Shabd Roop Sanskrit Questions शब्द रूप संस्कृत व्याकरण | Reet Sanskrit Mock Test | Reet Level 1 Online Test Level 2 Practice Series Questions Answer

Shabd Roop Sanskrit Questions शब्द रूप संस्कृत व्याकरण | Reet Sanskrit Mock Test | Reet Level 1 Online Test Level 2 Practice Series Questions Answer: संस्कृत प्रश्नोत्तरी में आपका स्वागत हैं. आज के ऑनलाइन टेस्ट का प्रकरण हैं शब्द रूप. परीक्षा उपयोगी प्रश्नों की शब्द रूप की इस प्रश्नोत्तरी में आप भाग लेकर अपनी तैयारी का आंकलन कर सकते हैं. हमने संस्कृत ऑनलाइन टेस्ट सीरिज और शिक्षा मनोविज्ञान प्रेक्टिस सेट की समस्त लिंक भी इस पेज में दी हैं, जिनका आप अभ्यास कर सकते हैं.(रोजाना हमारी क्विज में भाग लेने के लिए इस टेलीग्राम ग्रुप से जुड़े)

Shabd Roop Sanskrit Questions शब्द रूप संस्कृत व्याकरण | Reet Sanskrit Mock Test | Reet Level 1 Online Test Level 2 Practice Series Questions Answer

1. सर्व शब्द का स्त्रीलिंग षष्ठी बहुवचन होगा.

 
 
 
 

2. गच्छति राजनि बाण क्षिपति, गच्छति में विभक्ति हैं.

 
 
 
 

3. आत्मन् शब्द का सप्तमी बहुवचन हैं.

 
 
 
 

4. अस्मद् शब्दस्य षष्ठी विभक्ते: एकवचने

 
 
 
 

5. अध्यापिका बालिका पाठयति में विभक्ति हैं.

 
 
 
 

6. पितृ शब्दस्य सम्बोधने एकवचने स्यात्

 
 
 
 

7. गच्छतो: बालकयो: रमेश: श्रेष्ठ:, गच्छतो: में विभक्ति हैं.

 
 
 
 

8. पितृ शब्दस्य षष्ठी एकवचने रूपम्

 
 
 
 

9. वध्वे रूप हैं.

 
 
 
 

10. पति शब्द का षष्ठी एकवचन हैं.

 
 
 
 

11. नदी शब्दस्य द्वितीया विभक्ते बहुवचने स्यात्

 
 
 
 

12. युष्मद शब्द का पञ्चमी एकवचन हैं.

 
 
 
 

13. तद् शब्द का नपुंसकलिंग चतुर्थी बहुवचन हैं.

 
 
 
 

14. राम शब्द की पंचमी द्विवचन एवं सप्तमी द्विवचन का सही युगल हैं.

 
 
 
 

15. एक संख्यावाची शब्द का प्रथमा विभक्ति में स्त्रीलिंग का रूप होगा.

 
 
 
 

16. गुरु शब्दस्य प्रथमा बहुवचन रूपम् भवति.

 
 
 
 

17. धेनु शब्द का द्वितीया बहुवचन हैं.

 
 
 
 

18. सखि शब्द का सप्तमी एकवचन होगा.

 
 
 
 

19. रमे गच्छतः में विभक्ति हैं.

 
 
 
 

20. गुरु शब्द का तृतीया एकवचन हैं,

 
 
 
 

21. हरि शब्द का सप्तमी एकवचन हैं.

 
 
 
 

22. जगत् शब्द का सप्तमी एकवचन हैं.

 
 
 
 

23. पितु: भयं करोति. पितु: में विभक्ति हैं.

 
 
 
 

24. बालक शब्दस्य षष्ठी बहुवचने रूपम् भवति

 
 
 
 

25. हरि शब्दस्य द्वितीया बहुवचने रूपमस्ति

 
 
 
 

26. मुनि शब्दस्य प्रथमा द्विवचने

 
 
 
 

27. अस्माकम् इति पदस्य का विभक्ति:

 
 
 
 

28. तत् शब्दस्य स्त्रिलिंगे चतुर्थी एकवचने रूपम्

 
 
 
 

29. लता शब्दस्य सप्तमी बहुवचने

 
 
 
 

30. यत्र नार्यस्तु पूज्यन्ते रमन्ते तत्र देवता: नार्य: में प्रतिपादिक एवं विभक्ति हैं.

 
 
 
 


इनमें भी भाग ले-

संस्कृत वर्ण परिचय
संस्कृत संधि
कारक व विभक्ति
धातु रूप
वाच्य परिवर्तन
समास
प्रत्यय
शब्द रूप

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *