सुंदर पिचाई का जीवन परिचय Sundar Pichai Biography in Hindi

सुंदर पिचाई का जीवन परिचय Sundar Pichai Biography in Hindi: भारत के मद्रास मूल के सुन्दर पिचाई जिन्होंने एक संघर्षमय तरीके से पढाई कर गूगल के सीईओ के पद को हासिल किया. सुन्दर पिचाई गूगल एलएलसी कंपनी के सीईओ हैं.

सुंदर पिचाई का जीवन परिचय Sundar Pichai Biography in Hindi

सुंदर पिचाई का जीवन परिचय Sundar Pichai Biography in Hindi

सफलता केवल कड़ी मेहनत से ही मिल सकती हैं. 50 वर्ष से कम उम्र में ही सुन्दर पिचाई ने अपना नाम दुनिया के सफल बिज़नस मेन की लिस्ट में शामिल करवा लिया. एक मामूली शुरुआत से ईतनी बड़ी मंजिल तक पहुंचना वस्त में प्रेरणादायक हैं.

सुंदर पिचाई बायोग्राफी (sundar pichai biography in hindi) में आपको सुन्दर पिचाई की शिक्षा, जीवन का संघर्ष, गूगल तक पहुँचने का सफ़र और इनके परिवार के बारे में सम्पूर्ण जानकारी देंगे. इसलिए इस आर्टिकल को अंत तक पूरा जरूर पढ़े.

सुंदर पिचाई का जीवन परिचय

सुंदर पिचाई (sundar pichai story), जिनको पिचाई सुंदरराजन के नाम से भी जाना जाता हैं. घर पर इनको राजेश के नाम से भी जाना जाता हैं. सुन्दर पिचाई का जन्म 10 जून 1972 को मद्रास में हुआ था.

इनकी शुरूआती शिक्षा चेन्नई के स्थानीय स्कूल में ही हुई. आईआईटी मद्रास के वाना वाणी स्कूल से बारहवीं कक्षा पूरी कर आईआईटी खडगपुर से इंजीनियरिंग की डिग्री हासिल कर अमेरिका चले गए.

अमेरिका से उन्होंने एमबीए किया और वहीँ से उनका करियर शुरू हो गया. इसके बाद गूगल से जुड़ गए. गूगल के प्रति उनके बेहतर योगदान के कारण गूगल के सीईओ लेरी पेज ने उनको गूगल का कार्यभार सौप दिया.

सुंदर पिचाई का परिवार

Sundar Pchai family history: 10 जून 1972 को मद्रास में सुंदर पिचाई का जन्म हुआ था. इनकी माता का नाम लक्ष्मी और पिता का नाम रेगुनाथ पिचाई हैं. सुन्दर पिचाई की मा एक क्लर्क और इनके पिताजी एक इलेक्ट्रिकल इंजीनियर थे.

रेगुनाथ एक इलेक्ट्रिकल इंजीनियर होने के साथ साथ इलेक्ट्रिक उपकरणों के निर्माण का काम भी करते थे. मद्रास में सुंदर पिचाई का परिवार (sundar pichai family) दो कमरों के एक अपार्टमेंट में रहता था. सुन्दर पिचाई की परवरिश हिन्दू धर्म में हुई.

सुंदर पिचाई की शिक्षा

अपने घर के पास में ही स्थित जवाहर नवोदय विद्यालय से दसवी कक्षा पास की. दसवी के बाद वना वाणी स्कूल चेन्नई से बारहवी कक्षा पूरी की. सुन्दर पिचाई ने अपनी बारहवी कक्षा में 75% प्रतिशत हासिल किये थे.

बारहवीं के बाद सुन्दरराजन इंजीनियरिंग के लिए आईआईटी खड़गपुर चले गए, वहां से अपनी बैचलर डिग्री प्राप्त की. आईआईटी पूरी होने की बाद वे अमेरिका चले गए. अमेरिका के पेनसिल्वेनिया यूनिवर्सिटी से एमबीए किया.

सुंदर पिचाई का करियर

पढाई पूरी करने के बाद 2004 में उन्होंने गूगल को ज्वाइन किया. शुरुआत में सुन्दर पिचाई को सर्च बार टूल पर छोटी सी टीम के साथ काम करने का मौका मिला. उसके बाद गूगल के प्रोडक्ट गूगल क्रोम के ऑपरेटिंग सिस्टम के साथ काम करने का मौका मिला.

सुंदर पिचाई ने गूगल क्रोम के अलावा दुसरे प्रोडक्ट्स पर काम भी किये. गूगल के दुसरे टूल जैसे मैप और जीमेल के लांच होने के बाद उनके अपडेट और आगे की रणनीति में सुन्दर पिचाई ने महत्वपूर्ण भूमिका निभाई.

10 अगस्त, 2015 को लेरी पेज द्वारा सुन्दर पिचाई को गूगल का सीईओ नियुक्त किया गया. इसके बाद 2019 को गूगल अल्फाबेट इंक का सिईओ नियुक्त किया गया.

सुंदर पिचाई की लव स्टोरी

sundar pichai love life story: अंजलि पिचाई सुंदर पिचाई की पत्नी (sundar pichai wife) हैं. दोनों का प्रेम कॉलेज से ही था. अंजलि पिचाई राजस्थान के कोटा जिले की रहने वाली हैं. जिस वक्त सुन्दर राजन खडगपुर में अपनी इंजीनियरिंग पूरी कर रहे थे, तब अंजलि पिचाई भी वहीँ से केमिकल में इंजीनियरिंग कर रही थी.

कॉलेज के वक्त अंजलि गर्ल्स हॉस्टल में रहती थी. कभी कभी सुन्दर पिचाई उनसे मिलने जाया करते थे. सुन्दर अक्सर बाहर से ही किसी लड़की को कहते कि अंजलि को बोलना की सुन्दर आया हैं.

तब अंजलि की सहेली पूरे कॉलेज में जोर से चिल्लाकर बोलती कि – अंजलि सुन्दर तुमसे मिलने आया हैं.

जब सुन्दर राजन पढाई के लिए अमेरिका चले गए तब दोनों की बात नहीं हो पाती थी. कुछ सालों के लिए दोनों बिलकुल दूर रहे, न कोई फ़ोन किया न कोई पत्र.

जैसे ही पिचाई की पढाई पूरी हुई दोनों ने परिवार की मर्जी से सादी कर ली. उसके बाद दोनों साथ में हमेशा के लिए अमेरिका चले गए. आज सुन्दर पिचाई के पास अमेरिका की नागरिकता हैं.

सुंदर पिचाई के ऑफर

2011 में जैक डर्सी ने ट्विटर की तरफ से सुन्दर पिचाई को ऑफर भेजा लेकिन सुंदर पिचाई ने इस ऑफर को ठुकरा दिया. इसी प्रकार 2014 में माइक्रोसॉफ्ट की तरफ से सिईओ के लिए ऑफर आया लेकिन तब भी गूगल ने पिचाई को रोक लिया और अंतत: सत्य नदेला को माइक्रोसॉफ्ट का सिईओ बनाया गया.

इस प्रकार गूगल ने सुन्दर पिचाई को कभी अपने से अलग नहीं होने दिया और अंतत: सिईओ का कार्यभार सौप दिया.

तकनीकी पर सुंदर पिचाई के विचार

कोरोनावायरस के दौरान सुन्दर पिचाई ने डिजिटल उपकरणों के माध्यम से कई डाटा इकट्ठे किये और एक भाषण में कहा कि – पिछले एक वर्ष में कोरोना वायरस के दौरान दक्षिण पूर्व एशिया के 40 मिलियन से अधिक लोग इन्टरनेट से जुड़े.

पूरी दुनिया में अभी 2 बिलियन लोगो के पास बैंकिंग सुविधा नहीं हैं. अफ्रीका में अधिकतर लोगो के पास किसी भी प्रकार के इन्टरनेट की व्यवस्था नहीं हैं. सबसे महत्वपूर्ण सुचना कि – पूरी दुनिया में करोड़ों महिलाओ को अभी भी पुरुष के समान अवसर नहीं हैं.

पिचाई ने अपने भाषण के अंत में कहा, कोविड के बाद हमारा लक्ष्य रहेगा कि पूरी दुनिया को सुचना प्रौद्योगिकी से परिचित कराएँ ताकि सभी समान रूप से इन्टरनेट का लाभ ले सके.

अगर हम ऐसा कर सकेंगे तो उन लोगो के लिए  इन्टरनेट की दुनिया में नयी शुरुआत होगी.

गूगल के सीईओ सुंदर पिचाई की सैलरी कितनी है

Sundar Pichai net worth: Google पर सबसे ज्यादा सर्च किया जाने वाला सवाल हैं कि गूगल के सीईओ की सलेरी कितनी हैं? 2021 के ताजे आकड़ों के अनुसार सुंदर पिचाई की सैलेरी 20 लाख अमेरिकी डॉलर हैं. अगर भारतीय रुपयों में बात करें तो 14 करोड़ 60 साठ लाख रूपये हैं. सुंदर पिचाई के पास कुल 600 मिलियन अमेरिकी डॉलर की सम्पति हैं.

Facts about Sundar Pichaai

  • सुंदर पिचाई को फुटबाल और क्रिकेट खेलना पसंद हैं. जब कभी उनको खली समय मिलता हैं वे अंग्रेजी क्लासिक्स पढना और खेल खेलना पसंद करते है. सुन्दर पिचाई ने एक इंटरव्यू में कहा कि वे बार्सिलोना और लियोनेल मेस्सी के बड़े फैन हैं.
  • सुंदर पिचाई की पहली नौकरी गूगल में नहीं थी. 2004 में Google में शामिल होने से पहले, सुन्दर पिचाई ने मैटेरियल्स प्रोडयुस कंपनी में एक हेल्पर की तरह काम किया.
  • पिचाई ने लव मेरीज की थी. सुन्दर पिचाई की पत्नी कोटा राजस्थान की रहने वाली हैं, और पेशे से एक केमिकल इंजीनियर हैं. इनके दो बच्चे हैं.
  • गूगल अल्फाबेट इंक, गूगल की मूल कंपनी हैं, सुन्दर पिचाई इस पूरी कंपनी के सिईओ हैं. map, Google Play Store, YouTube और Android पूरी तरह से सुन्दर पिचाई के नियंत्रण में हैं.
  • पिचाई के पिता को एक स्कूटर खरीदने के लिए भी तीन साल तक बचत करनी पड़ी थी. एसी स्थिति में भी सुन्दर पिचाई को अच्छी शिक्षा देने के लिए उनके पिताजी ने पूरी कमाई लगा दी.
  • जब सुन्दर पिचाई के पिताजी इलेक्ट्रिक उपकरण बनाते हुए किसी मुश्किल में पड़ जाते तो पिचाई उनकी सहायता करते. और शायद यही कारण था कि पिचाई का मन इन्जिनीरिंग के प्रति उत्सुक हुआ.
  • सुंदर पिचाई की यादाश्त इतनी तेज हैं कि एक बार जिस नंबर को डायल कर दिया उसको वे हमेशा के लिए याद कर लेते हैं.

आपने क्या सीखा (sunder Pichai Hindi)…

यह भी पढ़े

सुंदर पिचाई की जीवनी (Google CEO sunder Pichai biography in Hindi) में हमने आपको गूगल के वर्तमान CEO के बारे में महत्वपूर्ण जानकारी दी है. अगर आपको यह जानकारी अच्छी लगी हो तो इस पोस्ट को आगे शेयर करें.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *