किसान विकास पत्र योजना 2022 ब्याज दर, कैलकुलेटर, टैक्स बेनिफिट्स | Kisan Vikas Patra Yojana In Hindi

किसान विकास पत्र योजना 2022 ब्याज दर, कैलकुलेटर, टैक्स बेनिफिट्स | Kisan Vikas Patra Yojana In Hindi किसान विकास पत्र योजना केंद्र प्रवर्तित एक प्रकार की बीमा योजना है. भारत सरकार द्वारा वर्ष 1998 में इन्हें शुरू किया गया था. 8 वर्ष 4 माह यानि 100 महीनें की अवधि में धन दुगुना करने वाली गवर्नमेंट स्कीम को 2011 में बंद कर दिया गया था, 2014 से यह योजना फिर से चालू कर दी गई हैं.

किसान विकास पत्र योजना | Kisan Vikas Patra Yojana In Hindi

किसान विकास पत्र योजना 2022 ब्याज दर, कैलकुलेटर, टैक्स बेनिफिट्स | Kisan Vikas Patra Yojana In Hindi
योजना का नामकिसान विकास पत्र योजना
संस्थाभारत सरकार
लाभार्थीदेश के किसान
उद्देश्यबचत को प्रोत्साहन
निवेश की अवधि124 महीने
न्यूनतम निवेश₹1000
अधिकतम निवेशकोई सीमा नहीं
ब्याज दर6.9%

यूपीए सरकार में इस योजना के बढ़ते दुरूपयोग के मामलों की दलील देते हुए सरकार ने किसान विकास पत्र को अनिश्चित काल के लिए विराम दे दिया था. मोदी सरकार ने पुनः वर्ष 2014 में KVP यानि (Kisan Vikas Patra) को शुरू किया था.

देश के ग्रामीण व मध्यमवर्गीय परिवारों के लिए यह स्कीम वरदान साबित हो रही है. Kisan Vikas Patra Yojana के बारे में अधिक Details जिनमें (Interest Rate & Calculator, Post office) आदि जानकारी नीचे दी जा रही है.

किसान विकास पत्र योजना क्या है (What is Kisan Vikas Patra Yojana?)-

अल्प आय वाले लोगों के लिए Investment, जिनमें वो अपनी सुविधा के अनुसार रकम को एक निर्धारित समय के लिए सरकार की इस स्कीम के निवेश कर सकते है. बिचौलियों से पैसे डूबने, कम्पनी के दिवालिया हो जाने के भय से लोग बचत की तरफ कम देखते है. मगर सरकार की Kisan Vikas Patra ने विशेष कर किसानों को दीर्घकालिक निवेश का एक सुरक्षित जरिया प्रदान किया है.

इस सरकारी योजना में 18 वर्ष की कम आयु के बालकों के नाम पर भी किसान विकास पत्र लिया जा सकता है. उच्च शिक्षा या विवाह की आयु होने पर उसके पास काफी बड़ी धन राशि जमा हो जाती है. प्रूफ के तौर पर बैंक अथवा पोस्ट ऑफिस से एक प्रमाण पत्र जारी किया जाता है. Fixed interest के इस निवेश कार्ड को एक पोस्ट ऑफिस से किसी भी राज्य के अन्य पोस्ट ऑफिस में स्थानांतरित भी करवाया जा सकता है.

किसान विकास पत्र (KVP) Interest Rate एवंइसके जरिये आप कितने पैसे से कितना धन किस अवधि तक कमा सकते है. Kisan Vikas Patra Calculator के बारे में जानकारी नीचे दी गई है.

किसान विकास पत्र का लाभार्थी कौन हो सकता है (who can invest in kisan vikas patra)

निम्नलिखित व्यक्ति किसान विकास पत्र प्रमाण पत्र के लिए आवेदन करने के योग्य हैं –

  • आवेदक एक भारतीय नागरिक होना चाहिए।
  • आवेदक एक वयस्क होना चाहिए।
  • माइनर्स सीधे किसान विकास पत्र प्रमाण पत्र खरीद नहीं सकते हैं। हालांकि, एक वयस्क एक नाबालिग की तरफ से किसान विकास पत्र प्रमाण पत्र खरीद सकता है।
  • किसान विकास पत्र प्रमाणपत्र केवल आवेदक के नाम पर या नाबालिग की तरफ से खरीदा जा सकता है।
  • किसान विकास पत्र प्रमाणपत्र भी दो वयस्कों द्वारा संयुक्त रूप से खरीदा जा सकता है।
  • एक ट्रस्ट किसान विकास पत्र प्रमाण पत्र खरीद सकता है

Kisan Vikas Patra केवीपी को यदि एक परिवार के दो वयस्क व्यक्ति मिलकर खरीद्ना चाहे तो भी वो इसे संयुक्त रूप से खरीद सकते है. इसके अतिरिक्त Kisan Vikas Patra में कुछ स्थितयों में व्यक्ति केवीपी खरीदने के योग्य नही होगा, जो इस प्रकार है.

किसान विकास पत्र के अयोग्य (who can’t invest  Kisan Vikas Patra)

निम्न तीन तरह के व्यक्ति इस योजना के लाभार्थी नही हो सकते है.

  1. किसी भी व्यावसायिक संस्था के लिए किसान विकास पत्र इन्वेस्टमेंट की सुविधा नही देती है.
  2. nri (प्रवासी) जो भारतीय नागरिक नही है, वो इस योजना के पात्र नही है.
  3. हिंदू अविभाजित परिवार एक्ट के तहत इसके सदस्य भी किसान विकास पत्र के योग्य नही है.

किसान विकास पत्र के लाभ – Benefits of KPV Scheme

भारत सरकार द्वारा एक हजार, पांच हजार, दस हजार एवं पचास हजार रूपये के किसान विकास पत्र जारी किये जाते है. व्यक्ति अपनी समर्थता के अनुसार इसमें से एक पत्र का चुनाव कर सकता है. अन्य म्यूच्यूअल फंड से यह कई गुना सुरक्षित है. क्योंकि सरकार इसमें निवेशकर्ता को प्रावधान के तहत रिटर्न की गारंटी प्रदान करती है.

KVP Scheme में Interest Rate समान रहती है. 8 वर्ष व 4 माह के इस प्लान के अंत तक आपकों वही ब्याज दर प्रदान की जाती है. जो हर वर्ष के लिए निर्धारित की गई है. वर्तमान में KVP Scheme की Interest Rate 8.7 % है, पूर्व में 8.2% हुआ करती थी. इस स्कीम में आपकों वार्षिकी रिटर्न, नो रिस्क तथा नोमिनेशन की सुविधा भी प्रदान की जाती है. 

किसान विकास पत्र की विशेषताएं – Features of kisan vikas Patra

  • किसान विकास पत्र में न्यूनतम निवेश की सीमा एक हजार रूपये है, जबकि अधिकतम के बारे में कोई बंधन नही है. भारतीय आयकर विभाग द्वारा निर्धारित मानदंडों से अधिक राशि होने पर कमाई के स्रोत व पैन कार्ड देना होगा.
  • post office के द्वारा किसान विकास पत्र की 2 साल व 6 महीने की अवधि के बाद अपनी रकम को Premature Cash में तब्दील करवाया जा सकता है.
  • यदि आप केवीपी को अपने शहर के Post Office में खुलवाते है, और आपका स्थानान्तरण किसी ओर शहर में हो जाता है, तो आप अपना किसान विकास पत्र नजदीकी पोस्ट ऑफिस में स्थान्तरित करवा सकते है.
  • 8 साल 4 माह की अवधि में किसान विकास पत्र आपके जमा धन को दुगुना कर देता है. जैसे आपने पन्द्रह हजार का केवीपी निवेश किया है तो 100 महीने के बाद आप तीस हजार रूपये के पात्र होंगे.
  • किसान विकास पत्र (KVP), Investor को किसी भी Income Tax पर लाभ प्रदान नहीं करता हैं, यहाँ पर आपकी राशि से कोई इनकम टैक्स छुट नही मिलती है, न ही Tax Deduction at Source (TDS) Charge किया जाता है.
  • 1998 का किसान विकास पत्र 100, 500, 1000, 5000 10,000 रुपये का था, जबकि वर्तमान में 1000, 5000, 10,000 50,000 रुपये का है.
  • 2018 तक किसान विकास पत्र पर 8.7 % चक्रवर्ती ब्याज (Interest Rate) दिया जाता है, जो सामान्य बचत खातों से कई गुना अधिक है.
  • यदि आप किसान विकास पत्र में 50 हजार रूपये से अधिक का निवेश कर रहे है तो आपकों पेनकार्ड देना होगा, आपकी राशि 10 लाख से अधिक है, तो आपकों अपनी इनकम का जरिया व समस्त ब्यौरा उपलब्ध करवाना होगा.

किसान विकास पत्र फॉर्म (Kisan Vikas Patra Application Form)

केवीपी में आवेदन के दो तरीके है, जिनके माध्यम से आप अपना किसान विकास पत्र आवेदन फॉर्म  (Kisan Vikas Patra application form) प्राप्त कर सकते है. इसे आप सीधे online download कर सकते है. अन्यथा अपने नजदीकी डाकघर (Post Office) के मैनेजर से भी प्राप्त कर सकते है. Kisan Vikas Patra application form से जुड़ी कुछ महत्वपूर्ण बातें जो आपकों ध्यान रखनी चाहिए.

  1. अपने उसी रीजन के पोस्ट ऑफिस मास्टर से आवेदन पत्र की मांग करे, जहाँ आप किसान विकास पत्र को जमा करेगे.
  2. 1000, 5000, 10,000 50,000 की राशि में से एक ही विकल्प का चयन करे.
  3. केवीपी फॉर्म में भुगतान माध्यम (कैश, चेक) की समस्त जानकारी भरे, चेक जमा कर रहे है तो चेक नम्बर जरुर डाले.
  4. यदि आप अकेले केवीपी के धारक है, तो अपना ही दस्तखत करे, यदि जॉइंट पत्र है तो अपने सहभागी के हस्ताक्षर अनिवार्य है.
  5. यदि किसान विकास पत्र धारक अपरिपक्व है, तो उनके अभिभावक द्वारा इस फॉर्म को सही जानकारी के साथ भरा जावे, बाद में किसी तरह का संशोधन नही किया जा सकता है.
  6. यदि आप post office में किसान विकास पत्र जमा कर रहे है, तो आपकों एक केवीपी प्राप्त होगा, जिनमें धारक का नाम, आयु, प्लान, पूर्णावधि की जानकारी दर्ज होगी.

केवीपी की लाभ गणना – kisan vikas Patra Calculator In Hindi

यहाँ हम 10,000 (दस हजार) को उदहारण मानकर चलते है. यदि आप आज यह रकम जमा करवाते है तो 8 साल व 4 माह बाद आपकी समय अवधि 2026 में पूर्ण होती है. हर वर्ष के अनुसार आपकी राशि इस लिहाज से बढ़ेगी. तथा अंतिम समय में आपकों दस के बीस हजार रूपये प्राप्त होंगे.

kisan vikas patra interest chart Calculator-

समय अवधिप्राप्त राशि
2.5 साल – 3  साल12001
3 साल – 3.5 साल12046
3.5 वर्ष – 4 वर्ष12093
4 साल- 4.5 साल13041
4.5 साल- 5 साल13091
5 साल- 5.5 साल14043
5.5 साल – 6 साल14097
6 साल- 6.5 साल15053
6.5 साल- 7 साल16011
7 साल- 7.5 साल16071
7.5 साल- 8 साल17033
8 साल पुरे होने के आसपास17098
8 साल एवं 4 माह के बाद20000

इस टेबल की मदद से आप किसान विकास पत्र में अपनी राशि किस आधार पर बढ़ेगी. आसानी से अनुमान लगा सकेगे.

यह भी पढ़े

आपको किसान विकास पत्र योजना 2022 ब्याज दर, कैलकुलेटर, टैक्स बेनिफिट्स | Kisan Vikas Patra Yojana In Hindi का यह आर्टिकल कैसा लगा, कमेंट कर जरुर बताएं, साथ ही इस लेख को कैसे बेहतर बना सकते है अपने सुझाव भी देवे.

Leave a Comment

Your email address will not be published.