सुधीर चौधरी का जीवन परिचय | Sudhir Chaudhary Biography in Hindi

सुधीर चौधरी का जीवन परिचय | Sudhir Chaudhary Biography in Hindi देश में हमेशा से खबरों का दौर विशेष रहा है। मीडिया में दिखाई जाने वाली खबरें समाज में लोगों पर असर करती हैं। समाज में क्या चल रहा है, नई ताज़ा और पुरानी खबरें और प्रत्यक्ष हकीकत, झूठ का मिलाजुला रूप भी दिखाई पड़ता है। कुछ पत्रकार हकीकत के संदर्भ को इस प्रकार पेश करते हैं कि समाज का जीता जागता स्वरूप दिखाई पड़ता है।

सुधीर चौधरी का जीवन परिचय | Sudhir Chaudhary Biography in Hindi

सुधीर चौधरी का जीवन परिचय | Sudhir Chaudhary Biography in Hindi

ऐसे ही पत्रकार जिन्होंने अपने संघर्ष और मेहनत के बल पर पत्रकारिता के क्षेत्र में विशेष मुकाम बनाया है। टेलीविज़न के न्यूज़ चैनल में एक जाना पहचाना नाम ‘सुधीर चौधरी’ पत्रकारिता के क्षेत्र में विशेष रूप से अपने कार्यकलाप के बलबूते पर प्रख्यात है। ‘सुधीर चौधरी’ के जीवन से रूबरू होते हुए इनके जीवन के विभिन्न रूपों को जानते समझते हैं।

कौन हैं सुधीर चौधरी?

हिंदी पत्रकारिता के क्षेत्र में एक ख्याति प्राप्त नाम “सुधीर चौधरी” है, जिन्होंने अपनी प्रतिभा एवं मेहनत से पत्रकारिता जगत  में एक विशेष जगह बनाई है। सुधीर “न्यूज़ रिपोर्टर” के रूप में जाने जाते हैं। सुधीर न्यूज़ एंकर के साथ-साथ संपादक, पत्रकार, बिजनेस मैन भी हैं। 

‘जी न्यूज़’ में सुधीर की छवि काफी विख्यात है। उनकी प्रतिभा की विशिष्ट छवि उनके पत्रकारिता के विभिन्न रूपों में दिखाई पड़ती है। सुधीर संघर्ष के बलबूते पर अपने मुकाम को अपने दम पर प्राप्त करने वाले पत्रकार हैं। उनके संघर्ष से लक्ष्य प्राप्ति तक की सफर यात्रा से लोगों को सकारात्मक संदेश ही मिलता है।

असली नाम – सुधीर चौधरी
व्यक्तिगत नाम – सुधीर
कार्य – रिपोर्टर, सम्पादक, न्यूज़ एंकर
डेब्यू शुरुवात – ज़ी न्यूज़, एंकर
जन्म की तारीख –7 जून 1974
आयु – 47 वर्ष
मूल नागरिकता – भारतीय
मूल धर्म – हिन्दू

सुधीर चौधरी का जन्म

पत्रकारिता के क्षेत्र में अपनी अलग पहचान बनाने वाले आलोचकों को करारा जवाब देने वाले सुधीर अनेक प्रतिभाओं से पूर्ण हैं। पत्रकारों की सूची में अपना विशेष स्थान स्थापित करने वाले सुधीर चौधरी का जन्म “7 जून वर्ष 1974” को हरियाणा के होडल नगर के पलवल जिले में हुआ था।

शिक्षा

सुधीर ने अपने ग्रेजुएशन की शिक्षा “कला क्षेत्र” में “दिल्ली विश्वविद्यालय” से की थी और दिल्ली विश्वविद्यालय से ही ‘जनसंचार संस्थान’ से ही “मास कम्युनिकेशन” में डिप्लोमा प्राप्त किया था। सुधीर चौधरी बचपन से प्रतिभाशाली विद्यार्थी रहे हैं और पढ़ाई के प्रति सजग भी रहे हैं।

विद्यालय और विश्व विद्यालय में पढ़ते वक्त वे विभिन्न मुद्दों पर वाद-विवाद में हिस्सा लेते थे। सुधीर चौधरी सिविल सर्विस की परीक्षा पास कर ‘आई.ए.एस’ बनना चाहते थे लेकिन परीक्षा उत्तीर्ण करने के बावजूद चयन न हो पाने की वजह से मीडिया की ओर उन्होंने रुझान कर लिया था।

कार्यकाल की शुरुवात

सुधीर ने अपने कार्यक्षेत्र की शुरुवात “ज़ी न्यूज़” में एंकर के रूप में की थी। वे सिविल सर्विस में अपना करियर बनाना चाहते थे लेकिन “आई.ए. एस” में चयन न होने की वजह से वह मीडिया क्षेत्र में ‘न्यूज़ चैनल’ से जुड़ गए थे और अनेक कार्यो की रूपरेखा प्रस्तुत की।

पत्रकारिता सफर

सुधीर ने पत्रकारिता के क्षेत्र में कार्य रुचि को ध्यान में रखकर “मास कम्युनिकेशन” में ‘डिप्लोमा’ प्राप्त कर पत्रकार के रूप में स्थापित हुए। एक सशक्त पत्रकार के रूप में हकीकत के स्वरूप को अपने कौशल से निखार कर प्रस्तुत करने की शैली ने उन्हें प्रसिद्ध कर दिया। उनका पत्रकारिता का सफर काफी सफल रहा है।

श्रेष्ठ पत्रकार सुधीर चौधरी

शिक्षा के दौरान ही पत्रकारिता की दिशा की ओर रुख कर चुके सुधीर ने पत्रकार के रूप में तीन दशक तक कार्यभार संभाला। जब वह “ज़ी न्यूज़” में एक सशक्त रिपोर्टर के रूप में उभरे,  उन्हें वर्ष 1993 में “ज़ी न्यूज़” की स्थापना के दौरान पत्रकार के रूप में अपने आपको सिद्ध करने का मौका मिला।

दो प्रमुख मुद्दे “कारगिल युद्ध” तथा “वर्ष 2001 में संसद भवन हमले की रूपरेखा” को प्रभावशाली रूप से प्रस्तुत करने पर एवं जीवंत परिदृश्य रूप में प्रसारण कर ख्याति प्राप्त की।

निडर पत्रकारिता

सुधीर की पत्रकारिता में उनके अदम्य साहस एवं निडरता की झलक दिखाई पड़ती है। वे पत्रकार मंडल में शामिल होकर इस्लामाबाद वार्ता के दौरान ‘अटल बिहारी वाजपई’ और ‘परवेज मुशर्रफ’ से जुड़े एवं दोनों के मध्य द्विपक्षीय वार्तालाप की एक सुदृढ़ रिपोर्टिंग कर दर्शकों के समक्ष प्रस्तुत किया।

उन्होंने देश के प्रसिद्ध टीवी चैनल “इंडिया टीवी” में भी आपनी पत्रकारिता का जलवा दिखाया और प्रसिद्धि हासिल की। साथ ही उन्होंने “सहारा समय” जैसे न्यूज़ चैनल  जो सुब्रतोराय की कंपनी सहारा ने शुरू की थी इसका अंग बनकर एक विशेष पदभार संभाला और रिपोर्टिंग के क्षेत्र में आगे बढ़ते गए।

सुधीर चौधरी का संपादक रूप

सुधीर चौधरी अपनी प्रतिभा, कर्मठता, दृढ़ता, कार्य कौशल के बलबूते पर “लाइव इंडिया” में “प्रधान संपादक” के रूप में कार्यरत हुए थे।

“लाइव इंडिया” का सफल सफर

सुधीर चौधरी ने वर्ष 2012 में ज़ी न्यूज़ में एंकर के साथ साथ संपादक का भी कार्यभार संभाला था। उन्होंने “डी. एन. ए” “प्राइम शो” का सफल संचालन भी किया जो दर्शकों के बीच काफी सराहनीय रहा और विभिन्न प्राइम शो से अधिक सफल एवं लोकप्रिय है।

एक पत्रकार के रूप में अपनी जगह बनाना बहुत बड़ी बात होती है। उन्होंने पत्रकारिता के क्षेत्र में निस्पक्ष कार्य किया एवं सफल मुकाम हासिल किया।

“डी.एन.ए” ‘प्राइम शो’ का सफर

वर्ष 2005 में ‘डी.एन.ए’ का प्रकाशन किया गया जो ज़ी न्यूज़ का अखबार है। इसके तहत वे जीवंत मुद्दों को एवं विभिन्न विषयों को समाज के समक्ष इस प्रकार प्रस्तुत करते हैं जिससे उनकी लोकप्रियता दिन प्रतिदिन बढ़ जाती है।

उनके प्रशंसक उनकी सराहना करते हैं। इसकी ‘टी.आर.पी’ इतनी अधिक है की पाँच करोड़ दर्शक हर महीने सूची में आ जाते हैं। इस वजह से सुधीर चौधरी राजनीति क्षेत्र में भी प्रसिद्ध हो गए।

एक रिपोर्टर के रूप में कार्यभार

सुधीर का रिपोर्टर के करियर का स्वरूप काफी प्रसिद्ध है। समाज से जुड़े मुद्दों को वह बेबाक रूप से दर्शकों के सम्मुख लाते हैं और अपने कार्यकौशल से विभिन्न संदर्भों को प्रस्तुत करते हैं।

वह सामाजिक भावना से ओत प्रोत अनेक समाजसेवी कार्यों में सहयोग देते हैं। राजनीतिक संबंधित मामलों को वह बड़े सुलझे तरीके से प्रस्तुत करते हैं। समाज कल्याण और पत्रकारिता के रूप में सक्षम रिपोर्टिंग करते हैं। उनकी मौजूदगी में रोज़ रात्रि 9 बजे “डी. एन. ए” शो का प्रसारण होता है। उनकी राष्ट्रवादिता रिपोर्टिंग में देखी जा सकती है।

वर्ष 1993 में रिपोर्टिंग क्षेत्र में आने के बाद उन्होंने घटित मुद्दों को बेहतरीन अंदाज में खबरों का रूप दिया। आज भी वह विभिन्न संदर्भ जैसे धर्म से जुड़े मुद्दे, राजनीति, समाज से जुड़े संदर्भ, आर्थिक स्वरूप आदि घटनाओं के विभिन्न रूपों को उजागर कर समाज से जुड़े रहते हैं।

सुधीर चौधरी का व्यक्तिगत जीवन

सुधीर का निजी जीवन ज्यादा उजागर नहीं हुआ है। सुधीर चौधरी विवाहित हैं उनकी पत्नी का नाम “नीति चौधरी” है और उनका एक बेटा भी है।

पत्रकारिता के अलावा उन्हें पुरानी फिल्मों के संगीत और फिल्में पसंद हैं। अन्य पत्रकारों से जुड़ना, अपने कार्य अनुसार पुस्तकों का अध्ययन करना, दार्शनिक विचारों का अनुसरण करना उनको अच्छा लगता है।

सुधीर चौधरी की रुचियाँ

प्रिय गायिका – लता जी
प्रिय अभिनेता – अमिताभ बच्चन
प्रिय नेता – नरेंद्र मोदी
प्रिय भोजन – शाकाहारी
प्रिय शौक  – घूमना और खेलों में भाग लेना

कुल संपत्ति

सुधीर ने एक सफल पत्रकार के रूप में अपने आप को स्थापित किया है। सुधीर चौधरी की मासिक आय 50 लाख के करीब मानी जाती है।

उनके पास कई विदेशी कारें भी है। ऐसा माना जाता है कि उन्होंने अपनी मेहनत से पाँच लाख डॉलर  के करीब सम्पति अर्जित की है।

सुधीर चौधरी विरोधी संदर्भ

जब कोई सफलता की सीढ़ी चढ़ता है और ईमानदारी से अपना कार्य करता है तो विरोधी तत्व सक्रिय हो ही जाते हैं और अनेक विवादों के घेरे में पड़ जाते हैं। सुधीर चौधरी के विरोधी पक्ष के बारे में जानते हैं :

1} संयुक्त अरब अमीरात की राजकुमारी “हेंड बिंत-ए-फैसल” –

अबु धाबी में आयोजित “इंस्टीट्यूट ऑफ चार्टर्ड अकाउंटेंट्स ऑफ इंडिया’ ने अपने एनुअल इंटरनेशनल सेमिनार में सुधीर चौधरी को बुलाया था जहाँ राजकुमारी ने उन्हें आतंकी करार किया। सुधीर चौधरी को दक्षिणपंथी कहा, मुसलमानों को भड़काने वाला भी कहा आदि कई आरोप लगाए।

2} “सांसद नवीन जिंदल”

कांग्रेस के सांसद जिंदल ने जो चेयरमैन भी हैं उन्होंने सुधीर पर 100 करोड़ फिरौती मांगने का संगीन आरोप लगाया था जिसकी वजह से उन्हें 15 दिनों के लिए हिरासत में रहना पड़ा।

3} “डी.एन.ए” 

सुधीर के अपने शो ‘डी.एन.ए” में उन पर आरोप लगा कि उन्होंने मुसलमानों की भावना को ठेस पहुँचाया है जिस के कारण वर्ष 2020 में उन पर “एफ.आई.आर” लिखा गया।

सुधीर चौधरी के कार्य कौशल सम्मान

पत्रकारिता क्षेत्र में श्रेष्ठ सम्मान “रामनाथ गोयनका” पुरस्कार वर्ष 2013 में उन्हें “हिंदी प्रसारण” के लिए पत्रकारिता में श्रेष्ठ रूप से कार्य करने पर मिला है।

सनसनी “गैंग रेप” ‘दिल्ली कांड’ में पीड़िता के दोस्त के इंटरव्यू को मीडिया के माध्यम से लोगों के समक्ष प्रस्तुत करने पर सम्मान प्राप्त किया। जिसकी सार्वजनिक रूप से काफी सराहना की गई।

यह भी पढ़े

पत्रकारिता का क्षेत्र बड़ा विशाल है और समाज में पत्रकार के रूप में अपनी जगह बनाना आसान नहीं है लेकिन सुधीर ने अपने बलबूते पर कड़ी लगन, दृढ़निश्चय, मेहनत, आत्मविश्वास से अपनी एक विशेष जगह बनाई और समाज का वास्तविक स्वरूप दर्शकों के सामने लेकर आए।

अनेक विरोधाभासों से गुजरते हुए उन्होंने न्यूज़ की दुनिया में अपनी वाकपटुता से बड़े-बड़े दिग्गजों के स्वरूप को मीडिया के माध्यम से प्रस्तुत कर अपनी विशेष प्रतिभा के दर्शन दिये।

प्रस्तुत सुधीर चौधरी का जीवन परिचय | Sudhir Chaudhary Biography in Hindi में सुधीर चौधरी के अनेक पक्षों को उजागर किया गया है जिससे सुधीर चौधरी के बारे में जानकारी एवं उनके जीवन से प्रेरणा मिलती है।

Leave a Comment

Your email address will not be published.