लगाव शायरी स्टेटस कोट्स Lagav Shayari In Hindi

Lagav Shayari In Hindi : नमस्कार दोस्तों आज के आर्टिकल में हम आपके साथ अलगाव / लगाव पर शायरी कोट्स और स्टेटस बता रहे हैं. लव मुहब्बत और लगाव रखने से जुड़ी शायरी आपकों यहाँ पढ़ने को मिलेगी. जीवन में किन्ही के प्रति अधिक या कम लगाव अवश्य होता हैं. जो दिल के करीब होता है उनसे आसक्ति या लगाव (Attachment) होना स्वाभाविक हैं आप उन्हें अपने दिल के भावों को इन शायरी स्टेटस के माध्यम से बयान कर सकते हैं.

लगाव शायरी स्टेटस कोट्स Lagav Shayari In Hindi

लगाव शायरी स्टेटस कोट्स Lagav Shayari In Hindi

आज तक मुझे एक बात समझ नई आई आपकी ,
आप प्यार करती हो मुझसे या सिर्फ है लगाव हमसे ।


किसी से बात करते-करते लगाव सा हो गया है,
जिससे लगाव था उससे कभी बात ही नहीं हुई।


अलगाव सा हो गया है,
लोगों के लगाव से !!


“”लगाव””जो अब शब्द बनकर रह गया है इस मतलबी दुनियाँ मेंं.
शायद बस एक माँ के प्यार मेंं सच्चाई से छिपा बैठा है अब ….


बेहद लगाव है😘 मुझे तेरी इस नाराजगी से जानां😘
क्योंकि तेरा नाराज होना 😏मुझे यह अहसास करवाता है
कि कोई तो है इस दुनिया में जो तुझ पर अपना
हक जताकर तेरी परवाह करता है😌😌


उनसे लगाव कुछ ऐसा हुआ।
आंसु और आंखो जैसा हुआ।।


आसमां को छूने के बाद भी ज़मीन से लगाव रहे।………
ना किसी के लिए खंजर रहे ना घाव रहे🦅


किसी के आभाव में, उससे लगाव का पता चलता है,


ह लेखक मेरी कहानी का था;
उसके शब्दो से लगाव कुछ यूँ हुआ के
उसके अपशब्द भी सहने को दिल तैयार होगया ।


ये लगाव ही तो है, जो उससे जोड़े है हमें,
वर्ना नाराज़ होना तो हमें भी आता है।।


लगाव तो तुम्हें किसी और से है फिर
बेफिजूल का रिश्ता मुझसे क्यूँ..
क्या उसका एहसान है मुझपे 😔


लगाव मुझे दिल्ली से था..
सियासत ने इसे दलदल बना दिया..🙌


शायरी से तो अपना #लगाव पुराना है।
इससे मुझे एक पुराना घाव मिटाना है।।
गलत बात उनकी हम एक न मानते।
पर प्यार के लिए हमारा झुकाव पुराना है।


Tumhe bhulana aasaan ho jata ager tumse lgav na hota.
Tumhari her galti per parda na dalte, tumper etbaar na krte
to han tumhe bhulana aasaan ho jata ager tumse itna lgav na hota


लगाव रखना, ज़िन्दगी में अपनो से।
पर लगाम भी रखना, अपने ही लफ्ज़ो पे।


Lagav Status In Hindi

लगाव ही था उससे , जिससे आज नफ़रत है ❌


बहुत गहरी चीज़ है ये ‘लगाव’ इसकी गहराई में दर्द बेशुमार मिलते हैं 💔


एक लाइलाज घाव है लगाव


जज़्बातों का मेरे हर दम, कुछ तेज़ ज़रा बहाव रहा,
जिसने देखा हस के दो पल,उस शख्स से मुझे लगाव रहा।


तुम हो शहर आशाओ का, या मेरे सपनों का गांव हो?
भवरे का होता फूल से , क्या तुम वो लगाव हो?


Mera ghar se lagaaw kuch aisa h…
Ghar chhut’te hi mai ghar chhut Jaata hun..


मेरी रूह पर इस तरह घाव ना होता !!
अगर मुझे उससे इतना लगाव ना होता !!


जिससे रहता है जितना लगाव उनसे
मिलता ह उतना गहरा घाव


“दिये जो तुमने मुझे ये घाव,
गलती मेरी ही थी लगा रखा था तुमसे जो इतना लगाव”🥺✨✨


लागत हो तो भरपायी की जा सकती है लगाव हो तो क्या करें 💕


यू लगाव सा है मुझे अपने दर्द से ,
की इनके सिवा अब कोई मुझे अपना ही नही लगता ।


जब हो जाता है ना…तो सब कुछ होके भी एक
कमीसी लगती उस इसांन की जिससे हो जाता है “लगाव”


उससे लगाव बस इतना है, प्राणों को साँसों से जितना है।
दिल में अश्क़ ए समंदर कितना है, सागर में पानी के जितना है।


बादलों को भी बहुत लगाव होगा इन बारिश की बूंदों से ,
तभी शायद ये बूंदे उससे दूर हो गयी।।❤️❤️❤️


जब सोए थे खुशी ए मंज़र में तो लोगो को लगाव हो गया ,
जरा सी करवट क्या ली हमने ….उनके मन में घाव हो गया।


तुमसे लगाव ही था जो तुम्हारी हर गलती माफ कर दी..
उसे मोहब्बत का नाम देना भी एक गलती होगी..


Tujhi sai h nafrat tujhi sai pyar ki aas h haa
yhi mera lagav aur tere pyar ki pyas h..


हमे हर किसी से लगाव हो जाता है, और आज की दुनिया के लोग सिर्फ अलगाव चाहते है, इस अलगाव को वो ‘स्पेस’ बोलते है।


दिखावे मे कोई कमी नही रखता मेरा दोस्त
साथ रहुँ तो लगाव वरना दर्द से भरा घाव।


हां लगाव ही तो है मेरा… मेरी मिट्टी से,
जो मुझे मेरे ही वतन से दूर नहीं जाने देती।


वो साथ निभाने का वादा करता चला गया,
और हमें उन से लगाव होता गया।
अब न वो क़समें हैं और न वो वादे क्यूँकि
उन्हें किसी और से जो लगाव हो गया।~~


मालुम था टुट जाएगी इक दिन,,
पर लगाव सांसों से कभी कम ना हुआ ,,,,,,,,


हर प्यार मे लगाव हों ये compulsory हैं
पर हर लगाव का मतलब प्यार हैं ये जरूरी नही।


मूँजें तो पूरी ज़िंदगी उन्ही से लगाव था जय महाकाल 🙏🏻🙏🏻🙏🏻


जब लगाव के तार जुड़ जाते हैं,तब मन के पक्के अवरोध टूट जातें हैं। 😊🌻


#लगाव प्यार नहीं तो नफरत ही सही
कुछ तो है
जो सिर्फ वो हमसे करती है। 💜🌸💜


घाव और लगाव शायरी

वो जैसा‌ चकोर को रहता है चांद से,
रेत को रहता है बूंदों से बस‌ कुछ ऐसा ही लगाव है तुमसे ।


उन्हें हमसे लगाव था हमे उनसे लगाव था ,
उन्हे हमरे पैसों से लगाव था , हमे उनके दिल से लगाव था।


किसी से इतना भी लगाओ ना करो की..
उसके बिन तुम रह ही ना पाओ…


लगाव जो लागे नहीं लगता किसी से,
और जब लग जाए तो उम्र भर घाव देता है। 🙄


काश उनसे लगाव ना होता दिल
पर इतना बड़ा घाव ना होता।।


मुझे लगाव हैं तेरी चाहत से ,
झूठ बोलने की शराफत से ,
मुझे मुस्कुराती तेरी शरारत से,
तेरी वो अदाओं की नज़ाकत से ❤️❤️❤️


तुम्हारे अलगाव से इतना लगाव है मुझे,
सोचो तुम्हारे लगाव से कितना लगाव रहा होगा।। 💔💔


तुमसे लगाव कुछ इस कदर है,,
तुम्हें ना देखूं तो दिल बेठ सा जाता है,,
तू मेरे लिए खुदा की वो इनायत है
जिसके एक दीदार से मेरा बडे से
बडा घाव भी भर जाता है…❤️❤️❤️


फ़ितरत से तो हम दो अलग अलग छोर हैं….
किस्मत से चन्दन वृक्ष और सर्प…
बस लगाव कुछ ऐसा ही है अपना…


मरने की चाहत तो हर रोज होती है,.. . .
पर ग़ालिब उनका aur उनकी बातों का
#लगाव ना जीने देता है और ना मरने… ❤️


हम भी लगाव रखते हैं पर बोलते नहीं,
क्योंकि हम रिश्ते निभाते हैं तौलते नहीं …❤️


लगाव तुमसे अब कुछ जियादा नहीं रहा,
इश्क़ कायम है बस पहले सा इरादा नहीं रहा।


attachment shayari in hindi Best लगाव Quotes, Status, Shayari, Poetry

ये लगाव ही तो है जो लड़ता भाई भी समझ जाता है ,
रक्षाबंधन पर उसकी बहन को क्या चाहिए।


तुम्हारे जाने के बाद भी तुम्हारे पलटने का इंतेज़ार करना..
तुम्हारे बिना सोचे ही तुम्हारी अंकही बातों को सोचकर मुस्कुराना ..
तुम्हें पता भी नहीं हम ज़िंदा हैं ,
फिर भी ये यक़ीं की तुममें भी हैं हम कहीं शायद यही लगाव है ..


किसी से इतना भी लगाव मत रखो ,
कि उनके छोङ के जाने पे जिन्दगी अधूरी सी लगे।।


मोह भरी इस दुनिया मे, लगाव बस
एक तेरे अपनेपन से हुआ हैं। ❤️


जिस इंसान से हम पल भर भी दुर नही रह सकते हैं उसे लगाव कहते हैं।😍


किसी से इतना लगाव न रखो की जिस दिन
वो आपसे लगाव रखना छोड़ दे तो आप
अपने आप से लगाव न रख पाओ🤗


इस लगाव का कोई मतलब नहीं…………..
अब तो बिछड़ने में ही भलाई है।


ज़िन्दगी बन गया था वो.. इस हद तक उससे लगाव हो गया था…
फिर ज़रा अहंकार का “अ” क्या लगाया, अलगाव हो गया था !


लगाव खुद से रखो…..
यकीनन जीत जाओगे 😅😅😅


जिंदिगी का ये कैसा पड़ाव है।
अब तोह सिर्फ ख़ुद से लगाव है।


तुमसे बात की, तुम्हारे साथ चला,
न जाने कब तुमसे लगाव हो गया,
जैसे रिश्ते मे थोडा प्यार का छिडकाव हो गया,
पर मानी नही, बात बनी नाही, परिस्थिती तनी रही,
दिल मे लगाव बना रहा,
न जाने क्यू दिमाग भडकाऊ हो गया


लगाव” की थी मैंने उनसे,मगर “लागत”
ने लगाव को दूर कर दी मुझसे।💔


उसने मुझे दिए कई घाव है ।
हा मुझे आज भी उसकी बातो से लगाव है ।


बहुत लगाव था उससे मुझे ,इतना कि
उसने छोड़ने को कहा तो छोड़ दिया।


“कुछ इस तरह उन से “लगाव”लगा बैठे”
दोस्ती करने का इरादा था उनसे दिल लगा बैठे”


यह भी पढ़े

उम्मीद करता हूँ दोस्तों Lagav Shayari In Hindi का यह लेख आपकों पसंद आया होगा, यदि आपको लगाव लव शायरी, लगाव स्टेटस, लगाव कोट्स लगाव सुविचार उद्धरण थोट्स पसंद आए हो तो इसे अपने दोस्तों के साथ जरुर शेयर करें.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *