशोर का बहुत बड़ा योगदान है। 

अपने कोच के मार्गदर्शन की वजह से ही आज जस प्रीत बमराह इतनी अच्छी गेंदबाजी कर पाते हैं,  इसलिए आज वह भारतीय टीम की शान बने हुए हैं। आइए जानते हैं जसप्रीत बुमराह की करियर के बारे में। 

घरेलू क्रिकेट 

हर खिलाड़ी की तरह ही जस प्रीत बमराह ने भी अपने करियर की शुरुआत घरेलू क्रिकेट से ही की थी। जस्सी की अजीबोगरीब एक्शन और सटीक लाइन लेंथ और तेज गति के कारण गुजरात के चयनकर्ताओं का ध्यान बुमराह की ओर आकर्षित होने लगा। 

कुछ दिनों के बाद ही चयनकर्ता ने जसप्रीत बुमराह को गुजरात की अंडर-19 टीम के लिए सेलेक्ट कर लिया। धीरे धीरे जस प्रीत का प्रदर्शन और भी निखरता गया और साल भर के अंदर ही उन्हें गुजरात की मुख्य टीम में जगह मिल गई।

उसके बाद जस प्रीत बमराह ने गुजरात की तरफ से अच्छी गेंदबाजी की और उसके बाद बुमराह सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी में भी अपना पदार्पण किया 

सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी में भी बुमराह की लय जारी रही और जब u-23 चयनकर्ताओं की नजर इनके परफॉर्मेंस पर पड़ी, तो उन्होंने जस प्रीत बमराह को u-23 के लिए चुना।

जिस दिन बुमराह का सिलेक्शन हुआ था उसी दिन उन्हें सिंगापुर में एशियन ट्रॉफी का मैच खेलने जाना था। वहां पर भारत की टीम का मैच पाकिस्तान के साथ हुआ।

हालांकि इस मैच में जस प्रीत को कोई विकेट नहीं मिली लेकिन जस प्रीत बमराह ने रनों की गति पर अंकुश लगाया। जस प्रीत बमराह ने अपने निर्धारित ओवरों में बहुत ही किफायती गेंदबाजी की।

आईपीएल करियर 

जसप्रीत की अंडर-23 के प्रदर्शन को देखते हुए आईपीएल में उन्हें मुंबई इंडियंस की टीम ने लिया। 2013 में पहली बार जसप्रीत बुमराह को मुंबई इंडियंस की टीम से आईपीएल खेलने का मौका मिला।

2013 में बुमराह को बेंगलुरु के खिलाफ अपना डेब्यू करने का मौका मिला। जसप्रीत बुमराह का पहला ओवर खेलने के लिए उनके सामने विराट कोहली थी जो कि एक बहुत ही कुशल बल्लेबाज है। 

विराट कोहली जसप्रीत बुमराह की लगातार 4 गेंदों पर तीन चौके मारने में सफल रहे लेकिन जसप्रीत बुमराह की पांचवीं गेंद, जो कि इनस्विंग करती हुई जाकर विराट कोहली की पैड पर लगी। और अपील करने पर अंपायर ने उन्हें आउट दे दिया।

जसप्रीत बुमराह ने अपनी पांचवी गेंद पर अपने आईपीएल करियर का पहला विकेट लिया वह भी विराट कोहली के रूप में। 

इस मैच में विराट कोहली के अलावा जसप्रीत बुमराह ने और 2 विकेट लिए। ने इस मैच में 4 ओवर करके 32 रन देकर 3 विकेट लिए। यह प्रदर्शन हर उस गेंदबाज के लिए अच्छा है जो अपना डेब्यू कर रहा हो और अपने डेब्यू मैच में ही इतनी अच्छी परफॉर्मेंस देदे। 

जसप्रीत बुमराह जब शुरुआत में मुंबई इंडियंस से खेलते थे तो उस वक्त उन्होंने क्लासिक मलिंगा को अपना गुरु बनाया था और अक्सर बमराह उनसे काफी कुछ सीखते हुए नजर आते थे और उसी की वजह से आज जसप्रीत बुमराह भारतीय टीम के मुख्य तेज गेंदबाज है। 

जसप्रीत बुमराह की अच्छी प्रदर्शन जारी रही और उन्हें मुंबई इंडियंस की तरफ से रिटेन किया गया। हम आपको बता दें कि रिटेन उसी को किया जाता है जिसे टीम छोड़ना नहीं चाहती है।

तो आप इससे अंदाजा लगा सकते हैं कि मुंबई इंडियंस के लिए जसप्रीत बुमराह कितने बड़े प्लेयर होकर सामने आए हैं। 

वनडे करियर 

घरेलू क्रिकेट में अच्छा प्रदर्शन करने वाले जसप्रीत बुमराह पर इंडियन क्रिकेट टीम के चयनकर्ताओं की नजर पड़ी और उन्होंने 2016 के ऑस्ट्रेलिया दौरे के लिए जसप्रीत बुमराह को चुना।

हालांकि ऑस्ट्रेलिया में लगातार चार मैचों में जसप्रीत बुमराह को जगह नहीं मिल पाई लेकिन पांचवें मैच में जसप्रीत बुमराह को जगह दी गई और उन्होंने 40 रन देकर दो विकेट लिए।

उन्होंने स्टीव स्मिथ जैसे खतरनाक बल्लेबाज को अपना शिकार बनाया। लेकिन फिर भी ऑस्ट्रेलिया की टीम 330 रन बनाने में सफल रही। वनडे में 330 रनों का लक्ष्य काफी बड़ा होता है। 

आस्ट्रेलिया द्वारा बनाए गए 330 रनों के लक्ष्य का पीछा करने उतरी टीम इंडिया की शुरुआती विकेट जल्दी गिर गई लेकिन मनीष पांडे ने शतक लगाया और 330 रनों का पीछा करने में भारत की मदद की।

अंततः भारत ने यह लक्ष्य हासिल कर लिया और यह मैच जीतकर ऑस्ट्रेलिया को क्लीन स्वीप करने से रोक दिया। क्योंकि आस्ट्रेलिया लगातार चार मैच पहले ही जीत चुकी थी। अगर यही मैच ऑस्ट्रेलिया जीत जाती तो वह लगातार पांच मैच जीतकर क्लीन स्वीप कर लेती। 

बुमराह का यही प्रदर्शन श्रीलंका और न्यूजीलैंड दौरे पर भी जारी रहा जिसके चलते उनकी जगह टीम में पक्की हो गई। और जसप्रीत लगातार टीम इंडिया के लिए विकेट चटकाते रहे जिसकी वजह से आज वह भारत के मुख्य तेज गेंदबाज है। 

जसप्रीत बुमराह का t20 करियर 

जसप्रीत बुमराह का अब तक का t20 करियर काफी शानदार रहा है। उन्होंने 2016 में इंडिया के लिए ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ ही टी-20 में भी डेब्यू किया था।

बुमराह ने अपने पहले t20 मैच में डेविड वॉर्नर और जेम्स फॉकनर जैसे खतरनाक बल्लेबाजों को आउट किया और ऑस्ट्रेलिया को 183 रनों पर रोक दिया। भारत यह मैच जीत गया।

इस सीरीज में भी जसप्रीत बुमराह ने अच्छा प्रदर्शन किया है और इसके बाद 2016 में हुए एशिया कप में भी उनका यह प्रदर्शन जारी रहा और उन्होंने विकेट लेना जारी रखा। 

अंतर्राष्ट्रीय t20 में भी उनकी बेहतरीन लाइन लेंथ के साथ सटीक गेंदबाजी जारी रही। जिसके चलते t20 में भी उन्हें मुख्य रूप से टीम में शामिल कर लिया गया। जिसकी वजह से आज जसप्रीत बुमराह भारत के मुख्य तेज गेंदबाज t20 में भी है। 

जसप्रीत बुमराह का टेस्ट करियर 

जसप्रीत बुमराह ने वनडे और टी20 में इतना अच्छा प्रदर्शन किया कि उन्हें 2017 में दक्षिण अफ्रीका दौरे पर टीम में भी चुन लिया गया। कुछ मैचों में जसप्रीत बुमराह को दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ टेस्ट डेब्यू करने का मौका नहीं मिला।

लेकिन लंबे इंतजार के बाद आखिरकार उन्हें टेस्ट में भी पदार्पण करने का मौका मिला और जसप्रीत बुमराह ने अपने पदार्पण मैच में ही एबी डिविलियर्स जैसे महान बल्लेबाज को आउट किया।

जसप्रीत बुमराह की प्रदर्शन जारी रही और आज t20, वनडे के साथ-साथ टेस्ट क्रिकेट में भी जसप्रीत बुमराह की जगह टीम इंडिया में पक्की हो गई हैं। 

वैवाहिक जीवन 

जसप्रीत बुमराह ने हाल ही में मॉडल और स्पोर्ट्स एंकर सजना गणेशन के साथ अपना विवाहित जीवन शुरू किया है। कहने का मतलब यह है कि जसप्रीत बुमराह की शादी संजना गणेशन के साथ हुई है और वह दोनों अपनी इस मैरेड लाइफ से काफी खुश हैं। 

वर्ल्ड कप हारने के बाद बुमराह ने क्या कहा ?

दोस्तों आप सभी तो जानते ही होंगे कि भारत टी-20 विश्व कप से बाहर हो चुका है। हालांकि t20 विश्व कप में भारत को प्रबल दावेदार माना जा रहा था लेकिन भारत सेमीफाइनल तक भी नहीं पहुंच पाया वह टी-20 के लीग matches से ही बाहर हो गया और घर आ गया। 

जब इस बारे में बुमराह से बात की गई कि आखिर क्यों टीम इंडिया का प्रदर्शन इतना खराब रहा और हम t20 वर्ल्ड कप के सेमीफाइनल में भी नहीं पहुंच पाए। 

तो इस पर जसप्रीत बुमराह ने कहा कि हमें लगातार मैच खेलने पड़े, जिसकी वजह से हमें आराम नहीं मिल पाया और हम अपना प्लान नहीं बना पाए।

अगर हमें थोड़ा वक्त और मिल जाता तो हम अपना प्लान अच्छे से बना लेते और टी-20 विश्व कप में में और भी बेहतर करने का प्रयास करते।

हमने कम दिनों में एक छोटा सा प्लान बनाया था जो हमारा प्लान सफल नहीं हो पाया जिसके कारण हम t20 वर्ल्ड कप से से बाहर हो गए। 

यह भी पढ़े

उम्मीद करते है दोस्तों जसप्रीत बुमराह का जीवन परिचय Jasprit Bumrah Biography In Hindi का यह लेख आपको पसंद आया होगा. अगर आपको जस्सी की जीवनी में दी जानकारी पसंद आई हो तो इसे अपने फ्रेड्स के साथ भी शेयर करें.

Leave a Comment

Your email address will not be published.