सुकन्या समृद्धि योजना 2021 Sukanya Samriddhi Yojana, SSY PM Kanya Yojana In Hindi

Sukanya Samriddhi Yojana in Hindi Sukanya Samriddhi Yojana 2021 Post Office Interest Rate Calculator SSY Scheme Rajasthan Online Form सुकन्या समृद्धि योजना डिटेल्स लाभ नुकसान अकाउंट बैलेंस चेक पूरी जानकारी.

सुकन्या समृद्धि योजना 2021 Sukanya Samriddhi Yojana, SSY PM Kanya Yojana In Hindi

Short Info Sukanya Samriddhi Yojana 

विषय सूची

योजना का नामसुकन्या समृद्धि योजना 2021
संचालककेंद्र सरकार
लाभार्थीदेश की बालिकाएं
लक्ष्यबेटियों का भविष्य उज्जवल बनाना
शुभारंभ वर्ष2015

सुकन्या समृद्धि योजना 2021

हमारे देश की बेटियाँ पढ़े और आगे बढ़े अपने उज्ज्वल भविष्य की नींव रखे, इसके लिए केंद्र सरकार ने बालिका प्रसव से लेकर उनकी शिक्षा, साइकिल, छात्रवृत्ति से जुडी कई स्कीम चला रही हैं. इस दिशा में सुकन्या समृद्धि योजना भी हैं. पूरे देश में लागू यह योजना बेटियों के जीवन में क्रांतिकारी बदलाव ला रही हैं. योजना से जुड़ी समस्त जानकारी इस लेख के जरिये आप तक दी जा रही हैं. यहाँ हम जानेगें कि Sukanya Samriddhi Yojana 2021 क्या हैं, योजना का लाभ किसे मिलता हैं आवेदन की प्रक्रिया क्या हैं, बचत खाता ब्याज दर आवेदन की प्रक्रिया आदि को सुकन्या समृद्धि योजना 2021 के इस आर्टिकल के जरिये समझने का प्रयास करेंगे.

Sukanya Samriddhi Yojana 2021 क्या हैं

राष्ट्रीय बैंकों और पोस्ट ऑफिस से संचालित की जा रही प्रधानमंत्री सुकन्या समृद्धि योजना का शुभारम्भ माननीय पीएम श्री नरेंद्र मोदी द्वारा 22 जनवरी 2015 में किया गया था. इस स्कीम के जरिये नाबालिग बेटी के लिए सरकारी बैंक या डाक घर में बचत खाता खुलवाया जाता हैं. वे माता पिता जो अपनी बच्ची के विवाह और उच्च शिक्षा के लिए छोटी छोटी बचत करना चाहते हैं वे इस स्कीम के जरिये मोटी ब्याज दर थोड़ी सी रकम को कुछ वर्षों की अवधि में कई गुणा प्राप्त कर भविष्य की चिंताओं से मुक्त हो सकते हैं. सुकन्या योजना के तहत बेटी का खाता खोलने के लिए न्यूनतम राशि 250 रूपये और अधिक 1.5 लाख रु सालाना की लिमिट रखी गई हैं. बेटियों के लिए शुरू की गई सुकन्या समृद्धि योजना Sukanya Samriddhi Yojana , SSY) में शुरू में केंद्र सरकार 9.1 प्रतिशत ब्याज दर देती थी, वर्तमान में योजना की ब्याज दर 7.6 प्रतिशत रखा गया हैं. इसे भविष्य में बढ़ाया और घटाया भी जा सकता हैं.

सुकन्या समृद्धि योजना पैसा डिपाजिट

जब 2015 में सुकन्या योजना आरंभ की गई तब बेटी के बचत खाते में पैसे जमा कराने के दो बड़े विकल्प थे. पहला बैंक जाकर दूसरा डाकघर में. वही अब योजना में कुछ सुधारों के साथ वार्षिक डिपोजिट राशि को कई आसानी तरीकों से जमा करवाया जा सकता हैं. अब भारतीय डाक ने अपने ग्राहकों के लिए डिजिटल अकाउंट की सर्विस आरम्भ की हैं. जिसके चलते किसी को डाक घर जाने की आवश्यकता नहीं रहेगी, अपने डिजिटल सेविंग अकाउंट में ऑनलाइन ट्रांसफर किया जा सकता हैं. विभिन्न ऑन लाइन मनी ट्रान्सफर प्लेटफोर्म के जरिये धन प्रेषित किया जा सकेगा. जिन सुकन्या योजना लाभार्थी के माता पिता ने  खाता नहीं खुलवाया हैं वे अपने आधार कार्ड और पेन कार्ड के जरिये पोस्ट ऑफिस के डिजिटल अकाउंट को ओपन करवा सकते हैं. यहाँ ध्यान देने योग्य बात यह हैं कि इस डिजिटल अकाउंट की वैधता मात्र एक वर्ष के लिए ही हैं.

इंडियन पोस्ट ने हाल ही में आईपीपीबी एप शुरू किया हैं. इस एप की मदद से अब पोस्ट ऑफिस के खाते में ऑनलाइन लेन देन सम्भव हुआ हैं. एप की मदद से न केवल सुकन्या समृद्धि स्कीम के अकाउंट में पैसा जमा कराया जा सकता हैं बल्कि पोस्ट ऑफिस द्वारा संचालित अन्य योजनाओं के भुगतान भी किये जा सकते हैं. जिस नागरिक को यह डिजिटल खाता खुलवाना हैं उनकी आयु कम से कम 18 वर्ष होना जरूरी हैं.

सुकन्या समृद्धि योजना की विशेषताएं Post Office SSY

हर एक माता पिता को अपनी बेटी के भविष्य को लेकर चिंता होती हैं. उनकी उच्च शिक्षा और विवाह को लेकर छोटी छोटी बचत को कही जमा करवा सके इसके लिए कोई सुरक्षित योजना की तलाश हमेशा से रहती थी. बहुत से लोग पैसे को लम्बे समय तक जमा कराने और अच्छी ब्याज दर पाने के लिए निजी कम्पनियों के फ्रोड का शिकार भी हो चुके हैं. ऐसे में एक सुरक्षित हाथों में पैसा जमा कराने और भविष्य में न केवल पैसे की सुरक्षा बल्कि मुश्किल समय में उसे प्राप्त किया भी जा सके. ऐसी एकमुश्त रकम के लिए डाकघर की सुकन्या समृद्धि स्कीम में इन्वेस्ट करना एक बेहतरीन विकल्प हैं. बेटियों के लिए शुरू की गई इस योजना में मात्र 250 रूपये से अपना खाता खुलवाया जा सकता हैं. वहीँ यदि आपके पास अधिक पैसा है बेटी के नाम पर इसकी बचत करना चाहते है तो डेढ़ लाख रूपये आप प्रतिवर्ष इस खाते में जमा करवा सकते हैं.

सभी सरकारी और गैर सरकारी योजनाओं में ब्याज दर सुकन्या योजना से कम ही हैं. इस स्कीम में जमा पैसे पर लाभार्थी को 7.6 फीसदी सालाना ब्याज दर मिलती हैं. योजना में मासिक निवेश भी किया जा सकता हैं. आपकों बता दे FD, NSC, MIS, KYP, RD और सीनियर सिटीजन सेविंग्‍स स्‍कीम से भी अधिक लाभ सुकन्या योजना में दिया जा रहा हैं. बेटी बचाओ बेटी पढाओ अभियान के तहत सरकार ने इस स्कीम की शुरुआत की हैं. 10 दस की आयु से कम की बच्चियों के अकाउंट खुलवाएं जा सकते हैं.

सुकन्या समृद्धि योजना की विशेषताओं में बड़ी विशेषता लाभार्थियों को जमा पर 100 फीसदी सुरक्षा मिलती हैं. इस स्माल सेविंग योजना के तहत सभी खाताधारकों को सम्पूर्ण 100 फीसदी निवेश का रिटर्न सरकार की ओर से मिलने की गारंटी दी जाती हैं. बालिका के अभिभावकों को योजना के तहत 14 वर्ष तक निवेश करना होता हैं, सम्पूर्ण राशि की निकासी मैच्‍योरिटी अवधि बालिका की आयु 21 वर्ष होने पर दी जाती है. हालाँकि जब बच्ची वयस्क 18 वर्ष की हो जाए तब आशिक राशि की निकासी की जा सकती हैं और बेटी की पढाई या विवाह के खर्च में माता पिता के लिए मदद का जरिया बन सकती हैं. अधिकतम आप पचास प्रतिशत राशि बेटी के 18 वर्ष की होने पर निकाल सकते हैं. सरकार द्वारा सुकन्या योजना के ब्याज दर की समीक्षा हर तीन माह बाद की जाती हैं. अभिभावकों को बेटी के 14 वर्ष की होने तक बचत जमा कराई जाती हैं तथा 15 से 21 वर्ष की होने तक रकम जमा तो नहीं कराई जाती हैं पर ब्याज मिलता रहेगा.

सुकन्या समृद्धि योजना 2021 कैलकुलेटर

यहाँ हम सुकन्या योजना 2021 में ओपनिंग अकाउंट राशि और मासिक या वार्षिक निवेश के कैल्कुलेटर यानि गणना के विषय में थोड़ा समझाने का प्रयास करते हैं. यदि वर्ष 2021 में आप अपनी 10 वर्ष से छोटी बेटी का खाता खुलवाते हैं तो वर्ष 2042 में मैच्‍योरिटी होगी तथा वर्ष 2039 में कुल रकम का 50 प्रतिशत निकाल सकते हैं. कैलकुलेशन पॉलिसी बाजार के एसएसवाई कैलकुलेटर के अनुसार निम्न राशियों के परिणाम ये रहेंगे. पहले कॉलम में वार्षिक जमा राशि दी गई तथा दूसरे कॉलम में 21 साल बाद प्राप्त राशि के अनुमानित आंकड़े दिए गये हैं.

1000 रू46,821 रू
5000 रू2,34,107 रू
10000 रु4,68,215 रु
20000 रु9,36,429
5000023,41,073
10000046,82,146
12500058,52,683
15000070,23,219

इस टेबल में दर्शाई गई राशि वार्षिक न कि मासिक तथा यह गणना 8.4 प्रतिशत की वार्षिक दर के हिसाब से दी गई हैं. यह दर वर्तमान में कम कर 7.6 % कर दी गई हैं. हर तीन माह में सरकार द्वारा सुकन्या समृद्धि योजना की इंटरेस्ट रेट की समीक्षा की जाती हैं. ssy sukanya samriddhi yojana calculator के अनुसार यदि वर्तमान ब्याज दर पर आप अपनी बेटी के लिए 14 वर्ष की होने तक 5 हजार रूपये हर महीने तथा वर्ष के 60 हजार रूपये की बचत करते हैं तो 21 वर्ष की बेटी होने पर  आप करीब 27 लाख रूपये के हकदार होंगे.  इस दौरान आप करीब 8 लाख रूपये जमा कराएगे तथा बदले में 27 लाख रूपये अर्थात साढ़े तीन गुणा रकम होगी.

सरकार का टैक्स नहीं लगेगा

सुकन्या समृद्धि योजना की मूल विशेषताओं में खाताधारकों को एक बड़ा लाभ टैक्स छूट हैं. यदि आपकी इनकम काफी ज्यादा हैं और इनकम टैक्स भरने से बचना चाहते हैं तो इस स्कीम में इन्वेस्ट कर सकते हैं. 250 रूपये के न्यूनतम शुल्क से लेकर डेढ़ लाख रूपये तक की सालाना राशि की बचत इस योजना के जरिये कर सकते हैं. भारत सरकार के आयकर कानून की धारा 80 सी के तहत सुकन्या योजना में टैक्स की छूट प्रदान की गई हैं. साथ ही मैच्‍योरिटी अकाउंट के समय प्राप्त ब्याज के रूप में हुई आमदनी पर भी टैक्स नहीं देना पड़ेगा. 

Sukanya Samriddhi Scheme General Information In Hindi

सुकन्या समृद्धि योजना में खाता खुलवाने के अनेकानेक बेनिफिट हैं. जो इस के पात्र हैं उन अभिभावकों को अवश्य खुलवाना चाहिए, स्कीम डिटेल्स के इस सेक्शन में हम सामान्य जानकारी जुड़े कुछ आम सवालों पर चर्चा करेंगे जो प्रत्येक व्यक्ति के जेहन में इस योजना को लेकर आते होंगे. चलिए हम इसकी पात्रता, दस्तावेज, आवेदन के तरीके और बैंक सूची को लेकर कुछ सामान्य सवालों पर चर्चा करते हैं.

सुकन्या समृद्धि योजना के लिए आवश्यक दस्तावेज डोक्युमेंट

एक अभिभावक के रूप में अपनी सुपुत्री के अकाउंट को खुलवाने के लिए आपकों बैंक अथवा पोस्ट ऑफिस जाना पड़ेगा, वहां से आप आवेदन फॉर्म को भरकर रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं. आवेदन के समय काम आने वाले दस्तावेजों में सबसे महत्वपूर्ण हैं. बर्थ सर्टिफिकेट जिससे आपकी बेटी की आयु प्रमाणित होती हो. इसके अतिरिक्त आपकों अपनी पहचान और निवास स्थान से जुड़े दस्तावेज प्रस्तुत करने होंगे. इनमें आप राशन कार्ड, पेन कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस, पासपोर्ट आदि को प्रस्तुत कर सकते हैं. स्थायी पते के प्रमाण के रूप में बिजली बिल या मूल निवास अथवा राशन कार्ड भी मान्य हैं. खाते की शुरुआत आप 250 रूपये या फिर इससे अधिक राशि जमा करवाकर कर सकते हैं. बैंक या पोस्ट ऑफिस कर्मचारियों द्वारा आपके दस्तावेजों के सत्यापन के बाद अकाउंट को अप्रूवल मिल जाएगा और आपकों एक पास बुक दी जाएगी जिसमें समस्त जमा और खाते से जुडी समस्त डिटेल्स रहेगी. बालिका के 21 वर्ष की होने पर यह खाता ऑटोमेटिक रूप से बंद हो जाएगा व आप अपने निवेश की निकासी कर सकते हैं.

कितनी बेटियों को सुकन्या समृद्धि योजना का लाभ मिल सकता है

Sukanya Samriddhi Yojana 2021 में पात्र बेटियों की बात की जाए तो एक परिवार की अधिकतम 2 बेटियों को ही सुकन्या समृद्धि योजना का लाभ मिल सकता हैं. परिवार में दो से अधिक बेटियां होने की स्थिति में सबसे कम आयु की दो बेटियों का ही सुकन्या खाता खुलवाना चाहिए. साथ ही यह भी प्रावधान हैं अगर कोई 2 जुड़वाँ बहिनें हैं तो उन्हें योजना का अलग अलग लाभ भी मिलेगा तथा उनकी गिनती एक के रूप में ही की जावेगी और इस स्थिति में एक परिवार की तीन बेटियों के खाते खुलवाए जा सकते हैं. ध्यान देने योग्य बात यह है इस योजना में केवल 10 वर्ष की आयु से छोटी बेटियों के ही बैंक खाते खुलवाएं जा सकते हैं. केंद्र सरकार ने बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ अभियान की तर्ज पर वर्ष 2015 में Sukanya Samriddhi Yojana की शुरुआत की थी. अब तक करोड़ों बेटियों के अकाउंट योजना के तहत डाकघर और बैंकों में खुलवाएं जा सकते हैं.

सुकन्या समृद्धि योजना में लोन / ऋण मिलता है क्या

देश में कई प्रकार की पीपीएफ योजना चल रही हैं जिसके तहत खाता धारकों को मैच्योरिटी अवधि से पूर्व भी लोन दिया जाता हैं. मगर भारत सरकार की सुकन्या समृद्धि योजना के तहत इस तरह के लोन की कोई व्यवस्था नहीं हैं. मैच्योरिटी से पूर्व मात्र एक बार वह भी जब बेटी की आयु 18 पूरी हो जाने के पश्चात केवल 50 प्रतिशत कुल रकम के हिस्से की निकासी की जा सकती हैं. यह प्रावधान उन अभिभावकों के लिए बेहद फायदेमंद साबित होता हैं जो अपनी बेटी की शादी और उच्च शिक्षा के लिए इस स्कीम में निवेश करते हैं. 

क्या सुकन्या समृद्धि योजना अकाउंट ट्रांसफर होता है

कई बार ऐसी परिस्थतियाँ उत्पन्न हो जाती है जिसके चलते हमें अपना गाँव या शहर छोड़ना पड़ता हैं. ऐसे में  अपने सुकन्या समृद्धि के अकाउंट को एक बैंक शाखा से दूसरी शाखा या एक पोस्ट ऑफिस से दूसरी पोस्ट ऑफिस में ट्रान्सफर करवाने की जरूरत पडती हैं. ग्राहकों को समस्या से बचाने के लिए इसमें प्रावधान किए गये हैं. आप अपनी अपडेटेड पासबुक और KYC हेतु डोक्युमेन्ट्स को लेकर सबंधित बैंक या डाकघर जाए इस दौरान बालिका को साथ ले जाने की बाध्यता नहीं हैं. वहां जाकर आप अकाउंट ट्रान्सफर की रिक्वेस्ट दे और आवश्यक दस्तावेज की कॉपी जमा करवाएं. बैंक मैनेजर  पोस्ट ऑफिस मास्टर आपके पुराने खाते को क्लोज कर नये स्थल की बैंक में ट्रान्सफर अकाउंट की रिक्वेस्ट भेज देगा. इस प्रक्रिया को अपनाने के पश्चात  आप कों दूसरे वाले बैंक या पोस्ट ऑफिस जाना होगा, वहां पुनः आपकों KYC के लिए दस्तावेज देने होंगे. आपकी पहचान सत्यापित होने के पश्चात बैंक अथवा डाकघर द्वारा एक नई पासबुक आपको दी जाएगी. इस तरह आप नई जगह पर भी पुराने अकाउंट का संचालन कर सकते हैं.

सुकन्या समृद्धि योजना खाता रिओपन / डिफ़ॉल्ट/ प्रीमैच्योर करने की प्रक्रिया

  • डिफॉल्ट अकाउंट: सुकन्या समृद्धि योजना में उस खाते को डिफाल्ट मानकर बंद कर दिया जाता हैं. जिसमें प्रतिवर्ष न्यून तम जमा राशि 250 रु की अदायगी नहीं की जाती हैं. सरकार ने 2019 में योजना के प्रावधानों में बदलाव करते हुए डिफाल्ट अकाउंट में जमा राशि पर भी निर्धारित ब्याज दर देना निश्चित किया हैं. इसका मतलब यह है कि कोई खाताधारक कुछ सालों तक लगातार निवेश समय पर करता हैं, परन्तु किसी वर्ष कुछ कारणों के चलते वह न्यूनतम राशि जमा नहीं करवा पाता हैं तब भी उस अकाउंट धारक को मिलने वाली इंटरेस्ट रेट में कटौती नहीं की जाएगी.
  • डिफ़ॉल्ट अकाउंट को रिओपन करवाना: यदि किसी कारणवश आप लगातार तीन वर्षो से सुकन्या समृद्धि योजना के खाते में न्यूनतम राशि 250 जमा नहीं करवा पाए हैं तो आपका खाता अनिश्चित काल के बंद कर दिया अथवा डिएक्टिवेट कर दिया जाता हैं जिसे डिफ़ॉल्ट अकाउंट कहा जाता हैं. आप इसे पुनः एक्टिवेट करवा सकते हैं. इसके लिए आपकों बैंक या पोस्ट ऑफिस जाना होगा जहाँ से आपका योजना अकाउंट संचालित हैं. वहां से रिएक्टिवेट के आवेदन फॉर्म को भरकर जमा करे तथा जितनी रकम बकाया  हैं वह और जुर्माना राशि/ पेलनटी की अदायगी कर अपना खाता पुनः शुरू करवा सकते हैं. माना आप प्रतिवर्ष 250 रूपये निवेश करते है तो तीन सालों के कुल बकाया 750 रु और 50 रु प्रति वर्ष जुर्माना के रूप में तीन वर्षों के 150 रु इस तरह आप 900 रूपये जमा करवाकर अपना खाता फिर से चालू करवा सकते हैं.
  • प्रीमैच्योर अकाउंट क्लोज करवाना: सुकन्या समृद्धि योजना 2021 के लिए मैच्योरिटी आयु 21 वर्ष मानी गई हैं. आधी राशि को आप बालिका की आयु 18 वर्ष की होने पर ही निकाल सकते हैं. मगर किसी आकस्मिक कारण के चलते जैसे खाता धारक को कोई जानलेवा बिमारी का ईलाज करवाना हो अथवा अभिभावक की आकस्मिक मृत्यु हो जाए ऐसी स्थितियों में योजना के खाते को मैच्योरिटी सीमा 21 वर्ष से पूर्व भी बंद करवाकर धन निकाला जा सकता हैं.

सुकन्या समृद्धि योजना के लिए अधिकृत बैंक

भारतीय रिज़र्व बैंक (RBI) द्वारा सुकन्या समृद्धि योजना में अकाउंट खोलने के लिए 28 बैंक की सूची जारी की हैं. इन बैंक या पोस्ट ऑफिस में खाता खुलवाकर SSY योजना का लाभ लिया जा सकता हैं. यहाँ उन सभी 28 बैंक की लिस्ट दी गई हैं, जो बैंक आपके क्षेत्र में कार्यरत हैं उसमें आप खाता खुलवा सकते हैं.

  • इलाहाबाद बैंक
  • भारतीय स्टेट बैंक (SBI)
  • ऐक्सिस बैंक
  • आंध्रा बैंक
  • बैंक ऑफ महाराष्ट्र (BOM)
  • बैंक ऑफ इंडिया (BOI)
  • कॉर्पोरेशन बैंक
  • सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया (CBI)
  • केनरा बैंक
  • देना बैंक
  • बैंक ऑफ बड़ौदा (BOB)
  • स्टेट बैंक ऑफ पटियाला (SBP)
  • स्टेट बैंक ऑफ मैसूर (SBM)
  • इंडियन ओवरसीज बैंक (IOB)
  • भारतीय बैंक
  • पंजाब नेशनल बैंक (PNB)
  • आईडीबीआई बैंक
  • आईसीआईसीआई बैंक
  • सिंडीकेट बैंक
  • स्टेट बैंक ऑफ बीकानेर एंड जयपुर (SBBJ)
  • स्टेट बैंक ऑफ त्रावणकोर (SBT)
  • ओरिएंटल बैंक ऑफ कॉमर्स (OBC)
  • स्टेट बैंक ऑफ हैदराबाद (SBH)
  • पंजाब एंड सिंध बैंक (PSB)
  • यूनियन बैंक ऑफ इंडिया
  • यूको बैंक
  • यूनाइटेड बैंक ऑफ इंडिया
  • विजय बैंक

सुकन्या समृद्धि योजना में ब्याज दर Interest Rate in SSY 2021

वर्ष 2021 में SSY के अंतर्गत 7.6 प्रतिशत की सालाना दर से ब्याज मिलता हैं. ब्याजदर अस्थाई हैं प्रति तीन महीने बाद इसकी समीक्षा की जाती हैं तथा वर्तमान स्थिति के आधार पर इसमें बदलाव भी किये जाते हैं. योजना के शुरूआती समय में ब्याज दर 9.1 फीसदी थी. कोरोना वायरस के चलते भारतीय रिजर्व बैंक ने सभी बचत योजनाओं की ब्याज दरों में कटौती की हैं. जिसके चलते सुकन्या योजना में वर्तमान वार्षिक ब्याज दर 7.6 प्रतिशत हैं. योजना  शुरुआत से अब तक इसमें कब कब क्या इंटरेस्ट रेट रही आप इस चार्ट की मदद से समझ सकते हैं.

वित्तीय वर्षब्याज दर
1 अप्रैल 2O14 से9.1%
अप्रैल 2015 से9.2%
अप्रैल 2016 से8.6%
जुलाई 2016 से8.6%
अक्तूबर 2016 से8.5%
जनवरी 2018 से8.3%
अप्रैल 2018 से8.1%
जुलाई 2018 से8.1%
अक्टूबर 2018 से8.5%
जुलाई 2018 से8.4%

सुकन्या समृद्धि योजना अकाउंट का बैलेंस कैसे चेक करें?

भारत सरकार द्वारा शुरू की गई छोटी बचत की दीर्घकालीन एसएसवाई सुकन्या समृद्धि स्कीम से बच्ची की पढाई और शादी के समय बड़ी मदद मिलती हैं. बच्ची के लिए लम्बी अवधि में माता पिता थोड़ी थोड़ी बचत कर बड़ी धन राशि जोड़ सकते हैं योजना को इनकम टैक्स के दायरे से सभी बाहर रखा गया हैं. यदि आपकी अपनी बच्ची का भी खाता इस योजना के तहत बैंक अथवा पोस्ट ऑफिस में खोला गया हैं और आप अकाउंट बैलेंस चेक करना चाहते हैं, तो इसके दो तरीका है ऑनलाइन और ऑफलाइन दोनों के बारें में यहाँ विस्तार से दिया है.

ऑफलाइन तरीका

देश के 26 बड़े बैंक इस योजना के प्रतिनिधि के रूप में कार्य करते हैं. नागरिक उन बैंक में जाकर सुकन्या योजना 2021 का खाता खुलवा सकते हैं. बैंक में जब आप यह अकाउंट ओपन करवाते हैं तो आपकों एक पासबुक दी जाती हैं, जिन्हें आप बैंक जाकर समय समय अपडेट करवाकर खाते का स्टेटस चेक कर सकते हैं.

ऑनलाइन तरीका

डिजिटल क्रांति के इस दौर में हम घर बैठे बहुत सारे काम आसानी से कर सकते हैं. हम सुकन्या समृद्धि योजना का बैंक बैलेंस भी घर बैठे ऑनलाइन देख सकते हैं. हालाँकि बहुत सी बैंक ऑनलाइन नेटवर्किंग से नहीं जुडी हैं. ऐसे में आपकों अपनी बैंक से जाकर लॉग इन सूचना जुटानी होगी, इसके पश्चात ही बैंकिंग पोर्टल पर लॉग इन कर अपने खाते की जानकारी प्राप्त कर सकते हैं. योजना में ऐसे कोई टोल फ्री नंबर नहीं है जिस पर मिस कॉल देकर आप बैलेंस देख सकते हैं. यदि आपकी बैंक मिस कॉल बैंक इन्क्वायरी की सुविधा देती है तो आप अपने खाते के साथ मोबाइल नंबर लिंक कराएं और बैंक के बैलेंस चेक नम्बर पर मिस कॉल देकर स्टेटस चेक कर सकते हैं.

Sukanya Samriddhi Yojana Q & A in Hindi

अब तक हमनें सुकन्या समृद्धि योजना 2021 से जुडी सभी महत्वपूर्ण जानकारी लेख में आपके साथ शेयर की हैं, अब हम कुछ आमतौर पर स्कीम को लेकर पूछे जाने वाले सवालों और उनके जवाबो को जानते हैं. ये आपकी जानकारी बढ़ाने वाला होगा.

Q. सुकन्या समृद्धि योजना में कितने वर्ष की बालिका का खाता खोला जाता हैं?

Ans: स्कीम के तहत 0 से 10 वर्ष की बालिकाओं का खाता खोला जाता हैं.

Q. सुकन्या समृद्धि योजना में अकाउंट का संचालन किसके द्वारा किया जाता हैं.

Ans: बालिका के माता पिता अथवा अभिभावक खाते के संचालक होंगे.

Q. सुकन्या समृद्धि योजना 2021 में धन किस माध्यम से जमा किया जा सकता हैं.

Ans: योजना में धनराशि को केश ,डिमांड ड्राफ्ट, इलेक्टॉनिक ट्रांसफर मोड द्वारा जमा किया जा सकता हैं.

Q. किन स्थितियों में सुकन्या समृद्धि खाता मैच्योरिटी से पहले बंद हो सकता है?

Ans: खाताधारक की मृत्यु की स्थिति में इसे परिपक्वता से पूर्व बंद कराया जा सकता हैं.

Q. SSY 2021 की ब्याज दर क्या हैं.

Ans: वर्तमान ब्याज दर 7.6 सालाना हैं.

Q. यदि सुकन्या समृद्धि योजना के अंतर्गत नहीं जमा हो पाई तो क्या होगा?

Ans: इस स्थिति में प्रतिवर्ष 50 रु की अतिरिक्त पेनल्टी देनी होगी.

यह भी पढ़े

उम्मीद करता हूँ दोस्तों सुकन्या समृद्धि योजना 2021 Sukanya Samriddhi Yojana, SSY PM Kanya Yojana In Hindi का यह लेख आपकों पसंद आया होगा. यदि आपकों इसमें दी गई जानकारी पसंद आई हो तो इसे अपने दोस्तों के साथ भी शेयर करें.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *