राजस्थान बेरोजगारी भत्ता योजना 2021 Rajasthan Berojgari Bhatta Yojana Process In Hindi

राजस्थान बेरोजगारी भत्ता योजना 2021 Rajasthan Berojgari Bhatta Yojana Process In Hindi ; राज्य सरकार की योजना के बारे में यहाँ हेल्पलाइन नंबर, आवेदन फॉर्म, ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन, भत्ता मिला या नहीं कब मिलेगा स्टेटस चेक कैसे करें. इन समस्त सवालों के जवाब Berojgari Bhatta Yojana 2021 Rajasthan In Hindi में जानने का प्रयास करेगे, बेरोजगारों के लिए शुरू की गई इस स्कीम की पूरी डिटेल्स आपकों यहाँ उपलब्ध होगी.

बेरोजगारी भत्ता योजना राजस्थान 2021

विषय सूची

राजस्थान बेरोजगारी भत्ता योजना

Rajasthan Unemployment Allowance Scheme-2021 : राजस्थान बेरोजगारी भत्ता राजस्थान सरकार का आवेदन फॉर्म डाउनलोड Berojgari Bhatta Rajasthan हाल ही में राजस्थान सरकार द्वारा शुरु की युवाओं के हित की स्कीम हैं. जिसमें लाभार्थी उन बेरोजगार युवाओं को बनाया गया है जिन्होंने शिक्षा प्राप्त तो कर ली मगर अभी भी नौकरी की तलाश में दर दर ठोकरे खा रहे हैं.

दिसम्बर 2018 में राजस्थान बेरोजगारी भत्ता यह चुनावी वायदा था, जिन्हें अब राजस्थान सरकार धरातल पर उतारने जा रही हैं. इस योजना में उन युवकों को फायदा मिलेगा, जो अभी नौकरी की तलाश कर रहे हैं. जब तक उन्हें सरकारी नौकरी प्राप्त नही हो जाती राजस्थान सरकार आर्थिक सहयोग के नाम पर निर्धारित यह रकम उन्हें देगी.

निसंदेह आज के समय में बेरोजगारी सबसे बड़ी समस्या बन चुकी हैं. सरकारी जॉब जिसका कोई एक हल नहीं हैं. बल्कि नवयुवकों तथा युवतियों को स्वरोजगार की तरफ आगे बढना होगा, तथा स्वयं के लिए अवसर सृजित करने होंगे. Berojgari Bhatta Rajasthan 2021 इस दिशा में सरकार का सार्थक कदम है जिससे युवा आसानी से अपने करियर को बना सकते हैं.

Rajasthan Berojgari Bhatta Yojana 2021 Short Info

योजना का नामराजस्थान बेरोजगारी भत्ता
संचालकराज्य सरकार, राजस्थान
लाभार्थीशिक्षित कौशल प्रशिक्षित युवा
उद्देश्ययुवाओं को रोजगार की तरफ उन्मुख करना
हेल्पलाइन नंबर0141-2373675
ऑफिसियल वेबसाइट Click Here

कोरोना बना बाधा बेरोजगारी भत्ता ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन Rajasthan

प्रदेश के बेरोजगारों के भत्ते की आस भी कोरोना के फेर में उलझ गई हैं. ई मित्र केन्द्रों पर चिरंजीवी योजना को छोडकर अन्य कार्य बंद होने की वजह से प्रदेश के बेरोजगार युवा आवेदन नहीं कर पा रहे हैं. दूसरी तरफ जिन बेरोजगारों ने पिछले महीने ही रजिस्ट्रेशन कर दिए थे, उनके फॉर्म भी जांच के फेर में उलझ गये हैं. रोजगार कार्यालय में पिछले दस दिनों से कामकाज पूरी तरह से प्रभावित हैं.

फिलहाल प्रदेश के दो लाख से अधिक बेरोजगारों को भत्ते का इंतजार हैं. इधर तीन लाख से अधिक युवाओं को स्नातक परीक्षा स्थगित होने की वजह से बेरोजगारी भत्ता योजना के लाभ से लगभग वंचित हो चुके हैं. पिछले साल युवाओं को कोरोना से लगभग छः माह तक आवेदन नहीं कर पाए थे.

