महात्मा गांधी के अनमोल विचार Mahatma Gandhi Quotes In Hindi

बापू महात्मा गाँधी के अनमोल विचार Mahatma Gandhi Quotes In Hindi- हमारे देश के राष्ट्रपिता तथा बापू के नाम से विश्व प्रसिद्ध महात्मा गाँधी ने बिना हथियार उठाए हमारे देश की आजादी के लिए जंग लड़ी.

आज हम महात्मा गांधी के विचारो को पढेंगे. उन्होंने किन विचारो से हमें आजाद कराया. और आज हमारे लिए उपयोगी साबित होने वाले तथा प्रेरणादायक कुछ अनमोल विचार आपके सामने प्रस्तुत है.

महात्मा गांधी के अनमोल विचार Mahatma Gandhi Quotes In Hindi

Mahatma Gandhi Quotes In Hindi महात्मा गाँधी के अनमोल विचार

देश के बापू महत्मा गाँधी की जयंती के अवसर पर हम गांधीजी के कुछ अनमोल और प्रेरणादायक विचार लेकर आए है. जिन विचारों के बल पर गाँधी जी ने देश को एकता में बांधकर आजाद कराया. आज हमें इन विचारों को जानना जरुरी है.

देश के मसीहा और अहिंसा के पुजारी गाँधी जी का मानना था, कि व्यक्ति के कर्म व्यक्ति को महान बनाते है, जन्म से कोई महान नहीं होता है. ऐसी सोच वाले बापू के कुछ अनमोल विचार जो हमारे लिए प्रेरणा का स्रोत है.

  1.  सोच ही व्यक्ति की सफलता का सबसे बड़ा कारण होता है. इसलिए हमेशा अच्छी सोच रखे.
  2. क्षमाशालिता महान लोगो की पहचान होती है.
  3. जीवन में हमेशा अच्छे कर्म करने चाहिए. अच्छ कर्म में किसी से डरना नहीं चाहिए.
  4. जीवन में अहिंसा के पुजारी बनो.
  5. विश्वास करना एक अच्छा गुण है, क्योकि जो विश्वास करता है, वो निचिंत रहता है.
  6. हमें धन कमाने के लिए समय को बर्बाद नहीं करना चाहिए. क्योकि धन को समय के साथ कमाया जा सकता है.
  7. व्यक्ति की शक्ति का अनुमान उसके बल से नहीं इच्छाओं से लगाया जाता है.
  8. भूल जाना कोई बड़ा पाप नहीं है, पर भूल को छुपा देना महापाप है.
  9. व्यक्ति की पहचान उसके गुणों से की जाती है. न कि पहनावे से.
  10. मौन रहना एक मन्त्र है. ये अपनाने पर दुनिया दीवानी हो जाती है.
  11. ख़ुशी को बांटने से दूसरो को मिलती है. और हमें ब्याज भी मिलता है.
  12. व्यक्ति का स्वास्थ्य उसका श्रेष्ठ धन माना जाता है.
  13. जो प्यार के बंधन से मुक्त है, वो सबसे बड़ा कायर है.
  14. हमारे द्वारा कार्य का करना तथा करने की क्षमता में भिन्नता होती है.
  15. एक बार में ही लक्ष्य पाने से बेहतर कई बार असफल प्रयास करने में है.
  16. राष्ट्र की एकता का आधार हिंदी है.
  17. जो अपनी गलती को स्वीकार करता है, वो अनेक कष्टों को दूर करता है.
  18. जीवन में प्रगति के लिए भविष्य से अधिक वर्तमान पर ध्यान दें.
  19. गलती पर झुकना और ठोकर से रुकना ही बेहतर होता है.
  20. व्यक्ति की जैसी सोच वही तक उसकी पहुँच होती है.
  21. चिंता हमारे शरीर की सबसे बड़ी बिमारी है. इसका प्रयोग न करें.
  22. जो अच्छे कर्म करता है, वो अवश्य ही मंजिल तक पहुँच जाता है.
  23. स्त्री का सबसे श्रेष्ठ आभूषण उसका अच्छा चरित्र माना जाता है.
  24. मेहनत का फल हमेशा मीठा ही होता है. बस प्राप्त करने की इच्छा का होना जरुरी है.
  25. एक व्यक्ति दिल का अच्छा और मन का सच्चा हो तो वो उसका सबसे बड़ा गुण माना जाता है.
  26. जीवन में हमेशा आगे बढ़ना है, तो हमेशा लक्ष्य बड़ा होना चाहिए.
  27. अहिंसा व्यक्ति का पहला कर्तव्य है. इसकी पालना हमारा धर्म है.
  28. हमे मानवता को बढ़ावा देकर हिंसा से मुक्त होना है.
  29. व्यक्ति को थकान कार्य से नहीं बिना टाइम टेबल से होती है.
  30. अन्याय के सामने शिर झुकाना मौत से भी बढ़कर है.
  31. हमारे जीवन से सच्चाई मूल्यवान है.
  32. इस संसार में माता पिता, गुरु तथा भगवान के आलावा किसी के सामने शिर नहीं झुकाना चाहिए.
  33. व्यक्ति की कमजोरी उसकी भाषा या राष्ट्र नहीं हो सकता है.
  34. जो विश्वासी होता है. उस पर ईश्वर को भी विश्वास होता है.
  35. प्यार वह दवा है. जो क्रोध को शांत करने का सबसे बेहतर उपाय है.
  36. ख़ुशी चहरे पर नहीं दिल में होनी चाहिए.
  37. एक अकेला व्यक्ति आत्मनिर्भर होता है.
  38. प्यार को पाना एक वरदान है.
  39. जीवन को ऐसा बनाओ कि समाप्ति की कगार पर है.
  40. सीखने की विधि को इतना बेहतर बनाओ कि जैसे कई युगों तक इसकी जरुरत हो.
  41. जो लोग आपकी उपेक्षा करते है, वो आपसे कभी जीत नहीं सकते.
  42. प्यार और दंड दो हथियारों से शक्ति मिलती है.
  43. सच्चाई और अच्छाई हमेशा स्थिर रहती है.
  44. देशप्रेम दिखावे से नहीं आत्मप्रेम से होता है.
  45. इस जीवन के अनेक मार्गो में जो सत्य के मार्ग का चयन करता है. वही सच्चा व्यक्ति है.
  46. जीवन में हर कार्य प्रेम से करो वर्ना घृणा से जहर ही बेहतर विकल्प है.
  47. प्रातःकाल की कुंजी और शाम की सुंदरता ही प्रार्थना है.
  48. सत्य हमारा धर्म है. अहिंसा इसे प्राप्ति का संसाधन.
  49. विन्रमता हमारा सबसे बड़ा धर्म है.
  50. दिन का शुरुआत मानव का पुनर्जन्म होता है. रात को सोते ही मौत.

महात्मा गांधी के सामाजिक विचार

किसी भी व्यक्ति के समाज के प्रति विचार को सामाजिक विचार कहते है. महत्मा गाँधी जिन्होंने अपनी मन बुद्दी से अंग्रेजी सरकार का सामना किया. गांधीजी ने देश की कमजोरियो को समझकर सुधार किया.

गाधीजी ने जीवन में समाज में हो रहे भेदभाव छुआछूत, रंगभेद जातिवाद तथा धर्मवाद जैसे अनेक कारणों को खोज निकाला जिस कारण हमारा देश अलग अलग जाती के आधार पर धर्म, लिंग,रंग तथा भाषाओ के आधार पर वगीकृत हो गया.

राष्ट्रपिता गांधीजी ने समाज के इन मुख्य कारणों में सुधार समाज सुधार में सहयोग किया. और सामाजिक विचार प्रकार किये. जो हमारे लिए आज भी उपयोगी है. एक समाज के सचालन में लिए गांधीजी के ये सामाजिक विचार महत्वपूर्ण साबित हो रहे है.

  1. एक समाज के विखंड के प्रमुख कारण जातिवाद, साम्राज्यवाद, सम्प्रदायवाद है.
  2. सच्चाई आत्मनिर्भर होती है. उसे झूठ के सहारे की कोई जरुरत नहीं होती है.
  3. खुद की प्रशंसा करने से व्यक्ति का सम्मान कम होता है.
  4. समाज एक सुरक्षा कवच है, जो हमेशा निशुल्क सुरक्षा करता है.
  5. हम जो व्यवहार दूसरो के साथ करते है. वह व्यवहार हम खुद के साथ करते है. क्योकि हम दूसरो के साथ अच्छा करेंगे तो हमें भी अच्छा व्यवहार मिलेगा. बुरा करने पर बुरा मिलेगा.
  6. क्रोध और असहिष्णुता हमारे लिए सही समझ से शत्रु है.
  7. जब जीवन में नाराजगी आए सोच लेना सच्चाई रंग लाने वाली है.
  8. हर गलती की आजादी नहीं है, तो हम खुद को स्वतंत्र नहीं कह सकते है.
  9. कर्म सफलता का मूल मन्त्र है. कर्म करते रहो सफलता जरुर मिलेगी.
  10. दुनिया को बदलने से पूर्व खुद को बदलने का प्रयास करो.
  11. विश्वास हमें दुर्बलता से मुक्त कराता है.
  12. जो भी कार्य करें. प्रेम से करें.
  13. दृढ विश्वास इतिहास को बदलने की क्षमता रखता है.
  14. यदि गुस्से की मुलाक़ात प्रेम से की जाए तो क्रोध हथियार डाल देता है.
  15. व्यक्ति का प्रयास उपदेशों से उचित होता है.
  16. कायर की जिंदगी जीने से बेहतर है. एक दिन जिए लेकिन बहादुर की तरह जिए.
  17. प्रेमी का दिल तोडना उसके लिए मौत की सजा है.
  18. जब तक हमारे मन में जिज्ञासाए उत्पन्न नहीं होगी, तब तक हम ज्ञान के मार्ग को चयन नहीं कर सकते है.
  19. सच्चाई हमेशा सच्चाई ही होती है. आपके सहयोग कम भी क्यों न हो. क्योकि सत्य अकेला ही हजारो झूठ से बढ़कर होता है.
  20. यदि हम सिखने की जिज्ञासा रखते है. तो हर भूल हमारे लिए बड़ी सिख होती है. इसलिए भूल भी सिखने के लिए जरुरी है.
  21. जिस कार्य को हम करने में सक्षम है. वह हमें किसी अन्य से नहीं करवाना चाहिए. क्योकि खुद से बेहतर और कोई नहीं कर सकता है.
  22. जहा प्रेम का वास होता है. वास्तविक जीवन का आभास वही होता है.
  23. अपने जीवन को ऐसा बनाओ कि जीवन सन्देश बन जाए.
  24. हम जिसकी पूजा करते है. हमारा चरित्र उसी के समान बन जाता है.
  25. ईश्वर निधर्म का होता है. वो किसी धर्म विशेष का नहीं है.
  26. जो पापी है. उसके साथ प्रेम करने से हमें दुगुँना पूण्य मिलता है.
  27. आज का कर्म कल का भविष्य होता है.
  28. समय की बचत किसी धन की बचत से कम नहीं होती है. इसलिए समय की बचत करें.
  29. सफलता मिलने पर हमें गर्व मेहनत का होना चाहिए. न कि सफलता प्राप्ति का.
  30. मुस्कान दिल के जहर को तोड़ देता है.
  31. सुख की प्राप्ति के लिए दुःख का सामना करना पड़ता है.
  32. सोने से पूर्व क्रोध को भूलना चाहिए. इसे हमें अपना अंतिम समय मानना चाहिए.
  33. हमारे द्वारा अपनाई जाने वाली शांति का कोई प्रतिफल अवश्य होता है.
  34. हम अपने विनम्रता भाव से इस संसार में सबकुछ कर सकते है.
  35. वास्तविक शिक्षा हमें इस संसार के श्रेष्ठ रत्नों में से एक बनाती है.
  36. यदि हमें खुद पर आत्मविश्वास है, तो हर असंभव कार्य संभव बनाया जा सकता है.
  37. धैर्य खोने पर व्यक्ति की हार निश्चित हो जाती है.
  38. यदि हम खुद की स्वच्छता के साथ दूसरो की स्वच्छता नहीं रख सकते तो आपकी स्वच्छता का कोई महत्व नहीं है.
  39. सफलता के लिए कड़ी मेहनत करनी पड़ती है. सपने सजाने का कोई मतलब नहीं है.
  40. हम एक मानव है. ये हमारी महानता नहीं हो सकती हम मानवीय गुण रखते है. ये हमारी महानता का गुण है.
  41. जो व्यक्ति दुसरो के दुःख दर्द को समझने की क्षमता रखता है. वही धार्मिक होता है.
  42. मेरे पवित्र मन में हर किसी को अनुमति नहीं है.
  43. इस संसार का असली स्वर्ग प्रेम की दुनिया होती है.
  44. गरीबी हमारे लिए कलंग नहीं है. बल्कि हमारी परीक्षा है.
  45. अपनी बुराई खुद के द्वारा प्रस्तुत कर देनी चाहिए. क्योकि इससे निंदा करने वालो के पास कोई विकल्प नहीं बचता है.
  46. हमें अपने मुंह को उस समय खोलना चाहिए. जब मौन रहना मुर्खता बन जाता है.
  47. मुझे आप मार सकते हो लेकिन मेरे विचारों और गांधीवादी को नहीं मार सकते हो.
  48. हम भारतीय लोगो को अपने द्वारा निर्मित वस्तु के प्रयोग के लिए किसी से अनुमति लेनी पड़े तो ये हमारे लिए कलंक है.
  49. जो बुद्दिमान होता है. वो कार्य करने से पूर्व सोचता है. लेकिन मुर्ख इसके विपरीत बाद में सोचते है.
  50. यदि हमारे एक झूठ से किसी का जीवन बच सकता है. तो हमें झूठ बोल देना चाहिए. क्योकि जान से बढ़कर कुछ नहीं है.

ये भी पढ़ें

प्रिय दर्शको उम्मीद करता हूँ. आज का हमारा लेख महात्मा गांधी के अनमोल विचार Mahatma Gandhi Quotes In Hindi आपको पसंद आया होगा, यदि लेख अच्छा लगा तो इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर करें.

अपने विचार यहाँ लिखे