प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना 2022 | pmfby pradhan mantri fasal bima yojana in hindi

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना 2022- प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी ने मध्यप्रदेश के शेरपुर में 18 फरवरी 2016 को ”प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना” की औपचारिक शुरुआत की थी. केन्द्रीय केबिनेट ने (पीएमएफबीवाई) योजना को 13 जनवरी 2016 को इसकी मंजूरी दी थी. मोदी सरकार द्वारा इस योजना के द्वारा किसानों पर ८८०० करोड़ रूपये खर्च किये जाएगे. किसानों को फसल की बर्बादी पर विभिन्न बीमा कम्पनियों के साथ सरकार द्वारा किए गये अनुबंध के अनुसार खरीफ की फसल पर 2% तथा रबी की फसल पर १.५% प्रीमियम का भुगतान किया जावेगा.

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना 2022 | pmfby pradhan mantri fasal

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना 2022 | pmfby pradhan mantri fasal bima yojana in hindi
योजना का नामप्रधानमंत्री फसल बीमा योजना
विभागमिनिस्ट्री ऑफ एग्रीकल्चर एंड फार्मर्स वेलफेयर
लाभार्थीदेश के किसान
ऑनलाइन आवेदन के आरंभ तिथिएक्टिव
ऑनलाइन आवेदन की अंतिम तिथि
उद्देश्यदेश के किसानों को सशक्त बनाना
सहायता राशि₹200000 तक का बीमा
योजना का प्रकारकेंद्र सरकार की योजना
आधिकारिक वेबसाइटhttps://pmfby.gov.in

यह योजना पूर्ववर्ती राष्ट्रीय कृषि बीमा योजना (एनएआईएस) का स्थान लिया हैं. इस योजना का क्रियान्वयन केन्द्रीय कृषि एवं कृषक कल्याण मंत्रालय द्वारा किया जा रहा हैं. बजट 2016-17 में इस बीमा योजना के लिए 5500 करोड़ रूपये आवंटित किये गये थे.

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना का भुगतान करने वाली प्रथम प्रीमियम दरों की सुविधा किसानों के लिए बहुत कम रखा गया हैं. ताकि सभी स्तर के किसान आसानी से फसल बीमा का लाभ ले सके. इसके अंतर्गत सभी प्रकार की फसलों को शामिल किया गया हैं. रबी, खरीफ, बागवानी, वाणिज्यिक इत्यादि.

खरीफ की फसलों के लिए (धान या चावल, मक्का, ज्वार, बाजरा, गन्ना) के लिए 2 प्रतिशत प्रीमियम का भुगतान किया जाता हैं. रबी (गेहूं, जौ, चना, मसूर, सरसों) के लिए 1.5 प्रतिशत प्रीमियम का भुगतान किया जाता हैं.

वार्षिक वाणिज्यिक और बागवानी फसलों के लिए 5 प्रतिशत प्रीमियम का भुगतान किया जाता हैं. सरकारी सब्सीडी पर कोई ऊपरी सीमा नही हैं. यदि बचा हुआ शेष प्रीमियम बीमा कम्पनियों को सरकार द्वारा दिया जाएगा. ये राज्य तथा केन्द्रीय सरकार में बराबर बांटा जाएगा.

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना राष्ट्रीय कृषि बीमा योजना और संशोधित राष्ट्रीय कृषि बीमा योजना का स्थान लिया हैं. प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के अंतर्गत आने वाले 3 सालों के अंतर्गत सरकार द्वारा 8800 करोड़ रूपये खर्च करने के साथ ही 50 प्रतिशत किसानों को कवर करने का लक्ष्य रखा गया हैं.

मनुष्य द्वारा निर्मित आपदाओं जैसे आग लगना, चोरी होना, सेंध लगाना आदि को इस योजना के अंतर्गत शामिल नही किया गया हैं. प्रीमियम की दरों में एकरूपता लाने के लिए भारत के सभी जिलों के समूहों को दीर्घकालीन आधार पर बाँट दिया जाएगा.

प्रधानमंत्री बीमा योजना 2018 से कैम्पिंग का प्रावधान पूरी तरह से हटा दिया गया हैं. जिससे किसानों को पूरा लाभ मिल सकेगा. इस योजना में कम प्रीमियम में अधिक जोखिम कवर होगा और ज्यादा सहायता दी जाएगी. फसल बीमा को व्यापक एवं समावेशी बनाते हुए इसे खेत में फसलों की बुवाई से खलिहान तक समेटने की कोशिश की गई हैं. पोस्ट हार्वेस्टिंग में होने वाले नुकसान को भी इसमें शामिल किया गया हैं.

इस बीमा योजना के तहत प्राकृतिक आपदा के तुरंत बाद 25 फीसदी क्लेम सीधा सम्बन्धित किसानों के बैंक खाते में पहुच जाएगा. वही बाकी का भुगतान नुकसान के आंकलन के बाद किया जाएगा. इसमें फसलों की कटाई से प्राप्त आंकड़ों के आधार पर होगा. इसके लिए राजस्व विभाग के कर्मचारियों को स्मार्ट फोन भी मुहैया करवाया जाएगा.

प्रधानमंत्री फसल बीमा स्कीम की सबसे बड़ी बात यह हैं कि इसमें प्राकृतिक आपदाओं से होने वाले नुकसान के साथ ही स्थानीय आपदाओं को भी जोड़ लिया गया हैं. ओलावृष्टि और बेमौसम बारिश अथवा आंधी तूफ़ान में स्थानीय स्तर पर होने वाले नुकसान पर भी बीमा का भुगतान किया जाएगा.

नई फसल बीमा योजना एक राष्ट्र एक योजना विषय पर आधारित हैं. यह पुरानी सभी योजनाओं की अच्छाईयों को शामिल करते हुए उन योजनाओं की कमियों तथा बुराइयों को दूर करती हैं.

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन (Prime Minister Crop Insurance Scheme Online Registration Process)

जो पात्र व्यक्ति प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना में ऑनलाइन आवेदन कर लाभ प्राप्त करना चाहता हैं, उन्हें नीचे दिए गये आसान चरणों का पालन कर एक फॉर्म भरना होगा. ऑनलाइन अप्लाई करने का तरीका यह हैं.

  • कृषि एवं कृषक कल्याण मंत्रालय भारत सरकार की वेबसाइट http://www.agri-insurance.gov.in/ पर लॉग इन करे अथवा अपना अकाउंट बनाएं.
  • Online Apply के दौरान आपकों रजिस्ट्रेशन में आधार नंबर इत्यादि जानकारी भरनी होगी, जो प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना online form में स्वत फिल हो जाएगी.
  • फार्मर का नाम, फार्मर का प्रकार, फार्मर की केटेगरी, नेचर ऑफ़ फार्मर ड्राप डाउन मेनू करके अपनी सम्पूर्ण जानकारी सही सही ही डाले.
  • अपनी प्रोफाइल इनफार्मेशन डालने के बाद Save & Continue पर क्लिक करते ही सफलतापूर्वक रजिस्ट्रेशन का संदेश मिल जाएगा.
  • अब आपकों फसल बीमा योजना form भरना हैं जिसमें वर्ष, सीजन, स्कीम, स्टेट, डिस्ट्रिक्ट, सब डिस्ट्रिक्ट, पंचायत एवं अपनी जमीन से जुडी जानकारी डालने के लिए ऐड पर क्लिक कर करके पूरा फॉर्म भरना हैं.
  • सभी जानकारी भरने के पश्चात आखिरी पेज पर आपकों तीन दस्तावेज जमीन का रिकॉर्ड, बैंक अकाउंट बुक की स्कैन कॉपी एवं Sowing सर्टिफिकेट.

PM Fasal Bima Yojana

हर साल किसानों को विभिन्न प्राकृतिक आपदाओं के चलते लाखों रु का आर्थिक नुक्सान एवं विभिन्न समस्याओं का सामना करना पड़ता हैं. भारत सरकार ने किसानों को इसी समस्या से निजात दिलाने के लिए प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना की शुरुआत की हैं. इस स्कीम के तहत फसल का बीमा किया जाता हैं तथा नुक्सान की स्थिति में सरकार द्वारा मुआवजा राशि सीधे किसान के बैंक खाते में दी जाती हैं.

भारतीय कृषि बीमा कंपनी के माध्यम से केंद्र सरकार इस योजना का क्रियान्वयन कर रही हैं. विभिन्न तरह की आपदाएं जैसे सूखा, ओला गिरना आदि की वजह से खड़ी फसल हो हुए नुक्सान की भरपाई सरकार करेगी. वित्तीय वर्ष 2022-23 में केंद्र सरकार ने योजना के लिए 8800 करोड़ रु का बजट निर्धारित किया हैं. किसान को खरीफ की फसल का 2 प्रतिशत तथा रबी की फसल का डेढ़ प्रतिशत प्रीमियम के रूप में बीमा कम्पनी को देना हैं.

रबी सीजन 2021 22 के लिए प्रीमियम की राशि

फसल का नामप्रति हेक्टेयर प्रीमियम की राशि
गेहूंRs 11000.90
जौRs 661.62
सरसोंRs 681.09
चनेRs 505.95
सूरजमुखीRs 661.62

प्रति हेक्टेयर बीमित राशि

फसल का नामप्रति हेक्टेयर बीमित राशि
गेहूंRs 67460
जौRs 44108
सरसोंRs 45405
चनेRs 33730
सूरजमुखीRs 44108

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के अंतर्गत आने वाली बीमा कंपनियों के टोल फ्री नंबर

इन्शुरेंस कंपनी का नामटोल फ्री नंबर
एग्रिकल्चर इन्शुरेंस कंपनी1800 116 515
बजाज आलियंज इन्शुरेंस कंपनी1800 209 5959
भारती एक्सा जनरल इन्शुरेंस कंपनी1800 103 7712
चोलामंडलम MS जनरल इन्शुरेंस कंपनी लिमिटेड1800 200 5544
फ्युचर जनराली इंडिया इन्शुरेंस कंपनी लिमिटेड1800 266 4141
एचडीएफ़सी एर्गों जनरल इन्शुरेंस कंपनी लिमिटेड1800 266 0700
आईसीआईसीआई लोम्बार्ड जनरल इन्शुरेंस कंपनी लिमिटेड1800 266 9725
इफको टोकियो जनरल इन्शुरेंस कंपनी लिमिटेड1800 103 5490
नेशनल इन्शुरेंस कंपनी लिमिटेड1800 200 7710
न्यू इंडिया एशुरेंस कंपनी1800 209 1415
ओरिएंटल इन्शुरेंस1800 118 485
रिलायंस जनरल इन्शुरेंस कंपनी लिमिटेड1800 102 4088 / 1800 300 24088
रॉयल सुंदरम जनरल इन्शुरेंस कंपनी लिमिटेड1800 568 9999
एसबीआई जनरल इन्शुरेंस1800 123 2310
श्रीराम जनरल इन्शुरेंस कंपनी लिमिटेड1800 3000 0000 / 1800 103 3009
टाटा एआईजी जनरल इन्शुरेंस कंपनी लिमिटेड1800 209 3536
यूनाइटेड इंडिया इन्शुरेंस कंपनी1800 4253 3333
यूनिवर्सल जनरल इन्शुरेंस कंपनी1800 200 5142  

FAQ

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना का शुभारम्भ किसने व कब किया?

18 फरवरी 2016 को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा योजना का शुभारम्भ किया गया.

फसल बीमा योजना का उद्देश्य क्या हैं?

केंद्र सरकार की इस योजना का उद्देश्य आपदाओं के चलते खराब होने वाली फसल की क्षतिपूर्ति कर किसानों को वित्तीय सुरक्षा देना.

यह भी पढ़े

आपको प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना 2022 | pmfby pradhan mantri fasal bima yojana in hindi का यह आर्टिकल कैसा लगा, कमेंट कर जरुर बताएं साथ ही इस लेख को कैसे बेहतर बना सकते है इस बारे में अपने सुझाव देवे. हमें आपकी प्रतिक्रिया का इन्तजार हैं.

Leave a Comment

Your email address will not be published.