बेरोजगारी भत्ता योजना के नये नियम पर प्रशिक्षण शुरू नहीं

एक तरफ सरकार ने राजस्थान बेरोजगारी भत्ता योजना 2021 के नियमों में बदलाव करते हुए इस वित्तीय वर्ष से बेरोजगारों के लिए प्रशिक्षण की घोषणा की थी. कोरोना की वजह से युवाओं का प्रशिक्षण भी ज्यादातर जिलों में शुरू ही नहीं हो सका हैं. योजना के अनुसार बेरोजगारों को तीन महीने तक रोजाना चार चार घंटे प्रशिक्षण मिलना हैं.

अब हर साल दो लाख को बेरोजगारी भत्ता

राजस्थान बेरोजगारी भत्ता योजना के पहले प्रदेश के 1.60 लाख युवाओं को रोजगार दिया जा रहा था. सरकार की घोषणा के अनुसार इस साल से प्रदेश के 2 लाख से अधिक बेरोजगारों को फायदा मिल सकेगा. इस योजना पर हर साल 650 करोड़ रूपये से अधिक धनराशि खर्च होना प्रस्तावित हैं.

प्रशिक्षण देने वाली कम्पनियों की मजबूरी: राजस्थान बेरोजगारी भत्ता के तहत बेरोजगारों को नियमित रूप से प्रशिक्षण देने वाली कम्पनियों की पीड़ा यह हैं कि कोरोना के बढ़ते संक्रमण की वजह से कामकाज पूरी तरह से प्रभावित हो गया हैं. ऐसे में वह सैद्धांतिक कक्षाएं तो शुरू कर सकते हैं लेकिन प्रायोगिक कक्षाएं शुरू करने में दिक्कत आ रही हैं.

राजस्थान बेरोजगारी भत्ता योजना 2021 में नयें बदलाव

प्रदेश में शिक्षित बेरोजगारों के लिए शुरू की गई बेरोजगार भत्ता योजना में सरकार ने अब बड़े बदलाव किये हैं. इसमें न केवल पात्रता के नियमों को बदला है  भत्ते के रूप में मिलने वाली राशि को भी बढ़ाया हैं. 1 अप्रैल 2021 से इन संशोधित नियमों को लागू कर दिया गया हैं. नये नियमों के अनुसार जो बेरोजगार इसके वाकई पात्र एवं हकदार होंगे, यह उन्हें ही दिया जाएगा.

अब बेरोजगारों को घर बैठे भत्ता नहीं मिलेगा. राजस्थान सरकार की नई शर्तों के अनुसार अब उन्हें स्किल डेवलपमेंट के कोर्स को करना और उसके पश्चात भी यदि प्राइवेट या सरकारी जॉब नहीं मिलती हैं तो उस स्थिति में सरकार बेरोजगारी भत्ता देगी.

अब तक 1 लाख 60 हजार ग्रेजुएट बेरोजगारों को राजस्थान सरकार की ओर से लड़कों को 3000 रूपये और लड़कियों को 3500 रूपये प्रतिमाह भत्ता दिया जाता था. युवाओं को हुनर सीखाने और रोजगार के अवसरों के लिए प्रेरित करने के लिए सरकार ने पात्रता नियमों को बदला हैं. साथ ही अब बेरोजगारी भत्ते की राशि (Amount) में भी वृद्धि की गई. नई शर्तों के अनुसार पात्र हर एक बेरोजगार को भत्ता दिया जाएगा, जिनमें लड़कियों को 4500 रु और लड़कों के लिए 4000 प्रतिमाह का प्रावधान किया गया हैं. रोजगार विभाग फिलहाल नई शर्तों की कार्य योजना को अंतिम रूप देने में लगा हैं.

राजस्थान बेरोजगारी भत्ता योजना की जानकारी- Information About Rajasthan Berojgari Bhatta Yojana In Hindi

इस योजना के लाभार्थी राज्य के वे युवक व युवतियां होंगे जिन्होंने ग्रेजुएशन अथवा पोस्ट ग्रेजुएशन कर ली है तथा नौकरी की तलाश में हैं. अब तक की जानकारी के मुताबिक़ सरकार द्वारा इस बेरोजगारी भत्ता योजना में 3500 रूपये प्रतिमाह की आर्थिक सहायता देने का प्रावधान हैं. इसमें युवक व युवतियां दोनों शामिल हैं. आपकी आयु सीमा 21 से 35, आपके परिवार की वार्षिक आय 3 लाख रूपये से कम है तथा आपने कोई नौकरी नहीं की है तो आप सरकार से बेरोजगारी भत्ते का online फॉर्म भरकर आवेदन कर सकते हैं. सरकार ने अब नयें नियमों के तहत राजस्थान बेरोजगार भत्ता योजना 2021 में पात्रता को संशोधित करते हुए केवल स्किल डेवलपमेंट का कोर्स कर चुके बेरोजगार युवक युवतियों को ही भत्ता देय होगा.

Rajasthan Berojgari Bhatta 2021 documents आवश्यक दस्तावेज

राजस्थान बेरोजगारी भत्ता 2021 के आवेदन की प्रक्रिया online हैं. जिसमें आपकों अपने कुछ दस्तावेजों की जरूरत भी पड़ेगी. इस आवेदन प्रक्रिया में आपके आधार कार्ड, वोटर कार्ड, भामशाह ID कार्ड, बोनफाइड सर्टिफिकेट, E-mail ID और फोन नंबर, आय घोषणा पत्र, शपथ पत्र इन दस्तावेजों की आवश्यकता पड़ेगी. जिनकों स्कैन करके आपके फॉर्म के साथ सबमिट करना होगा.

  • आधार कार्ड
  • वोटर कार्ड
  • आवेदक राजस्थान का नागरिक
  • भामाशाह आईडी कार्ड .
  • ईमेल ID मोबाइल नंबर
  • SBI में बैंक खाता व पासबुक

राजस्थान बेरोजगारी भत्ता 2021 के लिए पात्रता

सरकार ने संशोधित नियमों व शर्तों को लागू कर दिया हैं, इसके बाद केवल ग्रेजुएट और बेरोजगार होना पर्याप्त नहीं हैं. अब केवल उन युवक युवतियों को ही राजस्थान बेरोजगारी भत्ता 2021 का पात्र माना जाएगा जो किसी कौशल विकास के कोर्स को कर चुके है तथा कोई नौकरी नहीं कर रहे हैं. इसके अतिरिक्त बेसिक पात्रता की ये कुछ शर्ते हैं जो आवेदक को पूरी करनी होगी.

  • आवेदक राजस्थान का मूल निवासी होना अनिवार्य है.
  • सामान्य वर्ग के लिए आयु 30 वर्ष और अनुसूचित जाति/ जनजाति, विशेष योग्यजन एवं महिला के लिए 35 की अधिकतम आयु निर्धारित की गई हैं.
  • ग्रेजुएशन या पोस्ट ग्रेजुएशन होने के साथ ही बेरोजगार होना और कौशल विकास कोर्स किया जाना अनिवार्य किया गया हैं.
  • इच्छुक युवक युवती के परिवार की कुल सालाना आय दो लाख रूपये से कम हो.
  • किसी सरकारी या निजी संस्थान में कार्यरत न हो.
  • अभ्यर्थी के पास एसबीआई बैंक में अकाउंट और आधार कार्ड होना चाहिए.

राजस्थान बेरोजगारी भत्ता में लाभ व उद्देश्य

राजस्थान में लम्बे समय से यह योजना अक्षत स्कीम के नाम से चल रही थी जिसमें लड़कों को 600 रु मासिक और लड़कियों को 750 रु की राशि दी जाती थी. राजस्थान की कांग्रेस सरकार ने योजना का नाम बदलकर राशि को बढ़ा कर अब 4000 और 4500 रूपये कर दिया हैं. इस मुख्यमंत्री युवा संबल योजना से करीब दो लाख बेरोजगार युवक युवतियों को लाभ मिलेगा.

राजस्थान बेरोजगारी भत्ता योजना चयन प्रक्रिया (How to Select for Mukhyamantri Yuva Sambal Yojana Rajasthan)

राज्य सरकार द्वारा प्रतिवर्ष एक जुलाई से नयें युवकों के लिए आवेदन मांगे जाते है और उनके चयन की प्रक्रिया आरम्भ की जाती हैं. सरकार ने नयें नियमों के अनुसार अब केवल एक लाख बेरोजगार युवकों को मुख्यमंत्री युवा संबल योजना का लाभ देने का निश्चय किया हैं. यदि आवेदकों की संख्या निर्धारित संख्या से अधिक होगी तो इस स्थिति में रोजगार विभाग उम्र के आधार पर सलेक्शन करेगा. चयन प्रक्रिया में वंचित हो जाने की स्थिति में बेरोजगारों को स्कीम का लाभ उठाने के लिए अगला अवसर 1 जनवरी को मिलेगा.

राजस्थान बेरोजगारी भत्ता योजना की ऑनलाइन आवेदन प्रक्रिया Process

राजस्थान बेरोजगारी भत्ता योजना 2021 ऑनलाइन आवेदन की प्रक्रिया बेहद सरल है. आप सबसे पहले यहाँ वेबसाइट को विजिट करे और Job Seekers के कॉलम में जाएँ और unemployment Allowance के आप्शन पर जाए अब आपकों अप्लाई आप्शन कर क्लिक करना हैं. अब एक सामान्य खाते की तरह आपकों अकाउंट का लॉग इन या साइन अप करने को कहा जाएगा. यक़ीनन यहाँ आपका खाता नहीं है तो रजिस्टर पर जाए और नया खाता बना ले.

यह लॉग इन आप भामाशाह आईडी के साथ भी कर सकते है जिसमें आपकों आईडी दर्ज करने के बाद रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर एक otp कोड भेजा जाएगा. इसे दर्ज करने के पश्चात आपको अपने मोबाइल नंबर को यूजर नाम के तौर पर डालना होगा, जिसके पश्चात आपके नबर पर एक पासवर्ड आएगा जिसका उपयोग कर आप अपने खाते में लॉग इन कर सकते हैं. इतना कुछ करने के बाद आप यूजर नेम और पासवर्ड के साथ sso.rajasthan.gov.in पर लॉग इन कर वहा से Rajasthan Berojgari Bhatta Yojana Form भर कर सबमिट कर सकते हैं.

राजस्थान बेरोजगारी भत्ता आवेदन का स्टेटस कैसे चेक करें (How to check status)

यदि आपकों राजस्थान बेरोजगारी भत्ता योजना 2021 में आवेदन के बावजूद लाभ नहीं मिल रहा अथवा इस महीने का भत्ता नहीं मिला तब  ऑनलाइन फॉर्म के स्टेटस को चेक कर सकते हैं. ऑनलाइन भत्ता स्टेटस चेक करने के लिए आपकों कौशल व रोजगार विभाग की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा.जिसकी लिंक ऊपर की तालिका में दी गई हैं. वेब पर जाने के पश्चात अपने पंजीकरण नंबर, मोबाइल नंबर अथवा बर्थडेट डालकर सर्च बटन दबाकर आप अपने आवेदन  स्टेटस को चेक कर सकते हैं. जिससे आपकों अपने भत्ते की वर्तमान स्थिति की जानकारी मिल जाएगी.

निश्चय ही जिन लोगों को बेरोजगारी भत्ता मिल रहा है उन्हें नौकरी पाने की तैयारी करने में कम समस्याओं का सामना करना पड़ेगा खासकर आर्थिक तंगी से सामना तो नहीं करना पड़ेगा. वे आसानी से अपने करियर की तैयारी पर फॉक्स कर सकते हैं. एक युवक व युवती को केवल 2 वर्ष तक के लिए ही बेरोजगारी भत्ता दिया जाता हैं. इस सरकारी योजना का सभी पात्र शिक्षित बेरोजगारों को लाभ उठाना चाहिए. सरकार ने जिन नई शर्तों को जोड़ा है अब उन्हें पूरा करना होगा. यानी स्किल डेवलपमेंट कोर्स करके आप निरंतर योजना का लाभ उठा सकेगे.

यह भी पढ़े

उम्मीद करता हूँ दोस्तों राजस्थान बेरोजगारी भत्ता योजना 2021 Rajasthan Berojgari Bhatta Yojana Process In Hindi के इस लेख में राज्य की बड़ी स्कीम की दी गई जानकारी पसंद आई होगी. यदि आपकों यहाँ दी जानकारी पसंद आई हो तो इसे अपने दोस्तों के साथ भी शेयर कीजिए.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *