मानवेन्द्र नाथ राय की जीवनी | Manabendra Nath Roy Biography in Hindi

मानवेन्द्र नाथ राय की जीवनी Manabendra Nath Roy Biography in Hindi: 1888 में बंगाल के अरबालिया गांव में मानवेन्द्र नाथ राय का जन्म हुआ. इनका वास्तविक नाम नरेन्द्र भट्टाचार्य था. बंग-भंग आन्दोलन 1905 में इनका बहुत महत्व पूर्ण योगदान था. भारत की आजादी के अभियान में भारत के अलावा जर्मनी से भी अस्त्र शस्त्र जुटाने के लिए क्रांतिकारी संघ की ओर से चुने गये.

मानवेन्द्र नाथ राय जीवनी Manabendra Nath Roy Biography in Hindi

मानवेन्द्र नाथ राय जीवनी Manabendra Nath Roy Biography in Hindi

साम्यवादी विचारों के समर्थक राष्ट्रवादी एम एन राय का जन्म 1887 में एक बंगाली परिवार में हुआ था. वह बहुत कम अवस्था से ही राष्ट्रवादी क्रांतिकारी विचारों से प्रभावित व आकर्षित होने लगे थेक्रन्तिकारी उपलब्धियों के अपने अनुभव के कारण क्रांति कारियों के बीच एक प्रसिद्ध अग्रणी नेता के रूप में वह जाने जाते थे.

अपनी विदेशी यात्राओं के दौरान वह साम्यवादी विचारों से प्रेरित हुए थे. 1940 में वह भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के सदस्य बने. पर वह इसके आधुनिक पहुच के कारणों से काफी निराश हो गये. राय गांधी की बहुत सी नीतियों से भी सहमत नहीं थे. जिसका परिणाम यह रहा कि वे कांग्रेस से अलग हो गये तथा एक नई पार्टी रेडिकल डेमोक्रेटिक पार्टी की स्थापना की.

इस पार्टी में किसानों व मजदूरों के प्रतिनिधित्व का विशेष रूप से महत्व था. 1948 में राय को मजबूर किया गया कि वे इस पार्टी को भंग कर दे या समाप्त कर दे. मार्क्सवादी साम्यवादी पार्टी की स्थापना हेतु राय ने स्वयं सक्रिय भूमिका निभाई. लेनिन ने राय को रूस आने का निमंत्रण दिया तथा वहां पर उन्होंने राष्ट्रवाद तथा उपनिवेशवाद के प्रश्न पर सैद्धांतिक प्रारूप का ढांचा तैयार किया.

राय भारत में साम्यवादी आंदोलन के जाने माने नेता के रूप में स्थापित हो गये. 1930 में भारत वापिस आने के बाद साम्यवादी षड्यंत्र आंदोलन में भाग लेने के कारण 6 वर्ष के लिए जेल में बंद कर दिए गये. भारत के लिए उनका सबसे महान योगदान था मार्क्सवादी विचारों से संबंधित पुस्तकों का अनुवाद करना.

मानवेंद्र नाथ राय का व्यक्तिगत परिचय

पूरा नाममानवेन्द्र नाथ राय
अन्य नामनरेन्द्र नाथ भट्टाचार्य
जन्म22 मार्च, 1887
जन्म भूमिपश्चिम बंगाल
मृत्यु25 जनवरी, 1954
नागरिकताभारतीय
प्रसिद्धिदार्शनिक, क्रान्तिकारी विचारक
धर्महिंदू 
जातिज्ञात नहीं
कॉलेजजादवपुर यूनिवर्सिटी
माताज्ञात नहीं
पिताज्ञात नहीं
भाईज्ञात नहीं
बहनज्ञात नहीं
बेटाज्ञात नहीं
बेटीज्ञात नहीं

मानवेंद्र राय के द्वारा रचित रचनाएं

  1. दी वे टू डयूरेबिल पीस
  2. वन ईयर ऑफ नॉन-कोऑपरेशन
  3. दी रिवोल्यूशन एण्ड काउण्टर रिवोल्यूशन इन चाइना
  4. रीज़न, रोमाण्टिसिज़्म एण्ड रिवोल्यूशन
  5. इण्डियान इन ट्रांज़ीशन
  6. इंडियन प्रॉबलम्स एण्ड देयर सोल्यूशन्स
  7. दी फ्यूचर ऑफ इण्डियन पॉलिटिक्स
  8. हिस्टोरिकल रोल ऑफ इस्लाम
  9. फासिज्म : इट्स फिलॉसफी, प्रोफेशन्स एण्डप्रैक्टिस
  10. मैटिरियलिज़्म
  11. न्यू ओरियन्टेशन
  12. बियोन्ड कम्यूनिस्म टू ह्यूमेनिज्म
  13. न्यू ह्यूमेनिज्म एण्ड पॉलिटिक्स
  14. पॉलिटिक्स, पावर एण्ड पार्टीज़
  15. दी प्रिंसिपल्स ऑफ रेडिकल डेमोक्रेसी
  16. कॉन्स्टीट्यूशन ऑफ फ्री इण्डिया
  17. रेडिकल ह्यूमेनिज्म
  18. अवर डिफरेन्सेज़
  19. साइन्स एण्ड फिलॉसफी
  20. ट्वेण्टि टू थीसिस

FAQ:

Q: मानवेंद्र राय कौन है?

Ans: यह इंडिया के एक बहुत ही बड़े राष्ट्रवादी क्रांतिकारी थे। लोगों के द्वारा इन्हें नरेंद्र नाथ भट्टाचार्य कहकर भी संबोधित किया जाता था।

Telegram Group Join Now

Q: मानवेंद्र राय ने किसकी स्थापना की थी?

Ans: विदेशो और भारत की कम्युनिस्ट पार्टी की स्थापना

Q: मानवेंद्र राय कहां पैदा हुए थे?

Ans: यूपी में

Q: मानवेंद्र राय की मौत कहां पर हुई?

Ans: उत्तराखंड के देहरादून जिले में

यह भी पढ़े

आशा करता हूँ दोस्तों Manabendra Nath Roy Biography in Hindi का यह लेख आपकों पसंद आया होगा. यदि आपकों मानवेन्द्र नाथ राय की जीवनी  में दी गई जानकारी पसंद आई हो तो इसे अपने दोस्तों के साथ जरुर शेयर करे.

Leave a Comment