राजस्थान पालनहार योजना 2021 Rajasthan Palanhar Yojana Details In Hindi

राजस्थान पालनहार योजना 2021 Rajasthan Palanhar Yojana Details In Hindi Application Form Apply Online आवेदन प्रक्रिया Documents List Download Pdf SJE Palan har Yojana In Hindi: राजस्थान प्रदेश की गहलोत सरकार ने वित्तीय वर्ष 2019-20 में अनाथ, वंचित बालक बालिकाओं के लिए एक अभिनव योजना की शुरुआत की हैं. इस योजना को पालनहार स्कीम के नाम से जाना जाता हैं. योजना के पात्र सभी बच्चों को राज्य सरकार निश्चित अवधि तक एक अभिभावक का संरक्षण दिलाती हैं. प्रदेश के लाखों बच्चें है जिन्होंने किसी कारणवश अपने माता पिता को खो दिया हो ऐसे में उनकी देखभाल और पालन पोषण करने वाला कोई नहीं होगा. सरकार इन अभावों में बेसहारा जीवन जीने वाले बच्चों के लिए सुनहरे भविष्य की नीव रखने वाली योजना की शुरुआत की हैं. इस लेख में हम राजस्थान सरकार की पालन हार योजना 2021 के बारे में सम्पूर्ण जानकारी प्राप्त करेंगे.

पालनहार योजना 2021 राजस्थान

पालनहार योजना 2021 राजस्थान

Palanhar Scheme Rajasthan 2021 Short Info

योजना का नाम पालनहार योजना राजस्थान
संचालक राज्य सरकार
लाभार्थी अनाथ बच्चे
उद्देश्य अनाथ बच्चों का भविष्य
ऑफिसियल वेबसाइट Click Here

राजस्थान सरकार और केंद्र सरकार द्वारा अनाथ बच्चों के लिए कई प्रकार की सरकारी योजनाओं संचालित करती हैं, जिनमें इस श्रेणी के बालकों को आवास, शिक्षा प्रशिक्षण और दैनिक आवश्यकताओं की पूर्ति का प्रबंध करती हैं. राज्य में ऐसी ही एक गोरा धाय ग्रुप फोस्टर केयर योजना राजस्थान हैं. जिसमें अनाथ (orphans) बच्चों के लिए स्वयंसेवी सहायता समूह को यह जिम्मेदारी देती हैं कि बच्चें की समस्त आवश्यकताओ की पूर्ति की जाए. पालनहार योजना भी इसी श्रेणी की हैं परन्तु योजना के तहत अनाथ बालक बालिका किसी अन्य संस्थागत स्थान पर केयर टेकर के साथ रखने की बजाय समाज में ही अपने निकटम रिश्तेदार, परिचित को पालन हार बनाकर रखा जाता हैं और सरकार द्वारा उस पालन हार को बालक की शिक्षा, भोजन, वस्‍त्र एवं अन्‍य आवश्‍यक सुविधाएं उपलब्‍ध सुनिश्चित कराने की जिम्मेदारी तय करती हैं. बदले में सरकार द्वारा पालनहार को आर्थिक सहायता राशि प्रदान की जाती हैं.

Rajasthan Palanhar Yojana 2021 क्या हैं.

योजना के अनुसार जो पालनहार बच्चें के रहने पालन और पोषण का संचालन कर रहा हैं, सरकार की तरफ से पांच वर्ष तक की आयु के बच्चे के लिए 500 रु प्रतिमाह का भुगतान किया जाता हैं. स्कूल में प्रवेश लेने के पश्चात 18 वर्ष का होने तक सरकार की ओर से 1000 प्रतिमाह भुगतान किया जाता हैं. साथ ही प्रदेश सरकार द्वारा बालक बालिका के लिए वस्त्र ,स्वेटर जुटे एवं  अन्‍य आवश्‍यक कार्य के लिए अलग से 2000 रूपये का वार्षिक भुगतान किया जाता हैं. राजस्थान पालनहार योजना 2021 में 0 से 18 वर्ष के बालक बालिकाओं को यह सहायता राशि प्रदान की जाती हैं. इस राशि से पालनहार को बच्चे के खाने पीने शिक्षा और वस्त्रों की व्यवस्था करनी होती हैं. सरकार की इस अनुपम योजना से प्रदेश के लाखों अनाथ और लावरिस बच्चों को नया जीवन मिलता है और अपने समाज के मध्य रहकर अच्छा भविष्य बनाने के अवसर में भागीदार बनने का मौका मिल पाता हैं.

राजस्थान पालनहार योजना में पात्र बच्चो की लिस्ट

सरकार की पालनहार योजना 2021 में 9 श्रेणियों के अंतर्गत आने वाले लाभार्थी बालक बालिकाओं को शामिल किया जाता हैं राज्य के समस्त वे बच्चे जिनके माता पिता का देहावसान हो चूका हैं वे समस्त अनाथ बच्चे इस योजना के पात्र हैं. इस लिस्ट में शामिल अन्य श्रेणी के बच्चे निम्न हैं. योजना की शुरुआत राज्य में 8 फरवरी 2005 को की गई थी. उस समय पात्रता केवल अनुसूचित जाति SC के अनाथ बच्चों तक ही सिमित थी, कालान्तर में पात्रता नियमों में बदलाव के साथ नई श्रेणियों को भी इसका पात्र बनाया गया. वर्तमान में निम्न सूची के अंतर्गत पात्रता रखने वाले सभी बच्चों को पालनहार योजना का लाभ दिया जाता हैं.

  • अनाथ बच्‍चे
  • न्‍यायिक प्रक्रिया से मृत्‍यु दण्‍ड/ आजीवन कारावास प्राप्‍त माता-पिता की संतान
  • निराश्रित पेंशन की पात्र विधवा माता की अधिकतम तीन संताने
  • नाता जाने वाली माता की अधिकतम तीन संताने
  • पुर्नविवाहित विधवा माता की संतान
  • एड्स पीडित माता/पिता की संतान
  • कुष्‍ठ रोग से पीडित माता/पिता की संतान
  • विकलांग माता/पिता की संतान
  • तलाकशुदा/परित्‍यक्‍ता महिला की संतान

पालनहार योजना में सहायता राशि

पात्र लाभार्थी की सूची के अंतर्गत आने वाले सभी बच्चों को सरकार की ओर से सहायता राशि प्रदान की जाती हैं. हर पात्र 5 वर्ष से कम आयु के बालक बालिका को 500 मासिक राशि मिलती हैं. 6 वर्ष से 18 वर्ष तक स्कूली जीवन के दौरान बालक बालिका को 1000 रु मासिक लाभ मिलता हैं. अन्य आवश्यकता जैसे कपड़े, कोट, जूते आदि के लिए पृथक रूप से हर वर्ष 2000 रु की राशि देय हैं.

राजस्थान पालनहार योजना 2021 की पात्रता लिस्ट

योजना का लाभ लेने के लिए आवेदक को जारी नियमों के अनुसार सभी शर्ते पूरी करनी होगी. इसके लिए तीन अहम शर्तें इस प्रकार हैं.

  1. आवेदक राजस्थान का निवासी हो
  2. जो परिवार संरक्षक बन रहा है उसकी वार्षिक आय 1 लाख 20 हजार से कम हो
  3. पालनहार अभिभावक अनाथ बच्चें को 2 वर्ष से 5 वर्ष तक आंगनबाड़ी भेजे तथा 6 वर्ष का होने पर स्कूल भेजे.

श्रेणी वार आवश्यक दस्तावेज़

राजस्थान पालनहार योजना में आवेदन करते समय सभी श्रेणियों के लिए अलग अलग दस्तावेज रखे गये हैं. ताकि यह प्रमाणित किया जा सके कि आवेदक बालक उस श्रेणी में लाभ पाने का हकदार है अथवा नहीं. श्रेणी के अनुसार दस्तावेज इस प्रकार हैं.

  • अनाथ बच्चे – माता पिता के मृत्यु प्रमाण पत्र की कॉपी
  • मृत्यु दंड /आजीवन कारावास प्राप्त माता पिता के बच्चे – दण्डादेश की प्रति
  • निराश्रित पेंशन की पात्र विधवा महिला के तीन बच्चे – विधवा पेंशन भुगतान आदेश की प्रति
  • पुनर्विवाह विधवा माता के बच्चे – पुनर्विवाह के प्रमाण पत्र की प्रति
  • अच् आई वी/ एड्स पीड़ित माता /पिता के बच्चे – ए आर टी सेंटर द्वारा जारी ए आर डी डायरी /ग्रीन कार्ड की कॉपी
  • कुष्ठ रोग से पीड़ित माता /पिता के बच्चे – सक्षम बोर्ड द्वारा जारी किये गए चिकित्सा प्रमाण पत्र की प्रति
  • नाता जाने वाली माता के तीन बच्चे – नाता गए हुए एक वर्ष से अधिक समय होएं का प्रमाण पत्र
  • विशेष योग्यजन माता /पिता के बच्चे – 40 %या अधिक निशक्तता के प्रमाण की प्रति
  • तलाकशुदा /परित्यक्ता महिला के बच्चे – तलाकशुदा परित्यक्ता पेंशन भुगतान आदेश की प्रति

पालनहार के दस्तावेज़

अभिभावक के डोक्युमेंट

  • अभिभावक का आधार कार्ड
  • भामाशाह कार्ड
  • मूल निवास प्रमाण पत्र
  • राशन कार्ड
  • पहचान पत्र

लाभार्थी बालक/ बालिका के डोक्युमेंट

  • बालक का आंगनबाड़ी या  विद्यालय में अध्यनरत होने का प्रमाण-पत्र
  • बालक का आधार कार्ड
  • मोबाइल नंबर
  • पासपोर्ट साइज फोटो

पालनहार योजना राजस्थान 2021 में आवेदन कैसे करे?

  1. आवेदक को ऑनलाइन आवेदन करने के लिए http://sje.rajasthan.gov.in/schemes/Palanhar.html लिंक  पर जाकर सामाजिक न्याय विभाग की वेबसाइट से Application Form PDF File को डाउनलोड करना होगा.
  2. आवेदन फॉर्म में मांगी गई बेसिक जानकारी को हाथ से भरें.
  3. ऊपर दी गई सूची में दिए गये दस्तावेज आवेदन फॉर्म के साथ संग्लन करें.

आवेदन फॉर्म कहाँ जमा कराएं

यदि आप ग्रामीण क्षेत्र से है तो पीडीऍफ़ फॉर्म के आवेदन को विकास अधिकारी के पास जमा करवा सकते हैं. शहरी क्षेत्र में जिला अधिकारी के पास इसे जमा करवाना होता हैं. इसके अतिरिक्त आप ई मित्र कियोस्क पर जाकर भी अपने फॉर्म को जमा करवा सकते हैं. इस तरह योजना का आवेदन फॉर्म भरना और जमा करवाना बेहद आसान हैं. इन आसान चरणों का अनुसरण करके फॉर्म भरकर जमा करवाया जा सकता हैं.

राजस्थान पालनहार योजना में स्टेटस कैसे चेक करे ?

जिन पात्र लाभार्थियों ने पालनहार योजना 2021 के लिए आवेदन फॉर्म सम्बन्धित अधिकारी या ईमित्र पर जमा करवा दिया हैं और अपने रजिस्ट्रेशन की वर्तमान स्थिति देखना चाहते हैं तो यह बेहद आसान हैं. योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर जाकर आप स्टेटस देख सकते हैं.

Click Here- Link

यहाँ दी गई लिंक पर क्लिक करके आपकों खुलने वाले पेज में वित्तीय वर्ष, भामाशाह नंबर और कैप्चा कोड डालकर गेट स्टेटस बटन पर क्लिक करके आसानी से करंट स्टेटस चेक कर सकते हैं. यदि आपके खाते में पैसा नहीं आ रहा अथवा किसी दस्तावेज की कमी बताई जा रही हैं तब भी आप इसे यहाँ आसानी से देखकर कमी की पूर्ति कर सकते हैं.

हेल्पलाइन नंबर

सामाजिक न्याय से जुड़ी योजनाओं की जानकारी और मदद अब 1800-180-6127 नंबर पर कॉल करके पता की जा सकती हैं. सामाजिक न्याय बाल अधिकारिता निदेशालय की हेल्प लाइन पर सम्पर्क कर ऑनलाइन अथवा ऑफलाइन आवेदन के समय आ रही समस्याओं को लेकर कॉल सेंटर में सम्पर्क किया जा सकता हैं. इन नंबर पर कॉल करके विभागीय योजनाओं की पात्रता और आवेदन की स्थिति के बारे में भी अपडेट प्राप्त की जा सकती हैं.

राजस्थान पालनहार योजना के लाभ व उद्देश्य

सरकार की ओर से संचालित पालन हार योजना में अप्रैल 2021 तक 1,701,666 बालकों और 522,697 लाभार्थी बालिकाओं का रजिस्ट्रेशन किया जा चूका हैं. सरकार की ओर से अब तक 672.88 करोड़ रूपये इन लाभार्थियों को आवंटित की जा चुकी हैं.

हमारे आस पास अपने समाज में ही कई बच्चें ऐसे होते है जिनका सहारा भगवान छीन लेते हैं. ऐसे में उनका भविष्य उसी दिन अन्धकार मय हो जाता है जब माता पिता का छाया उन पर से उठ जाता हैं. ऐसे लाखों बच्चों की अमूमन की कोई मदद भी नहीं करता हैं. सरकार की पालनहार योजना के चलते इनकी शिक्षा और पालन पोषण की व्यवस्था हो सकेगी और वे समाज में रह कर सामान्य बच्चों के साथ सुनहरें भविष्य की आशाओं के सहारे अपने वर्तमान जीवन को खुशहाल बना सकेगे.

प्रत्येक वर्ष नवीनीकृत कराना

पालनहार योजना में लाभार्थी बालक की नवीनतम स्थिति Renewal कराने की प्रक्रिया प्रतिवर्ष जुलाई माह में करवाई जाती हैं. आंगनबाड़ी के बाद 5 वर्ष का होने पर बच्चें को स्कूल में दाखिला दिलाते समय रिन्युअल अवश्य कराना चाहिए. अन्यथा सहायता राशि रोक दी जाएगी, रिन्युअल के लिए बच्चें के आधार कार्ड, जन आधार, आंगनबाड़ी या स्कूल के सर्टिफिकेट के साथ ईमित्र पर जाकर रिन्युअल करवाया जा सकता हैं.

पालनहार योजना आवेदन का प्रारूप Pdf

 

पालनहार योजना फॉर्म PDF 2021

यह भी पढ़े

उम्मीद करता हूँ दोस्तों राजस्थान पालनहार योजना 2021 Rajasthan Palanhar Yojana Details In Hindi का यह लेख आपकों पसंद आया होगा. योजना से जुडी आपको जानकारी पसंद आई हो तो इसे अपने दोस्तों के साथ भी शेयर करें.

अपने विचार यहाँ लिखे