शार्दुल ठाकुर का जीवन परिचय | Shardul Thakur Biography in Hindi

शार्दुल ठाकुर का जीवन परिचय | Shardul Thakur Biography in Hindi हमारे देश में अनेक प्रसिद्ध क्रिकेटरों ने जन्म लिया और अपनी खेल प्रतिभा से एक मुकाम पाया और देश का नाम रोशन किया। सच्ची लगन, प्रतिभा, कड़ी मेहनत, प्रयास, दृढ़ इच्छा से अपने बलबूते पर नाम कमाया। ऐसे ही महान क्रिकेटरों को प्रेरणा स्वरूप मानकर हम भी अपने लक्ष्य की प्राप्ति कर सकते हैं। देश में क्रिकेट खेल लोकप्रिय एवं जनसाधारण के बीच काफी लोकप्रिय है। ऐसे में आज हम आपको जिस नवीन क्रिकेटर के बारे में जानकारी दे रहे हैं वह है उभरता हुआ क्रिकेट क्षेत्र का सितारा शार्दुल ठाकुर।

शार्दुल ठाकुर का जीवन परिचय | Shardul Thakur Biography in Hindi

शार्दुल ठाकुर का जीवन परिचय Shardul Thakur Biography in Hindi
पूरा नामशार्दुल नरेंद्र ठाकुर
जन्म16 अक्टूबर 1991
जन्म स्थानपालघर, महाराष्ट्र
आयु/उम्र30 वर्ष
व्यवसायऑलराउंडर क्रिकेटर
धर्महिंदू धर्म
हाइट1.75 मीटर
वजन72 किलो
बालों का रंगकाला
आंखों का रंगकाला
पितानरेंद्र ठाकुर
माताहंसा ठाकुर
पत्नीअविवाहित
स्कूलस्वामी विवेकानंद इंटरनेशनल स्कूल
कॉलेजयूनिवर्सिटी ऑफ मुंबई
योग्यताग्रेजुएशन
कोचदिनेश
बल्लेबाजी शैलीदाएं हाथ के बल्लेबाज
गेंदबाजी शैलीदाएं हाथ के मध्यम तेज गेंदबाज
घरेलू टीममुंबई

कौन है शार्दुल ठाकुर

ठाकुर शार्दुल ठाकुर का जन्म महाराष्ट्र के पालघर नामक स्थान में 16 अक्टूबर 1991 हिंदू संयुक्त परिवार में हुआ था उनके पिता जी जो नारियल का व्यवसाय करते हैं उनका का नाम नरेंद्र ठाकुर है, माताजी जो एक ग्रहणी है उनका नाम हंसा ठाकुर है, उनकी एक छोटी बहन भी है। शार्दुल ठाकुर बचपन से ही क्रिकेट के काफी शौकीन रहे हैं और बचपन से ही क्रिकेट में माहिर थे।

शार्दुल ठाकुर की शिक्षा

ठाकुर ने अपनी स्कूली शिक्षा ‘पालन’ से आनंद आश्रम कन्वेंट स्कूल में की थी। उच्च शिक्षा के लिए उन्होंने स्कूल बदलकर पालघर से ही स्वामी विवेकानंद इंटरनेशनल स्कूल से शिक्षा प्राप्त की, इसके पश्चात मुंबई विश्वविद्यालय से कॉलेज की शिक्षा प्राप्त की थी।

करियर

शार्दुल ठाकुर का कार्यक्षेत्र अनेक रूपों में विभाजित रहा है। शुरुवाती दौर में सफलता इतनी नहीं मिली थी। शुरुवात उन्होंने एक मध्यम गेंदबाज से करके पहला मैच नवंबर वर्ष 2012 को राजस्थान के खिलाफ खेला था और 82.0 औसत दर से 4 विकेट भी लिए थे।

ठाकुर डॉमेस्टिक लेवल में एक अच्छे गेंदबाज भी माने जाते हैं। शार्दुल ठाकुर ने अपना पहला आईपीएल मैच 1मई वर्ष 2015 को दिल्ली डेयरडेविल्स के खिलाफ खेला था। शार्दुल ठाकुर मैच के मैदान में अपनी बोलिंग स्टाइल और शांत स्वभाव के लिए भी जाने जाते हैं।

घरेलू करियर

शार्दुल ठाकुर के घरेलू करियर की शुरुवात स्कूल के समय से ही हो गई थी जहाँ उन्होंने एक बार छह गेंदों में छह छक्के लगाए थे। स्कूल के पश्चात उन्होंने जयपुर के सवाई मानसिंह स्टेडियम में राजस्थान के खिलाफ वर्ष 2012 में खेला था जिसकी शुरुवात ज्यादा अच्छी नहीं थी बाद में क्रिकेट में घरेलू करियर के तौर पर अच्छी जगह बनाई थी, जो इस प्रकार है:

  • शार्दुल ठाकुर ने रणजी ट्रॉफी में वर्ष 2012 से 2013 में 26.25 की औसत से छह टेस्ट मैचों में 27 विकेट लिए थे जिसमें एक बार एक पारी में पाँच विकेट भी लिए थे।
  • वर्ष 2013 से 2014 की रणजी ट्रॉफी में 20.81औसत दर से गेंदबाजी की और 10 मैचों में 48 विकेट लिए थे।
  • वर्ष 2013 से 2014 विजय हजारे ट्रॉफी में मुंबई के लिए लिस्ट ‘ए’ क्रिकेट में 27 फरवरी 2014 को डेब्यू किया था, जहाँ उन्होंने 10 ओवरों में 59 रन दिए और 2 विकेट लिए थे।
  • रणजी ट्रॉफी वर्ष 2015 से 2016 के फाइनल में सौराष्ट्र की टीम के खिलाफ 8 विकेट लिए थे और इस मैच में मुंबई ने अपनी 41वीं जीत हासिल की थी।
  • शार्दुल ठाकुर ने वर्ष 2015 में इंडियन प्रीमियर लीग के लिए किंग्स इलेवन पंजाब के लिए खेलने का निर्णय लिया था और दिल्ली डेयरडेविल्स के खिलाफ खेलकर 4 ओवरों में 29 रन देकर एक विकेट लिया था।
  • रणजी सीजन में वर्ष 2014 से 2015 में उन्होंने 10 मैचों में 48 विकेट लिए थे जिसमें एक मैच में 5 विकेट भी शामिल थे।

आईपीएल करियर

शार्दुल ठाकुर का आईपीएल करियर कई उल्लेखनीय संदर्भों को दर्शित करता है, जो इस प्रकार है-

  • शार्दुल ठाकुर ने दिल्ली डेयरडेविल्स के खिलाफ अपने आईपीएल की शुरुआत की थी जहाँ उन्होंने 4 ओवरों में 38 रन देकर एक विकेट लिया था।
  • किंग्स इलेवन पंजाब ने आईएनआर 2 मिलियन में वर्ष 2015 में उन्हें साइन किया था।
  • 10 वें सीज़न के लिए राइजिंग पुणे ने मार्च वर्ष 2017 में उन्हें साइन किया था।
  • आईपीएल के लिए वर्ष 2018 में चेन्नई सुपर किंग्स ने उन्हें साइन किया था।
  • शार्दुल ठाकुर को आईपीएल की चेन्नई सुपर किंग्स ने 2.60 करोड़ में साल 2021 में साइन किया था
  • साल 2021 के आईपीएल में 16 मैचों में कुल 21 विकेट लिए थे।
  • वर्ष 2021 के आईपीएल में कुल 21 विकेट लिए थे।
  • वर्ष 2021 आईपीएल में कोलकाता नाइट राइडर्स के खिलाफ 4 ओवरों में 3 विकेट लेकर फाइनल में चेन्नई सुपर किंग्स को खिताब दिलाने में विशेष भूमिका निभाई थी।

अंतर्राष्ट्रीय करियर

अंतर्राष्ट्रीय करियर के तौर पर उनके कैरियर से संबंधित तथ्य इस प्रकार है:

  • श्रीलंका के खिलाफ 31 अगस्त साल 2017 में एकदिवसीय अंतर्राष्ट्रीय मैच की शुरुआत की थी और 7 ओवर में 26 रन दिए थे और 1 विकेट लिया था।
  • दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ भारत के लिए T20 21 फरवरी वर्ष 2018 में अंतर्राष्ट्रीय डेब्यू किया था, जहाँ उन्होंने 4 ओवर में 36 रन दिए थे और एक विकेट लिया था।
  • वेस्टइंडीज के खिलाफ अक्टूबर वर्ष 2018 में टेस्ट क्रिकेट में अपना डेब्यू किया था।
  • ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ चौथे टेस्ट की पहली पारी में जनवरी वर्ष 2021 में अपना पहला अर्धशतक बनाया था।
  • वर्ष 2021 की टेस्ट सीरीज में इंग्लैंड के खिलाफ पहली पारी में 36 गेंदों में 57 रन बनाए थे और 31 गेंदों में अपना अर्धशतक पूरा किया था, जिसे एक उत्कृष्ट अर्धशतक माना गया था। उसी श्रृंखला की दूसरी पारी में उन्होंने 72 गेंदों में 60 रन बनाकर भारत के स्कोर को 466 तक पहुँचाने में विशिष्ट भूमिका निभाई थी एवं तीन महत्वपूर्ण विकेट भी लिए थे।
  • ‘आई सी सी’ पुरुष टी20 विश्व कप के लिए सितंबर वर्ष 2021 में भारत की टीम में उनका चुनाव हुआ था तत्पश्चात अक्षर पटेल की जगह 13 अक्टूबर साल 2021 में शार्दुल ठाकुर को टूर्नामेंट के लिए मुख्य टीम में शामिल कर लिया गया था।

गेंदबाजी शैली

शार्दुल ठाकुर एक तेज गेंदबाज की श्रेणी में अच्छे गेंदबाज माने जाते हैं जो अच्छी स्विंग विकसित करते हुए मैदान में विविधताओं को प्रदर्शित करते हैं। शार्दुल ठाकुर एम.एस.धोनी और स्टीफन फ्लेमिंग के नेतृत्व में गेंदबाज़ी के रूप में अधिक परिपक्व हो गए हैं।

आईपीएल में उनकी अच्छी गेंदबाज़ी के दर्शन किए जा सकते हैं, जहाँ गेंद को स्विंग करने में, अच्छी धीमी गेंद, आउटस्विंग जैसी क्षमता का जलवा दिखा और गेंदबाज़ी के रूप में अपनी एक हटकर पहचान कायम की है।

शार्दुल ठाकुर की मुख्य उपलब्धियाँ

  • 21 की उम्र में वर्ष 2021 में क्रिकेट की प्रथम श्रेणी में अपना स्थान स्थापित किया था।
  • 23 की उम्र में वर्ष 2014 में रणजी ट्रॉफी ली।
  • 23 की उम्र में वर्ष 2014 में ही किंग्स इलेवन पंजाब द्वारा साइन किए गए थे।
  • 26 की उम्र में साल 2017 में भारत की तरफ से श्रीलंका के खिलाफ वनडे डेब्यू खेला था।
  • 26 की उम्र में वर्ष 2017 में राइजिंग पुणे सुपरजाइंट्स की नीलामी में हिस्सा लिया था।
  • 27 की उम्र में साल 2018 में चेन्नई सुपर किंग की टीम में भर्ती हुए थे।
  • 27 की उम्र में भारत की तरफ से दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ T20 में डेब्यू रहे।
  • 27 की उम्र में ही वेस्टइंडीज के लिए वर्ष 2018 में टेस्ट डेब्यू किया था।

शार्दुल ठाकुर के मुख्य रिकॉर्डस

  • स्कूल की तरफ से खेलते हुए वर्ष 2006 में हैरिस शील्ड ट्रॉफी मिली थी।
  • मुंबई को 41वीं रणजी ट्रॉफी का खिताब जिताने में वर्ष 2015 से 2016 में शार्दुल ठाकुर ने विशेष भूमिका निभाई थी।
  • शार्दुल ठाकुर को श्रीलंका के खिलाफ निवास ट्रॉफी मैच में ‘मैन ऑफ द मैच’ का खिताब मिला था। 

रोचक तथ्य

  • शार्दुल ठाकुर धूम्रपान,शराब का सेवन नहीं करते हैं।
  • शार्दुल ठाकुर को समुद्री भोजन पसंद है।
  • शार्दुल ठाकुर पहले मोटे थे क्रिकेट खेलने के लिए सचिन तेंदुलकर ने उन्हें वजन कम करने का सुझाव दिया था।
  • शार्दुल ठाकुर के पसंदीदा क्रिकेटर सचिन तेंदुलकर हैं।
  • शार्दुल ठाकुर को ग्लेन मैंग्रा तेज़ गेंदबाज के तहत प्रशिक्षण मिला जिससे उनकी गेंदबाज़ी और निखर गई।
  • वर्ष 2014 में किंग्स इलेवन पंजाब ने उन्हें आईपीएल में 20 लाख में साइन किया था लेकिन वर्ष 2015 में खिलाया नहीं।
  • वर्ष 2013 में रणजी ट्रॉफी में मुंबई का प्रतिनिधित्व करने के लिए उनका चुनाव हुआ था लेकिन उनके अधिक वजन के कारण आलोचना का सामना करना पड़ा था।

शार्दुल ठाकुर से संबंधित विवाद

क्रिकेट क्षेत्र में क्रिकेटरों पर किसी ना किसी रूप से विवाद उभरकर आ ही जाता है ऐसे ही विवाद में शार्दुल ठाकुर अपनी जर्सी के 10 नंबर की वजह से आ गए थे और कहा जा रहा था कि वह सचिन के बाद 10 नंबर की जर्सी पहनने वाले दूसरे क्रिकेटर हैं

जिसके परिणाम स्वरूप अनेक विवाद टिप्पणियाँ की गई थी जो सोशल मीडिया में भी समक्ष आई थी, जिस कारण शार्दुल ठाकुर ने अपनी जर्सी का नंबर 10 से बदलकर 54 कर दिया था।

यह भी पढ़े

उपरोक्त जानकारी स्वरूप आज हमने शार्दुल ठाकुर का जीवन परिचय Shardul Thakur Biography in Hindi क्रिकेटरों की श्रेणी के एक उभरते हुए क्रिकेटर शार्दुल ठाकुर के बारे में अवगत कराया,

जिनकी संपूर्ण जीवनी के रूप में हमने यह सीखा कि असफलता कड़ी मेहनत, प्रयास से सफलता में बदल जाती है बस हौसला, विश्वास, सच्ची लगन बनाए रखने की जरूरत है। प्रस्तुत लेख में शार्दुल ठाकुर के संदर्भ में उपयुक्त रूप से जाना जा सकता है।

Leave a Comment

Your email address will not be published.