जो बाइडेन का जीवन परिचय | Joe Biden Biography in Hindi

जो बाइडेन का जीवन परिचय | Joe Biden Biography in Hindi समाज में राजनीति से जुड़ी खबरें हमेशा से सुर्खियों में रहती हैं। देश हो या विदेश ऐसी कई हस्तियाँ हैं जो अपनी विशिष्ट खूबियों के कारण खबरों में स्थान पाती हैं एवं लोगों के बीच सुप्रसिद्ध हो जाती हैं। वे कठिन परिस्थितियों में जीवन गुज़ारते हुए भी विपरीत परिस्थितियों का सामना कर अपने मज़बूत इरादों से देश-विदेश में मशहूर हो जाते हैं।

जो बाइडेन का जीवन परिचय | Joe Biden Biography in Hindi

जो बाइडेन का जीवन परिचय Joe Biden Biography in Hindi

ऐसे ही एक शख्सियत “जो बाइडेन” हैं जिन्होंने यह साबित किया है कि इंसान अपने दम पर अपनी दृढ़ इच्छा एवं प्रयास, मेहनत, आत्मविश्वास से कामयाबी पा सकता है। “जो बाइडेन” से जुड़े इनके जीवन पहलुओं के भिन्न भिन्न रूप इस प्रकार हैं।

कौन हैं जो बाइडेन

अमेरिका की सुप्रसिद्ध हस्ती, पॉलिटिक्स के क्षेत्र में अपनी विशेष जगह बनाने वाले, कानून के क्षेत्र से जुड़े राजनेता, संयुक्त राज्य अमेरिका के पूर्व उपाध्यक्ष, अमेरिका के राष्ट्रपति हैं ” जो बाइडेन”।

जो का पूरा नाम “जोसेफ रॉबिनेट बाइडेन जूनियर” है। अमेरिका के 46 वें राष्ट्रपति के रूप में इन्होंने 20 जनवरी, वर्ष 2020 को शपथ लेकर राष्ट्रपति के कार्यभार को संभाला। ” जो ” डेमोक्रेटिक पार्टी से जुड़े हैं।

परिचय

असली नाम – जोसेफ रॉबिनेट बाइडेन जूनियर
व्यक्तिगत नाम –जो बाइडेन
जन्म की तारीख – 20 नवम्बर वर्ष 1942
आयु – 79 वर्ष
कार्य – अमेरिका के राष्ट्रपति, पॉलिटिशियन, वकील
मूल नागरिकता –अमेरिकन
मूल धर्म – ईसाई

जन्म

संयुक्त राज्य अमेरिका के सशक्त राष्ट्रपति, प्रसिद्ध पॉलीटिशियन, जो का जन्म  “यूनाइटेड स्टेट ऑफ अमेरिका पेंसिलवेनिया, स्कैंटन” में “20 नवंबर वर्ष 1942” को हुआ था।

जो बाइडेन के पिता श्री का नाम ” जोसफ बाइडेन” और माता श्री का नाम “कैथरीन युजेनिया जीन फिनेगन” है। जो ईसाई (कैथोलिक) परिवार से ताल्लुक रखते हैं। इनके पिता जी पुरानी कारों को बेचने का कार्य किया करते थे। जो के दो भाई और एक बहन हैं।

शिक्षा

बाइडेन पढ़ाई में बचपन से ही तेज़ थे और खेलों में  हिस्सा भी लेते थे। जो ने अपनी स्कूली शिक्षा “स्कैंटन के सेंट पॉल एलिमेंट्री” से की है तत्पश्चात जब उनकी आयु 13 वर्ष की थी तो घर बदलने के कारण बाकी की पढ़ाई ” मेफील्ड डेलावेयेर” के “सेंट हेलेना स्कूल” से की।

जो बाइडेन ने स्कूली शिक्षा समाप्ति के बाद “आर्कमेरे  विश्वविद्यालय से “बी.ए” की डिग्री प्राप्त कर “जूरिस डॉक्टर” की डिग्री भी प्राप्त की और “कानून” की पढ़ाई “वर्ष 1968” में पूरी की। 

जो पढ़ाई के साथ साथ फुटबॉल में भी भाग लिया करते थे और पूरे जोश के साथ खेला करते थे। जो बाइडेन इतने परिश्रमी, मेहनती, प्रतिभावान थे कि पढ़ाई के साथ-साथ अपनी पढ़ाई का खर्चा उठाने के लिए खिड़कियाँ धोने, साफ सफाई एवं बगीचे में भी काम किया करते थे।

बाइडेन का कार्य स्वरूप

जो अमेरिका जैसे शक्तिशाली देश का एक जाना पहचाना नाम हैं जिन्होंने अपने लक्ष्य को सार्थक रूप प्रदान किया । जीवन में घटित अनेक परेशानियों का सामना किया।

अनेक हादसों से इत्तेफाक करके भी जग में प्रसिद्ध मुकाम हासिल किया और प्रतिष्ठित पद पर स्थापित हुए। जिन्होंने अपने कार्यों से साबित कर दिया कि “जो” एक प्रभावशाली व्यक्तित्व हैं।

जो बाइडेन का कार्य सफर

जो के कार्य की शुरुवात कानून की पढ़ाई करते वक्त हो गई थी जहाँ उन्होंने कानून संबंधित एक लेख लिखा था और उसी दौरान वे “डेमोक्रेटिक पार्टी के सदस्य” के रूप में चयनित हुए थे। जो बाइडेन का “न्यू कैसल कंउटी कांउसिल”  के लिए “वर्ष 1970” में चयन हुआ था जिसके तहत उन्होंने अपने कार्यकाल में खुद की एक कानून फर्म खोली थी। 

“वर्ष 1972” में सीनेट की जीत हासिल कर लगभग 6 बार वह सीनेटर के रूप में चयनित हुए। जो  “वर्ष 1988 और वर्ष 2008 में दो बार डेमोक्रेटिक पार्टी की तरफ से राष्ट्रपति चुनाव के लिए उम्मीदवार रहे ,लेकिन असफलता प्राप्त की। इसके बावजूद जो वर्ष 2008 में बराक ओबामा से हार कर भी अमेरिका के उपराष्ट्रपति के रूप में चुने गए थे।

जो बाइडेन का राजनीतिक कार्य क्षेत्र

जो ने राजनीति क्षेत्र में सबसे “कम उम्र के अमेरिकन सीनेटर” बनने का खिताब पाया है। “सीनेटर” के रूप में उन्होंने नीति विशेषज्ञ के तहत कई संदर्भ को शामिल किया जैसे पूर्व सोवियत संघ के साथ ब्लॉक राष्ट्रों को शामिल किया जाये, नाटों का विस्तार किया जाये, विदेश नीति के तहत सोवियत संघ से मिलकर हथियारों की रणनीति के संदर्भ में कदम उठाए जायें ।

अपराध कानून के मुखर प्रस्तावक 

जो ने अपराधिक मुद्दों के प्रस्तावक के रूप में कड़े कदम उठाए। “वर्ष 1994” में अपराधिक हिंसक वारदात रोकने और नियंत्रण के लिए उन्होंने करीब एक लाख पुलिस कर्मियों को शामिल किया। साथ ही उन्होंने ‘हिंसा से जुड़े अपराधों को रोकने से सम्बंधित अधिनियम’ और ‘कानून चलाने वालों से संबंधित अधिनियम’ को स्वीकृति दी।

जो की वर्ष 2009 में बराक ओबामा के कार्यकाल समय में 47 वें उपाध्यक्ष के रूप में नियुक्ति हुई थी, उपाध्यक्ष के रूप में उन्होंने अपना कार्यभार बखूबी निभाया। वे ओबामा के मुख्य सलाहकार भी थे। वर्ष 2012 में भी उन्होंने द्वितीय बार उपाध्यक्ष के रूप में प्रभावी रूप से पदभार संभाला।

इसी दौरान उन्होंने दो राजनीतिक दलों के बीच ‘कर की अधिकता’ और ‘अधिक खर्चे’ रोकने के लिए अहम सहयोग दिया। अपना कार्यभार सफलतापूर्वक सम्भालते हुए वे ‘वर्ष 2020’  में राष्ट्रपति के रूप में चयनित हुए।

सफल अनुभवी राजनेता

जो अपनी मेहनत से एक सफल राजनेता के रूप में स्थापित हुए हैं। वे छह बार अमेरिकी सीनेट, उपराष्ट्रपति के रूप में दो बार सफलता पूर्वक कार्यभार संभाल चुके हैं।

इस दौरान उन्होंने अपराध मामलों पर नियंत्रण, विदेश संबंधित नीति, स्वास्थ्य से संबंधी नियमों पर ज़ोर दिया। अपने अथक प्रयासों के बल पर वह कम उम्र के राष्ट्रपति के रूप में चुने गए, जो उनके सफल अनुभवी स्वरूप को दर्शाता है।

बने मज़ाक का पात्र साबित किया राष्ट्रपति का सफर

बचपन में बाइडेन हकलाते थे जिस वजह से दूसरे बच्चे उनका मज़ाक उड़ाते थे, यहाँ तक कि शिक्षक ने भी उनको ब्लैक बर्ड कह के मज़ाक उड़ाया था, इस बात से जो कमज़ोर नहीं पड़े बल्कि इस समस्या को दूर करने के लिए जो बाइडेन काफी कोशिश करते थे।

शीशे के आगे खड़े होकर कविता पाठ करते थे साथ ही अन्य प्रयास भी करते थे। शिक्षा समाप्त कर राजनीतिक क्षेत्र में असफलता के दौर से गुज़र कर अपने दृढ़संकल्प, मेहनत, प्रयासों से वह अमेरिका के राष्ट्रपति बन गये और सार्वजनिक प्रेरक वक्ता के रूप में भी उभरे।

जो बाइडेन भारत संबंध और सोच

‘जो अंतर्राष्ट्रीय संबंधों में एकजुटता को महत्व देते हैं। वह भारत के प्रति अमेरिका संबंध को सकारात्मक रूप में लेते हैं। विदेश नीति की प्रमुखता के तहत उनकी सोच समाधान को बढ़ावा देती हैं साथ ही मित्रता की नींव एवं उन्नति पर प्रकाश डालती है।

 बाइडेन का व्यक्तिगत जीवन 

 बाइडेन’ ने अपनी निजी जिंदगी में अनेक उतार-चढ़ाव देखे हैं। जो शादीशुदा हैं। इनकी ज़िंदगी में पत्नी के रूप में दो महिलाएँ आईं। पहली पत्नी “नीलिया हंटर” से वर्ष 1961 में  विवाह हुआ जिनसे इनके तीन बच्चे हुए नाओमी, हंटर और ब्यू।

परंतु एक दुर्घटना में पत्नी और बेटी की मृत्यु हो गई थी जिसके पश्चात इनको बड़ा सदमा लगा। जो ने दूसरी शादी वर्ष 1977 में ‘जिल जैकब्स’ से की।

 इनसे एक बेटी वर्ष 1981 में हुई जिसका नाम ‘एश्ली’ है। इसके पाँच साल पश्चात उनके एक बेटे ब्यू की भी ब्रेन कैंसर से मृत्यु हो गयी थी। इस प्रकार देखें तो जो बाइडेन का निजी जीवन दर्दभरा रहा है।

कठिन परिस्थितियों के बावजूद खुद को देश के प्रधान पद “राष्ट्रपति” के रूप में स्थापित किया। जो एक अच्छे इंसान हैं। बाइडेन ने एक राजनेता, एक पिता और पति के रूप में अपनी संपूर्ण ज़िम्मेदारियों को बखूबी निभाया है।

जो बाइडेन की पसंदीदा रुचियाँ

प्रिय भोजन – पास्ता, आईसक्रीम, चॉकलेट केक
प्रिय शौक – ड्राइविंग, पढ़ना
प्रिय खेल – फुटबॉल, बेसबॉल
प्रिय कसरत – दौड़ना
प्रिय रंग – नीला

आइडल मज़बूत व्यक्तित्व

 बाइडेन ने बचपन से संघर्ष और परेशानी का दौर देखा है। अपने पिताजी से प्रेरणा लेकर पढ़ाई के दौरान वह कार्य भी करते थे। उनकी शादी होने के पश्चात पत्नी और बेटी की कार दुर्घटना में मृत्यु और एक बेटे की कैंसर से मृत्यु हो गयी थी। इन हादसों से जो मानसिक रूप से टूट गए थे फिर भी खुद को मज़बूत किया और अपने  कार्य पथ पर सफल रूप से अग्रसर रहे।

 1)स्वास्थ्य संबंधी जागरूक पहलू

पारिवारिक हादसों के बावजूद जो ने अपने कार्य क्षेत्र में कोई रुकावट नहीं आने दी और स्वास्थ्य संबंधित कार्यों की ओर रुख किया। उन्होंने विभिन्न स्वास्थ्य संबंधित पहलुओं को प्राथमिकता दी।

जो स्वास्थ्य सेवाओं की आसानी से उपलब्धता और इन सेवाओं को सस्ती करने के समर्थक रहे हैं। कोविड 19 के दौरान सम्बंधित परीक्षणों को स्वतंत्र रूप देना  साथ ही निशुल्क वैक्सीन की उपलब्धता, स्वास्थ्य संबंधी सुलभता में भी उनका अहम योगदान रहा। 

जो बाइडेन की कुल संपत्ति

जो ने अपनी मेहनत, हौसलों के बलबूते पर काफी धनसंपदा अर्जित की है। पढ़ाई पूरी करने के लिए सफाई कार्य करने से लेकर एक अमीर राजनेता के रूप में अपनी कुल संपत्ति करीब 9 मिलियन तक बना ली और आज वह अमीर प्रसिद्ध शख्सियत बन चुके है।

जो बाइडेन का कार्य सम्मान

जो को अपनी कार्य उपलब्धियों के लिए जितनी प्रसिद्धि मिली है, वहीं उन्हें अवॉर्ड भी मिले हैं। जो बाइडेन को उनकी काबिलियत एवं कार्यकुशलता स्वरूप  “प्रेसिडेंशियल मेडल ऑफ फ्रीडम अवार्ड” सम्मान रूप में वर्ष 2017 में मिला था ।

जो बाइडेन के विरोधी संदर्भ

1} ‘तारा रेडे’ का संगीन आरोप

जो के यहाँ काम करने वाली ‘तारा रेडे’ ने वर्ष 2020 में रेप का आरोप लगाया था, जो विवाद का मुद्दा बन गया था।

2} लेख संबंधित आरोप

जो पर ब्रिटिश लेबर पार्टी से जुड़े ‘नील किन्नॉक’ के भाषण चुराने का इल्ज़ाम लगाया गया था।

3} चोरी स्वीकृति विवाद

 बाइडेन ने कानून की पढ़ाई करते वक्त अपने कृत्य ‘लेख चोरी’ की बात को स्वीकारा जिसकी वजह से वह विवाद के घेरे में आ गये थे।

यह भी पढ़े

जो एक ऐसी शख्सियत के रूप में उभरे जिन्होंने कठिन परिस्थितियों के बावज़ूद मज़बूत हौसलों से विशेष मुकाम पाया। सुविधाओं के अभाव को भी मात देकर वह सशक्त रूप से स्थापित हुए। जो अमेरिका के राष्ट्रपति, उपराष्ट्रपति, लॉयर के रूप में जग प्रसिद्ध हैं।

प्रस्तुत लेख जो बाइडेन का जीवन परिचय Joe Biden Biography in Hindi में बाइडेन के जीवन के भिन्न भिन्न रूपों को अच्छे से जाना- समझा जा सकता है जिससे जीवन संघर्ष स्वरूप प्रेरणा ही मिलती है।

Leave a Comment

Your email address will not be published.